बीवियों ने अपने पतियों को सेक्स के लिए तडपया

अपने पिछले पार्ट में पढ़ा कैसे अनुज ने मेरी चुदाई की थी, जिससे मेरी छूट में सूजन आ गयी. अब मैं अनुज को मेरी गांद मारने को इन्वाइट कर रही थी. अनुज ने अब मेरी गांद से उंगली निकाल कर लंड सेट कर दिया. मैं कुछ समझ पाती उससे पहले अनुज ने मेरी गांद में लंड घुसा दिया.

मेरी तो आ निकल गयी, पर मुझे अछा लगा. जब प्रतीक मेरी गांद मारते है, तो मुझे बहुत दर्द होता है. पर अनुज का लंड मुझे मज़ा दे रहा था. मैं नीचे से मेरी छूट में उंगली डाल कर छूट को मज़ा दे रही थी. 5-10 मिनिट हुए, और मैं फिरसे झाड़ गयी.

मुझे इतना मज़ा आ रहा था मैं आपको कह नही सकती. अब अनुज ने पोज़िशन चेंज की, और मुझे डॉगी स्टाइल में मेरी गांद की चुदाई करने लगे. उनकी स्पीड बढ़ गयी, और मैं समझ गयी उनका निकालने वाला था. मैने अनुज को बोल दिया की मेरी गांद में ही झाड़ जाओ. अनुज ने 5 मिनिट ऐसी गांद मारी की एसी में भी पसीना निकाल दिया.

दूसरे की बीवी के साथ हज़्बेंड लोगो का जोश कुछ ज़्यादा ही होता है. अब अनुज का गरम माल मुझे अपनी गांद में फील हुआ. वो मेरे उपर निढाल हो कर गिर गये. मैं भी बहुत तक गयी थी. मैं बहुत खुश थी. अनुज का स्पर्म अब गांद से मेरे पैरों पे आ गया. मैने उसको टिश्यू से पोंछ लिया. फिर अनुज की बाहों में आ कर नंगी सो गयी.

मेरे में शरम नाम की चीज़ नही रही थी. मैने दिल से और दिमाग़ से अनुज और काव्या को मेरा सेक्स पार्ट्नर मान लिया था. जब मेरी आँख खुली तो सुबा के 7 बाज रहे थे. अनुज ने अपना अंडरवेर पहन लिया था. मैने भी अपने कपड़े पहने और फ्रेश होने चली गयी. आयेज की स्टोरी अब फिरसे काव्या की ज़ुबानी.

जब मेरी आँखें खुली तो मैं प्रतीक की बाहों में नंगी थी. मुझे कुछ अजीब सा लगा रहा था. एक टाइम ऐसा लगा की यार कुछ ग़लती तो नही कर दी. मैने जल्दी से सारी पहन ली, और बेडरूम के बाहर आ गयी.

मैने देखा तो अनुज हॉल में सिर्फ़ अंडरवेर में सो रहे थे, और सेजल की सारी और पेटिकोट नीचे गिरा हुआ मिला. मुझे किचन में कुछ हलचल लगी तो सेजल सब के लिए छाई बना रही थी. मैं सीधा किचन में गयी, और सेजल को पीछे से हग किया.

सेजल: जाग गयी मेरी दोस्त. कैसा लगा प्रतीक के साथ?

( मैं कुछ बोल नही रही थी, सिर्फ़ शर्मा रही थी)

सेजल: लगता है प्रतीक ने जाम कर निचोढ़ा है. मुझे भी अनुज के साथ बहुत मज़ा आया.

अब सेजल ने पीछे मूड कर मेरे लिप्स पर लिप्स रख दिए, और एक स्मूच किया.

सेजल: काव्या यार तेरा आइडिया काम कर गया. अब से हमारी सेक्स लाइफ सेट है.

काव्या: हा यार, प्रतीक का लंड तो मुझे बहुत मज़ा दे रहा था. (अब मेरे अंदर तोड़ा बहुत जो गिल्ट था, वो सेजल से बात करके चला गया था). सेजल अब हम दोनो को इनको कंट्रोल करना पड़ेगा. ये रेग्युलर स्वापिंग करेगे, तो फिरसे बोर हो जाएँगे. ये एग्ज़ाइट्मेंट डेली नही रहेगी.

सेजल: बात तो सही है काव्या. कुछ सोचना पड़ेगा. मॅन तो बहुत है, पर इनको डेली मिलेगा तो हमारी वॅल्यू नही करेंगे. अभी इनको जागते है. फिर कुछ सोचते है.

अब मैं अनुज के पास गयी, और सेजल बेडरूम में प्रतीक को जगाने चली गयी. अनुज की आँख खुली तब तक प्रतीक अपने कपड़े पहन कर बाहर आ गये. अनुज ने देखा की सब ने कपड़े पहने हुए थे, तो वो बौखला गया. फिर उसने जल्दी से कपड़े पहन लिए. इससे प्रतीक को बहुत ज़ोर से हस्सी आ गयी.

प्रतीक: रिलॅक्स मान, बैठो शांति से.

हमने दोनो को छाई का कप दिया, और साथ मैं और सेजल बैठ गये.

प्रतीक: तो गाइस कैसी रही सब की लास्ट नाइट?

अनुज: मुझे तो बहुत मज़ा आया. सेजल इस टू गुड.

प्रतीक: हा यार, काव्या भी कम नही है. मुझे पूरा निचोढ़ दिया.

मैं और सेजल ये सब सुन कर खुश हो रहे थे. लेकिन बहुत शर्मा रहे थे.

अनुज: रिलॅक्स गाइस, अब आप दोनो भी अब तोड़ा ओपन हो जाओ.

काव्या: अब क्या च्छूपा है हमारे बीच में.

सेजल: हा यार काव्या सही कह रही है.

हम चारो बहुत खुश थे. अब मैं और अनुज अपने घर आ गये. मुझे तो यकीन ही नही हो रहा था की मेरा और सेजल का मिशन सक्सेस हो गया था. मैने और अनुज ने साथ में शवर लिया, और फ्रेश हो गये.

काव्या: अनुज आप मुझसे नाराज़ हो क्या? कुछ बोल क्यूँ नही रहे? मैने तो ये आपकी खुशी के लिए किया था.

अनुज: अर्रे नही डार्लिंग. मुझे तो तुम्हे थॅंक्स कहना चाहिए. तुम ना होती तो मुझे सेजल के साथ रोमॅन्स करने का मौका कहा से मिलता. ई नो तुम मुझे बहुत प्यार करती हो, इसीलिए तुम रेडी हुई. बाइ थे वे तुम्हे प्रतीक के साथ मज़ा आया?

काव्या ( अनुज को हग करते हुए): हा मज़ा तो आया, पर जो मज़ा आपके साथ है वो मज़ा किसी और के साथ कहा.

अनुज: तो बेबी हम ये सिलसिला चालू रखे?

काव्या: एक कंडीशन पे. अगर सेजल और प्रतीक रेडी हो तब ही. और आप ये मत समझ लेना की मुझे प्रतीक अछा लगने लगा है.

अनुज: ठीक है बेबी. वैसे बात तो तुम्हारी सही है. पर प्रतीक मेरी सेक्सी बीवी के बिना रह नही पाएगा.

अनुज की ऐसी बातों से मेरी छूट में फिरसे हलचल मच गयी. मैने गरम नाश्ता बनाया. सेजल और प्रतीक को मेरे घर इन्वाइट किया. हम सब बहुत खुश थे, और किसी के फेस पर जेलासी या नर्वुसनेस नही थी. हमने पूरा सनडे साथ में बिताया.

हम सब सिटी से तोड़ा डोर घूमने गये. हमने वाहा भी पार्ट्नर स्वाप किया हुआ था. मैं प्रतीक के साथ घूम रही थी, और सेजल और अनुज साथ में घूम रहे थे. रात को हमने बाहर डिन्नर किया, और अपने घर वापस आ गये. घर आके फिर हम सेजल के घर पे मिले.

प्रतीक: अनुज क्या हम आज भी स्वापिंग करे?

अनुज: हमारी स्वापिंग तो कल रात से ख़तम कहा हुई है. आज भी तुम पूरा दिन काव्या के साथ रहे हो. ( अनुज ने मेरा हाथ पकड़ लिया, और उसपे किस किया) काव्या तुम्हे आचे लगता है ना ये सब?

काव्या: मुझे ये सब अछा लगता है, पर हम ये डेली करेगे तो फिर कोई एग्ज़ाइट्मेंट नही रहेगी. फिरसे हम सब बोर होने लगेंगे.

सेजल: काव्या बात तुम्हारी सही है. फिर ये दोनो हम दोनो से बोर हो जाएगे. डेली का तो नही हो सकता.

प्रतीक: अर्रे हम कहा डेली बोल रहे है. वीकेंड में स्वाप करेंगे. वीक में एक बार तो चलता है ना.

काव्या: आप दोनो को 6 मंत्स अछा लगेगा. फिर क्या होगा?

अनुज: फिर क्या? फिर हम कुछ और ट्राइ करेगे. लीके आ थ्रीसम फोरसम.

प्रतीक: इट’स वेरी गुड आइडिया. हम ग्रूप सेक्स कर सकते है. आप दोनो को एक साथ डबल मज़ा. कभी हमे भी एक साथ दो लॅडीस का मज़ा मिलेगा.

सेजल: प्रतीक हमने आपको पहले बोला था ना, की हमारी इक्चा होगी तो ही स्वापिंग होगी.

प्रतीक: प्लीज़ बेबी मान जाओ ना. आज की नाइट प्लीज़. फिर नेक्स्ट वीकेंड तक नही बोलेंगे.

अनुज: काव्या प्लीज़ यार सेजल को बोलो ना. ( अनुज के फेस पर सेजल के लिए तड़प थी).

सेजल: अर्रे गाइस मैं पीरियड्स में आ गयी हू. मुझे 4-5 दिन के लिए भूल जाओ.

प्रतीक: ओह नो, अब मेरा क्या होगा? मैने तो आज भी सेक्स का टॅबलेट खा लिया है.

अनुज: मैने भी.

मैने नोटीस किया तो उनके लंड पंत में ही थोड़े बड़े दिख रहे थे. मीन्स टॅबलेट का असर होने लगा था.

सेजल: अब मैं कुछ नही कर सकती. आप जानो और काव्या जाने. ई आम आउट. ( सेजल ने मेरी और देविल स्माइल पास की)

काव्या: सेजल यार ये ग़लत है. और आप दोनो की ग़लती है हमसे पूछे बिना टॅबलेट क्यूँ खाई? अब आप जानो और आपका रॉकेट.

मैने माना कर दिया तो अनुज और प्रतीक की शकल देखने लायक हो गयी थी. उनको भी पता था की टॅबलेट का असर कितना लंबा रहने वाला था. नेक्स्ट पार्ट में आपको बतौँगी की आयेज क्या होता है.

यह कहानी भी पड़े  बॉटेनी वाली माँ की चूत और गांद माल से भारी


error: Content is protected !!