बियो टीचर का प्रॉजेक्ट बनाने मई मदद

हे मेरा नाम सोनू है. मई अपनी लाइफ की एक साची कहानी आप के साथ शेर करना चटा हू.

तो ये बात तब की है जब मई 12 मे था. मई एक ऑलमोस्ट पर्फेक्ट स्टूडेंट था, मई पढ़ने मे भी आछा था और खेल कूद मे भी. बात तब की है जब हुमारे स्कूल मे ईव्निंग के टाइम पर कुछ स्टूडेंट्स रुक कर गेम्स खेलते और पढ़ाई भी करते थे. तो मई भी उनमे से ही एक था.

रेखा मेरी बियो टीचर, देखने मे एकद्ूम विद्या ब आलन. बहुत बड़े बूब्स और गांद.

उस दिन मई क्लास के बाहर घूम रहा था और मेरे कोई दोस्त आज नही रुके थे.

रेखा :- सोनू इधर सुनना तो.

सोनू:- एस मा’आम?

रेखा :- सोनू क्या तुम मेरे मददात करोगे एक प्रॉजेक्ट के लिए कुछ समान लाने मे?

सोनू:- एस मा’आम, क्या करना है?

रेखा :- आक्च्युयली प्रिन्सिपल सिर ने बोला है एक प्रॉजेक्ट बनना है ह्यूमन रिप्रोडक्षन सिस्टम पर और आज ही 5 बजे समिट कर ना है नही तो..

सोनू:- ऊ बोलिए मा’आम क्या मदात करना होगा?

रेखा:- ये लिस्ट है ये सब समान स्टोर रूम से ले आओ तब तक मई यहा का काम कर लेती हू.

सोनू:- ओक मा’आम.

20 मिन्स लेटर…

सोनू:- मा’आम सब कुछ तो मिल गया पर ये माले गेमेट और फीमेल गेमेट नही था.

रेखा:- क्या!! तुमने ठीक से देखा?

सोनू :- एस मा’आम.

रेखा:- एक मीं मई सिर से बात कर लेती हू.

आफ्टर कॉल…

सोनू :- क्या बोला सिर ने?

रेखा:- सिर बोले अब लाते हो गया है ये गेमेटेस कल ही आ पाएगा.

सोनू :- ठीक ही तो है कल समिट कर देना प्रॉजेक्ट्स.

रेखा :- नही प्रिन्सिपल सिर मुझे स्कूल से निकल देंगे अगर मैने आज प्रॉजेक्ट सब्मिट नही किया तो.

सोनू:- तो अब क्या करे?

रेखा:- फीमेल गेमेट तो फिर भी हो जाएगा पर माले गेमेट का क्या करे मेरे पति भी सिटी मे नही है.

(दोस्तो अभी मुझे लगने लगा था की मा’आम मुझसे ही गेमेट माँग लेगी.)

रेखा :- सोनू तुम्हारी आगे क्या है?

सोनू :- मा’आम 18 हो गया हू.

रेखा :- दो योउ मास्टरबेट?

सोनू :- मा’आम ये कैसा क्वेस्चन्स हुआ!!

रेखा:- सोनू देखाओ यहा मुझे माले गेमेट ही ज़रूरत है अगर नही मिली तो मेरी जॉब चले जाएगी, तुम साँझ रहे हो ना?

सोनू:- एस मा’आम कभी कभी कर लेते है.

रेखा :- अभी कर सकते हो?

सोनू:- कर तो सकते है पर उसके लिए कुछ होना चाहिए ना जिससे हम को मॅन करे.

रेखा :- ह्म ये लो मेरा फोन इसमे प्रोन देख के कर लो.

मई फोन ले के कुछ दूर गया ही था की मुझे पता चला की नेट नही है फोन मे.

सोनू:- मा’आम नेट नही है आप के फोन मे.

रेखा :- इसने भी अभी ख़तम होना था, एक काम करो ना किसी को इमॅजिन कर के ट्राइ करो.

सोनू :- आज तक नही किया है मा’आम.

रेखा :- ट्राइ तो करो.

दोस्तो मई चाहता तो मा’आम को इमॅजिन कर के अपना निकल देता पर मैने जान कर नही किया. इतना अच्छा मोका कों अपने हाथ से जाने देता है भला.

कुछ देर बाद..

सोनू:- मा’आम नही हो रहा.

रेखा :- अब क्या कराए, क्या तुम किसी लेडी की बॉडी देख के कर सकते हो?

सोनू:- मा’आम ट्राइ करते है.

मा’आम ने जैसे जैसे अपनी सारी उतरी, मेरा लंड खड़ा होते जा रहा था. पर मैने अपने आप पर काबू कर लिया. मा’आम अब मेरी सामने सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट मे थी.

रेखा (अपने मॅन मे) अभी भी कोई असर नही दिख रहा.

सोनू:- मा’आम नही हो रहा तोड़ा और दिख जाता तो शायद कुछ हो.

मा’आम ने अपनी ब्लाउस और पेटिकोट भी उतार दी. अब वो बस ब्रा और पनटी मे थी. मैने आपने आप कर काबू किया और फिर मा’आम से कहा-

सोनू:- मा’आम नही हो रहा, अगर कुछ अओर…

रेखा:- सोनू एक मीं मई ट्राइ करती हू शायद हो जाए.

सोनू:- ओक मा’आम आस योउ विश.

मा’आम के हाथ मे मेरा लंड, मई सपने मे भी नही सोच सकता था. फिर उन्होने मुझे हॅंड जॉब देना शुरू किया और 6 मिन्स तक देती रही पर मेरा नही निकला.

सोनू:- मा’आम नही हो रहा अगर कुछ और दिख जाए तो हो सकता है निकल जाए.

मा’आम भी तक कर आखरी मे अपनी ब्रा और पनटी भी उतार दी. मेरे सामने मा’आम पूरी न्यूड और उनके हाथ मे मेरा लंड. मुझे लग रहा था मई कोई सपना देख रहा हू.

उनके बूब्स काफ़ी बड़े थी और उनके निपल्स पिंकी कलर के थे और तो और उनकी छूट पर एक बाल भी नही था. मुझ से और रहा नही गया तो मैने मा’आम के बूब पर अपनी हाथ फेरना शुरू कर दिया.

रेखा :- तुम ये क्या कर रहे हो, ये ग़लत है?

सोनू:- मा’आम मैने सोचा की शायद ये करने से मेरा निकल जाए.

रेखा :- नही सोनू हम ये नही कर सकते, तुम जो सोच रहे हो वो ग़लत है.

सोनू:- ठीक है तो मई जाता हू, आप अपना प्रॉजेक्ट बना लेना..

मुझे पता था मा’आम को मेरे लंड की ज़रूरत है इसलिए मैने ये कहा.

रेखा :- रुक जाओ सोनू, ठीक है तुम जो छा हो कर सकते है लेकिन सिर्फ़ आज बार और किसी को इसके बारे मे पता नही चलना चाहिए.

अब आयेज क्या क्या हुआ ये जानने के लिए अगले पार्ट का वेट करिए. क्या मई अपनी टीचर के जिस्म को बस छू कर मज़ा लूँगा या बस उनके बूब्स दबा के?

मेरी बियो की टीचर रेखा, जो मेरी सामने पूरी की पूरी नंगी खड़ी थी वो भी मेरा लंड पकड़ के. उनके देख के तो कोई भी उनके लिए पागल हो जाए. और वो आज मेरे सामने इश्स तरह बिना किसी कपड़ो के पूरी नंगी खड़ी हो के मेरा लंड हिला रही थी.

बाकी की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट मे 🙂

यह कहानी भी पड़े  शादी के बाद कज़िन की चुदाई

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!