बूढ़े पड़ोसी ने ली मेरी मम्मी की चूत

तो अपने पिछली स्टोरी (मम्मी की चुदाई बुड्ढे ने की-1) मे देखा किस तरह मेरी मम्मी अजनबी बुड्ढे से चूड़ी और चुदाई के मज़े लिए. लेकिन वो बुद्धा अब मम्मी को जब चाहे तब छोड़ सकता था.

मम्मी ने लास्ट देखा की हमारे गंदे से देखने वाले पड़ोसी ने उनके चुदाई देख ली है. फिर मम्मी घबरा गये कही वो पूरे महोल्ल्ले मे बात ना फेला दे.

मई अपने पड़ोसी के बारे मे कुछ बताता हू. वो बहोट ही भूद्धा और गंदा दिखता है. इस कारण उसकी शादी भी नही हुई और उसके उमर हो गयी. वो नहाता भी महीने मे 1 बार होगा और बहोट ही कला है. मम्मी ने फिर पड़ोसी को आवाज़ लगाई-

मम्मी – तुम क्या कर रहे थे मेरी खिड़के के पास और क्या देख रहा था??

पड़ोसी- जो देखना था वो देख लिया भाभिजी मैने.

मम्मी (घबराते हुआ) – क्या देख लिया और इस बारे मे किसी को कुछ बोलना मत प्लीज़…

पड़ोसी – ठीक है भाभिजी पर मेरी कुछ शर्ते है.

मम्मी – कैसी शर्ते?

पड़ोसी – रात को अपने च्चत पे आ जाना फिर बताता हू.

मम्मी साँझ गये थी के ये भी उनकी चुदाई चाहता है. फिर मम्मी सोचने लगी बेचरे को पूरी ज़िंदगी चुदाई नही मिले है और मेरे जैसी हॉट औरत को छोड़ के उसकी सारी ख्वाइश पूरी हो जाएगी.

फिर मम्मी खाना बनाने किचन मे चले गये. रात को सब खाना ख़ाके सो गये और फिर ढेरे से मम्मी च्गात पर चले गये. मम्मी ने ब्लॅक कलर के सेक्सी निघट्य पहन रहकी थी.

जैसे ही च्चत पर पहुँची तो मम्मी ने देखा के वो पड़ोसी सिर्फ़ चड्डी मे था. फिर जब मम्मी उसके पास पहुँची तो मम्मी बोले-

मम्मी – क्या शर्त है तुम्हारी?

पड़ोसी – मुझे बस आपके साथ एक किस चाहिए और आप मेरे साथ च्चत पर ही सो जाना.

पड़ोसी ये चाहता था की मम्मी खुद उससे चुड़वाए.

मम्मी (अंजान बनते हुए) – मेरे पति ने देख लिया की मई तुम्हरे साथ सोई हुई हू तो वो मुझे घर से बाहर निकल देंगे.

पड़ोसी – मई आपको 5 भजे उठा के भेज दूँगा इसकी आप चिंता मत करो.

मम्मी मान गये, जैसे ही मम्मी उसके होतो को चूमने गये, उसके मूह से गंदी बस आने लगी. इस कारण मम्मी भी एग्ज़ाइटेड होने लगे. फिर वो दोनो किस करने लगे. मम्मी ने देखा वो बहोट अक्चा से किस कर रहा था.

10 मीं तक किस करने के बाद मम्मी गरम हो गये. और बोले तुमने तो कभी सेक्स नही किया है फिर इतने अकचे से किस कैसे कर लेते हो?

वो बोला मई बहोट पॉर्न फिल्म देखता हू और ये भी बोला मुझे ये भी पता है औरतो को सिड्यूस कैसे करते है. फिर थोड़ी देर बाद वो च्चत पर ही सो गये.

उसने मम्मी को कमर से पकड़ कर मम्मी गांद पे अपना लंड चिपका कर सो रहा था. और थोड़ी थोड़ी देर मे उपर नीचे भी हो रहा था.

मम्मी भी समझ गये थी के ये उसे सिड्यूस कर रहा है. फिर मम्मी ने सोचा इसके मज़े लिया जाए. मम्मी ने अपनी निघट्य कमर तक चड़ा ली. वो पड़ोसी समझ गया की ये टायर है लेकिन जब तक नही बोलेगी तब तक नही छोड़ूँगा.

फिर पड़ोसी ने अपनी चड्डी उतार दी और मम्मी की पनटी के उपर से ही छूट पे रगड़ने लग गया. मम्मी भी बहोट जल्दी गरम हो जाती थी. लेकिन मम्मी भी कहा मानने वाली थी.

तो पड़ोसी ने बोला भाभिजी आप इस तरफ मूड जाए.

फिर मम्मी ने करवट बदल ली. अब मम्मी पड़ोसी के मूह के सामने आ गये और पड़ोसी का लंड मम्मी के मोटे मोटे झंघो के बीच मे था. फिर उसने मम्मी को अपने से चिपका के सोने का नाटक करने लग गया. और अपना लंड मम्मी की छूट पे ज़ोर ज़ोर से रगड़ने लग गया.

अब मम्मी अपने आप को कंट्रोल नही कर पा रही थी तो उसने पड़ोसी को किस करना चालू कर दिया. फिर पड़ोसी ने मम्मी के निघट्य ढेरे से उतार दी और मम्मी के नीचे जाके पनटी उतार के चूत चाटना चालू कर दी.

उसने पहले मम्मी की छूट मे अपनी जीभ लगा के छोड़ने लगा और छूट चूसने लगा. फिर उसने मम्मी की छूट के लिप्स को काटने लगा जिससे मम्मी की शिसकारिया निकलने लगे.

वो मम्मी की छूट पे एक उंगली डालके के आयेज पीछे कर रहा था और छूट भी चाट रहा था. फिर पड़ोसी मम्मी की छूट इतने अक्चा से चाट रहा था की मम्मी का पानी 2 बार निकल गया. और पड़ोसी मम्मी का सारा पानी मज़े ले कर पी रहा था. फिर मम्मी अपना पूरा कंट्रोल खो के उसका सर पकड़ लिया और बोलने लगी-

मम्मी- ऊऊ आअहह एसस्स मजाअ आ रहा है..

पड़ोसी – आपकी छूट मे तो अलग ही जादू है भाभिजी.

मम्मी – पता है, अभी छातो तुम बस…

अब पड़ोसी ने मम्मी को उठाया और अपना गंदा सा बालो वाला लोड्‍ा मेरी हॉट मम्मी के लिप्स पे रहक के चूसने को बोला. मम्मी उसके लोड्‍ा के बदबू के कारण एग्ज़ाइटेड और गरम होने लगी थी. अब पड़ोसी ने अपना लोड्‍ा मम्मी के मूह के अंदर बाहर करने लगा. 5 मीं तक लोड्‍ा चुसवाने के बाद वो मम्मी के मूह मे झाड़ गया.

फिर पड़ोसी बोला अब क्या करना है?

मम्मी- जितना मर्ज़ी उतना चोदो आज तुम मुझे!

पड़ोसी ने अपना लंड निकाला और मम्मी की चूत पे रगड़ने लगा. वो 10 मीं तक मम्मी की चूत पे लोडा रगड़ता रहा. जिससे मम्मी लोड्‍ा लेने के लिए तड़प उठे और अपने हाथ से सीधा मम्मी ने उसका लोड्‍ा अपनी छूट मे डालके बूब्स के गुलबे निपल्स चाटना चालू कर दिया.

वो मम्मी को बहोट ज़ोर ज़ोर से धक्का मार के छोड़ रहा था. फिर मम्मी को मिशनरी पोज़िशन मे छोड़ना चालू कर दिया. पड़ोसी पहली बार चुदाई कर रहा था तो उसका स्टॅमिना ज़्यादा था.

4 घंटे की चुदाई के बाद मम्मी इतना ज़्यादा बार झाड़ गये थे के उनकी हालत खराब हो गयी. और शुभ के 5 भी भजने वेल थे तो पड़ोसी बोला – भाभिजी आप को घर चले जाना चाहिए.

फिर मम्मी निघट्य पहनने लगी लेकिन पड़ोसी ने मम्मी की पनटी अपने पास रहक ली. और बोला मई इसे शुंग कर काम चलौँगा. फिर मम्मी स्माइल देकर वाहा से चले गये.

कुछ दीनो बाद पड़ोसी ने अपने दोस्त रामू को बताया कैसे उसने मेरी मम्मी को छोड़ा. लेकिन रामू उसपे विस्वास नही कर रहा था. तो उसने मम्मी की पनटी रामू को धिकाई जिससे उसको भरोसा हो गया. और बोला तुम चाहो तो तुम्हे भी उस रंडी की छूट दिलवा सकता हू, बस 2000 रुपये लगेंगे. तो रामू इसके लिए टायर हो गया.

अब आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट मे, कैसे पड़ोसी के दोस्त रामू ने मम्मी की चूत ली.

यह कहानी भी पड़े  दोस्त की मा को चुद्ते देखा

error: Content is protected !!