बहन को भाए दो-दो लंड की चुदाई

एक रात हम दोनों चुदाई का मजा लेकर नंगे सो रहे थे। तभी मैं अपने फोन पर एक ब्ल्यू फिल्म देखने लगा। पूजा भी मेरे साथ देखने लगी। उस फिल्म में पहले एक लड़का-लड़की चुदाई का मजा ले रहे थे। तभी एक और लड़का आ जाता है। उन दोनों को चुदाई करते देख, उसने भी अपने कपड़े उतार दिये।

अब एक लंड लड़की की चुत में था, और दूसरा उसकी गांड में। दोनों मिल कर लड़की की चुदाई करने लगे। लड़की भी पूरा मजा लेकर चुदाई करवा रही थी।

फिल्म खत्म हुई तो मैंने फिरसे पूजा की चुदाई करना शुरु कर दी। चुदाई के दौरान मैं पूजा को बोला-

मैं: क्या तुम भी एक साथ दो लंड का मजा लेना चाहोगी?

पूजा बोलने लगी: दिल तो मेरा भी बहुत कर रहा है, पर डर भी लग रहा है।

पूजा ने हरी झंडी दे दी थी, तो मैं बोला: बहुत जल्दी ही हम भी ऐसी चुदाई का मजा करेंगे।

फिर हम दोनों ने देर रात तक चुदाई का पूरा मजा किया।

मैं अगले दिन से एक और लड़के की तलाश करने लग गया, पर कोई भी ऐसा नहीं मिला। 2-3 दिन बाद मैंने ओर पूजा ने एक नकली इनसटा ग्राम पर एक अकाउंट बनाया।

हम दोनों ने बहुत से लोगों को अपना मित्र बना लिया। अब हम रोज रात को ऑनलाइन आने लगे। हम दोनों अपना मुंह छुपा कर चुदाई करते। हमें बहुत से लोग संदेश भेज कर मिलने का बोलते।

एक रात एक लड़के का संदेश आया। उसने लिखा “पहले विडिओ काल पर मेरा लंड देख लो, फिर आगे की बात करेंगे”। मैंने और पूजा ने उसको विडिओ काल कर दी। उसका लंड मेरे लंड से थोड़ा बड़ा भी था, और मोटा भी।

अब हमारी रोज उससे बात होने लगी। हम विडिओ काल में ही उसके सामने चुदाई करते। उसका नाम रमन सिंह था । रमन ने एक दिन हम दोनों को अपने पास आने का निमंत्रण दे दिया।

रमन बोला: आने-जाने का सब मेरा होगा। अगर तुम आ सकते हो तो मैं तुम्हारी टिकट करवा देता हूं। नहीं तो फिर 3 महीने के लिए मैं बाहर जा रहा हूं।

हमने कुछ समय मांगा रमन से सोचने का। फिर मैंने और पूजा ने जाने का पूरा प्लान बना कर रमन को टिकट के लिए बोल दिया। हम दोनों घर से निकल गए। हमने बस ली, और शाम तक उसके बताए हुए पते पर पहुंच गए।

रमन को हमने काल किया। रमन हम दोनों को लेने आया। रमन ने आते ही मेरे से हाथ मिलाया, और पूजा को अपनी बांहो में भर लिया। फिर हम सब रमन के घर आ गए। रमन ने एक कमरा हम दोनों को दिखाया और बोला-

रमन: फ्रेश हो कर बाहर आ जाओ। (पूजा का एक चूचा दबाते हुए) बिना कपड़ो के बाहर आना।

हम दोनों फ्रेश हुए, और पूजा ने अपने शरीर पर तौलिया लपेट लिया। हम दोनों फिर बाहर आ गए। रमन पहले से ही सोफे पर नंगा बैठा हुआ था।

हम दोनों को बाहर आते हुए बोला: पूजा तौलिया उतार कर बाहर आओ।

पूजा ने भी तौलिया उतार दिया।

अब पूजा रमन के पास जाकर बैठ गई, और मैं पूजा के साथ। रमन पूजा के होंठ चूमने लगा। मैं पूजा के चूचों को दबाने लगा। रमन ने अपना लंड पूजा के हाथ में रख दिया।

पूजा रमन के लंड को हाथ में पकड़ कर हिलाने लगी। रमन पूजा के होंठो को चूमे जा रहा था, और एक हाथ से चूचे दबाने लगा। काफी देर ऐसा ही चलता रहा। फिर पूजा हम दोनों के पैरों के पास नीचे बैठ गई।

पूजा रमन के लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी, और एक हाथ से मेरे लंड को हिलाने लगी। आज सच में पूजा एक पोर्न फिल्म की हिरोइन लग रही थी। पूजा रमन के लंड को कभी जीभ से चाटती, तो कभी पूरा मुँह में लेकर चूसती।

रमन का लंड बेकाबू होने लगा, तो रमन ने पूजा को सोफे पर लिटा दिया। अब पूजा का मुँह मेरे लंड पर आ गया। पूजा ने भी लंड को मुँह में ले लिया। रमन पूजा की गांड और चूत चाटने लग गया।

रमन ने देर ना करते हुए पूजा की चूत में लंड डाल दिया। वो पूजा की गोरी चुत देख कर ही पागल सा हो गया था। रमन ने पूरा लंड पूजा की चूत में डाल दिया, और चुदाई करने लगा।

पूजा के मुँह मैं मेरा लंड था और चूत में रमन का लंड। रमन बहुत तेज धक्कों से चूत चोद रहा था। पूजा भी रमन के हर धक्के का जवाब अपनी गांड उठा कर दे रही थी। रमन अपने हाथों से पूजा की गांड पर थप्पड़ मार रहा था। रमन कुछ देर के बाद ही पूजा की गांड के ऊपर झड़ गया।

रमन थक कर सोफे पर बैठ गया। मेरे लंड ने भी पूजा के मुँह में पानी छोड़ दिया। पूजा ने उठ कर अपनी गांड साफ की। रमन ने सब के लिए बाहर से खाना मंगवा लिया। रमन का लंड फिर से खड़ा होने लगा, तो रमन ने अपना लंड पूजा के मुँह में डाल दिया। पूजा ने रमन का लंड मुँह में ले लिया।

मेरा लंड भी उनको देख कर खड़ा हो गया। रमन ने मुझे नीचे लेटने का इशारा किया, और मैं नीचे लेट गया। रमन ने पूजा को मेरे लंड पर बिठा दिया। मेरा लंड पूजा की चूत में चला गया, और मैंने पूजा को अपनी तरफ खींच लिया।

रमन पूजा की गांड पर आ गया। आज पहली बार पूजा एक साथ दो लंड लेने जा रही थी तो थोड़ी डर भी रही थी। रमन ने पूजा की गांड पर लंड लगाया, और कमर से पकड़ कर लंड गांड में डालने लगा।

पूजा की एक चीख निकल गई। उसको दर्द होने लगा, पर रमन कहां रूकने वाला था।

उसने पूरा लंड पूजा की गांड में डाल दिया। अब हम दोनों पूजा को चोदने लगे। मुझे खुद लग रहा था जैसे मेरा और रमन का लंड पूजा के अंदर टकरा रहे हों।

पूजा को भी मजा आ रहा था। वो हम दोनों के लंड बहुत आराम से अब ले रही थी। सारे कमरे में हमारी चुदाई की आवाज आ रही थी। हम सब अपने चरम में आ गए थे, तो रमन ने पूजा को नीचे बैठा दिया।

मुझे वो बोला: साली के मुँह को अब हम अपने लंड के पानी से भरेंगे।

मैं ऐसा नहीं करना चाहता था पर तभी पूजा ने ऐसा करने का इशारा किया। तो मैं भी पूजा के मुँह पर लंड हिलाने लग गया।

पूजा ने भी अपना मुंह खोल दिया। कुछ देर बाद मेरे लंड ने पानी की एक धार निकाली, जो पूजा के मुँह के अंदर और चेहरे पर गिरने लगी। फिर रमन के लंड ने भी धार छोड़ दी। पूजा का पूरा मुँह हमारे लंड के पानी से भर गया।

जो पानी पूजा के मुँह में गया, वो पूजा पी गई, और उठ कर बाथरूम में चली गई। रमन भी पूजा के पीछे बाथरूम में जाने लगा, तो मैं भी उन दोनों के पीछे चला गया। पूजा ने शावर चलाया पर रमन ने बन्द कर दिया।

रमन ने पूजा को नीचे बैठा दिया, और अपने लंड को पकड़ कर पूजा के उपर पेशाब करने लगा। पूजा भी रमन के पेशाब से अपने उपर गिरे हुए हमारे लंड के पानी को साफ करने लगी। फिर रमन और मैं बाथरूम से बाहर आ गए।

कैसी लगी कहानी जरूर बताना। आगे की कहानी सुनने के लिए मुझे जरूर मेल करे।

यह कहानी भी पड़े  पति की हरकतों की वजह से किरायेदार से चुद गयी मैं


error: Content is protected !!