भाई ने चुड़क्कड़ बहन को सच बताया

हेलो दोस्तों, मैं आपका दोस्त करमन. कैसे है आप लोग? उम्मीद करता हू ठीक होंगे, और स्टोरीस पढ़ने का मज़ा ले रहे होंगे. सॉरी दोस्तों, मैं काफ़ी लाते हो गया इस बार स्टोरी उपलोआड करने में. तो दोस्तों आज एक दिलचस्प स्टोरी लेकर आपके सामने आया हू. इसको पढ़ कर आपको बहुत मज़ा आएगा.

दोस्तों ये स्टोरी है मेरे बहुत ख़ास दोस्त की जो उसने मुझे शेर की थी. तो मैने सोचा क्यू ना इतनी हॉट स्टोरी को पब्लिश किया जाए. तो दोस्तों ये कहानी है जसपरीत की, जो की पटियाला के करीब एक गाओं का रहने वाला है, और 26 साल का है.

वो मेरा काफ़ी पुराना दोस्त है. हम एक साथ चंडीगार्ह स्कूल में पढ़ते थे, और एक-एक बात शेर करते थे. तो अब मैं उसी की ज़ुबानी उसकी स्टोरी शेर करने जेया रहा हू.

तो दोस्तों मैं आपका दोस्त जसपरीत. ये बात है जब मैं 22 का था. मेरे साथ वाला घर मेरे टाइया जी का था. उस घर में मेरी टाई जी रहती थी, और उनकी एक-लौटी बेटी रीत जिसकी उमर 37 साल थी. वो अपने पति, यानी की उस घर के घर जमाई के साथ रहती थी.

टाइया जी की बहुत पहले से डेत हो चुकी थी. रीत का अभी तक कोई बचा नही था. रीत दिखने में बिल्कुल भी सुंदर नही थी. बुत जो उसकी सेक्सी बॉडी थी, उसके क्या कहने थे. बड़ी गांद, बड़े-बड़े बूब्स, वाह.

उसकी उसके हज़्बेंड के साथ सेक्स लाइफ बिल्कुल अची नही थी (जो की मुझे बाद में पता चला). ज़्यादा सुंदर ना होने के कारण रीत को कोई ढंग के तो नही, बुत चुदाई करने के लिए नौकर, ट्रक या बस ड्राइवर मिलते रहते थे. जिसकी भनक मुझे बिल्कुल नही लगी थी.

रीत की चुदाई के सिलसिले बढ़ते गये. इसी के चलते टाई ने उसको 2-3 बार पकड़ा, पर वो कही ना कही से जुगाड़ कर लेती थी. और करती भी क्यू ना, चुदाई की लत्ट लगी थी, और प्यास बुझाने वाला कोई है नही था.

रीत का मॅन था की वो शादी फॉरिन कंट्री में करवाए. बुत ऐसा ना हो सका. उसकी शादी को 15 साल हो चुके थे. फिर टाई ने दिमाग़ लड़ाया, और उसका जैसे-तैसे वीसा लगवा दिया कॅनडा का. रीएट भी खुश थी, और 1 साल बाद वो कॅनडा चली गयी.

बुत उसका पति अभी यही इंडिया में ही था. उसका वीसा अभी नही लगना था. पहले 2-3 साल रीत को वाहा अकेले रहना था. वाहा जेया कर रीत बिल्कुल बदल गयी. मॉडर्न कपड़े, मॉडर्न नेचर, उस उमर में पार्टीस और अंग्रेज़ो के साथ फुल ओं सेक्स.

वाहा पर तो रीत ने सब्ज़ी की तरह छूट को बाँटा. कभी भी किसी को माना नही करती थी. ऐसा मौका और कहा मिलना था जहा कोई जानता ना हो, और सेक्स वो भी अंजान लोगों के साथ.

रीत की कभी-कभी मेरे से फोन पे बात होती थी. मेरा भी मॅन था की डिग्री कंप्लीट करके कॅनडा चला जौ. मैने भी घर पर कहा था की मुझे भी जाना है कैसे भी करके. धीरे-धीरे रीत के जो घर पर नौकर रहते थे, उन्होने मुझे रीत की छूट के किससे सुनने शुरू कर दिए.

मुझे भी अपनी बेहन की बातें सुनने में बड़ा मज़ा आता, और मैं मूठ मारता. और जैसे हम फोन पे बातें करते मैं और रीत.

धीरे-धीरे हमारा रिश्ता फ्रेंड्स की तरह हो गया. फिर एक दिन मैने उसको उसकी गाओं वाली करतूतो के बारे में बता दिया. रीत शॉक नही हुई, और उसने इनकार भी नही किया.

रीत: ठीक है भाई, अगर तुझे पता चल ही गया है, तो बता देती हू. मैने तुम्हारे जीजू से 12 साल से सेक्स नही किया, क्यूंकी मैं उन्हे पसंद नही थी. तो मैं क्या करती? पिछले 4 साल से फिर मैं पूरा मज़ा करती हू. और 1 साल हो गया है कॅनडा आए हुए. यहा पर भी फुल ओं नये-नये लोगों से सेक्स करती हू. ई होप छ्होटे भाई तुझे प्राब्लम नही होगी.

ये बातें सुन कर मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया. धीरे-धीरे हम नों-वेग बातें करते. रीत मुझे वीडियो कॉल्स करती, जब वो वाहा पर लोगों का लंड चूस्टी, या अपनी छूट देती वीडियो कॉल पर मुझे दिखती थी. मैं भी स्क्रीनशॉट ले ले कर मूठ मारा करता था.

पिछले साल की गर्मियों के 1 दिन रीत की कॉल आई, और उसने मुझे बोला-

रीत: मम्मी का नंबर नही लग रहा. तुम उनके घर पर जाके बात करवा दो.

मैने कहा: ठीक है.

दोपहर के कोई 2 बाज रहे थे. मैं उनके घर गया. अंदर जाके देखा, तो कोई नही था. सब लॉक लगे हुए थे. फिर जैसे ही मैं तोड़ा अंदर गया लॉबी में, तो मुझे सेक्स की मोनिंग की आवाज़े आने लगी.

मैने धीरे से अंदर देखा तो टाई अपने जमाई यानी की रीत के हज़्बेंड के साथ फुल ओं डॉगी स्टाइल में सेक्स में लीन हुई पड़ी थी. उनको मेरी आहत का पता नही चला. मैने जल्दी से वीडियो बना ली 15 सेकेंड्स की, और मैं वाहा से आ गया.

मैने मॅग्ज़िमम 1 मिनिट लगाया होगा. मेरे पैरों तले से ज़मीन खिसक गयी थी. मैने सेक्स करते पहली बार किसी को लिव देखा था. वो भी सास जमाई को. फिर मैने रीत को बोला-

मैं: वो सो रहे है, शाम को कॉल कर लेना.

अब 3-4 दिन से मैं बेचैन था. सोच ही रहा था, की अब क्या किया जाए. फिर एक रात जब मैं यही सोच रहा था, रीत की वीडियो कॉल आई. वो आज भी किसी लड़के के साथ जस्ट चुड कर फ्री हुई थी. वो मुझे अपने बूब्स वग़ैरा वीडियो कॉल पर दिखा-दिखा कर चिढ़ा रही थी.

बुत मेरा मॅन नही था. फिर उसने मुझे पूछा क्या परेशानी है आंड ऑल. मैने उसको सारा कुछ बोल दिया. उसका फ्यूज़ उडद गया पूरा. उसको समझ नही आ रहा था, की क्या करे.

वो हड़बड़ाहट में थी, और क्या करे कुछ समझ नही आ रहा था. उसके बाद 2 दिन उसकी कोई कॉल नही आई. मैं टेन्षन में था, की अब क्या होगा.

दोस्तों स्टोरी बड़ी इंट्रेस्टिंग है. वेट फॉर 2न्ड पार्ट. आपको बतौँगा की कैसे रीत ने सब ग़मे पलट दी अपनी एक छूट से.

कहानी पढ़ कर मज़ा आया हो तो लीके और कॉमेंट ज़रूर करे. इससे लिखने का हॉंसला मिलता है.

यह कहानी भी पड़े  अपनी सगी बड़ी बहन को नंगी करके चोदा


error: Content is protected !!