भाई ने बेहन को ड्रामा करके सेक्स के लिए राज़ी किया

हेलो रीडर्स, सॉरी फॉर लाते. पर देर आए दुरुस्त आए. तो चलिए इस स्टोरी का 3र्ड पार्ट शुरू करते है, की अनु दी की छूट मारने का मेरा प्लान सक्सेस्फुल होता है या नही.

अगर आप पहली बार इस स्टोरी को पढ़ रहे है, तो आपसे अनुरोध है की इसके आयेज के 2 पार्ट्स आप ज़रूर पढ़े. ये बेहन को छोड़ने की तलब सीरीस का 3र्ड पार्ट है.

तो चलिए, शुरू करते है. अनु दी को मैने कायरा का नकली किडनॅपिंग वाला फोटो भेजा, और उसको बोला था की वो ये चीज़ कन्फर्म कर ले, और दूसरा वो किसी को भी इसके बारे में ना बताए. और मैं दी के रिप्लाइ का वेट करने लगा.

मेरे इस खेल में कुछ इंपॉर्टेंट था तो वो थी टाइमिंग. कायरा के मोविए ख़तम होने तक का टाइम यानी की दोपहर के 3 बजे तक का टाइम था, जो इस टाइम तक मेरा काम नही हुआ, और कायरा ने अपना फोन ओं कर दिया, तो मेरा सारा खेल बिगड़ जाएगा.

पर रिस्क है तो इश्क़ है. मैं दी के रिप्लाइ का वेट करने लगा. और थॅंक गोद के कुछ मिनिट्स में, दी का रिप्लाइ आया.

दी: मैने स्कूल में पता किया, वो वाहा नही है. सच बताओ की वो तुम्हारे पास है? उसका क्या प्रूफ है? मेरी उससे बात कारवओ.

मे: तुमसे फिलहाल उसकी बात नही करा सकता. वो बेहोशी में है. पर तुम ये वीडियो देख लो.

और मैने उसको छ्होटी सी क्लिप भेजी, जिसे मैने तब शूट किया था जब कायरा बेहोश होने का ड्रामा कर रही थी. मैने अपना एक हाथ उसके बूब के पास ले जेया कर उसे दबाने वाला हू, ऐसा उस क्लिप में रेकॉर्ड किया था, जो मैने दी को भेजी थी.

मे: तुम्हे अगर और भी प्रूफ चाहिए तो तेरी बेटी के कपड़े उतार कर, उसकी क्लिप बना कर तुझे भेजता हू.

दी: प्लीज़ नही, ऐसा मत करना. क्या चाहिए तुम्हे? पैसे चाहिए क्या?

मे: पैसे नही, बदला चाहिए मुझे?

दी: कौन सा बदला? क्या मतलब है तुम्हारा?

मे: ये पढ़ो पहले. (और मैने दी को एक मेसेज सेंड किया, जो मैने पहले ही टाइप करके रखा था)

तुम्हारा हज़्बेंड और मेरी छ्होटी सिस्टर दोनो एक ही कॉलेज में थे, और रीलेशन में भी. तेरे हब्बी ने मेरी सिस्टर को शादी के सपने दिखा कर काई बार होटेल में ले जेया कर उसके साथ सेक्स किया. एक दो बार तो वो प्रेग्नेंट भी हो चुकी थी.

और जब शादी करने के लिए मेरी सिस्टर ने उसको फोर्स किया, तो वो तेरे साथ सेट्टिंग करके फॉरिन भाग गया. और यहा मेरी सिस्टर को समाज में बदनामी मिली. कोई उसके साथ शादी नही करता.

और फिर मजबूरी में बड़ी आगे वाले विधुर आदमी के साथ उसकी शादी करनी पड़ी. इन सब का कारण तुम्हारा पति है, और मेरे हिसाब से तो तुम हो इसका कारण, जिसने जादू करके मेरी सिस्टर के यार को अपने जाल में फ़ससा कर उसको फॉरिन ले गयी.

तो आज मेरी सिस्टर के आँसुओ की कीमत या तो तू चुकाएगी, या फिर तेरी कमसिन बेटी.

दी: भगवान के लिए ऐसा मत करो. क्या चाहिए तुम्हे?

मे: वही जो एक आदमी को एक औरत से चाहिए. जो तेरे हब्बी ने मेरी सिस्टर से काई बार लिया था.

दी (कुछ देर बाद): ठीक है, तुम चाहो तो मैं तुम्हारी दी की कीमत चुकाने को रेडी हू. मेरी बेटी को कुछ मत करना.

मे (दी के मज़े लेते हुए): क्या मतलब है तुम्हारा?

दी: मतलब की मैं तुमसे सेक्स करने के लिए रेडी हू. बोलो कहा पे आना है?

मे: अगर मुझे छूट ही चाहिए होती, तो तेरी ही क्यू?

दी: मतलब?

मे: मतलब ये की, तुमको छोड़ने के चक्कर में कही तुम पोलीस को लेकर आई तो? और अगर मुझे छूट ही चाहिए तो तेरी तो ऑलरेडी चूड़ी हुई है, और मेरे पास यहा तेरी कमसिन बेटी की वर्जिन छूट है, तो उसको ही एंजाय ना करू.

दी: प्लीज़, ऐसा कुछ मत करना. तुम जो बोलॉगे वो मैं करूँगी.

मे: ठीक है, तो फिर आज तुम अपने भाई से चूड़ोगी. जो यहा पे रहता है. तुम अपनी छूट का तोहफा आज अपने भाई को डोगी.

दी: क्या बकवास कर रहे हो?

मे: ये बकवास नही है, मेरा बदला ही. तुम्हे अपने ही भाई से छुड़वा कर मेरा बदला पूरा होगा.

दी: ऐसा नही हो सकता. कुछ और बताओ.

मे: नही, अब तो यही होगा. या तो तेरी छूट में तेरे भाई का लंड. या फिर तेरी बेटी की छूट में मेरा लंड. चाय्स तुम्हारी है.

दी (कुछ देर बाद): पर मेरा भाई नही मानेगा.

मे: ये तुम्हारी हेडएक है. और हर रिश्ता एंड में तो एक मर्द और औरत का ही होता है. तुम उसके सामने नंगी होगी, तो उसका लंड अपने आप खड़ा हो जाएगा.

मे: और, प्रूफ के तौर पे अपना छ्होटा सा वीडियो मुझे भेजना.

दी: नही, बिल्कुल नही. मैं अपने भाई के साथ सेक्स कर भी लू, तो मैं उसका कोई वीडियो नही बनौँगी. तुम्हे चेक करना है तो उसके घर आके खिड़की में से झाँक लेना.

मे: ठीक है, मेरा मकसद तो सिर्फ़ तुझे तेरे भाई से छुड़वाना है. पर ये तुम्हे आज और अभी करना है, 2:30 तक. उसके बाद तेरी बेटी तेरे पास होगी. युवर टाइम स्टार्ट्स नाउ.

कुछ देर बाद मुझे दी की कॉल आती है: भाई, कहा पे है अभी?

मे: दी, मैं फिलहाल तो घर पे ही हू.

दी: ओक (और दी ने कॉल कट कर दी).

यहा पर मैं अपने प्लान को सही जाता हुआ देख एग्ज़ाइटेड था, अपनी दी को छोड़ने के लिए. बस कुछ ही मिंटो में दी की मुलायम छूट में मेरा लंड होगा.

मैने अपना बेडरूम अची तरह सज़ा रखा था, और दी की कॉल आते ही वियाग्रा की फुल पवर की गोली भी मैने खा ली. अब तो बस दी के आने की वेट हो रही थी.

मैने कमरे में एक दो जगह पे कॅमरास भी च्छूपा कर रख दिए थे, जिनकी हेल्प से मैं दी की छूट आयेज भी ले साकु.

मैं खिड़की से मैं रोड देख रहा था. वाहा से दी की गाड़ी आती दिखाई दी, तो मैने झट से अपने बेडरूम में जेया कर कॅमरा की पोज़िशन चेक कर ली और उन्हे ओं भी कर दिया.

दरवाज़े पे दस्तक हुई, नॉक-नॉक.

अब असली ड्रामा शुरू होने वाला था.

आयेज की कहानी नेक्स्ट पार्ट में.

यह कहानी भी पड़े  डाइयरी से पता चली भांजी की हवस


error: Content is protected !!