भाई के लंड से तृप्त हुई बहन की सेक्सी स्टोरी

इस चुदाई के बाद मैं और दी कुछ देर तक नंगे ही बेड पे पड़े रहे. दी की साँसे तेज़ चल रही थी, उसके साथ ही उसके बड़े से बूब्स उपर-नीचे हो रहे थे. वाउ, क्या सीन था.

तुम्हारे बगल में तुम्हारी सग़ी बेहन नंगी पड़ी हो, जिसके बूब्स इस तरह से नंगे हो, और छूट में से तुम्हारा रस्स निकल रहा हो. ऐसा सीन देखने का मौका कुछ ही नसीब वाले लड़कों को मिलता है, और आज मैं वो नसीब वाला था.

दी ने अपना फोन उठाया, और टाइमिंग देख के अचानक उठ खड़ी हुई.

दी: ओह शीत!

मे: क्या हुआ?

दी: मुझे कायरा को स्कूल से पिकप करना है, टाइम हो रहा है. क्या तू मुझे उसके स्कूल तक छ्चोढ़ देगा?

मे: अभी? यार अभी तो दी पासिबल नही है. मैं तक सा गया हू.

दी: तुम सब मर्दो को जो चीज़ मिल गयी उसके बाद तो जैसे तुम्हारा काम ख़तम समझो.

मे: इसमे ग़लती आपकी है दी?

दी: मेरी?

मे: हा दी, आपकी छूट ने मेरे लंड को पूरा निचोढ़ दिया, की अब मुझमे थोड़ी सी पवर नही बची. जीजू तो सच में लकी है, की तुम्हारी जैसी सेक्सी वाइफ उनको मिली है.

ये सुन कर दी ब्लश करने लगी. और वो वॉशरूम में गयी. फिर अपने कपड़े पहन कर वो बाहर आई, और फिर वो घर से चली गयी. दी को जाते हुए देख कर मैने बेडरूम के हिडन कॅमरास को बाहर निकाला, और वीडियो रेकॉर्डिंग को ऑफ करके उन्हे चार्जिंग पे रख दिया. मैं फिर फटाफट रेडी हो कर कायरा के पास जाने के लिए निकल गया.

कुछ देर बाद कायरा के व्हातसपप पे दी का मेसेज आया: हो गया तुम्हारा काम. अब बताओ मेरी बेटी कहा है?

और उसमे छ्होटी सी क्लिप अटॅच्ड थी, वन टाइम व्यू के साथ. मैं उस गार्डेन तक पहुँच गया, जहा पे मेरी कायरा से मिलने की बात हुई थी.

मैने मोबाइल में दी का भेजा हुआ वीडियो ओपन किया. ये वो क्लिप थी, जो दी ने रेकॉर्ड की थी अपनी चुदाई के दौरान. मैने वीडियो में देखा की दी के चेहरे के एक्सप्रेशन इस वीडियो में ऐसे थे, की उसको इस चुदाई में इंटेरेस्ट नही था, और उसको मजबूरन ये करनी पद रही थी, ऐसा साद फेस था उसका.

मुझे ये देख कर तोड़ा अजीब लगा. उस वीडियो क्लिप में दी का फेस, फिर मेरा फेस, फिर दी की चुड्ती हुई बॉडी, इतना दिखा कर क्लिप एंड हो गयी. मैं गार्डेन में कायरा को ढूँढते हुए दी के साथ छत करने लगा,

मे: वाउ, तुम्हारे भाई की तो आज निकल पड़ी.

दी: ये सब छ्चोढो, मुझे कायरा कहा है ये बताओ.

मे: बताता हू, पहले ये बताओ की चुदाई में मज़ा आया की नही? उसके बाद ही मैं बतौँगा.

दी: ह्म, मज़ा तो आता ही है उसमे सब को.

मे: ये बताओ, की तुम्हे कुछ गिल्ट तो नही हुआ की तुम अपने भाई से चुड रही हो?

दी: गिल्ट ना हो, इसलिए मैने ज़्यादातर डॉगी स्टाइल में ही किया था. ( जो की झूठ था)

मे: ह्म, एक बात बताओ. माना की तुमने ये चुदाई मजबूरन की, पर की तो सही. तो तुम्हे आज की अपने भाई से की हुई चुदाई अपने हब्बी की चुदाई की कंपॅरिज़न में कैसी लगी?

दी: अब इसका क्या मतलब?

मे: मैं ये जानना चाहता हू, की तुम्हारी शादी से पहले मेरी सिस तुम्हारे हब्बी की दीवानी थी. तो क्या सच में वो इतनी अची चुदाई करता है? या फिर ये मेरी दी का वहाँ था?

दी: सच बतौ तो मेरे हब्बी की चुदाई और उनका साइज़ आवरेज है. उसके कोम्पारिसीओन में आज मेरे भाई का साइज़ और चुदाई दोनो मुझे आचे लगे. भले ही मजबूरी में की हो, पर चुदाई में फराक तो महसूस होता ही है.

मे: ओह, मुझे लगा की भाई बेहन के रिश्तो की चुदाई में, बेहन को उतना मज़ा नही आता. तो फिर, मैं ग़लत साबित हुआ.

दी: ग़लत साबित हुआ मतलब? एक मिनिट, तुम कहना क्या चाहते हो?

मे: मैं ये कहना चाहता हू, की मैने जो तुम्हे स्टार्टिंग में बताया, वो सब झूठ था. ना ही तुम्हारे पति मेरी सिस्टर के साथ पढ़ाई करते थे, ना ही उनका कोई अफेर था, और ना ही उसको प्रेग्नेंट किया था. रिलिटी में शायद वो तो एक-दूसरे को जानते भी नही थे.

दी: क्या, तो फिर ये सब?

मे: ये तुम्हे तुम्हारे भाई के साथ छुड़वाने की प्लॅनिंग थी.

दी: क्या, पर क्यूँ? इससे तुम्हे क्या मिला?

मे: इसको जानने के लिए तुम्हे पूरी कहानी बतानी पढ़ेगी, जो इस टाइम पासिबल नही है. मैं अभी इस छत को बाँध कर रहा हू, और तुम्हे अपनी इंस्था ईद दे रहा हू. उसमे हम छत कर सकते है.

और मैने दी को अपनी न्यू बनाई हुई इंस्था की ईद भेज दी. और साथ में उस गार्डेन का लोकेशन भी भेज दिया, क्यूंकी कायरा मेरे सामने बेंच पे बैठी थी. मैं कायरा के पास चला गया,

मे: ही बेटा, कैसी रही मोविए?

कायरा: अची थी अंकल. पर कितना लाते हो गया है?

मे: एस, ई नो. सॉरी फॉर तट. पर एक प्राब्लम हो गयी है.

कायरा: क्यूँ, क्या हुआ?

मे: जब तुम मोविए में थी, तब दी को पता नही तुमसे क्या काम था, तो उसने स्कूल में कॉल किया तो पता चला की तुम वाहा पे नही हो. और तुम्हारा फोन भी स्विच ऑफ है.

कायरा (रोने लगी): अब क्या होगा, मों मुझ पे गुस्सा होगी. मुझे ये सब करना ही नही चाहिए था.

मे: रिलॅक्स. जो हो गया सो हो गया. हमे थोड़ी पता था, की तुम्हारी मों स्कूल में तुम्हारी इंक्वाइरी करेगी. हमे तो लगा की आज नॉर्मल दे है.

कायरा: प्लीज़, कुछ करो ना अंकल.

मे: एक आइडिया है, पर मैं जैसा बतौ, वैसे ही करना. तो कोई दिक्कत नही होगी.

कायरा: ओक अंकल.

और मैने कायरा को समझा कर वाहा पे लिटा दिया, और उसका फोन और बाग में से कुछ पैसे वग़ैरा ले लिया. कुछ देर बाद दी वाहा पे पहुँची, और मैं ये सारा सीन डोर से देख रहा था.

दी (कायरा के मूह पे पानी मारते हुए): बेटा, बेटा तुम ठीक तो हो ना? (और वो उसे यहा वाहा देखने लगी. शायद इसलिए की कही उसके साथ कुछ उल्टा-सीधा तो नही हुआ)

कायरा (उठने का नाटक करते हुए): हा, मों. मैं ठीक हू. पर मैं यहा कैसे?

दी: तुम्हे कुछ याद है?

कायरा: स्कूल के बाहर एक वन के पास आइस क्रीम वाला था, मैने वो खाई, और मेरा सिर चकराने लगा. मेरी आँखों के सामने अंधेरा छा गया, और अभी यहा आपके सामने हू. क्या हुआ मम्मी?

दी: मुझे भी नही पता. पर थॅंक गोद की तुम ठीक हो. शायद तुम्हे चक्कर आ कर गिर गयी, और कोई तुम्हे यहा पार्क में छ्चोढ़ गया होगा. ये तो तुम्हारे मोबाइल का लास्ट लोकेशन देख कर मैं यहा पहुँची हू.

कायरा: मेरा मोबाइल? (और वो उसे ढूँढने लगी, पर नही मिला)

दी: शायद यहा पार्क में किसी ने चुरा लिया लगता है. कोई बात नही, तुम्हारे लिए दूसरा ला दूँगी. (और वो कायरा से लिपट गयी, और वाहा से उसे लेकर चली गयी)

ये देख कर मैं भी आराम से घर आया अपने, और सो गया. आज का दिन बहुत काम करना पड़ा, जिसके कारण मीं तक गया था. पहले चुदाई, फिर भागा-दौड़ी, और दिमाग़ पे टेन्षन अलग से. अगर प्लान ज़रा सा भी यहा से वाहा होता, तो मेरी लग जाती. पर थॅंक गोद, की सब कुछ प्लान के हिसाब से हुआ, और दी की छूट मारने को मिली.

फिर मैं शाम को उठा, और वो वीडियोस को अपने लॅपटॉप पे प्ले किया, तो एक-दूं से सही रेकॉर्ड हुई थी. मैने उस 2 कॅमरा की मैं 2 वीडियो फाइल्स को अपनी ड्राइव पे ऑनलाइन सवे कर दिया. और उन 2 वीडियोस में से दोनो आंगल को मिला कर एक सिंगल क्लिप बना के अपने मोबाइल में रख दिया.

उसके साथ स्पेशली वो वाला पार्ट जहा पे दी ने मुझसे चूड़ने की वजह बताई थी, जिसमे उसने कहा था की वो फॉरिन में अपने हब्बी के फ्रेंड से चूड़ी हुई है, और कायरा उसका रिज़ल्ट है. और वो दूसरे बच्चे के लिए आज मेरे से चुड रही थी.

ये वाली क्लिप को अलग से कट करके सवे कर लिया. क्यूंकी ये सिंगल क्लिप काफ़ी थी दी को ब्लॅकमेल करके उसकी छूट को दोबारा मारने के लिए, अगर वो नही मानी तो.

सो, फ्रेंड्स, कैसी लगी ये स्टोरी, कॉमेंट्स में ज़रूर बताईएएगा. नेक्स्ट स्टोरी में पढ़िए के दी से मेरा सामना कैसे होता है.

यह कहानी भी पड़े  मम्मी-पापा की बातें सुन कर बेटी हुई गरम


error: Content is protected !!