भाई के दोस्त से चुदाई-1

ही पीपल, ये मेरी स्टोरी नही है मुझे किसी ने भेजी है सो होप करती हू आपको पसंद आएगी. सो पेश है उसी की स्टोरी उसी की ज़ुबानी आंड ये स्टोरी थोड़ी लंबी भी है.

ही एवेरिवन मेरा नाम सोनिया है और मई साउत देल्ही की रहने वाली हू. ये स्टोरी मेरे और मेरे भाई के दोस्त जो मेरा स्टूडेंट भी था उसके बीच हुए सेक्स एनकाउंटर की है.

मैने काफ़ी स्टोरी देसी कहानी पर पढ़ी है सो मैने आज ये स्टोरी लिखने का सोचा है. सो होप करती हू की आपको मेरी ये स्टोरी पसंद आएगी. अब आपको बोर नही करूगी और सीधा स्टोरी पर आती हू.

तो मेरा नाम सोनिया है और मई मेरी फॅमिली के साथ रहती हू. मेरी आगे 24 एअर की है और मेरी हाइट 5 फीट 4 इंच है. मेरा फिगर 34ब 32 36 है, मेरा रंग गोरा है और मेरे बाल लंबे है. मेरे निपल का कलर का ब्राउन है और मेरा पायट भी प्लैइन है.

मेरे घर मे मेरा भाई जिसकी आगे 19 साल है, मम आंड पापा रहते है. मेरी मम एक बॅंक मे काम करती है. पापा एलेक्ट्रिसिटी बोर्ड मे और मई एक टीचर हू मेरे भाई के स्कूल मे ही.

मई और मेरा भाई अक्तिवा से स्कूल आते जाते है. मेरे अभी तक 3 एक्स ब्फ रह चुके है और मैने सब से सेक्स किया हुआ है.

इसमे मैने जिस से सेक्स किया उसका नाम दीपक है. उसकी आगे 18 की है रंग का सांवला है. हाइट 5फीट 3 इंच होगी. चास्मिष है लंड का साइज़ 6 इंच है.

तो हुआ इस तरह की मेरे को मेरे भाई का स्कूल जाय्न किए को अभी 3 मंत्स ही हुए थे. मई एक इंग्लीश टीचर थी तो मई स्टूडेंट को टीच कर र्ही थी. मेरे क्लास मे सब अकचे थे लेकिन एक लड़का बहुत ही डरपोक टाइप था. सब बाय्स आंड गर्ल्स उसको चेरते रहते थे.

वो तोड़ा हेल्ती भी आंड आंड चास्मिष टाइप भी. सो गर्ल्स उसको ज़्यादा घास नही डालती थी आंड बाय्स भी उससे ज़्यादा बात नही करते थे. वो सारा दिन साइड मे रहता था, स्टडी मे वो अवग था. उसका नाम दीपक था, दीपक की आगे 18 थी वो मेरे भाई से 1 साल छोटा था.

ऐसे ही 2 से 3 मंत्स बाद मैने अपने भाई से पूछा. मेरे भाई का नाम विकास है. की विकास तेरा दोस्त है ना दीपक? वो बोला कों दीपक? मैने बोला वो जो तोड़ा हेल्ती है डरपोक टाइप सा है. उसने कहा अक्चा वो.

मैने कहा क्यू तेरा कोई और भी दोस्त है क्या दीपक के नाम से? उसने बोला हन वो दूसरे सेक्षन मे है. मैने कहा नही जो मेरी क्लास मे है उसको क्या दिक्कत है वो ऐसा डरा डरा सा क्यू रहता है?

वो बोला वो बात करने मे शरमाता है आंड बाय्स उसको बुलाते नही सो वैसे ही अकेले रहता है. तो मैने कहा तू उसके साथ बना कर रख हेल्प कर उसकी. वो बोला मई तो कर ही रा हू बुत वो समजता नही.

फिर ऐसे ही चलता रा. मैने उससे बात करना स्टार्ट किया तो मुझ से वो धीरे धीरे तोड़ा बात करने लगा. मई उसको तोड़ा स्टडी भी हेल्प करने को कहा, वो मुझे बोला की आप कहा करोगे? मैने कहा मेरे घर आ जाया करो, तुम और मेरा भाई कंबाइन स्टडी कर लिया करो. वो बोला ओक मेडम मई आपके घर आ जौगा.

क्यूकी अब उसके एग्ज़ॅम भी आने वेल थे मिड टर्म के. तो एग्ज़ॅम से कुछ दिन पहले वो मेरे घर आने लग गया. दीपक मेरे भाई के साथ स्टडी करने लग गया. दोनो की जमने भी आक्ची लगी.

तो मेरा भाई जल्दी स्टडी ख़तम करके घर के बाहर चला जाता. और मई उसको स्टडी करवाती रहती.

स्कूल का एक टीचर मेरे पर लाइन भी मार रा था. तो वो मुझे म्स्ग करता तो मई उसका रिप्लाइ देती थी. एक दिन दीपक ने मुजसे पूछा मेडम आप किससे बात कर र्ही हो?

मैने कहा की सुनील है ना हिन्दी टीचर उससे. वो बोला की मेडम आप उसकी गफ़ हो क्या? मैने हल्का सा मुस्कुरई आंड बोला की नही. तभी वो बोला मेडम वो मॅरीड है आंड उनका ऑलरेडी अफेर चल रा है साइन्स टीचर से, आप उनसे बात मत करो.

मैने कहा टुजे ब्डा पता है? वो बोला मेडम विकास (मेरा भाई) से पूछ लो चाहे तो. मैने ऐसे ही चेरते हुए उससे पूछ लिया की अक्चा तेरी कोई गफ़ है क्या?

वो बोला मेडम नही है, मेरे से कोई लड़की बात नही करती तो गफ़ कहा से बनेगी. वो मेरे से ये बाते फेस नीचे करके बोल रा था. मैने बोला तू डरता है इसीलिए तेरा स्टडी मे भी नंबर कम है और तेरा कोई फ्रेंड लोग भी नही है जयदा.

मैने पूछा अक्चा चल बता तेरा मॅन करता है की तेरी कोई गफ़ हो? उसमे मुझे जवाब नही दिया. मैने कहा फेस उपर कर आंड बता की मॅन करता है की नही?!

वो बोला मेडम हा करता है. मैने कहा अक्चा अब ऐसे जवाब दिया ना मेरे को ऐसे ही बोला कर. मेरा भाई भी देख कॉन्फिडेन्स से बोलता है, नंबर भी अकचे लता है, दोस्त भी है, गफ़ का पता नही है या नही. तो तू भी कॉन्फिडेन्स ला तोड़ा सा. वो बोला मेडम आपके भाई की गफ़ है.

मैने कहा कों है? वो बोला अपनी क्लास मे है ना सुनिधि वो है. मैने कहा चल तू बता तेरे को कैसी गफ़ चाहिए? वो बोला मेडम मेरे को आप जैसी गफ़ चाहिए.

मई सुन कर हैरान हो गयी. उसने बिना किसी दर्र के मुझे ये बात बोली. इतने मे मेरा भाई आ गया और बोला चल आज बहुत कर ली स्टडी चल चलते है. मेरे से बोला दीदी दीपक को ले जौ? मैने बोला चल ले जेया.

मैने उसकी बात को रात भर सोचा, पता नही मुझे नींद क्यू नही आई. सुबह स्कूल गयी, उस दिन मैने रेड कलर का कुर्ता आंड ग्रीन लेगैंग्स पहनी हुई थी. नीचे मैने ब्लॅक पनटी आंड रेड ब्रा पहनी हुई थी. उपर मैने रेड दुपट्टा लिया हुआ था.

कल का होमवर्क दिया हुआ था मैने सब को तो वो सब की कॉपी चेक करी. तो दीपक की कॉपी मैने जब ओपन करी तो उसमे से एक चिट निकली उसमे सॉरी लिखा हुआ था. मैने दीपक को उसी चिट पर इट्स ओक लिख कर उसकी कॉपी मे डाल दिया. आंड मैने दीपक को व्हातसपप पर म्स्ग किया की मेरे को रिसेस मे आकर मिलो.

उसने मुझे म्स्ग किया की कहा? मैने कहा की स्कूल की कॅंटीन की बॅक साइड पर. फिर वो बोला मेडम आप आज बहुत हॉट लग र्ही है. मैने उसको थॅंक्स कहा. उसने कहा मेडम आपकी स्ट्रॅप्स दिख र्ही है. मैने धीरे से ब्रा की स्टर्प को कुर्ते के अंदर कर दिया.

फिर मई रिसेस का वेट करने लग गयी. रिसेस के 10 मीं पर दीपक नही आया. तो मैने सोचा क्यू ना उसको कॉल करू. मैने उसको कॉल करी तो उसने कॉल नही उठाया.

मई कॅंटीन की बॅक साइड से कॅंटीन मे आई. मैने टी पी आंड दीपक को दूनधने के लिए क्लास मे गयी. तो मैने देखा की क्लास मे कुछ बाकछे दीपक को तंग कर र्हे है की दीपक तेरे से कोई लड़की सेट नही होती, तू मोटा है तू बॅटरी है.

दीपक फेस नीचे करके रो रा था. मई क्लास से वैसे ही वापिस आ गयी उनकी बाते सुन कर. इन बाकचो मे से किसी ने मुझे नही देखा क्यूकी मई ड्यूवर के साथ ये बाते सुन र्ही थी.

उस दिन दीपक घर भी नही आया. मैने उसको व्हातसपप पोर मॅग किया. उसने आन्सर नही दिया, कॉल भी की मेरा फोन उसने पिक नही किया.

अगले दिन मई स्कूल गयी तो मैने दीपक को अपने फ्री पीरियड मे दीपक को स्टाफ रूम मे बुलाया. मैने पेवं को बोला की क्लास 12 से दीपक को बुला. मेडम को मैने पहले बोल दिया था की उसको भेज देना.

तो पेवं ने दीपक को स्टाफ रूम मे भेज दिया. मैने दीपक को रूम मे बुलाया आंड पूछा की कल को क्या हुआ. ना कॉल पिक की ना म्स्ग का आन्सर दिया ना घर पर आए ना कॅंटीन पर??

उसने मूह लटका कर मेरे को सारी बात बता दी. मैने कहा मैने तुमको बोला था ना कॉन्फिडेन्स लाओ. वो बोला मेडम कहा से लाउ सब लोग गफ़ को लेकर बैठे है, मई कहा से लाउ कॉन्फिडेन्स. मेरी कोई गफ़ है ही नही.

मुझे भी अक्चा नही लगा तो पता नही मेरे दिमाग़ मे क्या आया मैने बोला चल मई तेरी हेल्प करती हू. बुत ये सीक्रेट रहेगा हमारे बीच. वो बोला कैसी हेल्प आंड क्या सीक्रेट?

मई बोली की तू कुछ ऐसा देना उनको जिससे उनको लगेगा की तू छुपा रुस्तम है. सो तेरी वॅल्यू बादेगी क्लास मे, सब तेरी तारीफ करेगे. बोल रखेगा सीक्रेट की मैने तेरी हेल्प करी है?

मैने कैसे उसकी हेल्प की और उसे क्या दिया ये जानने के लिए अगले पार्ट का वेट करे, जल्द ही लौंगी.

सो दोस्तो कैसी लगी मेरी स्टोरी, होप करती हू आपको पसंद आई होगी और आयेज की स्टोरी बाद मे. मेरा मैल ईद है – मई आपकी मेल्स का वेट करूगी.

यह कहानी भी पड़े  होटल में बॉयफ्रेंड की रंडी बनकर चुदी

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!