भाई का लंड देखा फिर से

अब आयेज की कहानी…

हमने सभी ने माल घूमने का प्लान बनाया. तो हम सब कपड़े वगेरा पह्न’ने टायर होने लग गये.

शाम के 5 बाज गये. हम सब गद्दी में बेत गये. पापा गद्दी चला रहे थे मों आयेज पापा के साथ थी और छोटा भाई ओर मैं पीछे बेते थे.

गद्दी चलाने से पहले पापा ने मुझे अपना मोबाइल दिया और बोले…..

पापा – नीलम बेटा देखना एक बार मेरे फोन में क्या प्राब्लम हो रही है. ई थिंक शायद फोन अपडेट माँग रहा है. इसको अपडेट कर दो.

मैं साँझ गयी की मम्मी और छोटा भाई साथ है तो पापा जान के बहाने से मुझे फोन दे रहे हैं.

मैं – ओके पापा देखती हू.

फाइनली मेरे पास पापा का फोन आ गया. मैं गद्दी के पीछे सीट में टेक लगा कर आराम से बेत गयी और पापा का फोन ओं किया ओर चेक क्रना शुरू किया.

मैने पापा का सारा मोबाइल देखा. सभी अप्स गॅलरी फाइल मॅनेजर सब कुछ ही चेक किया. लेकिन फोन में ऐसा कुछ भी नही था. फोन में बस नॉर्मल फॅमिली पिक्स वगेरा नॉर्मल अप्स थी बस.

मैने पापा के फोन के अप्स खोल के उनकी हिस्टरी तक चेक कर डाली. लेकिन उसमें भी कुछ नही था.

मैं काफ़ी प्रेशन सी हो गयी. की ऐसा कैसे हो सकता ह. कुछ तो देख ही रहे थे पापा यूयेसेस दिन ज्ब अपना लंड हिला रहे थे अपनी मूठ मार रहे थे.

फिर मुझे लगा की पापा ने सब डेलीट कर दिया है. मैने मान ही मान सोचा की पापा अपने आप को बहुत जयदा इंटेलिजेंट समझते हैं लेकिन मैं भी उन्ही की बेटी हू हहेहहे.

फिर मेरे दिमाग़ में आया की रिसाइकल बिन चेक करती हू. जो भी डेलीट किया होगा पापा ने सब रिसाइकल बिन में आ गया होगा.

मैने रिसाइकल बिन फोल्डर ओपन किया और वोही हुआ जो मैने सोचा था. पापा ने बहुत कुछ अपने फोन से डेलीट कर के ही मुझे दिया था.

रिसाइकल बिन फोल्डर में बहुत सी फाइल्स जो पापा ने डेलीट की हुई थी वो सब उशी में थी.

मैने जब देखा तो मैं एक दूं से हेरान सी ही हो गयी. उसमें से कुछ वीडियोस पॉर्न वीडियोस थी. वीडियो बिना ओपन किए ही उपर से कुछ वीडियोस में न्यूड ल्दकी और सेक्स करते हुए पिक्चर दिख रही थी. और कुछ फाइल्स थी जो मैने ओपन नही करी. क्यूकी यूयेसेस टाइम सब थे.

मैं वीडियो को गद्दी में सभी थे तो ओपन नही कर सकती थी. मेरी आँखे खुली रह गयी मैं काफ़ी शोकेड हो गयी.

फिर मैने सोचा की इसको यहाँ तो ओपन नही कर सकती. फिर मैने उन फाइल्स और वीडियोस को रिसाइकल बिन से रिस्टोर किया और पापा के फोन से सारी वीडियोस और फाइल्स अपने मोबाइल में ट्रान्स्फर कर ली.

और वापिस पापा के फोन से वोही वीडियोस फाइल्स सब डेलीट कर दिया. ताकि पापा को पता ना चले की डेलीट की हुई फाइल्स सब रिसाइकल बिन फोल्डर में आ जाती है. और रिसाइकल बिन फोल्डर में वापिस वो सब वीडियो फाइल्स आ गयइ.

फिर जैसे फोन लिया वैसे ही मैने पापा को फोन वापिस दे दिया.

मैं – ये लो पापा. कर दिया आपका मोबाइल अपडेट. अब कोई पोर्बलें नही है आपके मोबाइल में.

पापा – ओके थॅंकआइयू नीलम बेटा.

और पापा को पता ही नही चला की मैने रिसाइकल बिन फोल्डर से वीडियोस फाइल्स अपने फोन में ले ली.

फिर हम सभी माल घूमे. कुछ गेम्स खेली और थोड़ी बहुत शॉपिंग करी. फिर हम सब ने खाना खाया. और काफ़ी एंजाय किया. बहुत मस्ती की. लेकिन मैं अंदर ही अंदर सोच रही थी की पापा ने क्या क्या चुप्पा रखा है ये मैं घर जा कर देखूँगी.

रात के 12 बाज गये. हम माल से घर आ गये. सब काफ़ी थके हुए थे. पापा मम्मी अपने रूम में सोने चले गये.

मैं भी फिर वॉशरूम में फ्रेश होने गयी और नाइट ब्लू लोवर और नाइट पिंक टॉप पहन ली और क्यूकी मैं रात को सोते टाइम ब्रा पनटी उतार के सोती हू तो इषली मैने अपनी बिकनी और पनटी वॉशरूम में उतार के रख दी.

और रूम में आ कर लेट गयी ओर छोटा भाई भी कपड़े चेंज कर के अपने रूम में लेट गये.

थोड़ी देर बाद पापा का स्मस आया.

पापा (स्मस) – चेक कर लिया फोन बेटा.

मैं (स्मस) – हंजी पापा. कुछ भी नही मिला आपके फोन में. सारा फोन ही खाली था.

पापा (स्मस) – मैने तो तुम्हे पहले ही कह रहा था बेटा की मेरे फोन में कुछ भी नही है. बस ऑफीस वर्क और फॅमिली पिक्स वीडियोस ही हैं.

मैं (स्मस) – हंजी पापा… पापा मैं काफ़ी तक गयी हू मुझे नींद आ रही है. मैं सो रही. कल बात करते हैं.

पापा (स्मस) – ओके बेटा. गुड नाइट. ई लोवे उ बेटा.

मैं (स्मस) – ओके पापा गुड नाइट. ई लोवे उ टू.

क्यूकी मुझे अपने फोन में अब सब देखना था. इषली मैने जान के पापा को नींद का बहाना मारा और मैं सो रही हू बोल दिया. ताकि मैं आराम से सब देख साकु.

मैने अपने रूम का दरवाज़ा बंद किया और कुण्डी लगा दी. फिर मैने देखा छोटा भाई कार्तिक भी अब काफ़ी गहरी नींद में सो चुका था.

मैं बेड पर लेट गयी. और अपने मोबाइल में एअर फोन लगा लिए. और जो पापा के फोन से वीडियो फाइल्स अपने मोबाइल में ट्रान्स्फर की थी. यूयेसेस फोल्डर को ओपन किया और उसमें से एक वीडियो को प्ले किया.

मैं यूयेसेस पॉर्न वीडियो को देख कर हेरान सी रह गयी. क्यूकी वो एक दाद डॉटर की सेक्स पॉर्न वीडियो थी. जिसमें एक बाप अपनी बेटी को मज़े से छोड़ रहा होता है. और बेटी भी मज़े से अपने बाप से छुड़वा रही होती है.

मुझे दाद डॉटर की पॉर्न देख कर अजीब अजीब से ख़याल आने लगे. मेरा दिमाग़ कराब सा होने लगा.

फिर मैने यूयेसेस पॉर्न को बीच में ही टा कर दूसरी वीडियो को प्ले किया. देखा तो वो भी एक बाप बेटी की पॉर्न वीडियो थी. जिसमें बेटी अपने बाप का लंड ज़ोर ज़ोर से चूस रही होती है. और बाप भी अपनी बेटी के मूह में अपने लंड के झटके मारते हुए उसके मूह में लंड को आयेज पीछे कर रहा होता है.

पहले तो मैं ये सोचने लगी की पापा ऐसी दाद डॉटर वाली पॉर्न वीडियोस क्यू देख रहे हैं. क्या पापा ऐसी पॉर्न देख कर यूयेसेस दिन मुझे फील कर के अपना लंड हिला रहे थे. पापा मुझे छोढ़ना चाहते हैं.?? क्या मेरे पापा मेरे साथ सेक्स करना चाहते हैं ?? मेरे दिमाग़ में बहुत से सवाल उठने लगे.

फिर दूसरी तरफ मैने सोचा की नही पापा ऐसा कुछ नही सोच सकते. क्यूकी मैने उनको कपड़े चेंज करते हुए अपने आप को दिखाया. पापा सिर्फ़ यही चाहते थे और अब तो पापा ने प्रॉमिस भी किया है की अब आयेज ऐसा कुछ नही होगा. मेरे पापा अपनी बेटी के लिए ऐसा कुछ नही सोच सकते.

पॉर्न देखते देखते मेरे दिमाग़ में चल रहे सभी सवाल अचंक से बंद हो गये और पॉर्न वीडियोस देख कर मेरे जिस्म के रोम रोम में मुझे कुछ होने लगा. फिर मैने वीडियो को तोड़ा आयेज किया तो उसमें बाप अपनी बेटी के उपर लेट कर अपने लंड को छूट में ज़ोर ज़ोर से पेल रहा था.

मैने काफ़ी टाइम से पॉर्न नही देखती थी तो ये सब देखते देखते अब मुझे कुछ होने लगा. मैं पागल सी होने लगी. मैं पापा और मेरे बीच का सब कुछ भूल गयी. मेरे हाथ अपने आप ही मेरे बूब्स और मेरी नाभि और पायट में जाने लगे.

मेरी साँसे गहरी सी हो गयी. मैं अपने बूब्स पर अपनी टॉप के उपर से हाथ फेरने लगी. मेरा एक हाथ मेरे लोवर के अंदर जाने लगा. मेरी पूरी बॉडी में करनट सा लगने लगा. मैं पॉर्न में उशके मोटे लंबे लंड को देखते हुए मचलने लगी.

मुझे सेक्स की एक दूं से आग सी लगने लगी. मेरे से बिल्कुल भी नही रहा जा रहा था. मैने अपना एक हाथ अपनी टॉप के अंदर डाल दिया और अपने बूब्स की निपल्स को पकड़ के गोल गोल घूमने लगी. और दूसरा हाथ अपनी लोवर के अंदर डाल के अपनी फुदी के उपर रख दिया.

मैं एक दूं से मच्हली की तरह तड़पने लगी. मैने अपने मोबाइल की तौरछ ओं की. तो देखा छोटा भाई कार्तिक गहरी नींद में सो रहा था.

आयेज की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट्स में जारी रहेगी…

यह कहानी भी पड़े  मा के साथ थ्रीसम चुदाई

error: Content is protected !!