कहानी जिसमे भाई-बहन ने अकेले होने का उठाया फ़ायदा

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम कारण है. मैं चंडीगार्ह में रहता हू, और ये मेरी रियल स्टोरी का सेकेंड पार्ट है. जिसमे आप पढ़ेंगे कैसे मैने मेरी कज़िन सिस्टर की चुदाई करी अगेन आंड अगेन. मेरी आगे 23 है, आंड मेरी कज़िन जिसका नाम शिवानी है उसकी आगे 21 है.

फ्रेंड्स मैं कोई प्रोफेशनल स्टोरी राइटर नही हू, तो कोई ग़लती या इन्सिडेंट प्रेज़ेंट करने में मिस्टेक हो जाए, तो इग्नोर कर दीजिएगा. और किसी भी लेडी को सेक्स करना हो मेरे साथ नियर्बाइ चंडीगार्ह, तो मैल कर सकती है कराणसिंघ365365@गमाल.कॉम पर. मैं उनकी हेल्प करने की पूरी कोशिश करूँगा. तो अब स्टोरी पर आते है.

लास्ट पार्ट में आपने पढ़ा था, की कैसे मैने फर्स्ट टाइम अपनी कज़िन की पूरी रात चुदाई की, और उन्होने भी मेरा पूरा साथ दिया सेक्स करने में. अब तक मैं उनकी बहुत बार चुदाई कर चुका हू.

अब मेरी कज़िन को मेरे लंड की आदत पद गयी थी. और मुझे भी उसकी छूट मारने की आदत पद गयी थी. लगभग 1 साल हो गया मुझे उनकी चुदाई करते हुए. इस 1 साल में हमारे बीच काई बार लड़ाई भी हुई, बुत लड़ते-लड़ते ही हमारे बीच सेक्स हो जाता है और फिर सब सॉल्व हो जाता है.

वैसे तो बहुत सेक्स स्टोरीस है मेरे पास, बुत मैने रीसेंट्ली जो अपनी कज़िन की चुदाई करी है, वही बताता हू आपको.

तो ये बात है 14 फेब 2023 की, यानी वेलएंटीने की. मेरे मों दाद जॉब पर गये थे. मेरी कज़िन भी हमारे साथ रहती है, और वो भी जॉब करती है. लेकिन उस दिन वो जॉब पर नही गयी थी, और हम घर में अकेले थे.

मैं सुबा ही समझ गया था, की वो जॉब पर नही जाने वाली थी आज. और मैं सुबा ही मार्केट से मूड्स के कॉंडम और 2 डेरी मिल्क चॉक्लेट ले आया था.

फिर थोड़े टाइम में सब जॉब पर चले गये. तो मैने उसको किस करना स्टार्ट कर दिया. दोस्तों मैं आपको बता डू, की हमारे बीच किस करना और एक-दूसरे को टच करना नॉर्मल सी बात है.

काई बार जब सब लोग घर पर होते है, तब भी हम किस वग़ैरा और उसकी गांद पर थप्पड़ वग़ैरा मैं मारता रहता हू. तो इस सब की उसको आदत पद गयी है.

फिर मैने उसको किस करना स्टार्ट किया, और वो धीरे-धीरे गरम होने लगी.

मैं भी गरम होने लगा था. मैने उसको 10 मिनिट तक गरम किया, और फिर मैं बेड पर लेट गया. फिर मैने उसको लंड चूसने को बोला, और वो चूसने लगी. बुत लंड चूसने में वो ज़्यादा इंटेरेस्ट नही लेती है.

मैने उससे थोड़ी देर तक लंड चुस्वाया, और उसके बाद उसकी सलवार खोल दी, और उसको नीचे से नंगा कर दिया. उसकी छूट अभी भी टाइट है. फिर मैने पॅकेट से कॉंडम निकाला, और अपने लंड पर चढ़ाया, और उसकी दोनो टाँगो को खींच कर उसकी छूट को अपने पास लाया.

फिर मैने उसकी छूट में लंड डाल दिया. इससे उसको तोड़ा सा दर्द हुआ, पर फिर भी मैं उसको छोड़ने लगा. अब वो सिसकारियाँ लेने लगी मज़े से, और मुझे भी मज़ा आने लगा. बुत मिशनरी पोज़िशन में मुझे ज़्यादा मज़ा नही आता है, तो मैने उसको घोड़ी बना लिया.

उसने अपनी छूट और गांद मेरे हवाले कर दिए. फिर मैं धीरे-धीरे अपना लंड उसकी छूट में डाल कर उसको डॉगी पोज़िशन में छोड़ने लगा. दोस्तों सबसे बेस्ट सेक्स मज़ा जो है, वो घोड़ी बन कर चूड़ने में ही आता है लड़की को.

मैने फिर उसके बाल पकड़े पीछे से, और उसको ज़बरदस्त छोड़ने लगा. और वो सिसकारियाँ लेने लगी. वो बोल रही थी आराम से करने को, और मैं घोड़े की तरह उसको छोड़े जेया रहा था. उसके बाल पकड़ कर छोड़ने में जो फील आता है, वो किसी पोज़िशन में नही आता.

उसको तो मैने अपनी पर्सनल बीवी की तरह रखा हुआ है, और वो भी खुश है मेरे से चुदाई करवा कर. वो बोलती है की मेरे अलावा किसी और से चुदाई नही करवाएगी.

थोड़ी देर डॉगी पोज़िशन में छोड़ने के बाद मैं लेट गया, और उसको बोला मेरे लंड की सवारी करने के लिए. फिर वो मेरे लंड पर चढ़ गयी खुशी-खुशी. इस पोज़िशन में छोड़ने में मुझे एक्सपीरियेन्स कम है, तो मैने उन्हे बोला-

मैं: तुम खुद ही उछलो मेरे लोड पर.

फिर वो उछालने लगी धीरे-धीरे. 2 मिनिट में ही वो तक गयी, और फिर हमने दोबारा पोज़िशन चेंज की. फिर मैने उन्हे दीवार के साथ बिताया, और अपना लंड उसके मूह पर रगड़ने लगा. मैं उसको अपना लंड फिरसे चुसवाने लगा.

वो भी आचे से मेरा लंड चूसने लगी. मैं उसके बाल पकड़ कर लंड चुसवाने लगा, और इसमे बहुत मज़ा आता है. थोड़ी देर में मैने उसको दोबारा बेड पर घोड़ी बनाया क्यूंकी मैं अब अपना वीर्या निकाल कर रिलॅक्स होना चाहता था.

तो मैने उसको घोड़ी बनाया, और उसके बाल पकड़ कर छोड़ने लगा. पर पता नही क्यूँ मेरा वीर्या निकालने में बहुत टाइम लग रहा था. मुझे हल्का सा पसीना भी आ गया था उन्हे छोड़ते हुए.

फिर मैने स्पीड बधाई, और मेरा वीर्या निकलने वाला था. तो मैने अपना लंड उनकी छूट से निकाला, और वीर्या कॉंडम के अंदर ही गिरा दिया. दोस्तों पूरी चुदाई के दौरान 3 कॉंडम ख़तम हो गये थे, जो मैं बताना भूल गया. लास्ट कॉंडम के अंदर ही मैने अपना वीर्या निकाला, और मैं रिलॅक्स हो कर लेट गया.

फिर हम अपनी पर्सनल बातें करने लगे. और ये पूरी चुदाई में लगभग 1:30 घंटा लग गया होगा. अब दोपहर हो गयी थी. फिर मैने सोचा घर पर ही क्या करूँगा दिन भर, और मैं हाफ दे जॉब पर चला गया. वो भी अपनी जॉब पर चली गयी.

इस तरह हमने अपना वेलएंटीने मनाया, और मैं उसकी छूट से बहुत खुश हू और वो भी मेरे लंड से बहुत सॅटिस्फाइ है. हमारा जब मॅन करता है हम सेक्स कर लेते है, और किस कर लेते है.

आप सब से भी मैं यही कहूँगा, की अगर आप किसी को पसंद करते है या करती है, तो उनको ज़रूर बताए. हो सकता है आपके बीच भी सेक्स स्टार्ट हो जाए. और जिन गर्ल्स या बाय्स ने सेक्स नही किया या गफ़-ब्फ नही बनाया, तो ज़रूर बनाए. और इस 1 बार मिली लाइफ का पूरा मज़ा ले.

अगर किसी भी फीमेल को मेरी किसी भी तरह की हेल्प की नीड हो, वो किसी भी आगे की हो मुझे फराक नही पड़ता, तो मुझे ज़रूर मैल करे कराणसिंघ365365@गमाल.कॉम

पर.

थॅंक योउ.

यह कहानी भी पड़े  एंप्लायी ने अपनी सीनियर को प्रेग्नेंट किया


error: Content is protected !!