भड़कती आग को मा बेटी ने ठंडा किया

हेलो दोस्तों क्या हाल ही आप सब के. मैं सेक्सी सोनिया एक बार फिर हाज़िर हू अपनी कहानी का नेक्स्ट पार्ट लेके. जिसने भी पिछले पार्ट्स रेड नही किए है, तो प्लीज़ पहले उन्हे रेड कर लेना. ताकि पता चल सके की कहानी में क्या-क्या हो गया है.

लास्ट पार्ट में मेरा बेटा मुझे हॉल में छोड़ रहा था, और बेटी बाहर बेल बजा रही थी. लेकिन उसने मुझे पूरा छोड़ा, और कंप्लीट करके मैने उसे रूम में भगा दिया, और अपने कपड़े पहन के डोर ओपन किया. अब आयेज.

रूपाली: क्या मों, कहा थी? इतनी देर से बेल बजा रही हू, चिल्ला रही हू मों ( गुस्से में पूछते हुए).

मैने उसे हग कर लिया टाइट से, और सॉरी-सॉरी बोलने लगी. और कहा-

मैं: सॉरी बेटा, मैं वो बातरूम में थी. तो मुझे पता नही लगा. जब बेल सुनाई दी, तो मैं जल्दी से भाग के आई. सॉरी बेटा.

और टाइट हग किया. साथ ही उसके चीक्स पे किस भी किया और बोला-

मैं: प्लीज़ सॉरी बेटा, गुस्सा मत हो अब.

फिर वो शांत हो गयी, और उसने भी मुझे हग किया टाइट से, और बोली-

रूपाली: मों मैं घबरा गयी थी की भाई भी नही खोल रहा गाते, कही बाहर तो नही गया. और आपको कुछ हो तो नही गया.

फिर मैं बोली: अर्रे नही-नही वो तो उपर अपने रूम में मोविए देख रहा है इयरफोन लगा के. और मुझे क्या होगा बेटा?

फिर उसने भी मुझे किस किया चीक्स पे और बोली: होना भी नही चाहिए आपको कुछ.

मुझे शक तो था ही उसपे, तो मैने कहा: चल अब छ्चोढ़ मुझे.

फिर वो बोली: नही मों, मुझे आपकी फिकर हो रही थी. अब आप ठीक हो, इसके लिए मुझे तोड़ा और हग करने दो.

और उसने मुझे और टाइट हग कर लिया, और एक हाथ मेरे हिप्स पे फेरने लगी, और मेरी नेक पे किस करने लगी. उसकी गरम साँसे मुझे फील हो रही थी. मुझे भी कुछ-कुछ हो रहा था, लेकिन मैं अभी कुछ दिखना नही चाहती थी. पहले पूरा शुवर होना चाहती थी.

तो उसने मुझे 5 मिनिट तक ऐसे ही करा, और फिर धीरे-धीरे उसने मुझे अलग किया, और अपने लिप्स मेरे लिप्स के पास लाने लगी. फिर जैसे ही हम दोनो के लिप्स टच होने वाले थे, तभी मैने रोका और कहा-

मैं: ये क्या कर रही हो रूपाली तुम?

फिर वो होश में आई और अपने रूम में भाग गयी. मैने भी में डोर क्लोज़ किया और उसके पीछे-पीछे गयी ‘रूपाली रूको बेटा’ बोलते हुए. फिर मैं उसके रूम में गयी, और डोर अंदर से लॉक कर दिया, और उसके पास गयी.

मैं बोली: क्या हुआ बेटा, तुम भाग क्यूँ आई नीचे से? मैं तो बस पूच रही थी क्या हो गया था तुम्हे. और क्या कर रही थी तुम. ये ग़लत था ना.

तो वो मेरी तरफ देखी, और मेरे फेस को पकड़ा, और मेरी आँखों में देखा और बोली-

रूपाली: ई लोवे योउ सो मच मों. योउ अरे सो हॉट आंड सेक्सी. मैं आपसे बहुत प्यार करती हू. इसलिए आपकी ज़्यादा फिकर होती है. ई लोवे योउ सो मच मी ब्यूटिफुल मों.

फिर मैं थोड़ी चौंकी और बोला: ये क्या है रूपाली?

वो बोली: एस मों, अब और नही रुक सकती मैं मों. मुझसे रहा नही जाता आपके बिना.

और उसने सीधा मुझे लीप किस कर दिया. वो मेरे होंठो को चूसने लगी वाइल्ड तरीके से, और मेरे बूब्स भी दबाने लगी. मैं कुछ समझ नही पाई पहले. फिर 5 मिनिट की किस के बाद मैने उससे रोका और बोला-

मैं: रूपाली ये ग़लत है. हम दोनो मा-बेटी है.

फिर वो बोली: कुछ नही होता मों. मा बेटी से पहले हम इंसान है, और हमे किसी से भी प्यार हो सकता है. मैं आपके बिना नही रह सकती. आपके हुस्न की दीवानी हू मैं. आज मुझे मत रोको. मुझे करने दो. ई आम शुवर आपको भी ँज़ा आएगा. प्लीज़ मी ब्यूटिफुल मों.

मैं तो मॅन ही मॅन खुश हो रही थी. लेकिन एक-दूं से दिखना नही चाहती थी. तो उसे बोला-

मैं: ये सही नही है. तेरे भाई की पता लग गया तो? और तेरे पापा को पता लग गया तो?

वो बोली: मों पापा तो वैसे भी बाहर रहते है. और भाई को कुछ पता नही चलेगा. इट’स बिट्वीन योउ आंड मे. प्लीज़ मों, मान जाओ ना.

और मुझे एक बार और किस करने लगी. इस बार और पॅशनेट तरीके से, और साथ ही मेरे बूब्स और दूसरे हाथ से मेरी छूट को उपर से ही प्रेस कर रही थी. उम्म उम्म की आवाज़ गूँज रही थी. फिर पहले तो मैं विरोध कर रही थी, लेकिन बाद में मैं मान गयी, और उसका साथ देने लगी.

वो समझ गयी मैं रेडी थी. मैं अपनी बेटी का फिगर बता डू 34-30-36. मोटे बूब्स, बड़ी आस, बहुत ब्यूटिफुल और सेक्सी है मेरी बेटी भी. फिर हम दोनो में ज़बरदस्त किस होने लगी. मैं भी उसके बूब्स को दबाने लगी, और फिर वो मुझे नेक पे किस करके लगी. मैं तो गरम हो गयी थी बहुत, और उसके भी सिर पे आज भूत सवार था.

वो मुझे पागलों की तरह किस कर रही थी, जैसे उसे आज जन्नत मिल गयी हो, और मुझे ई लोवे योउ मों बोले जेया रही थी. फिर उसने मेरा कुर्ता उतार दिया, और मेरे बूब्स देख के बोली-

रूपाली: वाउ मों, क्या बूब्स है आपके. आपकी इसी फिगर ने तो मुझे दीवाना बना रखा है. मैं पागल हू आपकी फिगर के लिए.

फिर मैं बोली: सच रूपाली? तू कब से ये सब देख रही है?

वो बोली: मैं तो आपको बहुत दीनो से नोटीस कर रही हू. लेकिन ये नही पता था अब जाके आपको पौँगी. उस दिन नाइट में भी आपको हग किया था याद है?

तो मैं बोली: हा-हा याद है. मुझे भी कुछ अलग फील हुआ था, लेकिन मैने इग्नोर कर दिया.

फिर वो बोली: च्लो कोई नही. अब आज मैं आपको आचे से प्यार करूँगी.

फिर वो मेरी ब्रा और सलवार भी उतार दी. मैं सिर्फ़ अब पनटी में थी. फिर वो मुझे ताड़ने लगी मेरे पुर बदन को और बोली-

रूपाली: मों आप हुस्न की पारी हो. मुझे तो आज जन्नत मिल गयी. ई लोवे योउ सो मच.

ये बोल के वो मुझे फिर वाइल्ड किस करने लगी. पहले लिप्स, फिर नेक, और फिर बूब्स को सक करने लगी. इधर मेरी सिसकारियाँ निकल रही थी. उसका हाथ कभी मेरे दूसरे बूब पे होता, तो कभी वो मेरी छूट को पनटी के उपर से दबाने लगती, जो मुझे अछा लगने लगा. मैं सिसकारियाँ भरने लगी.

फिर धीरे-धीरे वो नीचे हुई, और मेरी नेवेल को सक करने लगी. मैं तो पागल हो रही थी. फिर वो और नीचे हुई, और पनटी के उपर से ही उसने मेरी छूट के आस-पास फूँक मारी, जिससे मेरी बॉडी में करेंट सा दौड़ गया. फिर उसने उपर से ही हल्की-हल्की जीभ टच की. इससे मैं तो और सिहार गयी.

उसने फिर कुछ देर ऐसा किया. मैं तो पागल हो रही थी. मैने उससे बोला-

मैं: रूपाली और मत तडपा बेटा, मुझे. उतार दे मेरी पनटी, और चाट जेया मेरी छूट, और पी जेया मेरा काम-रस्स. मुझे और मत तडपा.

वो बोली: अछा मेरी रानी. पहले माना कर रही थी. अब तड़प रही है रहा नही जेया रहा. रुक अभी चाट-ती हू तेरी छूट, और बुझती हू इसकी आग. ऐसे चाटूँगी जैसे आज तक मेरे बाप ने भी छाती नही होगी.

मैं बोली: उसका नाम मत ले, वो तो चाट-ता ही नही था. सीधा लंड डाल देता रहा, और फिर झाड़ भी जल्दी जाता था. पता नही तुम दोनो कैसे पैदा हो गये. अब जल्दी कर, मुझसे रहा नही जेया रहा.

फिर वू जल्दी से उठी, मेरी पनटी उतरी, और मेरी टांगे फैला दी, और मेरी दोनो टाँगो के बीच आ गयी. उसने पहले हल्के-हल्के से मेरी छूट पे जीभ टच की. फिर मेरी छूट को फैलाया, और उसके सबसे उपर वाले दाने को सक किया. मैं तो पूरी हिल गयी थी, और सिसकारियाँ भर रही थी.

मैं: आ आ मॅट तडपा मुझे, और खा जेया मेरी छूट मेरी बेटी.

वो और जोश में आ गयी, और मेरे हाथ को पकड़ लिया, और मेरी छूट के अंदर जीभ डाल दी, और सक करने लगी ज़ोर-ज़ोर से. कभी उपर-नीचे कभी अंदर-बाहर. करने लगी. इधर मैं और गरम हो रही थी. उसे मैं बोल रही थी-

मैं: और ज़ोर से, और ज़ोर से मेरी बेटी. चूस जेया मेरी छूट को.

और फिर उसने मेरी छूट और फैला दी, और एक हाथ से उपर वाले दाने को मसालती रही. वो लगातार अपनी जीभ से मेरी छूट को चाट-ती रही अंदर-बाहर, उपर-नीचे हर जगह. वो बीच में बोल भी रही थी-

रूपाली: ऑश मों, आप पहले क्यूँ नही मिली मुझे. आपकी छूट की खुश्बू ही मुझे पागल कर रही है, उपर से इसका टेस्ट उफफफफ्फ़. मुझे इसकी आदत पद जाएगी मों.

मैं बोली: तो क्या हुआ? जब मॅन करे आ जाना.

फिर वो भी खुश हुई, और मेरी छूट और तेज़-तेज़ से चाटने लगी, और साथ ही मेरे बूब्स भी प्रेस कर रही थी. उसके बाद उसने मेरी दोनो टांगे उठा दी, और मेरी छूट को और ज़ोर से चाटने लगी और फास्ट चाटने लगी.

मैं: आ आ आ, और तेज़ बेटी. रुकना मत.

ऐसा उसने 15-20 मिनिट किया, और फिर मैं झड़ने वाली थी. तो मैं उसका सिर अपनी छूट में दबाने लगी, और बोलने लगी-

मैं: बेटी रुकना मत प्लीज़ कम ओं, कम ओं, और तेज़, फास्ट, फास्ट, ई आम कमिंग. आहह अहः.

ये करते-करते मैने अपना गरम माल उसके मूह में छ्चोढ़ दिया, और फिर हाँफने लगी. वो झड़ने के 5 मिनिट बाद तक भी मेरी छूट को चाट-ती रही, जो मुझे बहुत अछा लगा. फिर जब उपर आई वो बोली-

रूपाली: हाए मों, क्या रस्स है आपकी छूट का. अब मुझे ये रोज़ चाहिए. मुझे कुछ नही पता आप कैसे डोगी, लेकिन मुझे ये रोज़ चाहिए. बिकॉज़ मुझसे रहा नही जाएगा इसके बिना. ई लोवे योउ मों, सो मच.

और उसने लीप किस किया ज़ोर से. फिर उसकी नज़र मेरी नेक पे पड़े लोवे बीते पे पड़ी, जो मेरे बेटे ने दी थी. तो वो उसे देख के बोली-

रूपाली: ये क्या हुआ मों? ये कैसे हुआ.

और फिर मैने उसे पागल बनाते हुए बोला: अर्रे बेटा, अभी ही तो तूने दिया है ये मुझे लोवे बीते. तुझे पता नही लगा होगा, प्यार करते-करते तू वाइल्ड भी तो हो गयी थी. त्म

तो फिर उसने कहा: अछा, मुझे पत्ता नही लगा होगा शायद.

और उस लोवे बीते पे धीरे से किस किया. फिर मैने उसे नीचे लिटा दिया, और मैं उसके उपर आ गयी और बोली-

मैं: अब मेरी बारी है तुझे प्यार करने की.

मैने उसके सारे कपड़े उतार दिए एक-दूं से, और उसके बूब्स देख के बोली-

मैं: अर्रे बेटा, वाह, तूने भी इतने आचे बूब्स कहा च्छूपा रखे है. इतने मोटे और बड़े बूब्स वाह.

और उन्हे सक करने लगी. मैं उसके निपल्स को चूसने लगी, और एक हाथ से उसके बूब को और दूसरा हाथ उसकी छूट के उपर फेरने लगी. वो भी सिसकारियाँ भरने लगी. मैं और तेज़ उसके दोनो बूब्स को सक करने लगी. और फिर उसकी नेवेल को सक किया, जिससे वो सिसक उठी.

फिर मैने वापस उसे लिप्स किस किया. करीब 10 मिनिट तक लीप किस करती रही, और एक हाथ से लगातार उसके बूब्स और छूट को प्रेस करती रही. वो भी पहले से गरम तो थी ही, और गरम होने लगी.

वो बोली: मों मुझे भी अब मत तड़पाव, और चतो मेरी छूट, और निकाल दो मेरी छूट का पानी.

मैं भी जोश में नीचे आई, और उसकी छूट की चाटने लगी. उसकी दोनो टाँगो को फैलाया, और जीभ अंदर डाल दी, और उसके दाने को मसालने लगी. वो पूरी काँप रही थी, और बिस्तर को पकड़ा हुआ था.

वो कम ओं, कम ओं मम्मी बोले जेया रही थी. मैं भी उसकी छूट लगातार अंदर-बाहर उपर-नीचे से चाट रही थी, और वो सस्स सस्स आ कर रही थी.

फिर लगातार ऐसे उपर-नीचे अंदर-बाहर छूट चाट-ते हुए करीब 20 मिनिट के बाद वो झड़ने वाली थी.

वो बोली: मों मैं आने वाली हू. प्लीज़ मत रुकना, करती जाओ.

मैं भी पुर जोश से लगी रही. फिर वो झाड़ गयी मेरे मूह में, और मैं भी उसका सारा पानी पी गयी. वाह क्या टेस्ट था उसकी छूट का. फिर वो हाँफने लगी. मैं उपर गयी, और उसे लीप किस किया, और बोली-

मैं: बेटी, तेरी भी छूट का पानी कम टेस्टी नही है. क्या पिंक छूट है तेरी, और टाइट है अभी तो.

और मैं उसकी छूट में उंगली करने लगी. वो भी गरम होने लगी, और बोली-

रूपाली: मों ई लोवे योउ सो मच. मैं आपके बिना नही रह सकती.

और वो भी मेरी छूट में उंगली करने लगी. हम दोनो एक-दूसरे की छूट में उंगली कर रहे थे काफ़ी देर तक.

और फिर मैने बोला: बेटी एक पोज़िशन ट्राइ करते है. 69 में तेरे फेस पे अपनी छूट रखूँगी, और तेरी छूट चाटूँगी. और तू मेरे फेस पे अपनी छूट रखेगी, और मेरी चूत चातेगी. चल करते है.

वो ये सुन के बहुत एक्शिटेड हुई, और जल्दी से मान गयी. हम दोनो ने जल्दी वो पोज़िशन लेली, और एक-दूसरे की छूट एक साथ चाटने लगे. मैं बीच-बीच में उसकी आस पे थप्पड़ भी मार देती. वो पल काफ़ी सेक्सी था. हम दोनो एक-दूसरे की छूट चाट रहे थे. साथ ही एक-दूसरे की छूट के दाने को भी मसालते रहे.

इससे हम दोनो जल्दी गरम होने लगे, और तेज़ी से एक-दूसरे की छूट चाट-ते रहे. हम दोनो की आवाज़े पुर कमरे में गूंजने लगी.

फिर वो बोली: मों ई आम कमिंग. प्लीज़ डॉन’त स्टॉप.

और सिसकियाँ लेते हुए वो झाड़ गयी. पहले वो ऐसे ही पड़ी रही. फिर मैं उठी, और उसके फेस पे बैठ गयी. क्यूंकी मेरा झड़ना बाकी था अभी. वो मेरी छूट को चाट-ती रही. और ऐसे ही करते-करते मैं भी झाड़ गयी, और सारा पानी उसके फेस पे निकाल दिया, जिसे वो पी गयी सारा. फिर मैं उसके फेस से उठी, और हम दोनो एक-दूसरे की तरफ देख रहे थे.

वो बोली: मों क्या तरीके से सेक्स करती हो तुम. मज़ा आ गया सॅकी. कहा से सीखी ये पोज़िशन?

मैं बोली: पॉर्न वीडियो में देखा था. और अभी तो और पोज़िशन्स में भी कर सकते है हम सेक्स. ये तो शुरुआत है बेटी.

फिर उसने मुझे गले लगाया, और बोली: मों ई लोवे योउ सो मच. मुझे कभी अकेला मत छ्चोढना.

फिर मैं बोली: चल बेटा, अब हमे उतना चाहिए. तेरा भाई भी हमे ढूँढ रहा होगा.

वो बोली: मों अभी नही. मुझे आप से ऐसे ही न्यूड गले लगे रहना है.

मैं बोली: बेटा तेरा भाई भी है ना, उसे शक हुआ तो?

फिर वो मान गयी और बोली: अछा ठीक है मों. लेकिन इसका भी कुछ करो मों भाई का. हम रोज़ ऐसे ही डरते रहेंगे क्या? मैं तो अंदर से सब जानती थी, और अब तो अपने बेटे से शादी भी करने वाली थी. तो उसे कुछ नही बताया. मैं उसको बस ये बोली की वो सब मुझ पर छ्चोढ़ दे. और उसे ज़ोरदार लीप किस किया, और उसके बूब्स प्रेस किए.

उसने भी मुझे लीप किस किया वाइल्ड वाला, और मेरे बूब्स को प्रेस किया, और फिर हम दोनो ने कपड़े पहन लिए. मैं फिर डोर ओपन करने लगी, तभी वो पीछे से आई, और मुझे हग कर लिया.

मैं रुकी और बोली: क्या हुआ रूपाली?

वो बोली: ई लोवे योउ मों. एक बार पीछे से हग करने का मॅन कर रहा था.

और मेरी नेक और पीठ पे किस किया.

वो बोली: नेक्स्ट टाइम आपको और आचे से प्यार करूँगी. और हा, पूरा टाइम आपको मेरे साथ ही रहना होगा. मैं आपको आचे से प्यार करना चाहती हू.

मैं बोली: अछा ठीक है. लेकिन अब जाने दे.

और में उससे अलग हुई, और डोर ओपन किया, और सीधा अपने बेटे के रूम में गयी. इस पार्ट में इतना ही.

अब आयेज मैने और मेरे बेटे ने शादी की प्लॅनिंग की. क्यूंकी 1 दिन बाद हम शादी करने वाले थे. बीच में एक ही दिन था. और फिर क्यूंकी शादी वाले दिन मैं अपने बेटे के साथ सुहग्रात मानना चाहती थी आचे से, और बिल्कुल डिस्टर्ब नही होना चाहती थी, इसलिए कैसे हमने होटेल में रूम बुक किया.

और उससे पहले नेक्स्ट दे कैसे मैने रूपाली के साथ एक और बार पूरा दिन सेक्स किया अलग-अलग पोज़िशन में. ये सब आपको नेक्स्ट पार्ट में जानने को मिलेगा.

बने रहिए और अपनी फीडबॅक नीचे दी गयी मैल ईद पर दीजिए. और कोई औरत या गर्ल बात करना चाहती है, या कुछ शेर करना चाहती है, या किसी चीज़ की हेल्प चाहिए, तो मुझे मैल ईद पर मेसेज करिए.

यह कहानी भी पड़े  मा के अपने बेटे की रंडी बनने की सेक्सी कहानी


error: Content is protected !!