मामी मेरे बिज से प्रेग्नेंट हो गई

दोस्तों मेरा नाम राज हे और मैं हरयाना से हूँ. मेरी उम्र 23 साल हे और मैं एवरेज बॉडी और नोर्मल लंड वाली आदमी हूँ. मैं पिछले 8 साल से अपने मामा और मामी के साथ रह रहा हूँ. मेरे माँ और पिताजी एक रेल के हादसे में मर गए. मैं तब पढ़ रहा था. और मामा जी ही मुझे अपने साथ ले गए. मेरे पापा की सभी जमीन जायदाद भी मामा के पास ही गई जिसके वो लीगल गार्डियन हे.

मामा अक्सर अपने काम की वजह से घर से बहार ही रहते हे. घर में नाना जी हे लेकिन वो बूढ़े हे और बिस्तर से उठ नहीं पाते हे. मैं बहुत पहले से सेक्स की कहानियां पढने का चस्का लग चूका था. और सेक्स की स्टोरीज पढ़ पढ़ के ही मैं बहुत कुछ सिखा था की कब क्या और कैसे करना हे!

मेरी मामी जी का नाम सुनीता हे और वो एक आइटम हे! मामा को एक अच्छा चांस मिल रहा था तो वो दुबई चले गए दो महीने के लिए. एक सिल्क एक्सपोर्ट की डील के लिए वो वहां गए थे. उन दिनों घर में मैं, मेरी मामी और नाना जी ही थे. मामी का रंग गोरा दूध के जैसा हे और बड़े बड़े बॉल्स हे उसके. चुतड भी एकदम भरे हुए और गोल मटोल हे उसके. जब वो गली में निकलती हे तो सब उसको देख के लंड को सेक लेते हे. मामी की उम्र 32 साल की हे लेकिन वो लगती 25-26 की ही हे. हां थोड़ी सी मोटी हे बदन में बस वो.

गर्मियों में हम सब साथ में ही सोया करते थे. एक ही एसी था घर में इसलिए मैं नाना और मामी एक ही कमरे में सोते थे. पहले मेरा उनकी तरफ कोई ध्यान नहीं था क्यूंकि मैं उनको बहुत मानता था. लेकिन एक रात पता नहीं मुझे क्या हुआ! उस मैंने एक साइट के ऊपर मामी और भांजे की स्टोरी पढ़ ली और्ब्स दिमाग में मामी को चोदने की लालसा शरू हो गई. रात को हम सोये हुए थे. तो मैं जानबूज के जागता रहा. मामी की गांड मेरी तरफ थी और मैं थोडा आगे बढ़ा और उनको टच किया. जैसे की मैं नींद में ही था वैसी एक्टिंग थी मेरी और आँखे भी बंद थी. मैंने अपने एक हाथ को मामी के बॉल्स पर रख दिया.

यह कहानी भी पड़े  Savita Chachi Aur Pados Ki Chudasi Auntiyan- Part 1

मामी ने कुछ नहीं कहा. शायद वो गहरी नींद में थी. मैंने हिम्मत कर के धीरे से उनके बूब्स को दबाना चालू कर दिया. उस रात बस इस से आगे करने की हिम्मत नहीं हुई. और सच कहू तो मामी के बॉल्स दबाते ही मेरे बदन में आग सी लग गई. और मैंने अपने लंड को खाली कर दिया हाथ से हिला हिला के.

अगली रात को भी वही सेम करता रहा और ये काम मैंने एक विक तक डेली नाईट में किया. अब मुझे लगा की मामी भी कुछ रिएकशन करेगी. शायद वो सब जानती थी लेकिन अभी तक उसकी तरफ से कुछ ऐसा अहसास नहीं होने दिया था उसने एक दिन जब हम सोते हुए थे तो मैंने देखा की मामी ने उस दिन ब्रा नहीं पहनी थी. रात को मैंने मामी के स्यूट में हाथ डाल के बूब्स को सहलाए और आज मामी भी हलके हलके से मोअनिंग करने लगी थी. मुझे लगा की मामी जाग गई और मैंने डर कि वजह से हाथ को पीछे कर लिया. थोड़ी देर बाद मामी सामने से मेरी तरफ हुई. उसने अपनी एक टांग को मेरे ऊपर रख दिया और उसका चहरा भी मेरे करीब ही था.

मामी की साँसे बहुत तेज तेज चल रही थी. मुझे ऐसा लग रहा था की वो जाग रही हे और उनके लिप्स बिलकुल मेरे लिप्स के पास थे. वो कुछ कह रही थी और ना मैं. सच कहूँ तो मेरी गांड गति हुई थी और डर भी लग रहा था. तो मैंने धीरे से एक छोटा सा लिप किस किया मामी को. और फिर कुछ नहीं किया और वैसे ही रहा. फिर मामी दूर हो गई और मेरी तरफ उसने अपनी गांड कर ली. मैंने अपने हाथ को आगे बढ़ा के उसकी गांड को टच किया. मूझे अभी भी बहुत डर लग रहा था और मेरा दिल एकदम जोर जोर से धडक रहा था!

यह कहानी भी पड़े  ऊऊऊहह दीदी बहुत मज़ेदार है तेरी चूत

थोड़ी देर बाद वो मेरे पास आ गई और ममेरे सामने फेस कर लिया. मैंने दुबारा से लिप किस करना स्टार्ट कर दिया. और अब की करता ही रहा. बाद में मामी भी रेस्पोन्स देने लगी थी मुझे. और फिर एक बार वो दूर हो गई मेरे से. उस दिन भी मैंने अपने लंड को हिला के चद्दर खिंच ली. गांड फट रही थी मेरी कुछ करने की. लेकिन अगले दिन सब ठीक हुआ!

सुबह उठा तभी से मामी की हरकतें अलग थी. वो किसी नयी नवेली दुल्हन ने रात में चुदवाया होता हे तो कैसे नखरे करती हे अगली मोर्निंग वैसे कर रही थी. मुझे देख के स्माइल कर रही थी. और रोज से उसका अंदाज आज कुछ अलग ही था.

Pages: 1 2

error: Content is protected !!