मेरी और भाभी की ग्रूप चुदाई

हेलो दोस्तो, मेरा नाम रूचि है आप लोग जानते ही है कुछ लोगो ने मेरी ओल्ड स्टोरीस बोहोत पसंद की ओर मुझे मैल करके ब्टाया. अब मे 1 बार फिर आप लोगो क बीच अपनी ओर अपनी भाभी की चुदाई की दास्तान लेकर आई हू. जिसका आप सभी को बहोत दिनो से वैट था.

मेरी भाभी का नाम सुरेखा है उनकी वो 27 साल की ऐसी लेडी है जो भी उसे 1 बार देख ले बस उसको चोदने के सपने देखने लगता है उसका फिगर साइज़ है 34-30-36. उसकी गेंड थोड़ी बाहर निकली हुई है मेरा मतलब थोड़ी मोटी है इसलिए लोगो के लंड गॅंड को देखकर ही पानी चोदने लगते है.

मेरा भाई आर्मी मे है ओर 9-10 मंत ड्यूटी पे ही रहता है इसलिए भाभी की लंड की ज़रूरत कभी पूरी नही होती उनकी शादी को 3 साल हो गये है बट वो अभी तक ठीक से लंड नही ले पाई बुरी तरह से तड़पति रहती है.

तो ये स्टोरी तब की है जब मेरा छोटा भाई अजय ओर मेरी भाभी (मतलब् देवर भाभी) दोनो मेरे पास गाज़ियाबाद आए थे अजय का एक एग्ज़ॅम था ओर भाभी मेरे पास घूमने आई थी तो अजय का एग्ज़ॅम देल्ही मे था तो वो भाभी को मेरे पास छोड़कर देल्ही अपने किसी दोस्त के पास चला गया उसका एग्ज़ॅम मॉर्निंग मे था तो वो एक दिन पहले ही चला गया था.

रूम पे मे मेरी एक फ्रेंड ओर भाभी थे उन दीनो मेरी बात जसवीर से चल रही थी ऐसी ही भाभी से बातो बातो मे शाम हो गई 5:30 ब्जे थे तभी मेरे पास जसवीर का फोन आ गया तो मे उससे बात करने लगी उपर रूफ पे जाके मुझे 1 अवर हो गया बात करते करते मुझे पता ही नही च्ला की भाभी कब उपर आई ओर छुप कर मेरी बात सुन रही थी जैसे ही मैने भाभी को देखा तो फोन कट किया ओर भाभी को एक्सप्लेन करने लगी मुझे डर लग रा था बट भाभी नॉर्मल थी.

यह कहानी भी पड़े  मम्मी की गांड मारने की फेंटसी पूरी हुई

उन्होने मुझे कुछ नही बोला ओर जस्स क बारे मे पूछा तो मैने उन्हे बाय्फ्रेंड बता दिया तो वो हंसने लगी ओर बोली कोई बात नही ये ही उमर होती है इन सब की जितना मज़ा लेना है ले लो फिर तो शादी हो जयगी तो नही ले पाओँगी.

मे भाभी की बात सुनकर सकपका गई दर उड़ गया ओर भाभी से पूछा की आपने ऐसा क्यू कहा.

तो वो बोली ऐसा ही होता है मुझे देख लो तेरा भाई तो ड्यूटी पे ओर मे यहा अकेली तो मैने कहा आप अकेली कहा हो पूरी फॅमिली तो है साथ मे.

तो वो हंसने लगी ओर बोली फॅमिली तो तेरे साथ भी थी फिर तुझे ब्फ की ज़रूरत क्यू पड़ि. जैसे तुझे ब्फ की ज़रूरत है ऐसे ही मुझे भी तो होती है बट मेरे पास नही है क्योंकि मे घर पे फॅमिली क साथ रहती हू ओर तू यहा अकेली दोस्त क साथ रहती है तो तू मज़ा कर सकती है ये बात है.

तो भाभी की ये बात सुनकर मे भाभी से खुल गई तो मैने भाभी को बोल दिया की आप भी कोई ब्फ ब्ना लो तो वो बोली की घर पे ये सब नही होता तू तो यहा रूम लेकर रहती है तो तू फ्री है इसलिए ये सब कर लेती है बट मे घर पे ये सब नही कर सकती मज़बूरी है इसलिए बोल रही हू.

मे भाभी की फीलिंग्स को समझ रही थी बुत कुछ कह नही पा रही थी फिर भाभी ने मुझसे जस्स क बारे मे पूछा की कुछ किया भी है या नही तो मैने शरमाते हुए हा मे सर हिलाया.

यह कहानी भी पड़े  बहन के साथ हनिमून

तो भाभी ने मुझे बोला की तू लकी है मेरी किस्मत तो फूटी है ओर वो थोड़ी अपसेट हो गयइ. मुझसे भी रहा नही गया तो मैने उनसे पूछ लिया की आप भी लकी हो सकती हो तो भाभी ने पूछा कैसे.

तो मैने पूछा आप किसी से मिल सकती हो मुझे कोई प्राब्लम नही है तो उन्हिने पूछा किससे तब मैने उन्हे अपनी चुदाई की स्टोरी बताई ओर उन 2 लोगो के बारे मे ब्टाया जो ट्रेन मे मिले थे मैने कहा आप उनमे से किसी से भी मिल सकती है तो वो हंसने लगी ओर मुझे हग करने लगी ओर पूछा कैसे तो मैने उन्हे जस्स के रूम पे नाइट स्टे के लिए पूछा वो रेडी हो गयइ.

8 बाज चुके थे मैने जल्दी से जस्स को फोन किया ओर ये सब बात समझाई वो भी रेडी हो गया तो उसने अपने एक दोस्त को बुलाने को कहा जिसे मे नही जानती थी मैने भी हा कर दी तो हम दोनो ने डिन्नर किया ओर जस्स ओर उसका दोस्त हमे 9 ब्जे रूम पे लेने आए.

उसका दोस्त का नाम विनोद था वो एक सॉलिड सी बॉडी वाला 6 फीट का जिम बॉय था मैने सूट ओर एक टाइट पाजामी पहनी ओर ब्रा पनटी नही पहने ओर भाभी ने सूट सलवार बिना ब्रा पनटी के ही पहने भाभी बिना ब्रा पनटी के थोड़ी शरमा रही थी आईससे फील कर रही थी जैसे वो न्यूड हो कार जस्स का दोस्त विनोद चला रहा था.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!