चंडीगढ़वाली भाभी को गांड चाट के चोदा

हेलो मेरा नाम समीर (फेक) है. बेसीकली मैं पटिआला का रहने वाला हु. पर मैं पिछले ७ साल से चंडीगढ़ में ही सेट हो गया था स्टडी के लिए. मैंने ग्रेजुएशन कम्पलीट कऋ और मैं यही रहने लगा चंडीगढ़ में. मैं पहले ३ साल सेक्टर ११ में रहा उसके बाद मैं मोहाली शिफ्ट हो गया. तो यहाँ मैंने १स्ट फ्लोर लिया था. निचे मकान मालिक रहता था. उसकी फॅमिली में एक अंकल थे आर्मी से रिटायर्ड उनका एक लड़का (राहुल) था और उसकी वाइफ थी. उसकी शादी अभी ४-५ महीने पहले हुयी थी. वह है इस स्टोरी की हीरोइन है जिसका नाम था वैशाली.

मैं अपने बारे में बताना भूल गया. मेरी हाइट ५.११-इंच है. मैं अपनी बॉडी को लेकर काफी ध्यान रखता हु. मीन्स रनिंग वगेरा एक्सरसाइज लगा लेता हु. तो मैं यहाँ फ्री था बिलकुल. जब टाइमपास नहीं होता तो मैं गर्ल्स कॉलेज के बहार गेड़ी मारने चला जाता कभी. बस ऐसे दिन निकल रहे थे. जिस वजह से मेरी काफी गर्ल्फ्रेंड्स और फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स थे. तो कोई न कोई लड़की आ ही जाती थी फ्लेट में.

राहुल तो इन्शुरन्स कंपनी में जॉब करता था वह बिजी रहता था. अंकल भी कही ना कही बहार ही रहते थे. भाभी घर पे अकेली रहती थी. बस दिवाली से कुछ दिन पहले की है. मेरे सारे फ्रेंड्स घर चले गए और मैं अकेला रह गया.

भाभी घर की सफाई करने में लगी थी. तो मैं निचे जा रहा था. भाभी ने मुझसे हेल्प मांगी तो मैंने सोचा फ्री ही हु तो हेल्प कर देता हु. मैंने भाभी के बारे में कभी गलत नहीं सोचा था. पर उस दिन भाभी मुझे काफी सूंदर और सेक्सी लगी. मैंने प्लान किया भाभी पर ट्राय मरने की. तो मैंने भाभी को अपना नंबर दिया और बोला कभी हेल्प की ज़रूरत हो बताना.

तो ऐसे ही १-२ दिन निकल गए. फिर मेरी एक फ्रेंड आयी मुझे मिलने और भाभी ने देख लिया. मैंने अपनी फ्रेंड के साथ चुदाई की और वह चली गयी थोड़े टाइम के बाद ही. साथ ही मुझे भाभी का कॉल आ गया और मैं निचे चला गया. तो मैंने देखा भाभी ने काफी टाइट कपडे डाले हुए है. उनका साइज मेरे हिसाब से ३४-३०-३२ होगा तो मेरा मूड बनने लगा देख कर.

तो भाभी ने बोला “गैस सिलिंडर लगा दो मेरा प्लीज.”

मैंने लगा दिया.

भाभी ने मुझे इंदिरेक्ट्ली पूछ लिया की “मैंने काफी बार नोटिस किया लड़कीयां बहुत आती तेरे पास. क्या तेरी फ्रेंड्स है?”

मैंने भी फ्रैंकली भाभी को आंसर दिया “आज कल फ्रेंड्स गर्लफ्रेंड और भाभी में क्या फर्क है?”

तो भाभी ने स्माइल करी और मुझे थोड़ा ग्रीन सिग्नल मिला.

तो मैंने भाभी को फिरसे बोला “क्या आपको भी फ्रेंड की ज़रूरत है?”

तो भाभी कुछ नहीं बोली पर मैं भाभी का इशारा समझ गया. मैंने थोड़ी हिम्मत करी और भाभी को पीछे से हग कर लिया. भाभी ने कोई विरोध नहीं किया. मुझे पता था हर लड़की का वीक पॉइंट नैक होती है. मैंने नैक पे किस करी. भाभी थोड़ी देर बाद घूमी और मुझे किस करने लगी पागलो की तरह.बस भाभी बोली “चलो बीएड रूम में.” उसके बाद हम बैडरूम में जाते है. भाभी मेरे सरे कपडे उतर देती है और मैं सिर्फ शॉर्ट्स में होता हु. भाभी मेरे होंटो को किस करते करते निचे आ जाती है और मेरे लंड तक पहुँच जाती है.

मैंने अपना लंड हाथ से पकड़ा होता है और भाभी मेरे दोनों हाथ पकड़ लेती है. अपने होंटो से मेरे बॉल्स और लंड को मुँह में ले लेती है. भाभी इतनी अच्छे से लंड चुस्ती थी. ओह बस मैंने भाभी को ३-४ मिनट्स के बाद पीछे कर दिया. फिर मैंने भाभी के सारे कपडे उतार देता हु. और भाभी बिलकुल नहीं शर्माती.

फिर हम ६९ पोजीशन में आते है. मैं भाभी की चूत चाटने में इतना बिजी हो जाता हु. हम १०-१५ मिनट्स इसी पोजीशन में रहते है. रूम में सिसकिया की आवाजे आने लग जाती है. भाभी की सिस्कारियां बढ़ जाती है और भाभी बोलती है की “अब बहुत हो चूका फोरप्ले अब सेक्स करते है.”

बस मैं भाभी को तड़पाना चाहता था मैं लिकिंग करता रहा. भाभी का बुरा हाल हो जाता है. उसके बाद मैं भी फॉर्म में आ जाता हु और भाभी को मैं डौगी स्टाइल (मेरी फेव पोजीशन) में कर लेता हु. और उनकी गांड चाटता रहता हु.

कुछ टाइम चाटने के बाद वह अपनी गांड मेरे मुँह पे दबाने लग जाती है. फिर वह मुझसे अच्छे से चूत चटवाती है जो की मेरी फेवरेट है. चूत चाटने में जो मज़ा है वह किसी किसी को नहीं पता है. मैं भी मज़े से उसकीचूत चाटता हु. वह मेरे मुँह में ही झाड़ जाती है और मुझे नमकीन सा टेस्ट आता है जो की बहुत यम्मी होता है.

उसके बाद भाभी थोड़ी ढीली पड़ जाती है और मुझे बोलती है.

भाभी – मैं थक गयी हु.

मैं – भाभी अभी तो सेक्स स्टार्ट ही हुआ. अभी तो बहुत कुछ करना बाकि है.

भाभी फिर नॉटी स्माइल देती है.

भाभी- अगर ये बात है तो आज फिर देख ही लेते है.

भाभी मुझे चैलेंज कर देती है. बस फिर भाभी उठ जाती है और खुद ही मेरे लंड पे बैठ जाती है और ऊपर निचे होने लग जाती है. भाभी पुरे मज़े में होती है. सिर्फ मेरा लंड लेने के इलावा कुछ नहीं दिख रहा होता.

भाभी को लगातार चोदता रहता हु. मेरा पहला शॉट होने की वजह से जल्दी हो जाता है. पर भाभी इतनी गर्म हो चुकी थी की भाभी फिर मेरा लंड चूस कर टाइट कर देती है. फिर आपको तो पता ही है सेकंड राउंड में टाइम ज्यादा लग जाता है.

मैं भाभी को मिशनरी सताइल में लेकर अच्छी सी चुदाई करता हु. भाभी भी अब गालियां निकालने लग जाती है.

“फ़क मी हार्ड. कुत्ते. मुझे अपनी बीवी बना ले.

सेकंड राउंड आई थिंक ३० – ४० मिनट्स का था. जब मैं डिस्चार्ज हुआ तो भाभी बोली की “मैंने भी स्पर्म टेस्ट करना है.”

तो भाभी ने मेरा लंड अच्छे से चूसा और मेरा स्पर्म टेस्ट करने लगी. उसके बाद भाभी के फेस पे अलग ही ख़ुशी थी.

उसके बाद हमने बहुत बार सेक्स की जब भी भाभी घरपे अकेली होती है तो वह ऊपर आ जाती है. हम बहुत चुदाई करते है. अब वह प्रेग्नेंट है उसके वजह से काफी टाइम से हमने सेक्स नहीं किया.

यह कहानी भी पड़े  चुदक्कड़ भाभी सेक्स स्टोरी

ओर भी जवान भाभी ओर आंटी को हॉट बाते करना ही तो आप मैल करे [email protected] आप की सारी डीटेल्स एक दम सीक्रेट रहेंगी उससे आप लोग बेफ़िक्र रहे.

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!