बेटी के लिए बाप में जागी वासना

हेलो दोस्तों, मेरा नाम रमण है. मेरी आगे 43 साल है. हमारे घर में मैं, मेरी वाइफ सुषमा (आगे 42 साल), बेटी श्रेया (आगे 20 साल), और एक बेटा सम (आगे 19 साल) है.

मेरा एक छ्होटा भाई भी है, बुत उसकी फॅमिली दूसरे वाले घर में शिफ्ट है. मेरी शादी 20 साल की आगे में ही हो गयी थी. शादी के 4 साल बाद ही गवर्नमेंट सेक्टर में मेरी जॉब लग गयी थी. अब स्टोरी पे आते है.

बात उस रात की है, जिस दिन हमारी शादी की आनिवर्सयरी थी. केक काटने के बाद हम अपने-अपने रूम में चले गये. फिर मैं और सुषमा तो तैयार ही थे. मैने गाते बंद किया और अपने कपड़े उतारने लगा. सुषमा पुर कपड़े उतार कर नंगी हो गयी. अब वो सिर्फ़ ब्रा और पनटी में थी.

फिर मैं बेड पे गया तो सुषमा ने मुझे नीचे कर दिया. सुषमा अभी भी एक हॉट सी चौड़ी गांद वाली और बड़े मोटे रसीले चूची वाली औरत थी. नीचे लेट-ते ही उसने मेरे लंड को अपने नाज़ुक हाथो से सहला कर खड़ा कर दिया, और मुझे किस करने लगी.

किस करते हुए उसने अपने बालों से क्लिप निकाल कर बालों को बिखेर लिया. अब हम दोनो बिल्कुल जोश में थे. सुषमा मुझे किस करे जेया रही थी. मैने भी सुषमा के ब्रा का हुक खोला, और ब्रा निकाल के बेड के नीचे फेंक दी. फिर मैने सुषमा को अपने नीचे ले लिया, और उसके गोरे-गोरे बड़े मोटे बूब्स चूसने लगा.

चूस्टे-चूस्टे मेरी नज़र रूम की विंडो के पास पहुँची तो मैने वाहा देखा. मैं चौक गया, क्यूंकी वाहा पे श्रेया विंडो से चिपक कर अंदर झाक रही थी. वो पता नही वाहा कब से खड़ी थी. अंधेरे में मैं तो सिर्फ़ उसके बालों से उसे पहचान पाया था. वो भी ठीक से नही.

लेकिन मैं और सुषमा जोश में होने की वजह से लगे रहे, और सुषमा को तो पता ही नही चला कुछ. मैं भी फिर सुषमा की पनटी की तरफ बढ़ा, और उसकी पनटी निकाल दी. फिर सुषमा ने अपने हाथो से मेरे लंड को अपनी बर में सेट कर दिया, और जोश में मैने एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसके अंदर डाल दिया. इससे उसकी ज़ोर की आवाज़ निकल आए.

सुषमा: अया रमण, आराम से.

मुझे अभी भी पता था की श्रेया वही पर खड़ी सब कुछ देख रही थी. फिर मैने सुषमा की चूचियों को चूसना शुरू किया, और धीरे-धीरे अपने लंड की तेज़ी बढ़ता गया. सुषमा की आवाज़े निकालने लगी-

सुषमा: आअहह अहहह उम्मह उम्मह आ रमण आह.

मैं भी तेज़ी से अपनी आवाज़े निकाल रहा था सिसकियों की. मैं ऐसा जान-बूझ कर कर रहा था, ताकि आवाज़ श्रेया तक चली जाए. तभी 5 मिनिट बाद सुषमा ने बोला-

सुषमा: मुझे उपर आने दो डार्लिंग.

और फिर वो मेरे उपर आ गयी. पता नही श्रेया को ये सब ठीक से दिख भी रहा था की नही अंधेरे में. उपर आते ही सुषमा ने मेरे लंड को अपने हाथो से अपनी छूट में सेट किया, और मेरे सीने पे हाथ रख के उछालने लगी. फिर मैने अपने हाथो से उसकी पीठ को पकड़ कर अपनी तरफ झुका लिया, और उसकी चूचियों को चूस-चूस कर पीने लगा.

फिर उसकी गांद पकड़ कर अपने लंड पर उछालने लगा, और नीचे से धक्के देने लगा. उसके 2 मिनिट बाद उसको नीचे की तरफ करके स्पीड बढ़ने लगा, और हम दोनो की चीखे निकालने लगी. फटत-फटत की आवाज़े गूंजने लगी रूम में.

तभी मैने कहा: आ आह मेरा निकालने वाला है.

सुषमा ने भी उम्मह आहमम्मह चिल्लाते हुए कहा: हा, और तेज़, और तेज़.

तभी 30 सेकेंड बाद हम दोनो झाड़ गये. मैने तुरंत विंडो के पास देखा तो वाहा से श्रेया की परछाई दिखी. वो दबे पावं वाहा से जेया रही थी. लेकिन मैने सुषमा को कुछ नही कहा. फिर चुदाई की थकान होने की वजह से हम दोनो सो गये.

फिर जब मैं सुबह उठा तो उठते ही मैं श्रेया के बारे में सोचने लगा की वो कैसे रात को हम दोनो को चुदाई करते हुए देख रही थी. आपको मैं बता डू की मेरी बेटी श्रेया एक सुंदर सेक्सी और गोरी सी हॉट गांद और चूचे वाली लड़की है. मैं उसके बारे में ऐसा कभी नही सोचता था. लेकिन उस रात के बाद मुझे पता नही ऐसा क्या हो गया की मैं बस उसी के बारे में सोचता था.

और फिर जब मैने पॉर्न देखना शुरू किया तो मेरी दिलचस्पी बढ़नी शुरू हो गयी श्रेया में. पॉर्न में भी मैं डॉटर और फादर केटेगरी वाली वीडियोस देखने लगा. तभी मुझे देसी कहानी का पता चला. वाहा पे भी मैने काई ढेर सारी कहानियाँ पढ़ी डॉटर और फादर की. और फिर जवान लड़कियों की तो बात ही अलग होती है.

फिर मैने श्रेया को सिड्यूस करने का प्लान बनाया, और उसके सामने ही रात को सुषमा का हाथ पकड़ कर रूम में ले गया. मुझे पक्का यकीन था की वो ज़रूर आएगी देखने. तो मैने विंडो का आधा परदा ही खोल रखा था, और नाइट रेड लाइट ओं रखी थी. ताकि उसे सब कुछ दिखे, और वो सिड्यूस हो सके.

फिर मैने सुषमा को सारी में ही बेड पे पटक दिया, और उसे प्यार से लीप पे किस करने लगा. तभी सुषमा ने कहा-

सुषमा: क्या हुआ पातिदेव? आज बड़े मूड में लग रहे हो. लाइट तो बंद करने दो.

मैने उसे बोला: आज तो ऐसे ही करने का मॅन है.

तो उसने कहा: अछा कपड़े तो उतारने दो, ऐसे ही करोगे क्या उपर से ही? (हेस्ट हुए बोली वो)

तभी मैने पॉर्न लगा दी.

वो बोली: ट्रैनिंग लेके आए है क्या आज कही से?

तो मैने कहा: ट्रैनिंग दे रहा हू तुम्हे.

वो हासणे लगी और पॉर्न देखते-देखते गरम हो गयी. फिर मैने उसके पल्लू को नीचे किया, और उसके ब्लाउस का बटन खोल के ब्लाउस निकाल दिया.

आज के लिए इतना ही, बाकी की स्टोरी नेक्स्ट पार्ट में जल्द ही मिल जाएगी. मी एमाइल ईद इस रमनसींहा3674@गमाल.कॉम

जिस किसी को भी कोई बात करनी है मुझसे, या कोई टिप्स या हेल्प चाहिए, तो मुझे मैल कर सकता हिया. या गूगले छत पे बात कर सकता है. बिना दर्रे बात कीजिए, आपकी प्राइवसी सेफ रहेगी डॉन’त वरी. जिस किसी मा, बेटी, भाभी, चाची को चूड़ना है, या बात करनी है तो एमाइल ईद पे मैल करे.
थॅंकआइयू.

यह कहानी भी पड़े  नयी नवेली भाभी की चूत मे अपना लंड पेला


error: Content is protected !!