बेटे के खेल मे मा को आने लगे मज़े

: दे 3 :
(मॉर्निंग सेशन)

2 दिन मों ने जो घरका काम करवाया उससे मे रात को ठक्कर सो गया.

काम की थकान और मों की सेक्सी बॉडी का टच, उसके मुलायम बूब्स, उसकी मखमली जंगे और छूट के स्पर्श से मुझे रात को मस्त नींद आई.

मैं कल के लिए एग्ज़ाइटेड था, क्यूंकी मैं (अनिल) जनता था की मुझे कल क्या मिलनेवाला हैं, जिससे मेरे और मों का रिलेशन्षिप एक नया मोड़ लेगा.

पर कैसे और किस सिचुयेशन्स मे मिलेगा ये अभी तक से पूरा कन्फर्म नही बता सकता.

सुबह मों मुझे उठाने रूम मे आई, मों भी मुझे पापा के ऑफीस जाने के बाद उठाने आती, जिससे हम हब्बी वाइफ वाला प्ले आचे से कर सके.

मों: (मुझे गुदगुदी सा करते हुए) उठो मेरे पातिदेव, उतना नही हैं क्या.(मों आज अच्छे मूड मे थी)

मे: जिसकी तुम जैसी प्यारी हॉट वाइफ हो, वो तो दिन भर तुम्हे छ्चोड़के कही जाए ही नही.

मों: ह्म, सुबह सुबह मखनबाज़ी . अब इस आगे मे कहा हॉट लगूंगी? हा पर एक जमाना था, जब में कॉलेज मे हॉट लड़कियो मे से हुआ करती थी.

मे:(मों को बेड पे खींचते हुए) नही डार्लिंग, मेरी नज़र से देखो, तो तुम आज भी उतनी ही हॉट आंड सेक्सी हो. (और मों के फेस को अपने फेस की तरफ खिचने लगा)

मों: (अपने आप को मुझसे हटते हुए) चलो, अब उठ भी जाओ. पता हैं ना, आज तीसरा दिन हैं.

मे: ह्म, तो क्या प्लान हैं आज का. आज भी घरके काम कारवावगी क्या, अपने हब्बी से.

मों: (स्माइल देते हुए) नही, आज पूरे दिन बाहर जाएँगे, घूमेंगे, और मुझे शॉपिंग भी करनी हैं थोड़ी. तुम जल्दी से रेडी हो के आ जाओ.

मे: ओक डार्लिंग. अभी आता हूँ. (और हम रेडी होकर पार्किंग मे जा रहे थे, जहा मों की अक्तिवा पे हम जानेवाले थे.

मों: कैसा लगा तुमको आज का प्लान, हब्बी?

मे: (तोड़ा मूह बनाते हुए) कहे का हब्बी? तुम सिर्फ़ हब्बी हब्बी बोलती हो, ऐसा कुछ फील ही नही करवाती जिससे मुझे लगे की मैं तुम्हारा हब्बी हूँ. (और मैने मों की बूब्स की और देखा, जिसे मों ने भी मार्क किया)

मों: ओह…तो ये बात हैं, तो तुम्हे फील करना हैं अपनी बीवी को. (फिर अचानक कुछ याद आते हुए) मैं अपना फोन अंदर ही भूल गयी, तुम जाओ मे आती हूँ.

आक्च्युयली, हुआ ये की मैने कल रात को अमित बनकर अड्वाइज़ दी थी की आज मों को बिके पे जाते वक़्त अपनी ब्रा नही डालनी हैं.

पर घर से निकलते वक़्त मैने मार्क किया की उसने ब्रा पहन रखी हैं, तो मैने उसे फील का हिंट देके, और उसके बूब्स की और देखकर उसे याद दिलाया.

और जब मों वापस आई, तो वो ब्रा निकल चुकी थी, जो उसके सारी मे सॉफ दिख रहा था.

मे: अरे ये तो दाद की बिके हैं, तुम्हारी अक्तिवा कहा गई.

मों: मैने तुम्हारे दाद से कहा की मुझे अपनी फ्रेंड के वाहा, आउट ऑफ सिटी जाना हैं, तो वो अक्तिवा ले गये और बिके हुमारे लिए छोड़ दी.

मे: वाउ मों. तुम ग्रेट हो.

मों: वो तो मैं हू. और वैसे भी तुम्हे शायद अक्तिवा पे हब्बी वाली उतनी फील नही आती. (और हम दोनो हासणे लगे)

हम बिके पे शॉपिंग के लिए जान बुजकर सिटी के दूसरे हिस्से मे गये, जहा पर कोई जान पहचनका नही था. कुछ सिग्नल्स के बाद मों ने अपने सिने को मेरी बॅक पे टच किया, तो मुझे उसके सॉफ्ट सॉफ्ट बूब्स फील हुए.

मों: अब आ रही हैं फील हब्बी वाली?

मे: एस डार्लिंग, पर अची तरह से नही.

और मैने मों के एक हाथ को पकड़ कर आगे रखा, तो मों ने तोड़ा आयेज आते हुए अपने दोनो हाथो से मुझे पकड़ लिया, और अपने सिर को मेरे कंधे पे डाल दिया.

आ..आ. पहली बार मैं मों के बूब्स को बिना ब्रा के इस तरहा फील कर रहा था, मस्त मुलायम से उसके बूब्स, और ताने हुए निप्पल का टच मज़ा दे रहा था, और ये फीलिंग बहुत ही ज़बरदस्त थी.

हम शॉपिंग माल पहुँच गये. बिके से उतरने के बाद,

मों: अब तो खुश हो ना, आ गई ना हब्बी वाली फीलिंग.

मे: एस डार्लिंग, थॅंक्स. पर बिके की जगह तुम्हारी अक्तिवा होती तो ज़्यादा ठीक रहता.

मों: वो कैसे ?

मे: तुम अक्तिवा ड्राइव करती, और मैं पीछे बेतकर आचे से तुम्हे फील कर सकता.

मों: बदमाश…(और उसने मुझे हल्का सा मारा)

फिर हम शॉपिंग के लिए गये, मों ने पहले अपने लिए नयी लेगैंग्स और एक करता, और कुछ त-शर्ट्स करीदे.

मों ने सारी चेंज करके लूस टॉप और मॅचिंग लेगैंग्स पहन लिया. मों को ऐसे कपड़ो मे देखकर तो मेरा मान मचल गया. बाला की सेक्सी लग रही थी वो.

फिर मैने भी कुछ कपड़े खरीदे और लास्ट मे मों वाहा लास्ट फ्लोर के कॉर्नर मे गयी, वाहा से अपने लिए अंडरवेर की शॉपिंग करनी थी, और वाहा पे हम काउंटर पे गये.

सेलेज़्गर्ल: आइए माँ, वेलकम सिर. आप साथ मे हैं क्या?

मे: एस, मैं इनका बेटा….(मों ने मेरे हाथ को पकड़ते हुए मुझे रोक दिया)

मों: ये मेरे बेटे का फ्रेंड हैं. आक्च्युयली बेटा अभी बाहर गया हैं तो इसकी बिके पे ही हम यहा आए हैं. (और मों ने मेरी और देखा)

मे: एस, वो मैं माँ को हेल्प कर देता हूँ, जब भी इनकी ज़रूरत होती हैं, ये मुझे कॉल कर देती हैं.

सेलेज़्गर्ल: मैं समाज गयी. तो आपको क्या चाहिए माँ.

मों ने उसे धीरे से कुछ बताया, और वो अंदर एक रूम मे चली गयी.

मों:(मुझे हल्के से डाँटते हुए) पागल हो गये हो क्या. कौनसी मों अपने जवान बेटे के साथ अंडरगार्मेंट्स खरीदने आती हैं.

मे: सॉरी मों, वो ऐसे ही निकल गया.

मों: आयेज से तोड़ा ध्यान रखो.

मे: ओक मों. पेर एक बात बताओ, तो मों किस के साथ यहा पे आती हैं.

मों: अपने हब्बी के साथ. जो तुम अभी 3 दिन के लिए और हो. (और मों स्माइल देते हुए उस सेल्स गर्ल कर पास चली गई, जो अंदर से कुछ कपड़े लाई थी.)

मों कुछ ब्रा लेकर ट्राइयल रूम मे चली गई. मों के जाने के बाद वो सेल्स गर्ल मुझे देखकर मुस्कुरा रही थी.

मे: क्या हुआ.

सेल्स गर्ल: हम दोनो सेम आगे के ही लगते हैं, और वो माँ हमारे मों के आगे की हैं.

मे: तो. तुम कहना क्या चाहती हो?

सेल्स गर्ल: मैं यहा कई महीनो से काम कर रही हूँ. कस्टमर्स को देखकर ही पता चल जाता हैं की, वो हज़्बेंड वाइफ हैं, भाई बेहन, मा बेटा, गफ़ ब्फ या फिर वो लवर्स हैं.

और तुमने अछा माल पटाया हैं, अपने दोस्त की ही मों को सेट कर लिया.

मे: (तोड़ा स्माइल करते हुए) सही कहा तुमने. आक्च्युयली मे इनकी बेटी के पीछे हूँ, पर उसकी फीलडिंग करते करते उसकी मों सेट हो रही हैं.

सेल्स गर्ल: अरे वा, बढ़िया हैं तुम्हारा. दो दो हाथ मे लड्डू.

मे: कौन से लड्डू…मा बेटी दोनो बस घूमती रहती हैं.

सेल्स गर्ल: मैं कुछ हेल्प करू क्या? पर तुम्हे भी मुझे हेल्प करनी होगी.

मे: कैसे?

सेल्स गर्ल: ये पीछे रेड बॉक्स मे जो माल हैं, उसपे मुझे अछा कमिशन मिलेगा. तो तुम माँ को इसी मे से शॉपिंग काराव, तो तुम्हे भी फयडा होगा.

मे: ठीक हैं.

सेल्स गर्ल: तो अब माँ जैसे ट्राइयल रूम से बाहर आए, तो तुम खुलके रोमॅन्स करना, उन्हे कहना की मुझे सब पता चल गया. और अभी इस टाइम यहा रश नही हैं, तो तुम्हे टाइम भी मिल जाएगा.

मे: ओक.

मों के ट्राइयल रूम के बाहर आते ही.

मों: इसमे से तो कुछ फिट ही नही आ रहा. (और मों ने हाथ मे पकड़ी हुई ब्लू डेनिम ब्रा वाहा टेबल पे रख दी).

मे: तो और कुछ ट्राइ कार्लो डार्लिंग. (मों को पीछे से पकड़ते हुए) वैसे भी अब तुम्हारा साइज़ पहले से तोड़ा बढ़ गया हैं.

मों मेरी और बड़ी आँखे करके मुझे घूर्ने लगी.

मे: ऐसे क्या देख रही हो. इन्हे सब पता चल गया हैं. मैने भी बता दिया की हम पड़ोसी हैं, और एक दूसरे को लीके करते हैं.

मों: ह्म..बहुत सही.

मे: (सेल्स गर्ल को) एक काम करो, तुम वो पीछे रेड वाला बॉक्स मे से दिखाओ.

सेलेज़्गर्ल: ओक सिर. ये न्यू कलेक्षन हैं, माँ पे अछा लगेगा. (और मों को ट्राइयल रूम की तरफ भेजा)

सेल्स गर्ल: आप भी जाइए ना सिर, माँ को चूज़ करने मे तोड़ा हेल्प कीजिए.

मों: नही, रहने दो. यहा कोई देख लेगा तो गड़बड़ हो जाएगी.

सेल्स गर्ल: डॉन’त वरी माँ, अभी यहा कोई नही हैं, कोई आता हैं तो मैं इनफॉर्म कर दूँगी, आप वो पीछे वेल ट्राइयल रूम मे चले जैने. (और उसने मुझे भी जाने का इशारा किया)

मों फिरसे माना करे, इससे पहले मैं मों का हाथ पकड़ कर ट्राइयल रूम की और
चल दिए.

मे: अब चलो भी डार्लिंग. इसमे शरमाना कैसा? वैसे मैने सब कुछ तो देख रखा हैं. अब जल्दी चलो, और भी काम बाकी हैं.

मों ने मेरी और तोड़ा गुस्से से देखा. उस लड़की ने ह्यूम ट्राइयल रूम मे भेज दिया, और बाहर ऑक्युपाइड का साइन लगा दिया.

ये ट्राइयल रूम दूसरो के म्यूटबल तोड़ा बड़ा था, फिर भी उतना नही की दो लोग आराम से इसमे समा सके.

सामने की और शीशा था, उसके आयेज मों और उसके पीछे मे. कुछ ब्रा मों के हाथ मे थी, कुछ मेरे हाथ मे.

हम दोनो का बॉडी एक दूसरे से सता हुआ था. मों चाहकर भी पीछे नही मूड सकती थी. वो मुझसे शीशे मे देखकर बात कर रही थी.

मों: ये सब क्या था, कब तूने मेरा सब देखा?

मे: जब, आप काम करती थी तब, और जब नाहके नीलकी तब भी.

मों: वो तो तोड़ा बहुत सब का दिखता हैं.

मे: तो तुम मुझे बाकी का भी दिखा दो आज. क्या इतना भी हक़ नही एक हब्बी का अपनी वाइफ पे.

मों: ये सब ग़लत हैं. रोमॅन्स लिमिट मे होना चाहिए.

मे: लिमिट मे ही तो हैं, जो चीज़ बचपन मे देख चुका हूँ, खेल चुका हूँ, वही तो देखना हैं.

मों: ह्म. ऐसा हैं क्या? तो सीधे सीधे बोलो की क्या चाहिए.

मे: मों, मुझे तुम्हारे बूब्स देखने हैं, वो भी नंगे. (और मैने अपने हाथो को उसके टॉप के उपर रख दिया, और दबाने लगा)

मों: दब्ाओ मत, सिर्फ़ देखो. (और मों ने धीरे से अपना टॉप निकल दिया, अंदर मस्त दोनो बूब्स ग्रीन ब्रा मे थे.)

मों कुछ समझे उससे पहले मैने ब्रा का हुक खोल दिया, और ब्रा को हटा दिया. मों ने जल्दी से अपने दोनो हाथो से बूब्स को धक लिया.

मे: सॉरी मों. वेट नही हुआ. अब शरमाओ मत, देखने दो मुझे अपनी सेक्सी मों के सेक्सी बूब्स. (और मैने अपने हाथो से मों के हाथ पकड़ कर नीचे किए)

अब मेरी सामने मों के नंगे बूब्स थे, जिसे मे पहली बार ऐसे देख रहा था. मों नीचे सिर करके शर्मा रही थी.

मे: मैने ऐसा सुंदर नज़ारा पहले कभी नही देखा. क्या मैं इन्हे छू सकता हूँ.?

मों ने कुछ रिप्लाइ नही दिया, तो मैने अपने हाथो को उसके उपर रखा. वा, क्या सॉफ्ट बूब्स थे. मैं उन्हे दबाने लगा तो मों ने हाथ हटा दिए.

फिर मैने मों ने अपने हाथो से सब ब्रा पहनाके उसमे से कुछ सेलेक्ट किए. मों और मैं काफ़ी गरम हो चुके थे, मुझे लगा यही सही मौका हैं.

मैं ने ट्राइयल रूम का गाते ओपन किया तो मों उल्टा होकर बाहर निकली. मैने फ़ौरन मों को वापस अंदर खींचा और गाते को लॉक कर दिया.

अब मों और मैं आमने सामने थे, मों ने अपना ब्रा पहनी हुई थी.

मों: अब भी कुछ बाकी हैं क्या..?

मे: एस, मों. असली चीज़ तो अभी बाकी हैं.

मों: और वो क्या (अपने सिर को जुकाए हुए)

मे:(मों के चीन को पकड़ के उनका चेहरा उपर किया, और अपनी उंगलियो से उसके लिप्स पे घूमने लगा) इन का स्वाद चखना हैं.

और मैने अपने होंठ मों के होंठ पे रखके उनको स्मूच करने लगा, मों भी मुझे साथ दे रही थी. जैसे ही मैने लेंग्थ पकड़ी की गाते पे नॉकिंग हुई.

सेल्स गर्ल: जल्दी बाहर निकलो, माल सूपरवाइज़र रौंद मे हैं.

मैं बोला, सत्यानाश. फिर मैं और मों ने अपने आप को ठीक करके जल्दी बाहर आए. मों उस सेल्स गर्ल को देखकर शर्मा रही थी. और सेल्स गर्ल मेरी हालत को देखकर मुस्कुरा रही थी.

मेरा मूह लटका हुआ था, जैसे किसी बचे के हाथ से किसीने लोलीपोप चीन ली हो. और मेरी इस हालत को देखकर मों अंदर ही अंदर मुस्कुरा रही थी.

मे: अब तुम भी हास लो मेरे उपर उस सेल्स गर्ल की तरहा. तुम्हे भी मेरी पड़ी नही हैं.

हुँने फिर मों के गारमेंट्स पार्सल करवाए, और वाहा से निकल रहे थे, की उस सेल्स गर्ल ने मुझे आवाज़ दी.


सेल्स गर्ल: थॅंक्स यार, मेरी सेल करवाने के लिए. अगली बार ज़रूर आना.

मे: शुवर, पर एक शर्ट पर.

सेल्समन गर्ल: क्या…?

मे: नेक्स्ट टाइम मे अकेले अवँगा, और मों के बदले तुम मेरे साथ ट्राइयल रूम मे चलॉगी.

हड़बड़ी मे मेरे मूह से मों शब्द निकल गया, वो लड़की जैसे कन्फ्यूषन मे आ गयी. मे समाज गया की क्या गड़बड़ी हो गई थी.

तो ये बोलकर मैं वाहा से फ़ौरन चल दिया, उस लड़की का रिप्लाइ या एक्सप्रेशन्स देखने मैं वाहा नही रुका. उस टाइम दोफर हो चुकी थी.

फिर हुँने खाना खाया, मों ने उसके बाद आइस क्रीम खाया, जो उसका फेवोवरिट था. उस वक़्त 2:15 बाज रहे थे.

इसके दौरान मैने मों से ज़्यादा बात नही की, और अपनी नाराज़गी दिखा रहा था.

मों: अब आयेज क्या किया जाए, मैने तेरे पापा से बोला हैं की ह्यूम आते आते रात हो जाएगी.

मे: तो क्या करे ?

तो अब आयेज क्या होगा आफ्टरनून सेशन मे वो आप नेक्स्ट पार्ट मे जाँएंगे. वेट फॉर नेक्स्ट पार्ट आंड दो लीके/कॉमेंट तीस स्टोरी.

यह कहानी भी पड़े  सोनाली मामी के साथ चुदाई की शुरुवात

error: Content is protected !!