बहन की सहेली को तेल लगाकर चोदा

हैल्लो दोस्तों, में आज आप सभी सेक्सी कहानियों को पढ़ने वालो को जो सेक्स की एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ वो किसी और की नहीं मेरी अपनी है और मेरी यह चुदाई अपनी छोटी बहन की एक दोस्त के साथ हुई थी और इससे पहले कि में अपनी आज की इस कहानी को सुनाना शुरू करूं उससे पहले में आप सभी को अपना और उस कुंवारी लड़की का परिचय दे देता हूँ जिस लड़की को पहली बार चोदकर मैंने उसकी सील को तोड़ दिया और वो मेरी चुदाई से पूरी तरह से संतुष्ट होकर अपने घर पर चली गई। दोस्तों में पच्चीस साल का एक प्राइवेट संस्था में काम करने वाला एक कुंवारा लड़का हूँ और मेरे साथ मेरी एक छोटी बहन भी रहती है जो अपनी पढ़ाई कर रही है और वो एक होस्टल में रहती थी, लेकिन अभी कुछ दिन पहले ही वो अपने होस्टल को छोड़कर मेरे साथ रहने लगी है क्योंकि उसको वहां पर बहुत तरह की समस्याए आती है और फिर उसके मेरे साथ रहने की वजह से उसकी कुछ सहेलियाँ भी अब हमारे घर पर आने जाने लगी थी। उन्ही लड़कियों में से एक बहुत ही सुंदर सुशील लड़की को पहली बार देखते ही मेरा दिल उस पर आ गया। में जब भी उसको देखता तो मेरी नियत बदल जाती, क्योंकि वो बहुत ही गोरी उसका वो गोल चेहरा, काली बड़ी बड़ी आखें, नरम गुलाबी होंठ, उभरे हुए बड़े आकार के बूब्स जो हमेशा उसके बड़े गले के टाईट कपड़ो से बाहर आकर आजाद होने के लिए तरसते रहते थे। में उसको देखकर अपने पूरे होश खो बैठता था और में हमेशा उसी के सपने देखा करता और उसकी पहली चुदाई करने के बाद मुझे पता चला कि उसके मन में भी मेरे लिए वही सब विचार और उसकी भी सोच मेरे लिए ठीक मेरे जैसी ही थी।

दोस्तों में आप सभी को जिस लड़की की कहानी आज सुनाने जा रहा हूँ उसका नाम सुमन है वो दिखने में इतनी सुंदर है कि उसको पहली बार देखने के बाद ही मेरा मन हमेशा ही उसके साथ सोने उसकी जमकर चुदाई करने के बारे में सपने देखने और विचार बनाने लगा था। मुझे कैसे भी करके उसकी चुदाई के मेरे उस सपने को पूरा जरुर करना था और में उसके लिए सही मौके की तलाश में लगा रहा और एक दिन उस भगवान ने मेरे मन की बात को सुनकर मुझे वो मौका दे ही दिया। दोस्तों में अपनी बहन के साथ दो रूम के एक मकान में रहता हूँ और अब में आप सभी को उस कहानी की तरफ ले चलता हूँ यह कहानी आज से दो महीने पहले की एक घटना है और में उस दिन अपने रूम पर बिल्कुल अकेला था क्योंकि मेरी बहन उस दिन सुबह से ही मेरे एक रिश्तेदार के घर पर चली गयी थी। फिर में जैसे ही अपने ऑफिस के लिए घर से निकल ही रहा था कि वैसे ही उसके एक दोस्त का फोन आया और उसने मुझसे मेरी बहन के बारे में पूछा और में बहुत अच्छी तरह से जानता था कि उस दिन मेरी बहन शाम से पहले नहीं आने वाली है और यह मेरे पास उसकी सहेली सुमन को चोदने का एक बहुत अच्छा मौका था और यह बात सोचकर में बहुत खुश था।

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसी दादा जी के साथ चोदा चोदी का खेल

फिर उसके पूछने पर मैंने उससे बोल दिया कि मेरी बहन अभी घर पर नहीं है, लेकिन हाँ वो अभी पाँच मिनट में आ जाएगी। अब वो मुझसे बोली कि हाँ ठीक है में भी बस दस मिनट में वहीं पर आ रही हूँ और आप उसको मेरे आने के बारे में जरुर बता देना और मुझे उससे एक बहुत जरूरी काम है और उसके मुहं से यह बात सुनकर में अब उसके आने की तैयारी करने लगा। में उस दिन वो इतना अच्छा मौका छोड़ना नहीं चाहता था इसलिए मैंने जल्दी से बस दस मिनट के अंदर ही सभी तैयारियों को पूरी कर लिया और फिर कुछ देर के बाद में जैसे ही नीचे गया तो मैंने देखा कि वो ओटोरिक्शा से नीचे उतर रही थी और उसको देखकर में बहुत चकित रह गया उसने आज एक बड़े गले का सूट पहना हुआ था जिसकी वजह से उसके वो गोरे गोलमटोल बूब्स बाहर की तरह उभरकर मुझे ललचाकर पागल बना रहे थे और मेरी नजर उसकी छाती से हटने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थी और वैसे उसको भी शायद मेरी उस पर पड़ने वाली उस नजर के बारे में थोड़ा सा समझ में आता था क्योंकि वो कभी भी मेरी किसी भी हरकत का बुरा नहीं मानती थी और उस बात का फायदा उठाकर एक दो बार मैंने उसका हाथ भी पकड़ लिया था और एक बार मैंने उसके कूल्हों पर अपना हाथ भी मार दिया था, लेकिन फिर भी वो मेरी तरफ मुस्कुरा देती थी।

अब मैंने उसके पास जाकर उसको ऊपर चलने के लिए कहा और जब उसने दोबारा मुझसे मेरी बहन के बारे में पूछा तो मैंने उसको बताया कि में उसको ही लेने जा रहा हूँ। मेरे मुहं से यह बात सुनने के बाद वो अब ऊपर चली गयी। अब में नीचे की सीड़ियों का दरवाजा बंद करके ऊपर आ गया और में जब रूम में आया तो मैंने उसको मेरी बहन के रूम में कुर्सी पर बैठा हुआ पाया। अब मैंने उसको रसोई से लाकर पानी पिलाया और उसके बाद वो अब कंप्यूटर को चालू करके उसमे खेलने लगी और उसके पास ही बैठकर कुछ देर इधर उधर की बातें हंसी मजाक करने के बाद जब मेरे सब्र का बाँध टूट गया, तब में उठकर रसोई में चला गया और कुछ देर बाद वहां से वापस आने के बाद में चुपचाप उसके पीछे जाकर उसको मैंने अपनी बाहों में भरते हुए मैंने उसके दोनों बूब्स को दबाना शुरू कर दिया।

यह कहानी भी पड़े  पिंकी की ब्लू फिल्म!!!" पार्ट--1

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!