बहन ने दिया भाई को सर्प्राइज़

हेलो फ्रेंड्स, मैं निक आमेडबॅड से फिरसे हाज़िर हू कहानी का अगला पार्ट लेकर.

कोई भी भाभी, आंटी, या लड़की मुझसे प्राइवेट बात करना चाहे, पॅशनेट रोमॅन्स चाहे, या फिर फुल सेक्स चाहे, तो मैल मे अट निक्कनीत26@गमाल.कॉम. हमारी छत 100% प्राइवेट रहेगी, और सेफ रहेगी.

पिछली स्टोरी में आपको बताया की कैसे मैने अम्मी भाभी को तडपया और हमने कार में मज़ा किया. ईशा के बिहेवियर में कुछ चेंज लगा. मैं और ईशा जैसे ही अंदर पहुँचे, जीजू ने मुझे हग किया, और धीरे से कान में कहा-

जीजू: सेयेल जी, अपनी बेहन पर गुस्सा ना करो. वो आज थोड़ी उदास है क्यूंकी आपने कल के पुर दिन उसको कॉल नही किया.

मैं समझ गया की दी मुझसे क्यूँ गुस्सा थी.

जीजू: सेयेल जी एक काम करोगे? मेरी बेहन आ रही है, आप और ईशा उसे पिक कर आओगे?

मे: ओक जीजू, हम जेया कर आते है.

मैने जीजू को आँखों से थॅंक्स बोला. मुझे लग रहा था करीना साली रंडी इतने दीनो से भाई से चुड रही है, की अब आ रही है. बुत मुझे क्या, मुझे तो मेरी इशू को मानना था.

ड्राइवर दादा: चलो बेटा, मैं भी आता हू.

मे: नही दादा, आप बडो के साथ बैठिए, हम जेया कर आते है.

मैने दादा से कार की कीस ली, और मैं और ईशा चल दिए.

मे: दी आप मुझसे गुस्सा हो ई नो. बुत गुस्सा तो मुझे आपसे होना चाहिए.

दी (गुस्से में): क्यूँ?

मे: आपको याद है सगाई से पहले हमने हम दोनो का एक ग्रूप बनाया था. आपने बोला था मुझे की मुझे ज़्यादा कॉल मत करना ससुराल में. जितनी बार मेरी याद आए इस ग्रूप में मेसेज कर देना. आपने तो वो ग्रूप खोल कर भी नही देखा.

ईशा: वॉट? ( इन्स्टेंट्ली शी चेक्ड हेर फोन आंड फाउंड 79 मेसेजस पेंडिंग तो रेड).

उन्होने पूरा ग्रूप खोला और सारे मेसेज रेड करते-करते रोने लागी.

मे: दी, योउ नो ना हाउ मच ई लोवे योउ?

ईशा: एस ब्रो, बुत मुझे लगा तू मुझे भूल गया. बुत यहा तो लग रहा है मैं ही ग़लत हू.

मे: दी आप ग़लत नही हो. आप बिज़ी थे, और आपने ही बोला था फर्स्ट इंप्रेशन इस लास्ट इंप्रेशन. तो आप तो वही कर रही थी. बीटीयौ कुछ किया आप दोनो ने?

ईशा: नही, टाइम ही नही मिला. जस्ट किस्सिंग हुई कभी-कभार. बुत तुझे पता कैसे चला की मैं क्यूँ गुस्सा हू?

मे: दी आपको साद ना तो मैं देख सकता हू, ना जीजू.

ईशा: ओक.

मे: दी आपको पता है आपकी ननद करीना भाई के साथ बस में थी साथ में, आंड मैं तो सोच रहा हू इन दोनो ने इतने दिन मज़े लिए?

ईशा: करीना तो उसकी दोस्त की शादी में गयी थी, आंड दूसरे दिन ही आ गयी.

मे: दोस्त की शादी नही सेक्स करने गयी थी.

ईशा: साली ने मुझसे भी झूठ बोला क्या?

मे: तो हम किसे पिक करने जेया रहे है?

ईशा: अर्शी को, करीना की बड़ी सिस और तेरे जीजू की ट्विन सिस और मेरी बेस्टीए. याद है तू छ्होटा था तब अर्शी से लड़ाई करता था, की ईशा दी मेरी बेहन है, तुम डोर रहो उससे.

मे: हा दी. वो जीजू की सग़ी बेहन है?

ईशा: एस ब्रो. वो अभी डॉक्टर की पढ़ाई कर रही है. 2 साल बाकी है, पर 2 दिन के लिए आ रही है मुझसे और जीजू से मिलने.

मे: दी आपकी फॅमिली में तो सब ख़तरनाक लग रहे है. मैं खुद को रोक नही पा रहा हू?

ईशा: कों-कों पसंद आया तुम्हे?

मे: सब लोग यार. जीजू की मा से लेकर उनकी भाभी तक.

ईशा: बस कर भाई. आज रात को हम आराम से बात करेंगे, लेकिन तेरे को बोल देती हू कुछ भी हो जाए आज ज़िद करना की तू मेरे साथ ही सोएगा. तुझे सिचुयेशन क्या होने वाली है ये नही पता है. इसलिए पहले से बोल रही हू.

मे: ओक दी आप आ जाओ, ये मेरे लिए बेस्ट सिचुयेशन है.

ईशा: अर्शी आ गयी, रुक मैं लेकर आती हू उसे.

मे (इन माइंड): मेरे जीजू माल की फॅक्टरी खोल के बैठे है.

अर्शी बस से उतरी, देखते ही मेरा लंड फँफने लगा. क्या पारी थी यार, एक पल में तो सोचा इससे शादी कर लू. उसका फिगर 36-30-36 होगा, ग्रीन कलर का कस्टमिस्ड ड्रेस पहना था, आंड क्या लग रही थी.

अर्शी: ही निक, मैने मेरा वादा निभाया, तेरी ईशा को ले गयी.

मे: अगर इस तरह ले जाने वाले थे, तो पहले बता देते. मैं आपसे झगड़ा नही करता.

अर्शी: ये आप क्या है? तुम कहो. वी ऑल अरे फ्रेंड्स.

मे: ओक अर्शी. बीटीयौ योउ लुकिंग डॅम हॉट.

ईशा: वॉट निक?

मे: दी पहले बहुत झगड़ा किया है. अब तारीफ कर डू ताकि अर्शी जगदा भूल जाए (और मैने आँख मार दी).

पर मुझे पता ही नही था की मेरी पीठ पीछे क्या-क्या चल रहा था. फिर मैने समान कार में रखा, और बातें करते-करते घर पहुँच गये. घर जेया कर अर्शी सबसे मिली, और नॉर्मल बातों में लग गयी. बुत मेरी नज़र उससे हॅट नही रही थी.

ईशा (मेरे कान में): भाई ये तेरी सर्प्राइज़ है, जो मैं अनाउन्स कर रही हू, सुन ले.

मैं सर्प्राइज़्ड था.

ईशा: आप सब को पता है सब लोगों को, की अर्शी बचपन से किसी से प्यार करती है वन साइडेड, लास्ट 7 यियर्ज़ से, आंड सबसे पहले उसने मुझे बताया था. फिर अपने भाई को. फिर करीना को, और फिर आप सब को.

मे: चलो गयी हाथ से.

ईशा: आपको पता है मैं सबसे ज़्यादा प्यार किसको करती हू?

सब लोग एक साथ: हा, निक से.

ईशा: वाह, सब को पता है. आपको ये पता है मेरी सबसे अची दोस्त कों है?

सब लोग एक साथ: हा, अर्शी.

ईशा: ये भी सब को पता है. तो अर्शी ने आज तक उसको क्यूँ नही बताया? उस लड़के को क्यूँ नही बताया की वो उससे प्यार करती है? मेरे दर्र से?

अर्शी: नही, ई ट्रस्ट योउ ईशा. डरती नही हू तुझसे, बुत तुम दोनो के बीच में, तुम्हारे प्यार के बीच में मैं नही आना चाहती थी. आंड, तुझे पता तो है वो कितना जलता था जब तू मेरे साथ होती थी?

ईशा: एस ई नो बेबी. मैं हमेशा चाहती थी की मैं अपनी पसंद की लड़की से मेरे भाई की शादी करऔ, आंड वो भी वही कहता था की दी बोलेगी उससे मैं शादी कर लूँगा. और मेरी पसंद ये है निक के लिए. वॉट से ब्रो?

निक: दी, आपका फनिस्ला बिल्कुल सही है. बुत क्या मैं आप दोनो से अकेले में बात कर सकता हू?

ईशा: अर्शी से कर ले.

मे: नही आप दोनो से.

अर्शी: ईशा निक सही कह रहा है. तू भी चल साथ में.

जीजू: ईशा आप लोग हमारे कमरे में जाओ और बात कर लो.

ईशा: ह्म, चलो दोनो.

अर्शी: ओक.

अंदर जाके हमारी क्या बात हुई, और आयेज क्या हुआ, ये आपको अगले पार्ट में पढ़ने को मिलेगा.

यह कहानी भी पड़े  बेटे द्वारा मा की गांद की सील तोड़ने की कामुक कहानी


error: Content is protected !!