बहन की सामूहिक चुदाई की कहानी, भाई की जुबानी

कॉलेज में पढ़ाई और मस्ती करने के बाद जब मैं वापस 2 बजे कॉलेज से घर आया, तो घर के बाहर गाड़ी खड़ी थी‌। मुझे लगा कौन आया होगा इस टाइम। मेरे पास घर की दूसरी चाबी थी। मैंने गेट खोला। फिर जब अंदर गया तो दी के रूम से कुछ लड़कों के आवाज़ें आ रही थी, और दी की अह्ह्ह्ह अह्ह्ह उममममममम आआईई की आवाज़ें घर में गूंज रही थी।

जब मैं बगल में गया, और वहां से दी रूम में देखा, तो दी के मुंह में लंड था। वो ताबड़-तोड़ दी के मुंह को चोद रहा था। मेरी बहन की चूचियां एक लड़का मसल-मसल के चूस रहा था। एक लड़का जिसका पहला मैसेज आया था इब्राहिम, वो दी की टांगे फैला कर जम कर शॉट पर शॉट लगा रहा था। और दो लड़के अपना नम्बर लगाए थे मेरी बहन को चोदने के लिए। उधर अब्दुल दी के मुंह में अपना लंड डाल कर चुसवाने लगा।

उन सबके लंड नुकीले-नुकीले, काले-काले, और मोटे-मोटे थे। मेरी बहन प्रिया दी उन नुकीले मोटे लंडो को लेकर बिस्तर पर मज़े कर रही थी। जब इब्राहिम दी को शॉट लगा रहा था, दी की चूचियां मानो फुटबॉल हो ऐसे उछल रही थी‌।

अब्दुल बोला: वज़ीर भाई, इसकी चूचियां चोदो।

वज़ीर दी की चूचियों के बीच अपना लंड डाल कर दी की चूचियां चोदने लगा। प्रिया दी के मुंह में एक लंड, चूची में एक लंड, और चूत में एक लंड था। एक लड़का चुत चोदने के लिए पीछे लगा था, दूसरा लंड चुसवाने के लिए अब्दुल के पीछे था। एक लड़का प्रिया दी की बगल चाट रहा था। ये नज़ारा देख कर मेरा दिल ख़ुश हो गया। मैंने मोबाइल निकाला और कुछ देर का वीडियो भी बनाया।

अकेले मेरी बहन 6 लोगों को संभाल रही थी। बिस्तर पर अकेली मेरी दी, और वो 6 लोग चारों तरफ से नोच रहे थे दी को। इब्राहिम चूत चोदने के बाद दी के मुंह में अपना लंड डाल दिया। अब आदिल ने दी के चूत में अपना लंड डाला और बोला, “देख रंडी, मैं तुझे कैसे चोदता हूं”।

फिर आदिल ने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी बहन की चूत में घुसा दिया। दी की तो पूरी आंखे खुल गयी। लेकिन इब्राहिम का लंड मुंह में था, तो बेचारी बस उम्म्म ईईईई करके रह गयी। फिर आदिल क्या ज़बरदस्त झटके मार रहा था। पूरा बेड हिल जा रहा था।

इब्राहिम बोला: वाह आदिल भाईजान, क्या मस्त चोद रहा है तू इस कुतिया को।

अब्दुल बोला: इब्राहिम अभी मेरा नंबर तो आने दे, फिर देख इस मादरचोद को कैसे चोदता हूं।

वज़ीर दी की चूचियां पकड़ कर उसको पूरा रगड़ रहा रहा था। फिर एक चूची अब्दुल दोनों हाथों से जोर-जोर रगड़ रहा था और दूसरी चूची वज़ीर। दोनों पूरी ताकत के साथ मेरी बहन की चूचियों को मसल रहे थे। दी की चूचियां लाल होना शुरू हो गयी थी। फिर आदिल ने दी को घुमा कर दी की एक टांग उठा दी। इब्राहिम ने दी की टांगे पकड़ लिया।

अब आदिल और जोर-जोर से झटके मार रहा था घपा-घप के। दी की चूत में लंड ऐसे घुस रहा था, मानो ड्रिलिंग मशीन छेद कर रही हो। तभी उनके साथ दूसरा लड़का मिर्ज़ा सुल्तान दी की गांड में अपना लंड घुसाना शुरू किया। दी की गांड टाइट थी। उसने अपना लंड पहले धीरे से घुसाया, फिर झटके मार के पूरा घुसा दिया।

दी सुल्तान की तरफ देख रही थी। दी के चेहरे पर मुस्कान थी। उसकी आंखों से ही पता चल रहा था कि वो बहुत खुश थी।

सुल्तान बोला: झटके मारुं?

रंडी दी इब्राहिम का लंड मुंह से निकाल कर बोली: इसमें पूछने वाली क्या बात है?

ये बात सुन कर उन लोगों के अंदर और जोश आ गया। फिर सुल्तान दी की गांड को चोदने लगा। आदिल दी की चूत चोद रहा था। दोनों ने अपनी-अपनी स्पीड बढ़ा दी।

अब पूरे घर में थप थप थप घच घच फट चुदाई की आवाज़ गूंजने लगी। साथ में एक प्यारी आवाज़ दी की आ रही थी। दी आह आह आह ओह ओह हम्म‌ कर रही थी। मुझे सुन कर कर सुकून मिल रहा था। मैं तो यही चाहता था ये सीन ऐसे ही चलता रहे।

करीब 25 मिनट तक ये मज़ेदार चुदाई हुई दी की। फिर अब्दुल दी की गांड में अपना लंड डाला, और वज़ीर ने दी के चूत में अपना लंड डाला। जब अब्दुल झटके मरना शुरू किया, तो प्रिया दी अपनी गांड पकड़ ली। अब्दुल ऐसे झटके मार रहा था, कि दी ऊपर उछले जा रही थी।

अब्दुल और वज़ीर दोनों आपस में ही मुकाबला करने लगे, कि कौन कितने तेज़ झटके मारता है। फिर वो दोनों दी को अपनी गोद में उठा लिए। फिर दोनों तरफ से दनादन झटके लगने स्टार्ट हो गए। अब दी के मुंह में लंड नहीं था। दी अब खुल कर मज़े कर रही थी। इब्राहिम और आदिल की चूचियों को चूसने लगे। मेरे लंड से पानी गिरने लगा ये सीन देख कर।

मैंने वहां से निकल कर चुपके से फिर से दरवाज़ा लॉक कर दिया, जिससे किसी को डिस्टर्ब ना हो। फिर मैं घर से निकला और अपने दोस्तों के साथ घूमने लगा। मैं शाम को 6 बजे घर आया तो देखा गाड़ी जा चुकी थी। अब मैं तुरंत घर में गया, अपना ड्रेस चेंज किया, और फिर दी के रूम में गया।

प्रिया दी: रोहन भाई कहां थे तुम? इतना लेट क्यूं आ रहे हो कॉलेज से आज?

मैं: दी मैं तो टाइम से ही आ गया था कॉलेज से।

वो 6 लोग आपको प्यार कर रहे थे, और आप भी उनके साथ मस्ती कर रही थी, तो मैंने डिस्टर्ब नहीं किया आप लोगों को, और मैं चला गया।

प्रिया दी: ओह्ह तुम आये थे। सॉरी भाई मैं तुम्हे बताना भूल गयी थी। मुझे बता देना चाहिए था तुम्हें।

मैं: कोई बात नहीं दी, वैसे दी अब्दुल और वज़ीर आपको गोदी में उठा कर चोद रहे थे। मेरा तो दिल ही खुश हो गया वो सीन देख कर।

प्रिया दी: हा भाई मस्त चोदा ना अब्दुल और वज़ीर दोनों ने मिल कर तेरी बहन को?

मैं: हां दी।

प्रिया दी: भाई मेरे लिए कोई नई बात नहीं है। मेरी चुदाई होती रहती है ऐसे अक्सर।

अब हम दोनों साथ में खाना खाते है। मैं उनको चुदाई की विडिओ भी दिखता हूं, जो मैंने दी की चुदाई के टाइम चोरी से बनाई थी।

प्रिया दी: वाह भाई मस्त है‌। मेरे व्हाट्सप्प पर भेजो।

मैं ( हसते हुए ): नहीं पहले 50₹ दो तब भभेजूंगा।

प्रिया दी: क्या अपनी ही बहन की चुदाई की वीडियो अपनी बहन के व्हाट्सप्प पर भेजने के लिए पैसे मांग रहे हो? ये गलत है भाई।

मैं: ऐसा नहीं है दी, मैं तो मज़ाक कर रहा था‌। देखो भेज दिया हूं।

प्रिया दी: थैंक यू भाई।

मैं: तब दी आज रात क्या प्लान है?

प्रिया दी:………..

आगे की स्टोरी अब नेक्स्ट पार्ट में।

स्टोरी कैसी लगी पर जरूर मेल करके बताइयेगा। कमैंटस जरूर करिये आप लोग। कोई सुझाव देना है तो जरूर दे सकते है।‌ धन्यवाद‌। लव यू एवरीवन।

यह कहानी भी पड़े  सुहागरात पर बीवी की मस्त चुदाई


error: Content is protected !!