बेहन के मूह मे अपना माल गिराया

इश्स कहानी का पिछला पार्ट ज़रूर पढ़े ताकि आयेज की कहानी आप लोगो को साँझ आए – आक्सिडेंटल सेक्स वित कज़िन

पिछले पार्ट मे आप लोगो ने पढ़ा की प्रीति फिर से मुझे किस करने लगी थी. अब आयेज…

इश्स बार मे खुद को रोक नही पाया आंड उसे किस करने लगा.. हम दोनो दहुत पॅशनेट्ली किस कर रहे थे. मे उसके लोवर लिप्स को एक बार किस करता नाद फिर उसके अप्पर लिप्स को किस करता..

फिर प्रीति अपना तौँगे मेरे मुझ मे डालने लगी आंड मेरे तौँगे से जंग लड़ने लगी. \मे भी उसकी तौँगे को मूह मे लेके चूसने लगा आंड उसका साथ दे रहा था. ये भूल के की मे जिसे किस कर रहा हूँ वो मेरी कज़िन है.

कुछ देर लीप किस करने के बाद हम अलग हुए आंड मे आब प्रीति के नेक मे किस करने लगा.

प्रीति: (गहरी साँस बरते) ऑश हाँ मुझे ऐसे ही प्यार करो.

थोड़ी ही देर किस करने के बाद प्रीति की साँसे तेज होने लगी. तो मे साँझ गया की वो गरम होने लगी है आंड मे फिर से उसके लिप्स पे किस करने लगा.

मैने किस करते करते उसके इन्नर थाइस को सहलाने लगा तो उसकी सास और तेज होने लगी उसका बॉडी पूरा गरम हो चुका था.

फिर मे उसके नेक मे किस करते करते उसके बूब्स के उपर अपना हाथ रख के उसे हल्के हाथो से दबाने लगा आंड वो धीरे धीरे मोन करने लगी.

मे फिर अपना हाथ धीरे धीरे उसके त-शर्ट के अंदर डाल के उसके छोटे छोटे मिल्क जैसे गोरे गोरे बूब्स को दबाने लगा. उसकी गरम साँसे मुझे और पागल कर रही थी. मे खुद को रोक नही पा रहा था.

फिर थोड़ी देर बाद मैने उसका त-शर्ट उतार दिया और उसकी ब्रा भी उतार दी. आंड उसके नेक मे किस करते हुआ उसके बूब्स को सक आंड किस करने लगा.

उसके निपल्स को अपने टंग से सर्क्युलर मोशन मे छत रहा था. आंड दूसरे हाथ से उसके दूसरे बूब्स दबा आंड पिंच कर रहा था. फिर मैने प्रीति की लेफ्ट बूब्स को हल्के से बीते किया तो-

प्रीति: उऊहह अया बीते माअट करूऊ ऊओ आआहह मे पागल हो जौंगी ऊहह…

उसके मोन मुझे पागल कर रहे थे. वो बिल्कुल मदहोश हो चुकी थी आंड ढेरे धरे सिसकारी ले रही थी.

प्रीति: आहह आहह ऑश ह्म्‍म्म्म ऊओ…

जब भी मे उसके बूब्स को बीते करता तो अया अया आवाज़ निकल रही थी. उसके बूब को किस करते करते मैने अपना हाथ उसके स्कर्ट के अंदर डाला आंड उसके चूत को रब करने लगा पनटी के उपर से.

तब वो अया अया अया आवाज़े ज़्यादा फ्रीक्वेंट्ली निकालने लगी. उसके आवाज़े मुझे और पागल कर रही थी. मुझसे और रुका नही गया आंड मे और देर ना करते हुआ उसके फोर्हेड मे किस करते करते नीचे आता गया. आंड नाभि का पास आके उसके नाभि को चाटने आंड किस करने लगा.

फिर और नीचे गया आंड उसकी स्कर्ट उपर करके उसके थाइस को किस करने लगा. वो मछली की तरहा उछाल रही थी और उसके रोंगटे खड़े हो गये और उसकी छूट की महेक मुझे भी मदहोश कर रही थी.

उसके बाद मैने उसकी पनटी के उपर से ही उसकी चूत पे अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा.

प्रीति: आहह ऑश शित्तत्त…

थोड़ी देर उसकी चूत को चूमने के बाद मैने फिर प्रीति की पनटी को उसकी छूट के साइड पे किया. और क्या काहु उसकी चूत बहुत प्यारी थी रेडिश कलर की.

उसकी छूट पूरी तरहा गीली हो चुकी थी मे और देर ना करते हुआ उसकी छूट के होंठो को अपने होंठो में भर लिया और कुलफी की तरह चूसने लगा. बिल्कुल गरम थी उसका छूट आंड सॉफ्ट भी, ऐसा लगा जैसे गरमा गरम रसगुल्ला हो.

मे अपनी जीभ उसकी चूत के होल के अंदर तक डाल के लीक कर रहा था, उसकी चूत की टेस्ट आज भी मुझे याद है. वो ज़ोर ज़ोर से मोन कर रही थी. मुझे दर लग रहा था की कही उसकी आवाज़ बाहर तक ना पहुच जाए.

प्रीति तो जैसे सातवे आसमान पे थी. वो अपनी कमर हिला हिला कर अपनी छूट को मेरे होंठो पे रग़ाद रही थी. थोड़ी देर में प्रीति का बदन अकड़ने लगा और उसकी साँसें तेज हो गयइ. उसकी चुचियाँ उपर नीचे हो रही थी ज़ोर ज़ोर से. मैं समझ गया था प्रीति झड़ने वाली है.

मैने तभी प्रीति की छूट के दाने को होंठो में दबा लिया. और उसके चुचियों को दोनो हाथो में दबा लिया और चुचियाँ मसालने लगा. और उसकी चूत के दाने को जीभ से रग़ाद रग़ाद के चूस रहा था.

प्रीति: आहह श शित्तत्त आ एससस्स कीप गोइंगगगगग… ये क्या हो रहा है मुझे आअहह बहुत अछा लग रहा है एम्म अहहह फुक्कक एसस्स…

मैं बिना रुके उसकी छूट के दाने को टंग से रग़ाद रग़ाद के चूसने लगा और चुचियाँ मसल रहा था. 5 मीं में प्रीति की कमर झटके खाने लगी और उसकी चूत से रस रिस रिस कर मेरे मूह में बह रहा था.

पहले तो मुझे गंदा लग रहा था बुत उसका टेस्ट मुझे अछा लग रहा था.

प्रीति: आहह आ शितत मैईन्न्न्न् झाड्दड़ रही हू आहह फ्कूककक एसस्सस्स…. ओह माआ मैं झाड्दड़ रही हुउऊुउउ…

वो अब कमर हिला हिला कर मेरे मूह पे रग़ाद रही थी. और उसकी छूट झटके खा खा कर मेरे मूह पे झाड़ रही थी. मुझे उसकी छूट का रस बहुत ही मस्त लगा.

फिर वो 5 मीं बाद शांत हुई और उठ के मुझे किस करने लगी और फिर मेरे कपड़े उतरने लगी.

पहले प्रीति ने मेरा त-शर्ट उतार के फेक दिया और मेरे चेस्ट मे पागलो की तरहा किस करने लगी. मे उसके आँखो मे मेरे लिए इतना प्यार देख के डांग रह गया. फिर उसने मेरे बॉक्सर भी उतार दिया आंड मुझे नंगा करने लगी.

अब वो अपने घुटने के बाल बैठ गयी आंड मेरे लंड को देख रही थी. फिर अपने हाट मे ले के हिलने लगी. मेरे पूरे सरीर मे करेंट डोर गया. जैसे ही प्रीति मेरे लंड अपने मूह मे लेने जेया रही थी मैने उसे रोका-

मे: योउ डॉन’त नीड तो तीस फॉर मे, इट’स डर्टी.

प्रीति: नो ई वॉंट तो लोवे योउ, ई वॉंट तो लोवे युवर एवेरी पार्ट.

मे: ठीक बुत मुझे एक बार धो लेने दो उसके बाद जो करना है करो.

प्रीति खुश हो गयी आंड मे जल्दी से अपना लंड अछा ही धो के आया. मेने अपना लंड के पास के हेर पहले से ही ट्रिम क्या हुआ था. (मुझे शेव करना अछा नही लगता.)

आंड प्रीति फिर मेरे लंड को अपने हाथ मे पकड़ के हिलने लगी और अपने मूह मे ले के आयेज पीछे करने लगी. मुझे तो ऐसा लग रहा था की वो मेरे पूरा आत्मा को चूस लेगी. मे अपने आँख बंद कर के पूरे मज़े ले रहा था.

प्रीति पूरे मज़े मे मेरे पूरा लंड गले तक ले के मज़े से चूस रही थी. और मे प्यार से अपने हाथ उसके सर मे फेर रहा था और पूरे मज़े ले रहा था. करीब 10 मिनिट्स वो मेरे लंड चूस और छत रही थी.

फिर मैने प्रीति का सर पकड़ा और उसके मूह को छोड़ने लगा. पूरा कमरा चुप चुप खाप खाप साउंड से गूँझ उठा. करीब 3-4 मिनिट्स मूह चुदाई के बाद मे झड़ने वाला था.

मे: प्रीति ऊवू अया मे झड़ने वाला हूँ, क्या तुम्हारा मूह मे सारा माल चोर डू?

प्रीति मेरे लंड अपने मूह मे लिया हुए हाँ मे सर हिला रही थी और मे उसके मूह मे झड़ने लगा.

मे: आअहह प्रीति ऑश श एस मे झाड़ रहा हूँ ऑश शीत. प्रीति वॉट योउ मेक मे दो ई नेवेर एवर थॉट इन मी ड्रीम्स तट वन दे ई आम गॉना कम इन युवर मौत.

ऑश ऊवू शीत कर के मे उसके मूह मे झाड़ गया.

प्रीति मेरे सारा माल पे गयइ और लंड छत छत के साफ कर दिया और उठ के किस करने जेया रही थी.

मे: रूको रूको मे अवी तुम्हे किस नही करने वाला जेया के पहले ब्रश करो.. ये पॉर्न नही है तो जो मे अपना ही कम टेस्ट करने वाला हूँ.

प्रीति भी हासणे लगी और हम दोनो ने फिर ब्रश किया नंगे ही और तब ही आंटी का कॉल आया-

आंटी: हम अवी अवी पहुचे है.. तुम लोग ने ब्रेकफास्ट किया?

प्रीति: हन कर लिए.

आंटी: आशीष को फोन दे.

प्रीति: ये लो मम्मी बात करेगी.. मैने मम्मी को बोला की हुँने ब्रेकफास्ट कर लिया है तुम भी यही बोलना.

मे: हेलो आंटी आप लोग आचे से पहुच गये?

आंटी: हाँ बेटे और तुमलोग ने ब्रेकफास्ट किया?

मे: हाँ आंटी प्रीति ने अवी थोड़े देर पहले ही नास्टा करवाया.

आंटी: ठीक है बेटे मे अब फोन रखती हूँ.

मे: ठीक है आंटी बाइ.

प्रीति हँसे लगी ब्रेकफास्ट कैसा लगा?

मे: अछा लगा.

प्रीति: हाँ बुत अवी मुझे लंच करना है.

मे: अरे अवी तो हुँने ब्रेकफास्ट भी नही किया और तुम लंच की बात कर रही हो..

प्रीति मेरे लंड के पॉइंट कर के बोली मे इसकी बात कर रही हूँ.

मे: रूको पहले ब्रेकफास्ट कर लेते है.. और अपना कपड़े पहेने लगा.

प्रीति: कपड़ा पहेने ही क्यूँ रहे हो जब उतरना है?

और मुझे कपड़ा पहेने नही दिया और हम नागे ही ब्रेकफास्ट करने लगी.

मे अब भी सोच रहा था की मे साइड ग़लत कर रहा हूँ.

और हुँने ब्रेकफास्ट फिनिश्ड किया और ब्रेकफास्ट कर के प्रीति मेरे उपर कूद पड़ी.

प्रीति: अब अपने लंड को मेरे वर्जिन चूत मे उतार ही दो.

मे: वॉट योउ अरे स्टिल वर्जिन?

प्रीति: तो क्या मिने अपने वर्जिनिटी अवी भी बचा के रखा है, मैने बाज़ एक बार किस किया है अपने एक्स ब्फ को. उसे तो सिर्फ़ सेक्स करनी थी और मेरे उसे कर रहा था.

मे: मुझे भी यही लगता है की ई आम यूज़िंग योउ.

प्रीति: तुम फिर स्टार्ट हो गये. ई डॉन’त अंडरस्टॅंड वॉट इस युवर प्राब्लम..

मे: प्रीति टेल मे वन थिंग ऑनेस्ट्ली, क्या हम दोनो का शादी करना पासिबल है?

प्रीति: तोड़ा धुखी हुई और बोली नही ये तो पासिबल नही है.

मे: देन हाउ कॅन ई टके युवर वर्जिनिटी इफ़ ई कॅन’त मॅरी योउ.

प्रीति कुछ नही बोली और रोने लगी.

मे: देखो प्रीति मैने कहा था की हम ग़लत कर रहे थे और आब तुम्हे मेरे वजह से रोना पद रहा है. ई डॉन’त नो हाउ कॅन ई फर्गिव मे. ई कॅन’त फर्गिव माइसेल्फ फॉर तीस मिस्टेक, ये सब मेरी ही ग़लती है, काश मैने तुम्हे किस ना क्या होता बुत मे खुद को रोक नही आया.

मे अपना फीलिंग को रोक ना पाया. इतने सालो से अपनी फीलिंग को कंट्रोल किया था. काश कल भी अपने फीलिंग को रोक पता. ई आम सॉरी प्रीति, ई कॅन’त फर्गिव माइसेल्फ, ई आम सॉरी.

आयेज की कहानी अगले पार्ट मे.

यह कहानी भी पड़े  देल्ही की हॉट लड़की का फोन सेक्स मे पानी निकाला

error: Content is protected !!