बातरूम में थ्रीसम चुदाई

मैं बातरूम में गयी, और ब्रश करके खुद को सॉफ करने लगी. तभी बाकी के दो नीग्रो बातरूम में घुस गये. मैने डोर लॉक नही किया था.

नीग्रो: मेरी जान अकेले बात लेने में मज़ा नही आएगा. क्या हम तुम्हे जाय्न कर ले?

मेरा भी मॅन था बहुत सारा सेक्स करने का अभी. मैने कुछ बिना बोले दोनो का हाथ पकड़ा, और अंदर ले लिया. फिर डोर लॉक कर लिया, ताकि वो तीनो नीग्रो हमे ना देख पाए. मैं इन दोनो नीग्रो से प्यार भरा वाइल्ड सेक्स करना चाहती थी.

मे: मुझे आप दोनो बहुत आचे लगे. आप दोनो में बहुत सबर है. प्लीज़ मेरा जब तक मॅन ना भर जाए आपका माल मत निकालना.

1स्ट्रीट नीग्रो: डॉन’त वरी मेरी जान. तेरा मूट निकल जाएगा, पर हम दोनो भाइयों का माल नही निकलेगा.

वो दोनो जुड़वा भाई थे. बिल्कुल सेम एक-दूसरे के कॉपी. मैं बिना बोले नीचे बैठ गयी, और बारी-बारी दोनो का लंड चूसने लगी. अचानक पता नही किस नीग्रो ने ठंडे पानी का शवर ओं कर दिया. थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मैं ठंड से काँपने लगी.

पर ये दोनो भाई पता नही किस मिट्टी के थे. इन्हे ठंड नही लग रही थी. मैं बाहर जाना चाहती थी. फिर गाते खोलने के लिए जैसे ही हाथ बढ़ाया, दोनो ने हाथ पकड़ के रोक लिया.

नीग्रो: कहा जेया रही हो मेरी जान?

मे: ठंड लग रही है मुझे. इतनी ठंड में ठंडे पानी से कों नहाता है?

मेरे इतना बोलते ही दोनो नीग्रो ने मुझे अपने बीच में कर लिया. उन दोनो की बॉडी पूरी हॉट थी.

मे: आ आप दोनो कितने गरम हो.

मैने अपने सर को उपर करते हुए अपने काँपते हुए होंठ नीग्रो के आयेज कर दिए. उसने मुझे चूमना शुरू कर दिया. 2न्ड नीग्रो ने मुझे गर्दन और कान के पीछे किस करना शुरू कर दिया था. शवर अब भी ओं था, पर अब मुझे ठंड नही लग रही थी.

वाकाई दोनो भाई असली मर्द थे. अचानक एक नीग्रो ने शवर ऑफ कर दिया. किस्सिंग अब भी उसी चरम सीमा पर थी. 1 नीग्रो ने मेरी एक टाँग उँची की, और अपना लंड मेरी छूट पे सेट कर दिया. उसने अपने भाई को इशारा किया, और उसने अपना लंड मेरी गांद पे सेट किया.

दोनो की अलग ही इशारों में प्लॅनिंग चल रही थी. अचानक दोनो ने 1, 2, 3 की गिनती की, और एक की टाइम पे लंड मेरी छूट और गांद में भर दिए. मैं आहह की आवाज़ के साथ दर्द से कराह पड़ी. मेरा एक पैर जो ज़मीन से टीका था काँपने लगा. 2न्ड नीग्रो ने ये नोटीस कर लिया की मुझे ऐसी पोज़िशन में पाईं हो रहा था बहुत ज़्यादा.

तभी दोनो भाइयों ने अपने हाथो के सपोर्ट से मुझे उठा लिया. अब मैं दोनो के लंड पे झूला झूल रही थी. मैं आँखें बंद करके बस इस चुदाई को एंजाय कर रही थी, और दर्द में चीखे जेया रही थी. उन दोनो का लंड मेरी छूट और गांद की गहराइयों को चू रहा था.

मे: आहह स्शह प्लीज़ तोड़ा और फास्ट करिए आअहह. प्लीज़ फाड़ दोनो मेरी छूट और गांद.

मैं काम-उत्तेजना में ये शब्द बोल रही थी, जिससे दोनो नीग्रो और उत्तेजित हो रहे थे. मुझे 20 मिनिट से ज़मीन नही मिली थी, और इक्कीसवे मिनिट में मेरी छूट ने ढेर सारा पानी छ्चोढ़ दिया. मुझे चक्कर आ गये. मैने अपना निढाल शरीर नीग्रो को सौंप दिया. बीते 3 दीनो में मेरा 20 बार पानी निकला था, जिससे मैं कमज़ोर हो गयी थी.

अब हाल ये था की मैं और चूड़ना चाहती थी, पर शरीर में क्षमता नही थी. पर अभी उन दोनो का नही हुआ था, और यहा से मेरी अग्नि परीक्षा शुरू हो गयी थी. नीग्रो मेरे ढीले पड़े शरीर के कारण मेरा वज़न नही उठा पा रहा था. उसे चुदाई करने में परेशानी हो रही थी.

फिर उसने अपने भाई को इशारा किया, और मुझे नीचे उतार दिया. दोनो के लंड लगभग 11 इंच जीतने लंबे थे. जब उन दोनो के लंड मेरी छूट और गांद से बाहर निकाले, तो ऐसा एहसास हुआ मानो मुझे किसी बंद पिंजरे से आज़ाद कर दिया हो किसी ने. एक नीग्रो नीचे लेट गया, और मुझे फेस दूसरे नीग्रो की तरफ करने को बोला. मुझे लगा मेरी छूट मारेगा और मैने कहा-

मे: प्लीज़ तोड़ा रुक जाइए ना. मेरा अभी माल निकला है. तो मॅन नही हो रहा करने का.

नीग्रो: चुप कर छिनाल. आ बैठ मेरे लंड पे.

मीं उसका लंड छूट पे सेट करने लगी. तभी वो बोला-

नीग्रो: साली कुटिया, गांद पे सेट कर तेरी.

मुझे मजबूरन आपनी गांद पे लंड सेट करना पड़ा. फिर जैसे ही मैं खड़े लंड पे बैठी, नीग्रो ने मेरे दोनो हाथ पीछे खींच लिए, और मेरी पूरी बॉडी का वज़न लंड पे पड़ा. इससे पूरा लंड मेरी गांद में चला गया. मुझे चाँद तारे सब दिखाई दे गये.

उसने मेरे हाथो के बीच से अपने हाथ निकाले, और मुझे पूरा उसकी बॉडी पे लिटा लिया. फिर शुरू हुई मेरी दर्द भारी गांद-फाड़ ठुकाई. उसके धक्के इतने तेज़ थे की उसके अंडकोष मेरी छूट पे पाट पाट पद रहे थे. मैं दर्द से आआअहह आअहह आअहह करे जेया रही थी बस.

तभी अचानक उसी स्पीड से उसका लंड गांद से निकला, और रास्ता भुलाते हुए मेरी छूट में घुस गया. मुझे और उसे इतना सुख मिला की मेरा पानी और उसका पानी सेम टाइम पे निकल गया. फिर नीग्रो मुझसे अलग हो गया.

अब बारी थी लास्ट नीग्रो की. पर उसे मुझपे दया आ गयी. लेकिन था तो वो मर्द ही. ठंडा हुए बिना कैसे रह सकता था.

नीग्रो: सुन तू और कर पाएगी क्या?

मे: नही प्लीज़ सिर. भगवान के लिए और मत करना.

नीग्रो: ओक उठ, इधर आ, और अपना मूह खोल.

मैं उठ के उसके पास गयी, और उसका लंड चूसने लगी. मैं बहुत टाइट चूस रही थी उसका लंड. मैने पूरा मूह खोला, और उसके लंड को गले में उतार लिया, ताकि उसका एक भी बूँद पानी मेरे मूह में ना आए. सच में गंदा टेस्ट रहता है फ्रेंड्स.

तभी अचानक उसके लंड ने पिचकारी छ्चोढी, पूरा पानी सीधे मेरे पेट में उतार गया. उसने अपना लंड बाहर निकाला, और दोनो मुझे बातरूम में अकेला छ्चोढ़ के बाहर चले गये. मैने गरम पानी से बात लिया, और नीग्रो से अपनी सारी माँगी.

पर उन दोनो ने मुझे सारी के बदले एक ब्लॅक कलर का ओनेपीएसए दिया. मैने वो पहन लिया और बाहर आई. ड्रेस में मैं बिल्कुल मॉडेल लग रही थी. पाँचो नीग्रो बहुत खुश थे.

1स्ट्रीट नीग्रो: तुम बहुत खूबसूरत हो. मैं इस रात को कभी नही भूलूंगा.

ये बोलते हुए उसने मुझे डाइमंड रिंग गिफ्ट की. 2न्ड नीग्रो ने मुझे अपने पास किया, और मुझे घुमा के मेरी गर्दन पे किस की, और एक नेककलेशस मेरे गले में डाल दिया.

3र्ड नीग्रो ने मुझे हग किया और बोला: तुम जैसी लड़की अगर मेरे पास होती, तो मैं रानी की तरह रखता.

उस मुझे अपना कार्ड और पैसे दिए और बोला: जब भी लगे इंडिया में नही रहना, तो मुझे कॉल करना. तुम्हे लेने आ जौंगा.

4त नीग्रो ने मुझे अपने करीब किया, और मुझे माथे पर किस किया, और मुझे सॉरी बोला अपने मिस-बिहेव के लिए.

5त नीग्रो बोला: मुझे तो तुमसे प्यार हो गया है. तुम्हे अपना सब कुछ डेडू, तब भी कम है.

और ये बोलते हुए अपने घर की कीस दी और बोला: ये मेरा गोआ का बंगलोव है. आज से ये तुम्हारा. मैने सभी को ढेर सारा थॅंक योउ बोला. मेरी चुदाई बहुत बुरी हुई, पर विदाई देने में इन लोगों ने दिल जीत लिया. मैने सभी को बाइ बोला, और धीरे-धीरे रूम से बाहर निकल आई. फिर मैने अपने रूम में पहुँच गयी.

आयेज की स्टोरी अगले पार्ट में. प्लीज़ यार फ्रेंड्स कॉमेंट करो और मेरी मैल ईद पे मैल करो. अगर मुझे आप में से कोई अछा लगा तो हमारे नेक्स्ट ग्रूप सेक्स में आपको चान्स मिल सकता है. या फिर अकेले भी कर सकते है. तो जिसे भी चान्स चाहिए मैल करिए.

यह कहानी भी पड़े  मुस्लिम माँ की थ्रीसम सेक्स कहानी


error: Content is protected !!