बड़े लंड वाले बंदे से बीवी की चुदाई की कहानी

ही फ्रेंड्स, एक बार फिर आपका दोस्त राहुल, और आपकी हॉट भाभी काव्या अपनी आयेज की स्टोरी ले कर आपके सामने है.

मैं और काव्या समीर से मिलने के बाद घर आके उसका नो. ब्लॉक कर देते है. हमे दर्र था की कही वो हमे तंग ना करे. अब आयेज-

हम दोनो अब आयेज कैसे करे. इस्पे प्लान करना स्टार्ट कर देते है. बुत कुछ समझ नही आता कैसे करे किससे मिले. ट्रस्ट करना बहुत मुस्किल होता है इन सब के लिए. फिर एक दिन ऐसे ही हमने फ़ेसबुक पे ईद बना दी नामे चेंज करके, और कुछ लोगों से दोस्ती करी.

एक अदर स्टेट के लड़के से हमारी अची बन गयी. बुत उसकी आगे हुंसे ज़्यादा थी. हम उस टाइम 25-26 के थे. वो बंदा 38 के था. नामे विशाल था उसका. बुत लड़का अछा था. नेचर भी अची थी. हमारी अची दोस्ती हो गयी. मैने उसको बताया की ये ईद हमने फेक नामे से बना रखी थी, और हम ऐसे-ऐसे एंजाय करना चाहते थे.

विशाल: भाई आप दररो मत, यहा बहुत लोग ऐसा कर रहे है. आप पहले नही हो.

राहुल: क्या बात कर रहे हो भाई जी.

विशाल: जी भाई, फ़ेसबुक पे ऐसे बहुत कपल है.

फिर मेरे और विशाल की रोज़ बात होने लगी. हमने नो. शेर कर लिया. हम लोगों ने मिलने के प्लान करा. जॉइंट फॅमिली में हम लोग रहते थे. तो हमने कही घूमने का प्लान करा, और जहा विशाल रहता था, उस स्टेट में जाने का मॅन बना लिया.

फिर कुछ दिन बाद हम घर से गाड़ी पे निकल गये विशाल से मिलने. विशाल ने वाहा हमारे लिए ऑलरेडी एक होटेल बुक कर दिया. हमने होटेल में ईव्निंग तक पहुँच के चेक-इन कर लिया.

हम थोड़े दर्रे हुए भी थे, क्यूंकी ऐसे कही और किसी से मिलना था. फर्स्ट टाइम था, और कैसा है हमने दहका भी नही था. हम डिन्नर करके रूम में ही वेट कर रहे थे. रात में 11 बजे डोरबेल बाजी होटेल की.

मैने गाते ओपन करा. एक 6 फीट अची बॉडी वाला इंसान मेरे सामने था, और थोड़ी आगे थी उसकी. हम दोनो बैठ के बात करने लगे. वाइफ बेड पे से ही देख रही थी. हमने छाई मंगवा के पी. काव्या को देख के लग रहा था की वो खुश नही थी.

फिर मैं काव्या के पास गया, और बात करी तो वो उतनी खुश नही थी उसके साथ करने के लिए.

विशाल ना बोला: कोई नही, अगर आप कंफर्ट नही हो तो हम नही करेगे. बैठ के बात करते है. फिर मैं चला जौंगा.

मैने काव्या को मनाया की बाहर आए, हम कुछ फन करते है. और सब का अलग एक मज़ा आता है. ये बात काव्या को पहले से ही पता थी तो उसने बोला-

काव्या: ठीक है, ट्राइ करते है. बुत मैं किस नही करूँगी.

विशाल अग्री हो गया.

मैने विशाल को बेड पे बुला लिया, और मैं साइड में खड़ा हो गया. विशाल ने मेरी वाइफ के हाथ पकड़ के प्यार से हाथ पे किस करा. थोड़ी बात करी, दर्र तोड़ा कम करा. फिर धीरे-धीरे उसने वाइफ की ड्रेस के उपर से ही बूब्स दबाने स्टार्ट कर दिए.

हल्के हाथ से, थोड़ी देर ऐसे ही करने के बाद उसने वाइफ की ड्रेस निकाल दी. 1 पीस ड्रेस थी. वाइफ सिर्फ़ पनटी और ब्रा में थी. उस टाइम तक मेरी वाइफ के बूब्स उतने बड़े नही हुए थे. सेक्स तो करा था, बुत उतने बड़े नही थे, नॉर्मल थे.

फिर विशाल ना ब्रा खोल दी, और वाइफ के बूब्स हाथ में लेके चूसने लगा. वाइफ को तोड़ा मज़ा आ रहा था. फिर उसने एक बूब्स चूसने और एक से खेलना स्टार्ट कर दिया.

थोड़ी ऐसे ही करने के बाद विशाल ना मेरी वाइफ को बेड पे लिटा दिया, और पनटी में हाथ डाल के छूट को रब करने लगा. फिर मेरी वाइफ के बूब्स दूसरे हाथ से उसके मूह में डाल के चूस रहा था. वाइफ को अछा लग रहा था. उसके फेस पे से जो पहले ना थी, वो थोड़ी हा में आ गयी थी. और वो एंजाय कर रही थी उन सब को.

विशाल ना भी अपने सारे कपड़े निकाल दिए, और नंगा हो गया. विशाल के लंड अब तक के जीतने से काव्या चूड़ी थी, सब से तोड़ा बड़ा और मोटा था. मेरी नज़र उसपे पड़ी. फिर विशाल वाइफ की बॉडी को चूमता हुआ नीचे आता गया, और वाइफ की छूट में मूह डाल के चाटने लगा.

विशाल बहुत अची सकिंग कर रहा थी. रूम में एक मस्त आवाज़ सी भी आ रही थी चाटने की, और वाइफ के फेस पे पता चल रहा था, की वाइफ भी छूट चुसवाने में सपोर्ट कर रही थी.

फिर विशाल ना कॉंडम माँगा मेरे से. मैने उसको कॉंडम निकाल के दिया. विशाल ने अपने लंड पे लगाया, और लंड मेरी वाइफ की छूट में सेट करा. फिर आराम-आराम से लंड उंड़र करने लग गया. बुत मेरी वाइफ की छूट अभी भी काफ़ी टाइट थी, ज़्यादा खुली नही थी.

तो आराम से नही जेया रहा था. फिर थोड़ी देर ट्राइ करने के बाद तोड़ा अंदर गया. मेरी वाइफ को पाईं हुआ, और उसने उसको निकालने को बोला. विशाल ने अपना लंड निकाल दिया.

काव्या बोली: नही हो पा रहा. बड़ा और मोटा है.

फिर मैं काव्या के पास आया, और उसको लीप किस करने लगा, और नीचे से विशाल को बोला डालने के लिए. विशाल ना आराम से ट्राइ करा. पाईं हो रहा था, बस मैं उसको सपोर्ट कर रहा था. और विशाल भी बहुत प्यार से कर रहा था.

थोड़ी देर करने के बाद विशाल ने थोड़ी स्पीड तेज़ करी. शायद थोड़ी पाईं कम हो गयी थी वाइफ की. बुत अभी भी वो पाईं में ही थी, और वो कराह रही थी. विशाल मेरी वाइफ की चुदाई बहुत आचे से और प्यार से कर रहा था. उसके करने के तरीका भी सबसे अलग था. छूट में लंड डाल के तो सब ही करते है. आप बोलॉगे की अलग क्या था.

बुत पता नही यूस्क तरीका एक अलग सी फीलिंग दे रहा था, जो मुझे देखने में, और वाइफ को करने में भी मज़ा आ रहा था. थोड़ी देर ऐसे ही करने के बाद विशाल लूस हो गया, और काव्या के उपर ही लेट गया. फिर उठ के वॉशरूम में गया, और अपने आप को क्लीन करके बाहर आया. उसके बाद वाइफ गयी और अपने को क्लीन करके बाहर आई.

फिर विशाल वाहा से निकल गया, और हम दोनो ना सेक्स करा. बुत वाइफ को पाईं हो रहा था, तो हमने ज़्यादा नही करा. नेक्स्ट दे हम घूमने गये, और वापस फिर घर के लिए निकल गये. विशाल से उसके बाद फिर हम एक बार मिले. बुत इस बार अपनी स्टेट में. वो हुंसे मिलने आया था, और वाइफ की और उसकी दोस्ती अची हो गयी थी.

होप आपको ये स्टोरी अची लगी हो. आंड जिनके ये मैल आते है की ये स्टोरी रियल नही है, उनको फिरसे बता डू ये रियल है.

दोस्तों आपको कैसे लगी ये स्टोरी मुझे मैल करके रिप्लाइ करे. आंड प्लीज़ उल्टा सोचने वाले और उल्टा बोलने वाले डोर रहे.

फन करना सेक्स करना कोई बुरा नही है चाहे वो एक से हो रहा हो या अनेक से. इंसान की अपनी मर्ज़ी अपनी खुशी और दूसरों की खुशी के लिए करना ग़लत नही है.

यह कहानी भी पड़े  स्ट्रेंजर आंटी को जाम कर चोदा


error: Content is protected !!