अंधेरे में लड़के ने अपनी मामी चोदी

ही फ्रेंड्स, हाउ अरे योउ? मी नामे इस सूरज आंड ई आम फ्रॉम पुंजब, आगे 26 यियर्ज़. मैं रहता पुंजब में हू, बुत मेरा होमटाउन उ.प. में है. तो आज मैं आप सब को अपनी 2न्ड स्टोरी बताने जेया रहा हू, की कैसे मामा ने मामी को छोड़ा, और फिर मैने मामी को छोड़ा.

मामा ने मामी को बेड पर पटक दिया, और मामी के बूब्स चूसने लगा. मामी भी मज़े में थी, और उन्होने मामा को अपनी लेग्स में फ़ससा लिया. फिर मामा ने अपना कुर्ता और पाजामा उतार लिया, और अब वो अंडरवेर में थे. वो नीचे से मामी की छूट को रब कर रहे थे. मामी बस मदहोश थी, और एयाया माआ उफफफफ्फ़ उई कर रही थी.

करीब 5 मिनिट चुम्मा-छाती के बाद मामा ने अपना अंडरवेर उतरा, और लंड मामी की छूट में पेल दिया. मामी आ आ करने लगी. फिर मामा धक्के मारने लगा ज़ोर-ज़ोर से. हर धक्के पर बेड भी हिल रहा था, जैसे कुट्टी के उपर कोई घोड़ा चढ़ा हो. साला है ही इतना हटता-कटता, उपर से सेयेल ने दारू पी थी.

मामी तो उसके नीचे पता ही नही लग रही थी. बस साली की हवा में लेग्स दिख रही थी. करीब 5 मिनिट बाद मामा बेड पर लेट गया, और मामी को उठा कर अपने उपर बिता लिया. दोनो अब कॉवगिरल पोज़िशन में थे. मामा अब नीचे से गांद उठा-उठा कर मामी को पेल रहा था. मैं साइड मिरर में देख रहा था.

तभी मैने अपना सिर बेड से तोड़ा उपर किया तो मामी ने मेरे को देखा, और वो दर्र गयी. उन्होने मेरे को च्छूपने को कहा. मैं हासणे लगा और छूट चाटने वाला इसरा किया. मामी दररी भी थी, उपर से चुड भी रही थी. मामा की आँखें बंद थी, और वो पुर जोश में थे.

मैं भी पीछे पूरा खड़ा हो गया. मामी ने मेरे को इशारा किया च्छूपने का, और मैने ना में सिर हिलाया. फिर मैं मामी के दोनो बूब्स के निपल्स ज़ोर से दबा कर खींच दिया और च्छूप गया. उन 2 सेकेंड्स में मामी ज़ोर से चिल्लाई आआआअहह.

मामा बोला: क्या हुआ साली, इतना ज़ोर से क्यूँ चिल्लाई.

मामी: कुछ नही.

फिर मामा ने आइज़ बंद की, और मामी को कमर से पकड़ कर छोड़ने लगा. मैं फिरसे उठा, और मामी को लाइट ऑफ करने का इशारा किया. मामी नही मानी तो मैं फिरसे उसके बूब्स पकड़ने जेया रहा था. मामी ने मेरा हाथ रोका, और मेरे को इसरा किया लाइट बंद करने का. फिर वो आ आ करते वो मामा के उपर लेट गयी, और उनको चूसने लगी. मैने भी उसी पल लाइट ऑफ कर दी.

मामा बोला: लगता है लाइट गयी.

करीब 5 मिनिट तक मामा तक गया था, तो बोला-

मामा: अब तू उछाल.

मामी भी जोश में थी, और मामा के लंड पर उछालने लगी. मैं पीछे से गया, और मामी के बूब्स दबाने लगा. बाहर लाइट की रोशनी से 20% विज़िबिलिटी थी. मामी बस ज़ोर-ज़ोर से उछाल रही थी. मामा भी जोश में था, और मैं भी मामी के बूब्स ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था.

मामा मामी से बोला: अब साली तू उतार जेया.

तभी मामी झाड़ गयी, वो मामा पर ही लेट कर ढीली हो गयी. मामा का अभी हुआ नही था.

वो बोला: मेरा तो कर दे बहनचोड़.

मामी कुछ नही बोली. मैने तभी पीछे से मामी की गांद में उंगली डाल दी, जिससे मामी तोड़ा हिली. मैने करीब 15 सेकेंड्स उंगली की, बुत मामी ने कोई रेस्पॉन्स नही दिया मेरे को. अब मुझे गुस्सा आ रहा था. उधर मामा भी ज़ोर से बोला-

मामा: कर ना साली, मॅर गयी क्या?

तो मैने भी मामी के दोनो पैर खींच लिए. अब वो बेड के नीचे आ गयी.

मामी हल्की आवाज़ में बोली: क्या कर रहा है तू?

मैं मामी की छूट में उंगली डाल के बोला: आप बस मामा को हॅंड से हल्का करो अब.

और मैने 10 सेकेंड्स तक मामी को को चूसा.

उधर मामा बोला: बहनचोड़ कहा गयी?

मामी ने भी गुस्से में बोला: रुक जाओ ना.

और वो मामा की जांघों पर जेया कर घोड़ी बन गयी और उनकी मूठ मारने लगी. मैं पीछे मामी की छूट पर अपनी जीभ फेरने लगा. क्या स्वाद होता है छूट का खट्टा-मीठा सा. करीब 1 मिनिट बाद मामी भी जोश में आने लगी.

वो भी आआआ उफफफफ्फ़ माआअ करने लगी. उधर मामा भी जोश में आने लगा. अब मैने अपना लंड मामी के च्छेद पर सेट किया और हल्का सा धक्का मारा. मामी ने अपनी गांद टाइट कर ली और मामा का लंड ज़ोर से दबा दिया.

मामा: आअहह, क्या कर रही है बहनचोड़?

मामी: चुप ना बहनचोड़, मूठ ही तो मार रही हू.

करीब 1 मिनिट तक मैं मामी की गांद मार रहा था, और मामी मामा की मूठ. मामा का भी माल नही निकल पा रहा था. करीब 5 मिनिट बाद मैं मामी के बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा. फिर 10 सेकेंड्स बाद मैने मामी की कमर पकड़ के 5 ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारे. लास्ट का एक इतना ज़ोर का मारा की मामी मामा के लंड पर गिर गयी. मैने अपना पूरा माल मामी की गांद में छ्चोढ़ दिया और 5 सेकेंड्स बाद लंड निकाल लिया.

सारा माल मामी की गांद के च्छेद में रह गया. उधर मामा का भी होने वाला था. वो मामी को ज़ोर से अपनी तरफ खींच कर अपने पेट पर ले आया, और मामी को कमर से पकड़ उनकी छूट अपने लंड पर रगड़ने लगा. करीब 5 मिनिट बाद मामा भी फ्री हो गया, और सारा माल उसने मामी की छूट के बाहर ही गिरा दिया.

फिर वो मामी की गांद रगड़ने लगा, और एक उंगली उनकी गांद में अंदर-बाहर करने लगा. मेरे माल की वजह से उनकी गांद से पच-पच की आवाज़े आने लगी. मामी भी मामा के उपर हाँफ रही थी. मैं भी साइड में बेड के नीचे लेट गया था. करीब 15 मिनिट बाद मामा सो गया. उसके खर्रातो की आवाज़ आने लगी.

मामी उठी, लाइट जलाई, और मेरे को देख एक स्माइल दी. मामी की पूरी बॉडी लाल हो गयी थी. मामा ने पूरा रग़ाद कर छोड़ा था. उनकी छूट और गांद पर वीर्या लगा था. फिर मामी बातरूम गयी और अपने आप को सॉफ करके आई. मैं अभी भी वैसे ही लेता था. मामी मेरे पास आई और बोली-

मामी: सूरज अब तू भी जेया.

मैं: नही, मेरे को तेरे साथ ही सोना है.

मामी: नही बस जो हुआ बस था, अब नही. तू जेया यहा से.

मैं नही माना, और उनको अपनी लेग्स पर बिता लिया और चूसने अलग.

मामी: बस फिर कभी, अभी जाओ.

मैं: नही मुझे आपके साथ न्यूड सोना है.

मैं मामी की छूट रब करने लगा.

मामी: आआ बस, मेरी छूट दुख रही है, और मामा भी यही सोया है.

मैं: नही मुझे सोना है, मैं नही जौंगा.

मामी: ठीक है.

और वो बेड पर गयी, मामा को एक साइड किया, और उनके उपर बेडशीट डाल दी. फिर एक गद्दा नीचे बिछा लिया, और हम दोनो लेट गये. अब मैं और मामी किस करने लगे. मामी भी एंजाय करने लगी. वो मेरा लंड मसालने लगी. फिर हम 69 में आए. मैं इतनी ज़ोर से उनकी छूट चूस रहा था, की मामी का हाल बुरा हो रहा था.

उधर मामी भी मेरे लंड पर हावी हो रही थी. क्या लंड चूस रही थी. लंड के टोपे पर मस्त चाट रही थी. करीब 10 मिनिट की चुसाई के बाद मामी ने अपने नाख़ून मेरी हिप्स पर गड़ाए. मैं समझ गया मामी का होने वाला था. करीब 20 सेकेंड्स बाद मामी ने दोनो लेग्स से मेरा सिर अपनी छूट में ही दबा दिया. फिर उनका निकल गया, और वो ढीली हो गयी.

अब मैने मामी के उपर आ कर लंड छूट में सेट किया, और पेलने लगा. मामी भी एंजाय करने लगी. मैने पुर जोश में छोड़ा मामी को. रूम में पूछ पूछ की आवाज़े आने लगी थी. कभी मैं मामी के उपर, तो कभी मामी मेरे उपर. 15 मिनिट की चुदाई के बाद मैं और जोश में आया और तेज़ धक्के मारने लगा.

ऐसे ही धक्के मारते हुए मैने सारा माल मामी की छूट में ही छ्चोढ़ दिया, और फ्री हो कर उसके बूब्स पर ही लेट गया. मामी मेरे बालों में हाथ फेर रही थी. रात के करीब 2 बाज गये थे.

फिर मामी बोली: सूरज, अब जेया तू यहा से.

मैं बोला: अब कब होगा ये सब?

तो मामी ने अपना नंबर दिया और बोली: अभी दिन है यहा.

फिर मैने अपने कपड़े पहने, और और अपने रूम में आ कर सो गया.

तो फ्रेंड्स ये था 2न्ड पार्ट. अगले पार्ट के लिए मेरे मुझे रेस्पॉन्स दे. शरमवज115@गमाल.कॉम

यह कहानी भी पड़े  भाभी का मसाज और चोदन पति के सामने


error: Content is protected !!