वॉशरूम मे चोदि मेरी चूत

हेलो दोस्तो मेरा नाम मनप्रीत कौर है. और मैं पंजाब से हूँ, मेरी उमर अभी 19 साल है. और ये कहानी मैं अपनी पहली चुदाई की बताने जा रही हूँ. जब मैने अपनी लाइफ का अपना पहला बॉयफ्रेंड बनाया था. और उसने मुझे कुछ ही दीनो मे चोद दिया था. तो दोस्तो चलिए अब शुरू करते है.

ये बात आज से 1 साल पहले की है जब मैं 18 साल की थी. मेरे उमर पूरी जवानी आई हुई थी. मेरे बूब्स बड़े होने लग गये थे. और गांड भी थोड़ी बाहर आने लग गई थी. मेरी स्कूल फ्रेंड्स मुझे कहती थी अब तुझे एक मर्द की ज़रूरत है. उनकी बात सुन कर ना जाने क्यो मेरी चूत मे खुजली शुरू हो जाती थी. जिसे मैं बहोत मुश्किल से कंट्रोल कर पाती थी.

मेरा रंग गोरा और चेहरा भी बहोत खूबसूरत था. मेरे स्कूल और पड़ोस के काफ़ी लड़के मुझे पर ट्राइ मारते थे. पर अभी तक मुझे ऐसा लड़का नही मिला था जिसे देखते ही दिल और चूत खुशी के मारे उछल पड़े. सच बताऊं तो उन दीनो मेरा दिल भी चूत मे लंड लेने का होता था. क्लास मे चुपके से मेरी फ्रेंड्स मोबाइल ले आती थी और हम सब बैठ कर ब्लू मूवी देखते थे. एक दिन की बात है मैने एक ब्लू मूवी देखी जिसमे लड़के का 8 इंच से भी लंबा लंड था. उसको देखते ही मेरी चूत पानी पानी हो गई.

वो लंड कैसे चूत और उस लड़की के मूह के अंदर जा रहा था. ये देख कर मैं पागल सी हो गई. मेरा दिल कर रहा था की मैं भी ऐसा करूँ पर अभी कोई बॉयफ्रेंड नही है जिसके साथ मैं ये सब करूँ. मैं उस दिन जैसे ही घर आई तभी अपने रूम मे आ कर एकदम नंगी हो गई. और अपनी चूत मे उस मूवी को सोच कर ज़ोर ज़ोर से उंगलिया मारने लग गई. कुछ ही देर मे मेरी चूत पानी पानी हो गई. तब जा कर मैं थोड़ी शांत हुई.

यह कहानी भी पड़े  हिंदी पोर्न स्टोरीस पति के दोस्त को अपनी चूत दी

उसके बाद मैने भगवान से एक अच्छा सा बड़े लंड वाला बॉयफ्रेंड माँगा. और दोस्तो सच मे उस टाइम भगवान ने मेरी सुन ली. मेरी मम्मी ने मुझे बताया की आज हम सब मामी के लड़के के बर्थडे मे जा रहे है. मैने उसे कभी नही देखा था क्योकि वो शुरू से होस्टेल मे था.

मैं वाहा गई और जब हम दोनो की नज़रें मिली तो हम दोनो एक दूसरे को ही देखते रहे. कसम से मैं उसकी दीवानी सी हो गई थी और वो मेरा दीवाना हो गया. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

दिखने मे एकदम हैंडसम और स्मार्ट लुकिंग का था वो. उसका नाम सागर था और मुझसे वो उमर मे 2 साल बड़ा था. रंग गोरा अच्छी बॉडी जिसे देखते ही मैं उस पर लट्टू हो गई थी. पार्टी मे हम दोनो एक दूसरे को ही देखते रहे. जब मैं जाने लगी तो मैने उसको बर्थडे विश किया. और फिर उसने मुझे साइड मे ले कर परपोज़ कर दिया. मैने इतनी जल्दी ये सोचा नही था, मैने ना तो उसको हाँ करी और ना ही ना करी.

उसने मुझे अपना नंबर दिया और मैने उसको घर आ कर रात को फोन किया. और फिर हम दोनो मे बातें शुरू हो गई. हम दोनो एक दूसरे से घन्टो बातें करते थे. वो मुझसे कुछ दीनो बाद सेक्स की बातें करता पर मैं उसे ऐसी बातें करने से मना कर देती. एक दिन उसने मुझे लंच करने के लिए कहा. मैने कहा ठीक है सनडे का दिन हम दोनो फिक्स किया. मैने मम्मी से कहा की मैं फ्रेंड के साथ मार्केट मे जा रही हूँ.

यह कहानी भी पड़े  पति पत्नी और औलाद का सुख

मैं उसके बताए हुए रेस्टोरेंट पर चली गई. वो अंदर ही मेरा वेट कर रहा था. उसने मुझे बताया की ये रेस्टोरेंट उसके दोस्त का है इसलिए कोई चक्कर नही है. हम दोनो अच्छे से लंच किया. फिर मैं हाथ ढोने के लिए वॉशरूम मे चली गई. और पीछे से वो आ गया वो भी अपने हाथ ढोने लग गया. अचानक ही उसने डोर अंदर से बंद कर लिया. और मुझे पकड़ कर कहा आइ लव यू अब मैं तेरे बिना और नही रह सकता. इससे पहले मैं कुछ समझती और उससे कुछ बोलती.

उसने मेरे होंठो को अपने होंठो मे लिया. और हम दोनो करीब 10 मिनिट तक एक दूसरे को किस करते रहे. फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मेरे बूब्स चूसने लग गया. मेरे गोरे बूब्स उसने कुछ ही देर मे चूस चूस कर लाल कर दिए थे. फिर उसने मुझे नीचे बिठा दिया. मैं समझ गई अब मुझे इसका लंड चूसना पड़ेगा. मेरे दिल मे चल रहा था ना जाने मेरा पहला लंड कैसा होगा. पर जब उसने अपना लंड बाहर निकाला तो मैं उसे देखती ही रह गई.

उसका लंड करीब 9 इंच का था मेरी खुशी से आँखें चमकने लग गई. मैने उसका लंड चूसना शुरू कर दिया. और अपनी जीब से उसका लंड चाटना भी शुरू कर दिया. उसके बाद उसने मुझे टाय्लेट के उप्पर बिठा कर मेरी दोनो टाँगे उप्पर उठा दी. और मेरी चूत को चाटने लग गया मेरी चूत पर उसकी जीब बहोत कमाल का असर कर रही थी. मेरी चूत 2 मिनिट मे ही पानी पानी हो गई थी.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!