कुंवारी नौकरानी को साहब ने चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राजू है। में आज आप सभी के चाहने वालो को अपनी एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ जिसमे मैंने अपनी नौकरानी को चोदकर उसके साथ मज़े लिए और उसकी कुंवारी चूत को अपने लंड का दीवाना बना दिया। उसको बहुत मज़े से चोदा और बहुत खुश किया और अब में अपनी घटना को सुनाने से पहले आप लोगो को अपने घर वालो का परिचय करवा देता हूँ। दोस्तों मेरे घर में मेरे भैया जिनका नाम विनोद, मेरी भाभी जिनका नाम मीना और हमारी एक नौकरानी जिसका नाम नीलम है। दोस्तों मेरे भैया की उम्र 22 साल, भाभी की उम्र 20 साल और मेरी 21 साल है और हमारी नौकरानी नीलम की भी उम्र 21 साल है। हम सब उसे प्यार से नीलू कहकर बुलाते है, वो हमारे घर में पिछले दस साल की उम्र से ही काम करती आ रही है वो हमारे घर के सभी काम करती है और वो हमारे घर में परिवार के एक सदस्य जैसी ही है वो हमेशा हमारे साथ ही रहती है और अब नीलू जब जवान हो गयी। तो वो अब पहले से भी ज्यादा सुंदर सेक्सी लगने लगी थी और इस वजह से में उसको हमेशा चोदने का सपना देखा करता था। वो अभी तक कुँवारी थी और उसकी चुदाई करने का मौका उसने अभी तक किसी को नहीं दिया और में हर कभी उसको इधर उधर छूने की कोशिश करने लगा। जब वो अपना काम करती तो में उसको घूर घूरकर देखा करता और मेरी नजर हमेशा उसको पाने के लिए बेचेन थी। हमारे घर में केवल दो ही कमरे है एक रूम में मेरे भैया, भाभी और में दूसरे में सो जाता हूँ नीलू ड्रॉयिंग रूम में सोफे पर सो जाती है।

फिर कुछ दिन पहले की बात है, उस दिन मेरे भैया और भाभी को 8-10 दिनों के लिए सुबह के 6 बजे उठकर कहीं बाहर जाना था और वो चले गये जिसकी वजह से अब घर पर केवल में और नीलू ही रह गये। में उस दिन उस बात को सुनकर बहुत खुश था और मैंने मन ही मन सोचा कि उसकी चुदाई करने के लिए यह मौका मेरे पास बहुत अच्छा था इसलिए मैंने नीलू की चुदाई करने का प्लान बना लिया। तो सुबह के 7 बजे में उठकर सीधा बाथरूम में नहाने के लिए चला गया। मैंने अपने सारे बदन पर बहुत सारा साबुन लगा लिया और जब मेरा 6 इंच का लंड एकदम से खड़ा हो गया तो में बचाओ बचाओ की आवाज़ करता हुआ एकदम नंगा ही बाथरूम से बाहर आ गया उस समय नीलू उठ चुकी थी और वो किचन में हमारे लिए चाय बना रही थी और वो बहुत अच्छी तरह से जानती थी कि मुझे तिलचट्‍टे से बहुत ज्यादा लगता है वो मेरी आवाज को सुनकर तुरंत मेरी समस्या को समझ गई और वो दौड़कर मेरे पास आ गई और जैसे ही उसने मुझे अपने सामने पूरा नंगा देखा उसने अपना एक हाथ अपने मुहं पर रख लिया और दूसरे हाथ से मेरी तरफ इशारा करते हुए ज़ोर ज़ोर से मुझे देखकर पागलों की तरह हंसने लगी।

यह कहानी भी पड़े  Naukrani Ne Chut Ki Seal tudwai

दोस्तों वो बहुत देर तक लगातार हंसती रही, क्योंकि में बहुत अच्छी तरह से जानता था कि वो मेरे लंड की तरफ इशारा करते हुए हंस रही है क्योंकि मैंने उस समय अंडरवियर भी नहीं पहन रखी थी और मेरे तनकर खड़े लंड पर उस समय ढेर सारा साबुन लगा हुआ था। अब में इन सभी बातों से जानबूझ कर बिल्कुल अंजान बनते हुए उससे पूछने लगा कि क्या हुआ तू मुझे देखकर इतना क्यों हंस रही है? तो वो अपनी हंसी को बीच में रोककर मुझसे कहने लगी कि तुम तो एकदम नंगे हो तुमने तो अंडरवियर भी नहीं पहनी है मुझसे यह बात कहकर वो दोबारा अपने मुहं पर हाथ रखकर ज़ोर ज़ोर से हंसने लगी। दोस्तों में तो खुद ही जानबूझ कर बाथरूम से नंगा बाहर आया था और उसे यह सब दिखाने के लिए मैंने ऐसा नाटक किया और मेरा वो नाटक सफल भी रहा, मुझे इस बात की बहुत ख़ुशी थी, लेकिन में उसको खुश देखकर कुछ ज्यादा ही खुश था। फिर मैंने नाटक करते हुए तुरंत अपने दोनों हाथों से अपना लंड ढक लिया और एकदम सीधा खड़ा हो गया। फिर नीलू मुझसे पूछने लगी कि क्या हुआ तुम क्यों चिल्ला रहे थे क्या बाथरूम में कोई तिलचट्टा आ गया था? मैंने नादान बनकर अपना सर हाँ में हिलाकर कहा कि हाँ अब वो मेरा जवाब सुनकर सीधी बाथरूम में चली गयी और फिर कुछ देर बाद वो लौटकर वापस आ गई और उसने मुझसे कहा कि वहाँ पर तो कुछ भी नहीं है और में उसका हाथ पकड़कर बाथरूम में ले जाने लगा तो वो शरमाती हुई मेरे साथ बाथरूम में चली गयी और मैंने बाथरूम के एक कोने की तरफ इशारा करते हुए उससे कहा कि वो अभी कुछ देर पहले यहीं पर था। फिर बोली कि हाँ ठीक है, लेकिन अब तो वो यहाँ पर नहीं है। फिर मैंने उससे कहा कि वो कहीं भाग गया होगा साला और अब वो मुझसे बोली कि तुम नहा लो तब तक में हमारे लिए चाय बनाकर लाती हूँ उसके बाद वो बाथरूम से बाहर निकलकर सीधी रसोई में चली गयी। दोस्तों में खुद जानबूझ कर बाथरूम में अपने साथ टावल और अंडरवियर नहीं ले गया था, मेरे सारे बदन का साबुन धुलने के बाद मैंने उसे फिर से आवाज देकर बुलाया तो वो दौड़कर मेरे पास आई और बोली कि अब क्या हुआ है? तो मैंने उससे कहा कि तुम मुझे टावल दे दो में लाना भूल गया। मेरा लंड अभी तक खड़ा हुआ था और अब उस पर साबुन भी नहीं लगा हुआ था। उसकी नजर एक बार फिर से मेरे लंड पर पड़ी और वो कुछ देर मेरे खड़े लंड को देखकर शरमाते हुए टावल लेने चली गयी। फिर उसने तुरंत टावल लाकर मुझे दे दिया और अब वो किचन में भाग गयी।

यह कहानी भी पड़े  पापा मम्मी की चुदाई को आखों में कैद किया

Pages: 1 2 3 4 5

error: Content is protected !!