यूनिवर्सिटी की हॉट लड़की को पटा के चोदा

हेलो एवेरिवन, मेरा नाम अली है ये मेरी पहली और रियल स्टोरी है और मई बहावलपुर का रहनी वाला हों मेरी अगर 23 यियर्ज़ है मई एक स्मार्ट लरका हों और मेरा लंड साइज़ 6 इंच है अब मई स्टोरी पे आता है.

ये स्टोरी 1 साल फेले की है ज्ब मई प्राइवेट यूनिवर्सिटी से मास्टर कर रहा था. तो मेरी क्लास मई एक लर्की थी सादिया जो के बहोट हे सेक्सी और हॉट थी. उसका फिगर 32 के बूब्स जो के उसकी फिटिंग वाली शर्ट की वजह से क़स्सी रहती थे. और गोल से गांद थी जिस को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए. उसकी हाइट 5.4 इंच थी.

क्लास के सारी लार्की उस पे मर्टय थे पर वो किसी के हाथ नि आती थी. एक दिन वो क्लास से निकल रही थी तो उसका मोबाइल उस के हाथ से गिरा और ऑफ हो गया. उस ने रॉनी वाली शक्ल बना ली. मई उसके पास गया और उसको कहा के लाओ मई थेक कर देता है. मैने उसका मोबाइल ठीक कर दिया और उस के मोबाइल से अपने नंबर पे मेसेज कर के मोबाइल उसको दे दिया और वो चली गयी.

मई रोज़ सोचता के क्या म्स्ग करू उसको.. एक दिन मैने दर्र के Wहत्साप्प पे मेसेज कर दिया. उसका रिप्लाइ आया के आपने मेरा नंबर कहा से लिया? (उसने मेरी ड्प देख के पहचान लिया).

मैने झूठ बोल दिया के ऑफीस से लिया और उस के बाद आहिस्ता आहिस्ता हमारी बात होना श्रु हो गयी. एक दिन मई ने उसको बोला के हम किन मिलती है. तो वो मई गयी और उसको मई एक रेस्टोरेंट मे ले गया.

वो जब आई तो बहोट हॉट ल्ग रही थी. मेरा दिल किया अबी पाकर के छोड़ डू पर मैने सबर किया और खाने का ऑर्डर दिया. खाना आने तक हम फॉर्मल बातिं करती रहे और मई भहनी भहनी से उसको टच कर रहा था और फिर वो चली गयी.

उसके बाद हमारी सेक्सी बाते भी होने लगी.

एक दिन उसको मई ने यूनिवर्सिटी से पिक किया और एक जूस कॉर्नोर पर ले गया. और उस जूस कॉर्नोर मई सिट्टिंग स्टाइल ऐसा था के कपल एक ही बेंच पे बैठे थे. और संनी एक टेबल थी और परदा लगा हुआ था.

मई ने जूस का ऑर्डर दिया और और बातिं करती करती उसका हाथ पकर लिया. तो वो श्रमा गयी. इस से मेरी हिम्मत बढ़ी और मई ने हाथ उस के शोल्डर से होती हुए उस के मॉमी पे रख दिया. और आराम आराम से उस के मॉमी को दबनी लगा.

इतनी देर मई जूस आ गया. हम ने जूस साइड पे र्खा और मई ने उसको लिप्स पे किस करने लगा और साथ मॉमा दबनी लगा. जिस से वो गर्म हो गयी और मेरा साथ देने लगी.

उस के बाद मई ने अपना हाथ उसकी शर्ट के अंदर दल कर उसकी फुददी के उपेर फेरनी लगा. और उसका हाथ पकर के मई ने अपने लंड पे रख दिया और वो लंड को हिलनी लगी. हम फुल गरम हो गये थे. उस के बाद मई ने उसको उठा के अपनी गोद मई बिताया और वो अपनी गांद को लंड के उपेर आगी पीछी करने लगी. जिस से मुझे बहोट मज़ा आया और फिर हम व्हन से छली गये.

ये ज़्ब करने से उसको बहोट मज़ा आया और हम कॉल पे सेक्स करने लगे. एक दिन मी ने उसको कहा के हम मिलती है. फेले तो वो नए मानी पर मेरे बार बार ख्नी पे वो मई गयी.

फिर हम ने एक दिन का डिसाइड किया और मेरे एक दोस्त का होटेल था झन एक विप रूम बुक करवाया. और सुबा के टाइम उसको यूनिवर्सिटी से पिक किया और हम होटेल पोनच गये. रूम मई जाती ही मई ने रूम को लॉक किया. वो कुछ दर रही थी तो मई ने उसको रेलेक्ष किया और फिर शुरू हुआ सेक्स का टॉफन.

मई ने उसको करी किया और उसको हग किया ज़ोर से. उस के सॉफ्ट सॉफ्ट मॉमी मेरे सेनी मई घुस र्ही थे. मई ने अपना हाथ उसकी कमर पे फेरनी लगा और ऐसी नेची उसकी गांद पे, बहोट मज़ा आ रहा था.

फिर मई ने उसको पेची से हग किया और उस के मोम्मों को अपने हाथों मई ले के दबनी लगा. जिस से उसको बहोट मज़ा आ रहा था. फिर मई ने अपना हाथ उसकी फुददी पे रख दिया जिससे वो तड़प उठी. और उसको मई ने ड्यूवर के साथ लगा के कप्रों के उपेर से थप्पड़ मारनी लगा ज़ोर ज़ोर से उसकी गांद पे. जिस से वो पागल हो गयी और फिर मई उसको उठा के बेड पर ले आया.

वो बेड पे लेट गयी और मई भूके शेर की त्रहा उस के उपेर टूट प्रहा. ज़्ब से फेले मई ने उसको बहोट ज़डा किस्सस की अपनी ज़ुबान निकल कर कुट्टी की त्रहा उस के फेस को लिप्स को चटा. उस के मूह के अंदर मूह दल कर उसकी ज़ुबान छाती और उसको अपना थोक पिलाया.

फिर मई ने अपनी शर्ट उतार दी और उसकी भी. अब वो लेती हुई थी और उस के मॉमी ब्रा के अंदर थे. मई ने उस के ब्रा के उपेर से ही उस के मोम्मों को खाना श्रु कर दिया. जिस से वो मचल रही थी और फिर उसकी कमर मई हाथ दल के उसकी ब्रा को खोल कर आज़ाद कर दिया.

अब उस के सॉफ्ट सॉफ्ट मॉमी मेरे संनी थे. और मई उन पे टूट प्रहा ज़ोर ज़ोर से कटियाँ करने लगा और उसका दोध पेनी लगा पोरा मूह खोल के मॉमा मूह मई ले रहा था.

मई ने ऑलमोस्ट 10 मिन्स उस के मोम्मों को दबा के चूसा. और फिर अपनी पेंट उतार दी. मेरा लंड उंदर्वारे के अंदर फुल टाइट हुआ प्रहा था. मई उस के उपेर लेट के उस को उपेर से नेची ट्के किस्सिंग की. उस के फेस पे लिप्स पे उस के इयर्स को छुआ नेक पे मोम्मों पे पीट से होती हुए उसको फुददी पे आ गया. और शलवार उपेर से ही उसकी फुददी को चटनी लगा.

वो अँखहीन ब्न्ड कर के म्ज़ी ले रही थी. मई ने आहिस्ता से उसकी शलवार उतार दी. उस ने पनटी नही पहनी हुई थी. जैसे ही मई ने शलवार उतरी उसकी फुददी गर्म होनी की वजह से फूली हुई थी.

क्या बतौ कमाल की लग रही थी, क्लीन शेव्ड पिंक फूली हुई फुददी.

मुज से सब्र नू हुआ और मई ने लिप्स उस की फुददी पे रख दिए और उसकी फुददी का रस पेनी लगा. उफ़फ्फ़ किया मज़ा आ रहा था. 5 मिन्स ऐसी उसकी फुददी चूसने के बाद मई ने उसकी तंगीन उपेर उठा ली. जिस से उसकी फुददी खुल गयी और मई ने उसको चूसने लगा और अपनी ज़ुबान उसकी फुददी मई डाल दी.

वो पागल हो रही थी और मई अपनी ज़ुबान उसकी फुददी मई दल के गुमा रहा रहा था. 10 मिन्स उस की फुददी को चूसने के बाद मई ने उसको उल्टी कर लिया. और उसकी कमर को चाटते हुए उसकी गांद पे आ गया. उसकी गांद को अपने हाथों से खोल के अंदर से चटनी लगा.

वो पागल हो रही थी, 5 मिन्स ऐसी चटनी के बाद मई उस के उपेर लेट गया और उसको किस करने लगा. और किस करती करती वो मेरी उपेर आ गयी और मुझे चटनी लगी. मेरे फेस को नेक को मेरी सेनी पे कटनी लगी. उफ़फ्फ़ बहोट मज़ा आ रहा था.

फिर वो मुझे चाटी चाटी मरी पीट से होती हुई मेरे लंड पे चली गयी. और उंदर्वारे के उपेर से ही मेरे लंड को चटनी लगी. फिर उस ने मेरे उंदर्वारे को उतार दिया और मेरा लंड झटकी से बहिर आ गया. जिस को देख कर उसका मूह खुल गया और वो बोली के ये कितना ब्रा!

तो मई ने उसको कहा के जान आप के लाए. और फिर वो लंड पे किस करने लगी. फेले वो आराम आराम से कर रही थी पर फिर उस लंड को मूह मई ले लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगनी लगी.

मई तो जैसे सातवे आसमान पे था. उफ़फ्फ़ बहोट मज़ा रहा था और वो मेरे टॅटन को भी छू रही थी. और फिर मई करा हो गया और उस के सर को पकर कर उस के मूह को छोड़ने लगा. उफफफ्फ़ बहोट मज़ा आ रहा था. ज्ब उसका मूह तक गया तो हम ने 69 की पोज़िशन मई अट आ टाइम एक दूसरे का लंड और फुददी छूसी.

फिर मई उस को सेधी लता के उस के मोम्मों के उपेर बेत कर उसको अपना लंड चुस्वाया, अब वो फुल गर्म हो चुकी थी.

मई उसकी टाँगों के दरम्यान आया और अपना लंड उसकी फुददी के लिप्स पे र्खा दिया और लंड को रग्र्णी लगा. ज्ब उस से बर्दाश्त नि हुआ तो वो बोल पड़ी के अब डाल दो.

फिर मई ने उस की तंगीन अपने शोल्डर पे र्खी और फुल फोल्ड कर के उस के मोम्मों ट्के ले गया. उस के कंधों प्र अपने हाथ रख दिए और उस के लिप्स को अपने लिप्स मई ले लिया. और फिर एक धक्का मारा और मेरी लंड का टोपा अंदर च्ला गया. जिस से उस की अँखहीन फेल गयी.

मई ने एक और झटका मारा और मेरा आधी से ज़डा लंड अंदर च्ला गया. वो चिल्ला रही थी पर मई ने उसकी आवाज़ नए निकलनी दी. और आहिस्ता आहिस्ता अंदर बहिर करने लगा.

ज्ब उसका दर्द केयेम हुआ तो मई ने एक ज़ोर का धक्का मारा और अपना पूरा लंड उसकी फुददी मे उतार दिया और झटकी मारनी लगा. थोरी देर मे बाद उसको भी मज़ा अन्य लगा तो मई ने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

10 मिन्स इसी पोज़िशन मई छोड़ने के बाद मई ने उसको घोड़ी बनाया और पेची से ख्री हो कर उसकी छूट छोड़ने लगा. उफफफ्फ़ बहोट मज़ा आ रहा था. सारा रूम उसकी चीखों और सेक्सी आवाज़ से गूँज रहा था.

5 मिन्स छोड़ने के बाद दोबारा उसको मई ने सेधी लता के उसकी तंगीन उठा लीं और छोड़ने लगा. उफ़फ्फ़ उसकी टाइट फुददी मई फस के जा रहा था लंड और मज़ा डाइ रहा था. उसकी फुददी अंदर से गीली हुई पड़ी थी और प्क प्क की आवाज़ीन आ रही थी.

5 मिन्स ऐसी छोड़ने के बाद मई ने लंड बहिर निकाला और कॉंडम लंड पे चढ़ा लिया. और दोबारा लंड उसकी फुददी मई डाल दिया. अभी मेरा होने वाला था इसलिए मैने अपनी स्पीड फुल कर दी. 10 से 15 धक्को के बाद मेरे लंड ने पानी चोर दिया और मई उसकी फुददी मे फारिग हो गया.

अगर कोई लड़की, आंटी सीक्रेट सेक्स करना चाहती है तो मुझे मैल कर सकती है, कंप्लीट प्राइवसी के साथ

यह कहानी भी पड़े  ऑफीस मे काम करने वाली लड़की की चुदाई - १

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!