टर्की मे देसी खाला के साथ मज़े

हेलो फ्रेंड्स, मैं हूँ मिस्टर राय. एक बार फिर से अपनी न्यू और साची कहानी ले के आया हू. ये कहानी कुछ दिन पहले की है 18 जून 2022. कहानी मेरे और मेरी खाला के बीच हुवे कारनामे की है. टाइम वेस्ट ना करते हुवे कहानी शुरू करते है.

कुछ दीनो पहले मेरी खाला इस्तांबुल आई थी और होटेल मे स्टे किया था. मैं उनसे मिलने जया करता था. उससे पहले मैने मेरी खाला के बारे मे कभी ग़लत नही सोचा था. मेरी खाला का नाम सबीना, साइज़: 36 के बूब्स, 34 की कमर और 42 की गांद. 36-34-42, कद 5:7. शादी को 18 साल हो चुके और 5 बचो की मा है और स्टिल सूपर सेक्सी लगती है.

सॅटर्डे की नाइट 18 जून 22 को मुझे खाला का फोन आया.

खाला: हेलो, कैसे हो और कहाँ हो?

मैं: हेलो, ठीक हू और ऑफीस से वापिस आ रहा हू.

खाला: क्या तुम सीधा होटेल आ जाओगे? बचे पहली बार आए है तो काफ़ी प्रेशन है और लॅंग्वेज का भी इश्यू है.

मैं: आ रहा हू.

सॅटर्डे को मेरी शिफ्ट 2:00 पीयेम ख़तम हो जाती है. मैं सीधा होटेल चला गया. वहाँ बचे मुझे देख के बहोट खुश हुए क्यूकी काफ़ी टाइम बाद लीके 2 यियर्ज़ के बाद मिल रहा था. सब बहोट खुश थे, फिर हुँने खाना ऑर्डर किया और साथ मे खाना खाया.

खाना खाते खाते मालूम हुआ खाला की हज़्बेंड यानी मेरे खलू (अंकल) किसी काम के सिसले मे अपने दोस्त के पास किसी और सिटी चले गये है और 2 दिन बाद वापिस आने वेल है.

बचों ने खाना खाने के बाद ज़िद की उन्हे थीम पार्क या वॉटर पार्क जाना है. तो ज़्ब ने डिसाइड किया वॉटर पार्क जाएँगे क्यूकी गर्मी काफ़ी बढ़ रही थी और मेरा भी दिल था वहाँ जाने का.

हम 4 बजे के करीब वॉटर पार्क निकल गये. इस्तांबुल मे स्विम्मिंग पूल्स कंबाइंड होते है तो सब ने नहाना था. हम सब ने रास्ते मे शॉर्ट्स बाइ की, खाला और उनकी बेटिओं ने 1 पीस स्विम्मर सूट्स लिए. और हम पूल मे आ गये, ज़्ब नहाने और स्विम्मिंग करने लग गये..

मुझे स्विम्मिंग नही आती इस लिए मैं सिर्फ़ पूल मे वॉक कर रहा था और टर्किश लरकिओं के जिस्म को देख मज़े ले रहा था.

अचानक मेरी नज़र खाला पे पड़ी. उन्होने पर्पल सिंगल पीस स्विम्मिंग कॉस्ट्यूम पहना हुआ था. जैसे ही पानी मे आई तो गीले होने के बाद पता चला खाला ने ब्रा नही पहनी और उनके निपल्स और उसके सर्कल्स थोड़े से ट्रॅन्स्परेंट हो गये.

मेरे साथ खाला के बेटे यानी मेरे कज़िन ब्रदर्स भी थे. उन्हे शक ना हो तो मैं खाला को इग्नोर करना चाहता था पर कर नही पा रहा था.

मैं पहली बार खाला को ऐसी नज़र से देख रहा था. जब खाला घूम और स्विम्मिंग कर के पूल मे खड़ी हुई तो पता चला नीचे पनटी भी नही है और सूट गीला होने की वजह से उनके चूटरों के बीच फस गया और गांद की फुल शेप सामने आ गयी. खाला अंजन थी तो उन्हे पता नही चला. हुँने 3 घंटे वहाँ गुज़रे और वापिस होटेल आ गये.

मैं होटेल उन्हे ड्रॉप कर के घर जाने लगा तो सब ने ज़िद की के मैं वहीं रुक जौन. क्यूकी अंकल नही है तो मेरी ज़रोरत पद सकती है.

मैने घर फोन कर के बता दिया की मैं कल ओँगा तो उन्होने इजाज़त दे दी. उन्होने होटेल मे ऑलरेडी 3 रूम्स बुक किए हुए थे. एक मे अंकल और खाला, एक मैं लड़के, और एक मैं बेटियाँ.

मैं उनके बिटो के रूम मे चला गया और थोड़ी पुबग खेली और थोड़ी देर मिर्ज़ापुर देखने के बाद खाना खाया. मैं ऑफीस से आया था और सीधा पूल मे चला गया था. तो मैं बहोट तक गया था. मेरा 1 कज़िन सो चुका था और दूसरा अपनी गफ़ के साथ पुबग खेल रहा था. मैं खाला के रूम मे चला गया. मैने खाला से पूछा-

मैं: मैं अंदर आ जौन..?

खाला: हन आ जाओ बेटा.

मैं: आपके बेटे सो गये है और वहाँ जगह नही है. मैं कहाँ सौंगा? मुझे बहोट नीड आ रही है.

खाला: बेटा बछियाँ भी सो गयी है.. एक काम करो तुम यहाँ मेरे रूम मे सो जाओ.

मैं: अरे योउ शुवर?

खाला: हन आ जाओ.

मैं खाला के साथ बेड पे लेफ्ट साइड पे बैठ गया और बताईं करने लगे. मेरी खाला मेरे रिलेटिव्स मे सबसे छोटी है और मेरी बहोट ज़्यादा बनती भी है. तो हम यहाँ वहाँ की बताईं करने लगे.

बताईं करते करते खाला को नींद आने लगी और उन्होने मेरे शोल्डर पे अपना सर रख दिया. और आए हाथ मेरे पायट पे रख दिया. शायद नींद आ रही थी इसलिए.

मैने उनका हाथ अपने हाथ मे पकड़ा तो उन्होने कुछ नही कहा तो मैने सहलाना शुरू कर दिया. और अपना हाथ उनके सर के उपर से घुमा के उनके शोल्डर के उपर रख दिया.

मेरे अंकल काफ़ी मोटे है, 5 बचे तो पैदा कर दिए पर शायद जो खाला को चाहिए वो कभी नही मिल सका. कुछ दिन पहले पाकिस्तान मे मेरे खाला और खलू की लड़ाई हुई थी. तो खाला उस बारे मे बताना शुरू हो गयी और बताते बताते रोना शुरू कर दिया.

मुझे समझ नही आ रहा था क्या करू क्यूकी ये उनके आपस का मॅटर था, पर उनका रोना नही रुक रहा था.

मैने उनको हल्का सा हग किया तो जवाब मे खाला ने मुझे कस के हग कर लिया. जैसे ही मुझे उनका नरम जिस्म महसूस हुआ मुझे पूल वाला सारा सीन याद आ गया. और मुझे कुछ अजीब सा फील हुआ, पता नही क्या था पर जो भी था मज़े का था.

मैने भी खाला को अपने साथ कस लिया और उनके फोर्हेड पे एक किस कर दी और उनके आँसू सॉफ किए. मुझे नही मालूम क्या हुआ था, मैने उनके होंटो पे अपने होन्ट रख दिया और किस कर दी और उन्हे हग कर लिया.

खाला ने मुझे अभी भी कस्स के गले लगाया हुआ था और अपना सर मेरी चेस्ट पे रखा हुआ था. मैं उनकी कमर को सहला रहा था. मुझे खाला कुछ नही कह रही थी और उनकी गरम गरम साँसे मुझे चेस्ट पे शर्ट के उपर से ही महसूस हो रही थी.

मैने खाला की तरफ देखा तो वो भी मेरी आँखों मे ऐसे देख रही थी जैसे उन्ही कुछ चाहिए हो, जैसे किसी चीज़ की प्यास या तलब हो. मैने फिर से उनकी आँखो मे देखते हुए उनके होंटो पे होन्ट रख दिए और किस करने लगा. इस बार खाला भी खामोशी से मेरा साथ दे रही थी.

रूम मे ही सीन था की दीं लाइट्स, खाला ने वाइट टॉप और नीचे स्किन कलर का लूस फिट ट्राउज़र पहना हुआ था. मैने बेड से टेक लगाई हुई थी और खाला को कस के पकड़ा हुआ था और हुमारी होंटो पे किस्सिंग जारी थी.

कभी मैं खाला के मूह मे ज़ुबान डालता तो कभी खाला मेरे मूह मे. इतने मे खाला के गरम जिस्म की वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैं अपने हाथ खाला की कमर से फेरता हुआ उनकी बूँद पे रख दिया और चूटरों पे फेरने लगा और हाथ से उनकी गांद की शेप का जायज़ा लेने लगा.

खाला अब सीधी लाइट गयी थी और मुझे अपने उपर दबाए हुई तीन और मुझे किस कर रही तीन. हम खामोशी से किस्सिंग कर रहे थे और एक दूसरे का साथ दे रहे थे.

मैने अपना एक हाथ उनके दूध पे रखा और दबाने लगा और मैने बोला खाला आज आप मेरी है, मुझे रोकिएगा मत.

तो खाला ने कहा हन मैं आज सिर्फ़ तेरी हूँ जो करना है कर.

मैने एक हाथ से उनके दूध और एक हाथ उनके सर के नीचे रखा और उन्हे किस करता रहा. आहिस्ता आहिस्ता हाथ नीचे ले गया और उनके ट्राउज़र के अंदर डाल दिया.

अंदर हाथ जाते ही पता चला की नीचे तो खाला ने पनटी ही नही पहनी. मेरा हाथ सीधा उनकी छूट पे पहुँच गया. मैने उनकी छूट पे जैसे हाथ रखा, खाला अपनी कमर तो उठाने लगी, मैं उनकी नेक और शोल्डर्स पे किस्सिंग करने लगा..

दोस्तो आज के लिए इतना ही, नेक्स्ट पार्ट मे बतौँगा की कैसे मैने उनको नंगी किया और फिर कैसे क्या किया.

प्लीज़ सेंड मे फीडबॅक्स.. अगर कोई इस्तांबुल मे कोई इंडियन या पाकिस्तानी आंटी या लड़की मुझसे मिलना चाहती हो तो मुझे मैल करे. उनकी प्राइवसी की गॅरेंटी मेरी ज़िम्मेदारी – [email protected]

यह कहानी भी पड़े  बीवी के बाहर जाने पर कामवाली की बूर मारी

error: Content is protected !!