गैर मर्द से चूत की चुदाई हुई

हेल्लों दोस्तों मेरा नाम पिंकी है, और मेरी उम्र अभी 28 साल की है | मैं नागपुर की रहने वाली हूँ, और मेरी हाईट ज्यादा लम्बी नहीं हैं 5 फुट 2 इंच हाईट है मेरी, और रंग गोरा है | मेरा फिगर मेरी हाईट के हिसाब से परफेक्ट है मेरे मम्मे ज्यादा बड़े भी नहीं हैं और न ज्यादा छोटे हैं | मेरी गांड गोल हैं और मेरी कमर पतली है | मैं एक स्कूल में जॉब करती हूँ जो की मेरे घर से काफी दूर है | मैं अपना सफ़र अपनी स्कूटी से करती हूँ | मेरे पति नागपुर में एक सॉफ्टवेर इंजीनियर हैं और वो अक्सर अपनी कंपनी से काम से कभी भी टूर पे निकल जाते हैं इसी वजह से उनकी सैलरी बहुत अच्छी है |

मैं बहुत सीधी सादी थी जब मेरी शादी हुई थी मैं कभी किसी गैर मर्द की तरफ नजर उठा के तक नहीं देखती थी | मेरी गैर मर्द से चुदाई कुछ ऐसे पड़ाव पर पड़ी जब मेरी चुदाई की भूख हद से ज्यादा बढ़ गई थी और ये चुदाई की प्यास एक औरत ही समझ सकती है जो मेरी कभी नहीं बुझती है | मैंने अपने कुछ सालों में ऐसे कई गैर मर्दों से अपनी चुदाई करवाई हैं जिन्हें मैं जानती तक नहीं थी जो आप अभी इस कहानी में पढ़ के समझ जाओगे |

आप सभी को मैं पहले ही बता चुकी हूँ की मेरे पति अधिकांश घर से बाहर ही रहते थे तो जब भी मैं अपने स्कूल जाती थी तो मैं वहाँ से बहुत लेट आती थी घर | क्यूंकि मेरे पति तो होते नहीं थे घर पर और बच्चे भी नहीं है हमारे | ऐसे ही एक दिन मेरे स्कूल में एक नयी फीमेल टीचर का ट्रान्सफर हुआ जिसका नाम अंजलि था वो कुछ ही समय में मेरी एक बहुत अच्छी दोस्त बन गई थी |

यह कहानी भी पड़े  भाभी की चुदाई

एक बार की बात है अंजलि को किसी काम से स्कूल में टाइम लग रहा था और फिर शाम को हमने प्लान बनाया था कि मैं और अंजलि साथ में मेरे घर में रुकेंगे तो वो शाम को स्कूल के काम से फ्री हो कर मेरे घर आ गयी थी | फिर मैंने उसे अन्दर बुलाया और फिर हम बैठ के आपस में बात करने लगे |

उसने मुझसे पूछा कि क्या तुम इस घर में अकेले रहती हो ?

तो मैंने जवाब में कहा कि हाँ मैं यहाँ एकेले रहती हूँ क्यूंकि मेरे पति अपने काम के सिलसिले में ज्यादातर बाहर ही रहते हैं |

फिर उसने कहा अच्छा.. फिर उसने पूछा उसने कि क्या तुम्हारा दिल नहीं करता की तुम्हारे पति यहाँ हो और तुम दोनों प्यार करो ? तो मैंने जवाब में कहा कि मन तो बहुत करता हिया पर क्या करें ? तो फिर वो बोली कि जब तुम ऐसे अपना प्यार पूरा नहीं कर पा रही हो तो क्यूँ न तुम किसी गैर मर्द को बुलाकर अपने सेक्स की इच्छा पूरी कर लो |

मैं एक दम से चौंक गई और उससे गुस्से से बोली की तुम ठीक तो हो न पागल तो नहीं हो गई हो कैसी बात कर रही हो तुम ? और वो बेशर्म जैसे बोली कि इसमें पागल होने की क्या बात है ? ये जवानी इसी काम तो आती है | अब तेरे पति तो है नहीं यहाँ तो ये जिस्म की प्यास किसी गैर मर्द से छुड़ा लिया कर | फिर मैंने उससे पूछा की अगर तू अकेली रहती तो क्या करती ?

यह कहानी भी पड़े  शादी से पहले मेरी सुहागरात

वो तपाक से बोल उठी की अरे इसमें अकेले रहें और न रहेने की बात क्या है ? अगर सेक्स करवाना हो तो मैं वैसे ही करवा लेती हूँ | अंजलि की बाते सुन कर मैं एक दम दंग रह गई थी की ये कैसे ये सब कर लेती है | फिर मैंने उससे पूछा कि तुझे ये सब करना बुरा नहीं लगता क्या ? तो वो बोली देख पिंकी, ये चूत बनी है सिर्फ और सिर्फ लंड की चुदाई के लिए जब तक लंड नहीं मिलता तब तक तो तक तो ठीक है पर अगर इसका एक बार चस्का लग जाये तो फिर क्या बुरा और क्या अच्छा | मेरा जब भी मन करता है तो मैं किसी से भी चुदवा लेती हूँ | मेरी बात मान तो एक बार आजमा के देख ले | मैं बस उसकी बाते सुनती जा रही थी | फिर उसने मुझसे बोला कि मैं कुछ लडको को जानती हूँ तू अगर हाँ बोल दे तो मैं तेरे लिए उनको बुला लेती हूँ ? तो मैंने बोल दिया कि नहीं यार अंजलि ये गलत होगा तो वो बोली कि देख पिंकी एक बार की ही तो बात है अगर तुझे पसंद नहीं आयगा तो मना कर देना मैं फिर तुझे कभी नहीं बोलूंगी |

फिर वो अपने मोबाइल से दो लडको को फोन करने लगी और मैं घबरा रही थी क्यूंकि मैंने आज तक ऐसा कदम नहीं उठाया था | फोन काटने के बाद वो मुझसे बोली कि बहुत मजा आयगा |

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!