स्टोरी रीडर फॅन की सासू मा को चोदा

हेलो दोस्तो, कैसे हो आप सब? ई आम किंजल (बॉय) फ्रॉम आमेडबॅड, गुजरात. आप सब का मूज़े मेरी लास्ट स्टोरी. “क्यूक्कल्ड हज़्बेंड ने अपनी बीवी को चुडवाया” को बहोट प्यार मिला. और मूज़े बहोट सारे मैल भी आए. लेकिन में ये बताना चाहता हू की में बॉय हू की में विदिन गुजरात ही मिल सकता हो. सो कोई भी मेच्यूर लेडी हो जो उनसटीसफी हो या कोई फन लविंग कपल लाइफ मे अड्वेंचर करना चाहता हो तो मूज़े लास्ट मे दिए गये मेरे मैल ईद पे मैल कीजिए.

तो अब बात करते है मेरी ये स्टोरी की, ये बात तब की है जब मैने अपनी स्टोरी “उनसटीसफी औरत ने बेटा बना कर चुडवाया” पब्लिश की थी क्षाहनी पे उसमे मूज़े एक मैल आया जो एक बॉय का था उसका नामे राजेश था वो करीब 28 साल का होगा और वो गुजरात के पालनपुर साइड था.

उसने मूज़े मैल मे बताया की उसकी फॅंटेसी है की वो अपनी सासू मा को छोड़ना चाहता है जो की आमेडबॅड मे रहती है.

फिर उसने मूज़े अपना फ्ब ईद दिया और हम दोनो वाहा पे बातें करने लगे. उसने मूज़े अपनी सासू मा , अपनी बीवी और साली तक के फोटोस दिखाए और मैने उसकी सासू मा के बारे मे डीटेल्स मे पुचछा तो उसने बताया की उसकी सासू मा की आगे 48 है और उसका फिगर 38-34-36 होगा…

जैसे की आप सब जानते हो में प्राइवसी मे बिलीव करता हू तो मेरा नेचर देख के वो मुजसे खुल के सब कुछ शेर करने लगा. उसने बताया की जब उसकी बीवी प्रेग्नेंट थी और उसकी साली उसके घर आई थी तो उसने उसको भी छोड़ा था. लेकिन उसकी बीवी और साली से भी अच्छा उसकी सासू मा का फिगर था. वो चाहता था की कैसे भी उसको पटना है उसके लिए में हेल्प करू.

मैने बोला ठीक है उसके लिए कुच्छ प्लान करते है फिर मैने सोच के उसको प्लान बताया की जब तुम्हारी सास अकेली हो तब तुम आमेडबॅड आ जाना और में तुम्हारा दोस्त बन कर तुम्हारे साथ उसके घर अवँगा और उससे बातें करके जानूंगा की उसको क्या क्या पसंद है.

उसने बोला की उसकी सासू थोड़ी चालू टाइप की है किसी से भी खुल के बातें करने लगती है. और उससे शक भी था की उसकी सासू मा किसी से छुड़वा चुकी है लेकिन शुवर नही था.

फिर हुँने प्लान बनाया और उसने बताया की मे मे उसकी सासू मा के वाहा गौव मे फंक्षन है तो सब जाएँगे में किसी भी तरह सासू मा को रोक लूँगा वाहा आने का बोल के और फिर हम दोनो जाएँगे मैने बोला ठीक है…

वो मूज़े अपनी बीवी के भी नंगी पिक्स और वीडियो दिखता जो उन्न दोनो ने सेक्स के टाइम लिया था.

वो मेरा अच्छा दोस्त बन गया है. अब हम वाय्स कॉल मे बातें करते और वो मूज़े उसकी सास के बारे मे बहोट कुच्छ बताता.

जैसे की एक बार वो ससुराल मे था तो उसकी सास रात मे सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट पहें के सोती है. और उसकी नींद भी गहेरी है वो एक बार सो जाए तो हिलने पर भी नही उठती. उसका इसने कैसे फयडा उठाया था और उसका पेटीकोत उपर करके उसकी सासू मा की गंद को सहेलाया था. उसकी जनतो भारी चूत भी देखी थी.

लेकिन फिर इसकी गंद फटी तो आयेज नही बढ़ा लेकिन तब से उसका दिल था की उसकी सासू को छोड़ना है. हम दोनो के बीच डेली ये सब बातें होती रहती.

अचानक एक दिन उसका मूज़े म्स्ग आया की उसकी सास 2 दिन के लिए अकेली है उसके ससुर और साला बाहर जा रहे है किसी के मॅरेज मे, तुम भी आमेडबॅड मे हो वो भी आमेडबॅड मे तुम जाओ उससे मिल लो और उसके वाहा रात रुक जाना.

मैने बोला कैसे होगा ये सब वो बोला में सास को कॉल कर के बोल दूँगा की मेरा खास दोस्त एग्ज़ॅम के लिए आने वाला है. वाहा उसके रहने के लिए कोई नही है. तो आपके घर रुकेगा एक दो दिन के लिए और फिर आयेज का तुम देख लेना. मैने बोला ठीक है तुम बात करके बताओ में तो रेडी हू

फिर उसका मूज़े शाम को कॉल आया बोला की मैने बात कर ली है में अड्रेस देता हू तुम वाहा पह्ोछ जाना और बोलना की राजेश का फरन्ड हू. मैने बोला ओक फिर उसने मूज़े अड्रेस भेजा और में करीब 8 बजे उसके घर चला गया.

जब उसके अड्रेस पर पह्ोचा और डोर नॉक किया तो उसकी सासू मा ने डोर खोला. आंड में दिल मे बोला वूव्वव उसने फोटोस दिखाई थी उससे तो काफ़ी अच्छी रियल मे दिख रही थी. वो थी थोड़ी देसी टाइप बुत उसका फिगर किसी का भी लंड खड़ा कर दे आएसा था. उसने सारी पहेनी थी में तो उससे देखते ही जा रहा था तब उसने बोला,

सास: किसका कम है ?

मे: जी आंटी, में राजेश का दोस्त हू शायद आपसे बात हुई होगी.

सास: अरे हा बेटा आओ आओ, में तुम्हारा ही वेट कर रही थी कब से वो तो बोल रहा था 7 बजे तक आ जाएगा

में तो उसकी ट्रांसपेरांत सारे मे उसके बड़े बूब्स की डीप क्लीवेज दिख रही थी उसको ही देख मे बिज़ी था. ये बात उन्होने नोटीस की शायद तो वो बोली.

सास: अच्छा बेटा पहेले फ्रेश हो जाओ फिर खाना खाते है.

मे: ठीक है आंटी.

फिर उसने मूज़े वॉशरूम दिखाया और मैने हाथ पैर धो ने चला गया और मॅन मे सोच लिया की आज तो इसका दूध मसल मसल के पीऊंगा कुच्छ भी हो जाए.

फिर हम दोनो ने साथ मे खाना खाया और खाना खाते वक़्त हुँने नॉर्मल बातचीत की कैसे में और राजेश एकदुसरे को जानते है घर मे कों कों है एट्सेटरा एट्सेटरा और मेरी नज़र तो बार बार उसकी डीप क्लीवेज पे जा रही थी. वो भी तिरच्चि नज़र से देख रही थी लेकिन कुच्छ बोली नही. फिर मैने सोचा चलो एक बार चान्स तो मरके देखते है

मे: वैसे आंटी एक बात बोलू आप तो रीता भाभी (राजेश की वाइफ) जैसी ही दिखती हो आपको देख के कोई कह नही सकता की आपकी इतनी बड़ी बेटी होगी.

सास: क्या तुम भी ना बेटा अब तो हमारी उमर हो गयी पहेले जैसी बात अब नही रही.

मे: नही सच बता रहा हू, अंकल तो अभी भी आपसे बहोट खुश होते होंगे ना. (आएसा बोलके मैने इनडाइरेक्ट्ली उनको डबल मीनिंग मे बोल दिया).

उसका मूह तोड़ा गिर गया तब में समाज गया की उसका हज़्बेंड अब छोड़ता नही होगा. ये सब बातें करते करते 10 बाज गये अब मूज़े कुच्छ आएसा करना था की में उसके साथ खुल के बात कर स्कू और टाइम स्पेंड कर स्कू मेरे पास एक ही रात थी.

उसके घर मे एक रूम मे बड़ा डबल बेड था वो बोली बेटा तुम यहा सो जाओ में बाहर दूसरे कमरे मे सो जाती हू.

मैने बोला ठीक है और सोचने लगा की क्या करू क्या करू. तभी मेरे दिमाग़ मे एक आइडिया आया. और वो मेरे रूम की लाइट ऑफ करके दूसरे गयी.

मूज़े राजेश ने बताया थी की उसकी सास रात को सिर्फ़ ब्लाउस पेटिकोट मे सोती है. तो मैने 5 मीं वेट किया और अपना पैर उसके डबल बेड से ज़ोर से टकरा दिया. आवाज़ इतनी की उसकी सास तुरंत डॉड के आए और में बेड पे अपने पैर का घुटना पकड़ के बेत गया.

वो जैसे ही आ के लाइट ओं की तो में तो उसको देखता रह गया. वो सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट मे थी. उसके 38 के बूब्स ब्लाउस मे समा नही रहे थे और ब्लाउस तो फटने की कगार पे था. में उसको देख के दर्द से चिल्ला ने लगा घुटना पकड़ के वो बोली,

सास: अरे क्या हुआ बेटा ?

मे: कुच्छ नही आंटी. में तो फोन चार्ज करने जा रहा थी टकरा गया बेड से हड्डी पे लगा है तो बहोट दर्द हो रहा है.

सास: वो बोली रूको में तुम्हे मूव लगा देती हू.. वो ये भी भूल गयी थी की वो सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट मे मेरे सामने थी. और में तो अच्छे से उसके बूब्स को निहार था था.

फिर वो मूव ले के आई, में बेड पे बेता था और नीचे बेत गयी. तब तो मूज़े उसके बूब्स की क्लीवेज और ज़यादा दिखने लगी. और मेरा लंड हरकत करने लगा. उन्होने बोला

सास: बेटा अपना जीन्स उपर करो घुटने के भी ताकि में मूव से मालिस कर डू थोड़ी देर मे अच्छा हो जाएगा.

मे: लेकिन आंटी जीन्स बहोट टाइट है तो इतना उपर नही जा रहा और दर्द भी बहोट हो रहा है.

सास: तो अब क्या करेंगे?

सास: अरे क्या हुआ बेटा ?

मे: कुच्छ नही आंटी. में तो फोन चार्ज करने जा रहा थी टकरा गया बेड से हड्डी पे लगा है तो बहोट दर्द हो रहा है.

सास: वो बोली रूको में तुम्हे मूव लगा देती हू.. वो ये भी भूल गयी थी की वो सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट मे मेरे सामने थी. और में तो अच्छे से उसके बूब्स को निहार था था.

फिर वो मूव ले के आई, में बेड पे बेता था और नीचे बेत गयी. तब तो मूज़े उसके बूब्स की क्लीवेज और ज़यादा दिखने लगी. और मेरा लंड हरकत करने लगा. उन्होने बोला

सास: बेटा अपना जीन्स उपर करो घुटने के भी ताकि में मूव से मालिस कर डू थोड़ी देर मे अच्छा हो जाएगा.

मे: लेकिन आंटी जीन्स बहोट टाइट है तो इतना उपर नही जा रहा और दर्द भी बहोट हो रहा है.

सास: तो अब क्या करेंगे?

फिर मैने उनको बोला वैसे आंटी आप अकेली पूरा दिन इतना सब काम काकारे तक नही जाती वो बोली.

सास: हा बेटा तक तो जाती हू लेकिन क्या करू करना पड़ता है अकेली हू तो.

मे: थॅंक योउ आंटी आपने मेरी इतनी अच्छी मालिस कर दी तो अब अच्छा लग रहा है. वैसे मूज़े भी मसाज आती है अगर आप चाहो तो में आपकी भी थकान दूर कर सकता हो आंटी आपकी पूरी बॉडी रिलॅक्स हो जाएगी.

सास: वो कैसे?

मे: में आपको बॉडी मसाज कर दूँगा.

सास: अरे नही नही मैने कभी नही करवाया उसमे क्या होता है.

मे: अरे बहोट मज़ा आएगा सच मे आयिल से मसाज कर दूँगा आप एक बार ट्राइ तो करो ना अच्छा लगे तो माना कर देना नही करूँगा.

सास: लेकिन किसी को पता चल गया तो?

मे: क्या आप भी आंटी अपने बेटे पे भरोसा नही है क्या में थोड़ी ना किसी को बोलने जौंगा.

सास: ठीक है क्या करना होगा?

मे: आप पहेले मसाज के लिए आयिल ले आए और कोई एक एक चदडार जो बेड पे बिच्छा स्के ताकि आयिल से बेड खराब ना हो.

वो 2 मीं मे सब ले आई और बोली.

सास: बोलो अब क्या करना है?

मे: आप उल्टा लेट जाओ.

वो उल्टी लेट गया पिच्चे से उसकी बड़ी गंद बहोट मस्त दिख रही थी. उसका पेटीकोत उसकी गंद मे घुस गया था क्योकि उसने पेंटी तो पहेनी थी नही.

मैने उसका पेटीकोत घुटनो तक उठता और उसके पैरो की मसाज करने लगा वो बोलने लगी.

सास: हा बेटा उधर बहोट दर्द हो रहा है अच्छे से दब्ाओ.

मे: हा आंटी आप चिंता मत करो आज आपके बरसो का दर्द मिटा दूँगा.

सास: क्या बोले तुम?

मे: (हेस्ट हुए) आप क्या संजी?

सास: हा चलो चलो अब अच्छे से मसागे कर दो पहेली बार है लेकिन अच्छा लग रहा है.

फिर में स्लोली स्लोली उपर आते गया और उसकी जाँघो की मसाज करने लगा. और वाहा ज़्यादा आयिल गिरा दिया तो उसका पेटीकोत आयिल वाला हो गया में बोला.

मे: आंटी मेरी वजह से आपका पेटीकोआट बिगड़ गया सॉरी.

सास: अरे कोई नही बेटा तुम करते रहो.

अब में समाज चुका थी वो मूड मे आ गयी है, तो अब में ज़्यादा आयिल ले के उसकी जाँघो से गंद रब करने लगा और दबाने लगा इससे वो उम्म्मह ष्ह आएसए हल्के हल्के सिसकारिया ले रही थी लेकिन कुच्छ बोल नही रही थी.

मैने मौके की नज़ाकत को संजते हुए उसकी छूट को रब करने का सोचा. और धीरे धीरे से मसाज करते हुए अपना हाथ छूट पे ले गया. तो उसकी जनतो भारी चूत पूरी गिल्ली हो चुकी थी और पूरा चिकना हो गया सब वाहा.

अब लोहा पूरा गरम हो गया और ये देख के मेरा लंड शॉर्ट्स मे तंबू बन गया था. अब मे पिच्चे से उसकी गंद के उपर बेत के कमर की मसाज करने लगा. पेटीकोआट भी मैने कमर तक कर दिया था. उसकी गंद मेरे सामने खुली थी और मेरा लंड उसकी गंद को च्छेद रहा था. में धीरे धीरे हिल भी रहा था मसाज करते करते. अब वो मोनिंग करना स्टार्ट कर दी में बोला.

मे: आंटी एक बात पुच्छू?

सास: हा बेटा जो चाहे पुच्छ लो.

मे: इतना मज़ा कभी आया है पहेले?

सास: नही बेटा ये मेरा फर्स्ट एक्सपीरियेन्स है बहोट अच्छा फील हो रहा है.

मे: अगर आपकी पर्मिशन हो तो तो में आपको और मज़ा देना चाहता हू.

सास: हा बेटा अब तो जो देखना है देख चुके हो अब जो करना है वो भी कर लो लेकिन मूज़े सॅटिस्फाइ कर दो बेटा.

उनकी बातें सुन के में जोश मे आ गया मैने अपना शॉर्ट्स निकल दिया और मेरा लंबा मोटा लंड बाहर आ गया फिर उनको सीधा कर दिया उन्होने मेरा बड़ा लंड देख के अपने हाथो से अपना मूह च्छूपा लिया.

मैने उसके ब्लाउस के एक एक करते सारे बटन खोल दिए और उसके उपर चिपक गया और उसके होत पे होत रख दिया. उसके बूब्स मसालते हुए इतनी पॅशनेट किस करने लगा की तो पूरी मदहोश हो गयी. और मूज़े अपनी बाहों मे दबा ने लगी. हम दोनो के मूह एकदुसरे मे घुस गया थे. हम एक दूसरे की जीभ पूरी निगल रहे थे. में किस्सिंग मे उसके निपल किंच रहा था और चिल्ला भी नही पा रही थी क्योकि लिपलोक्क थे.

अब उसने मेरा टशहिर्त निकल दिया और मूज़े पूरा नंगा कर दिया. और नीचे बेत के मेरा बड़ा लंड मूह मे ले के घापघाप चूसने लगी. इतना अच्छा चुस्ती भी क्यो नही एक्सपीरियेन्स जो थी.

में खड़े खड़े उसका मूह छोड़ रहा था फिर मैने उससे खड़ा किया और उसको जूक के पिच्चे से छोड़ने लगा. और पिच्चे से चिपक के उसकी पीठ को छत रहा था और उसके बूब्स को पूरा मसल रहा था.

इतने बड़े बूब्स हाथ मे भी नही समा रहे थे. क्या महॉल था दोस्तो मेरा लंड तो इतना टाइट हो गया था की छोड़ते वक़्त उसको भी दर्द होने लगा था वो चिल्ला रही थी.

सास: आहह बेटा कितना बड़ा है तेरा मेरी छूट को फाड़ दिया रे….उम्म्मह करता रहह रुकना मट्त्त और्र लाइफ का आज पूरा मज़ा लेना हाई…. आज से में तेरी रंडी हूओ मेरे बचे…. आहह छोड़ो फास्टटत्..

मे: हाअ मेरी रानी अब तुम मेरी भी सासू मा बन जाओ मेरी रंडी सासू मा और आएसा बोलते हुए में उसके हेर पकड़ के पिच्चे से जैसे घोड़े पे राइड करते है वैसे हेर खिचते हुए छोड़ने लगा.

उसकी चूत पूरी गिल्ली हो गयी थी उसका पानी नीचे गिरने लगा था शायद वो जड़ गयी थी.

फिर मैने पोज़िशन चेंज कर के उसके बेड पे सीधा लेता दिया और उसके दोनो पैरो को अपने कंधे पे ले लिए और बहोट जोरो से छोड़ने लगा डीप पेनेट्रेशन को वजह से उसको बहोट दर्द हो रहा था लेकिन वो उसका भी मज़ा ले रही थी और अपने बड़े बूब्स अपने हाथो से पकड़ के दबा रही थी अपने होंठ को दंटो से काट रही थी और बोल रही थी.

सास: कहा था अब तक तू मेरे बचे, आज तूने मेरी जवानी याद दिला दी आज से में तेरी हू जब चाहे छोड़ने आ जा जाना इतना मूज़े संतोष कभी नही मिला 3 बार पानी निकल चुका है मेरा और फिर भी तू छोड़े जा रहा है वाहह मेरे बेटे.

में तो पूरी ताक़त से छोड़ने मे बिज़ी था उसकी गंद पे अब तक इतनी लपट मार चुका था की पूरी लाल हो गयी थी और छोड़ते वक़्त उसके बड़े ह्यूज बूब्स देख के तो रहा ही नही गया तो में छोड़ते हुए उसके बूब्स को पीने लगा उसने अपने हाथो से मेरा मूह उसके बूब्स मे दबा दिया और अब मूज़े लगा की मेरा होने वाला है तो मैने उनसे पूछा.

मे: आअहह आंटी मेरा थोड़ी देर मे निकल ने वाला है कहा निकालु?

सास: बेटा मेरी चूत की बरसो की आग तूने भड़काई है तो तू ही अपने अमृत से मेरी छूट की आग को शांत कर दे अहहह अंदर ही डाल दे मेरे बचे वैसे भी मैने ऑपरेशन करवाया हुआ है. दे दे मूज़े अपना अमृत मेरे बेटे आहह… छोड़ मेरे रज्जाअ ष्ह बहोट हरद्द्द छोड़ा है रे तू जन्नात मिल गयी आज तो आहह कम ओं फास्टटत्त और तेज और तेजजहज उन्म्मह..

और उसकी ये बातें सुन के और जोरो से छोड़ ए लगा करीब और 15 मीं की धामसान चुदाई की बाद उसकी छूट मे ही में खाली हो गया.

यूयेसेस रात में राजेश की सासू मा को 4 बार छोड़ा जिसमे एक बार गंद भी मारी डॉगी बना के और पूरी रात हम दोनो नंगे ही एकदुसरे की बाहों मे रहे सुभर साथ मे नहाए और बातरूम सेक्स भी किया…

तो दोस्तो कैसी लगी मेरी कहानी मूज़े आपके प्यार भरे मेल्स का वेट रहेगा और स्पेशली मेच्यूर ओल्ड आगे लेडी. आप मूज़े मैल कर सकते है मेरा मैल ईद हज किंजलपटेल[email protected]गमाल.कॉम

थॅंक्स ड्के फॉर तीस ब्यूटिफुल प्लॅटफॉर्म फॉर शेर मी एक्सपीरियेन्स.

यह कहानी भी पड़े  ट्रक मे हुई मम्मी की चुदाई

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!