सोने के लिए लेते भाई-बहन के सेक्स की कहानी

मैं (छ्होटे भाई को हग करके उसके सर पर किस करते हुए): ई लोवे योउ मेरा बच्चा. ई लोवे योउ सो मच.

छ्होटा भाई: ई लोवे योउ टू नीलू दीदी. नीलू दीदी आप सोए क्यूँ नही अभी तक?

मैं: वैसे ही बच्चे. नींद नही आ रही थी मुझे.

छ्होटा भाई: नीलू दीदी, आप मुझे कहते हो की परेशन मत हो, टेन्षन मत ले. और आप खुद क्यूँ टेन्षन ले रहे हो फिर? जबही आप अभी तक नही सोए.

मैं (हल्की स्माइल करते हुए): नही मेरे बच्चे. मैं टेन्षन नही ले रही. जब मेरे पास मेरा इतना छ्होटा सा, प्यारा सा, क्यूट सा भाई है, तो मुझे किस चीज़ की टेन्षन होनी है?

छ्होटा भाई: तो फिर अभी तक जाग क्यूँ रहे हो, सोए क्यूँ नही आप?

मैं: वैसे ही पग्लु. मैं तेरे बारे में सोच रही थी, की मैं तेरा इतना ख़याल नही रख पा रही. तेरी केर नही कर पा रही. तुझ पर ध्यान नही दे पा रही. सॉरी मेरे बच्चे. ई’म रियली सॉरी. मैं तेरा बहुत ध्यान रखूँगी आयेज से.

छ्होटा भाई: दीदी, ऐसा नही है. आप हमेशा ही मेरा बहुत ख़याल रखते हो. और मैं ठीक हू नीलू दीदी. आप मेरे लिए परेशन मत हो. आप तो मम्मी-पापा मेरी, सभी की ही बहुत ज़्यादा केर करते हो.

(छ्होटे भाई की ये बातें सुन कर मैं तोड़ा एमोशनल हो गयी, और मेरी आँखें हल्की आँसू से भर गयी, और थोड़ी नाम हो गयी. )

मैं: ह्म पग्लु.

फिर छ्होटे भाई ने मेरे गाल पर अपना हाथ रखा, और प्यार से मेरे गाल पर अपना हाथ फेरते हुए बोला.

छ्होटा भाई: ई लोवे योउ नीलू दीदी. बहुत आचे हो आप. आप बहुत प्यारे हो. आप दुनिया की सबसे अची और प्यारी दीदी हो.

और छ्होटे बही ने मुझे एक टाइट हग कर लिया.

मैं: ई लोवे योउ टू मेरा बच्चा. चल सोजा अब मेरे पास.

छ्होटा भाई (मुझे गाल पर किस करते हुए): गुड नाइट दीदी.

मैं (छ्होटे भाई के सर पर किस करते हुए): गुड नाइट मेरा बच्चा.

फिर मैने बेड के पास से रूम की लाइट्स के बटन्स को ऑफ कर दिया. और मैने छ्होटे भाई को टाइट हग करके अपनी बाहों में भर लिया.

रूम में बाहर से हल्की रोशनी आ रही थी. मैं छ्होटे भाई को टाइट हग करके लेट गयी. छ्होटा भाई भी मुझे हग करके मेरे सीने से लग कर लेता था.

उस वक़्त मुझे छ्होटे भाई पर बहुत ज़्यादा प्यार आ रहा था. मैं उसके माथे पर बार-बार किस कर रही थी, और उसके सर पर अपना एक हाथ फेरते जेया रही थी. मैं एक-दूं टाइट हग करके छ्होटे भाई से लिपट कर लेती थी.

उस वक़्त मॅन कर रहा था, की छ्होटे भाई को अपने अंदर ही समेत लू. मैं काफ़ी देर तक छ्होटे भाई को अपने सीने से लगा कर, टाइट हग करके लेती हुई थी, और बार-बार उसको किस कर रही थी. साथ में मैं उसके सर पर हाथ फेरे जेया रही थी. छ्होटा भाई भी मुझे टाइट हग करके लेता था.

छ्होटा भाई का मूह मेरे सीने में लगा हुआ था. जिससे मेरे दोनो मोटे बूब्स के बीच में छ्होटे भाई का मूह आ रहा था, और मैं एक-दूं टाइट हग करके छ्होटे भाई का मूह अपने बड़े-बड़े बूब्स के बीच में दबा कर लेती थी.

मैने एक पतली सी नाइट त-शर्ट पहनी थी. जिससे छ्होटे भाई का छ्होटा सा मूह मेरे दोनो बड़े-बड़े बूब्स के बीच में अंदर तक महसूस हो रहा था. इससे मुझे काफ़ी सुकून मिल रहा था. क्यूंकी काफ़ी दीनो के बाद छ्होटा भाई मेरे सीने से चिपका था.

रूम के अंधेरे में हल्की रोशनी में छ्होटा भाई मुझे और मैं छ्होटे भाई को चुप-छाप बिना कुछ बोले हग करके एक-दूसरे से लिपट कर लेते थे.

काफ़ी देर तक उसको माथे पर किस करने, और सर पर हाथ फेरने के बाद, मैने अपना एक हाथ छ्होटे भाई की कमर के नीचे से उसकी त-शर्ट के अंदर डाला. और उसकी नंगी कमर पर अपना हाथ फेरने लगी.

अपने हाथो की फिंगर्स और नाखूनओ से मैं भाई की कमर को सहलाने लगी. इससे उसके पुर बदन में करंट सा लगने लगा. छ्होटे भाई ने मुझे और ज़्यादा कस्स कर पकड़ लिया.

छ्होटे भाई की कमर को सहलाते-सहलाते मैं अब तोड़ा नीचे की और लेट गयी. जिससे अब मेरा मूह छ्होटे भाई के मूह से इतना पास था, की मैं अब भाई की सांसो को महसूस कर पा रही थी.

फिर मैने भाई की त-शर्ट के अंदर से ही छ्होटे भाई की कमर से अपना हाथ उसके सीने पर ले आई. और उसकी चेस्ट और पेट पर प्यार से अपना हाथ और उंगलियाँ फेरने लगी.

छ्होटा भाई हल्की नींद में था, और उसकी आँखें बंद थी. और मेरे उसकी नंगी बॉडी पर अपने हाथ फेरने पर उसकी साँसे बढ़ने लगी थी. मैं उसकी पूरी बॉडी पर आचे से हाथ फेर कर सहलाने लगी.

मुझे उस सुबा भाई पर बहुत ज़्यादा प्यार आ रहा था. ना जाने मैं उस समय इतनी मदहोश क्यू हो गयी थी. फिर मैने अपनी त-शर्ट कमर से थोड़ी उपर करले छ्होटे भाई का एक हाथ पकड़ कर अपनी कमर पर रख दिया.

अब मैं छ्होटे भाई के जिस्म को अपने हाथो से सहला रही थी, और भाई का एक छ्होटा सा हाथ मेरी नंगी कमर पर था. छ्होटे भाई का हाथ मेरी कमर पर टच होते ही मेरी बॉडी में करंट लगने लगा, और मुझे काफ़ी अछा फील होने लगा.

मेरी साँसे भी अब गहरी और गरम हो चुकी थी. भाई और मेरा मूह बिल्कुल पास होने के कारण अब दोनो की साँसे बिल्कुल एक-दूसरे की सांसो से टकरा रही थी. छ्होटे भाई का सॉफ्ट सा हाथ अपनी कमर पर रखने पर मैं पागल सी हो गयी थी.

मैं छ्होटे भाई के पेट और चेस्ट पर हाथ फेरते-फेरते अपने लिप्स भाई के लिप्स के पास ले आई. फिर एक-दूं से मैने छ्होटे भाई के सॉफ्ट लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए. मैने जैसे ही छ्होटे भाई के होंठो पर अपने होंठ रखे. एक-दूं से छ्होटे भाई ने मेरी कमर पर रखे अपने हाथ को मेरी कमर पर दबा के अपने हाथ की मुति बंद कर ली.

फिर मेरी कमर की स्किन (माज़) को उसने अपने हाथो की मुट्ठी में कस्स के पकड़ लिया. जिससे मेरी एक-दूं से सिसकियाँ निकल गयी.

जैसे ही छ्होटे भाई ने मेरी कमर को कस्स के दबाया.

मैं (गरम ससंसो से सिसकियाँ लेते हुए): अया उऊहह.

मैं समझ गयी थी, की भाई को एक-दूं से करंट लगना था. और उसको मज़ा आ रहा था. फिर मैने छ्होटे भाई के लिप्स को अपने लिप्स से दबा के अपने मूह में ले लिया, और हल्का-हल्का चूसना शुरू कर दिया. धीरे-धीरे छ्होटा भाई भी मेरे लिप्स को चूसने लगा.

आराम-आराम से हम दोनो एक-दूसरे के लिप्स को चूस रहे थे. फिर मैने छ्होटे भाई का हाथ अपने पेट पर रख दिया. जिससे अब छ्होटा भाई अपने छ्होटे-छ्होटे सॉफ्ट हाथ मेरे पेट और मेरी नाभि पर फेरने लगा. छ्होटे भाई की उंगलियाँ जैसे ही मेरे पेट को सहलाते हुए मेरी गहरी नाभि के अंदर जाने लगी. तो मेरी सिसकियाँ बढ़ गयी.

मैं: आह श ससिईईई.

मैं मदहोश सी होने लगी थी. मुझसे अब रहा नही जॅक रहा था. मेरी आँखें मज़े में नशीली होने लगी थी. मैं भाई के होंठो को चूस्टे हुए ही हल्की-हल्की सिसकियाँ भरने लगी. भाई मेरे पेट और नाभि पर आचे से अपने हाथ फेरने सहलाने लगा.

मैं इतनी मज़े में चूर-चूर होने लगी, की मुझसे रुका नही गया. मैने पहले छ्होटे भाई की त-शर्ट उतार दी, और लिप्स किस करते-करते मैने उसके लोवर और अंडरवेर को एक साथ अपने हाथो से पकड़ कर नीचे कर दिया.

अब छ्होटा भाई बिल्कुल नंगा(न्यूड) हो गया था. मैं काफ़ी देर तक भाई के सॉफ्ट होंठो को आचे से चूस्टी रही. फिर मैने छ्होटे भाई की नंगी टाँगो को सहलाना और अपने हाथ फेरना शुरू कर दिया. छ्होटा भाई भी अब पागल सा होने लगा था.

मैं छ्होटे भाई के नुणु (लंड) के चारो तरफ अपनी उंगलियाँ और हाथ फेरने लगी. फिर मैने छ्होटे भाई को अपने बूब्स पर हाथ रखने और मेरे बूब्स को दबाने के लिए कहा.

मैं (सिसकियाँ लेते हुए हल्की आवाज़ में): अपने हाथ मेरे पेट से उपर मेरे बूब्स पर ले जेया भाई.

छ्होटा भाई मेरे पेट और नाभि से अपने हाथ फेरते हुए मेरे बूब्स पर ले गया. और अपना एक हाथ मेरे बड़े-बड़े बूब्स पर रख दिया.

जैसे ही छ्होटे भाई ने अपना एक हाथ मेरे बूब्स पर रखा, मेरी एक-दूं से सिसकियाँ निकालने लगी.

मैं: आहह भाई.

और मैने भी उसी टाइम एक-दूं से छ्होटे भाई के नुणु (लंड) को पकड़ लिया. मैने जैसे ही छ्होटे भाई के लंड को पकड़ा तो छ्होटे भाई की भी एक-दूं से सिसकी निकली.

छ्होटा भाई: आहह ऊहह.

बहुत टाइम के बाद मैने छ्होटे भाई के लंड को अपने हाथो में पकड़ा था. और छ्होटे भाई के हाथो ने भी मेरे बूब्स को काफ़ी टाइम के बाद पकड़ा था. छ्होटे भाई और मेरी दोनो की सिसकियाँ एक साथ निकालने लगी.

मैने भाई के लिप्स को चूसने की स्पीड को बढ़ा दी, और ज़ोर-ज़ोर से छ्होटे भाई के लिप्स को चूसने लगी. मैने जैसे ही छ्होटे भाई का लंड पकड़ा, उसका लंड पहले से ही मज़े में खड़ा था.

लंड को अपने हाथो में पकड़े ही छ्होटा भाई मज़े में उछाल सा पड़ा, और एक-दूं से भाई ने मेरे बूब्स को पकड़ कर दबाना शुरू कर दिया. मेरे बूब्स की निपल्स एक-दूं टाइट हो कर खड़ी हो चुकी थी. और मैं भी एक-दूं से छ्होटे भाई के लंड को पकड़ कर आयेज-पीछे करके हिलने लगी.

मैने छ्होटे भाई को अपने उपर आ कर बैठने को कहा. मैं सीधी लेट गयी, और छ्होटा भाई मेरे पेट के उपर बैठ गया. फिर मैने अपनी त-शर्ट अपने बूब्स से उपर गर्दन तक कर दी. जिससे मेरे बड़े-बड़े बूब्स अब नंगे एक-दूं से उछाल कर आज़ाद हो गये.

छ्होटा भाई मेरे पेट के उपर बैठ गया. मैं एक-दूं से पागल हो चुकी थी. मैं अपना होश खो चुकी थी, और फिर मैने छ्होटे भाई के दोनो हाथो को पकड़ कर एक-दूं से अपने दोनो बूब्स पर रख दिया. और एक-दूं से अपने हाथो से छ्होटे भाई के लंड को कस्स कर पकड़ लिया.

अब छ्होटा भाई मेरे उपर बैठ कर मेरे दोनो बड़े-बड़े मोटे बूब्स को अपने छ्होटे-छ्होटे हाथो से दबाने लगा. और मैं उसके लंड को आयेज-पीछे करने लगी.

मेरे दोनो बूब्स के निपल्स एक-दूं टाइट खड़े हो गये.

छ्होटा भाई मेरे बूब्स को दबाने के साथ-साथ मेरे बूब्स की निपल्स को भी सहलाने लगा. मेरे अंदर एक-दूं से करंट दौड़ने लगा.

मैं (ज़ोर-ज़ोर से सिसकियाँ लेते हुए): अया उहह फक! आचे से दबा भाई, ज़ोर-ज़ोर से दबा.

और मैने भी फिर छ्होटे भाई के लंड को तेज़-तेज़ ज़ोर-ज़ोर से आयेज-पीछे करना शुरू कर दिया. छ्होटा भाई भी अब आचे से कस्स कर मेरे दोनो बूब्स को दबा रहा था. मैने जोश में एक-दूं से अपने छ्होटे भाई को पकड़ कर अपने उपर खींचा, और छ्होटा भाई मेरे उपर लेट गया. जिससे मेरा नंगा जिस्म भाई के नंगे जिस्म से मिल गया.

भाई जैसे ही मेरे उपर लेता, मैने भाई के लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए. और भाई को उसकी जीभ बाहर निकालने को कहा.

मैं (जोश में): जीभ बाहर निकाल अपनी.

छ्होटे भाई ने जैसे ही अपने मूह से अपनी जीभ को बाहर निकाला. मैने भाई की जीभ को अपने मूह में ले लिया, और उसकी जीभ को अपने होंठो से आयेज-पीछे करके चूसने लगी. और फिर मैं भी अपनी जीभ निकाल कर छ्होटे भाई के मूह में फेरने लगी.

छ्होटा भाई भी काफ़ी जोश में था. लिप्स किस के साथ-साथ छ्होटा भाई मेरे दोनो बूब्स को ज़ोर से कस्स कर अपने हाथो से पकड़े हुए था, और आचे से दबा रहा था. मैं भी नीचे से भाई के लंड को आचे से आयेज-पीछे कर रही थी.

हमारी सिसकियों की आवाज़े अब तेज़ होने लगी थी. और पुर कमरे में मेरी सिसकियाँ गूंजने लगी थी. फिर मैने छ्होटे भाई के मूह को अपने दोनो बूब्स के बीच में ले-जेया कर छ्होटे भाई को बूब्स को मूह में लेकर चूसने को कहा.

छ्होटा भाई मेरे दोनो बूब्स को पकड़ कर अपने मूह को मेरे बड़े-बड़े बूब्स के बीच में रगड़ने लगा. और फिर एक-दूं से छ्होटे भाई ने मेरे बूब्स को अपने मूह में भर लिया.

जैसे ही छ्होटे भाई ने मेरे बूब्स को अपने मूह में लिया, तो एक-दूं से मेरे बूब्स के निपल्स पर उसकी गीली जीभ लगने से मैं पागल सी हो गयी. मैने एक-दूं से तेज़ से सिसकियाँ लेते हुए बेड से अपनी कमर को उपर उठा लिया, और अपने बूब्स को छ्होटे भाई के मूह के और आयेज कर दिया.

भाई ज़ोर-ज़ोर से मेरे बूब्स चूसने लग गया, और मैं भी भाई का सर पकड़ कर अपने बूब्स में उसका मूह दबाने लगी. और भाई के लंड को अपने हाथ में पकड़ कर ज़ोर-ज़ोर से हिलाते हुए आयेज-पीछे करने लगी.

फिर मैने छ्होटे भाई को अपनी त-शर्ट के अंदर लेकर अपने बूब्स के नीचे कर दिया. अब भाई मेरी त-शर्ट के बिल्कुल अंदर था. और आचे से मेरे बूब्स को मूह में भर कर चूस चाट रहा था. वो मेरे बूब्स को दबा-दबा कर अपने हाथो से खेल रहा था.

मैं भी भाई के लंड को पकड़ कर आचे से हिला रही थी. काफ़ी टाइम के बाद प्यार करने पर हम पागल हो चुके थे. थोड़ी देर बाद मैने जल्दी से अपने लोवर को नीचे कर दिया, और अपनी लेग्स से लोवर को उतार दिया. और अब मैं नीचे से बिल्कुल नंगी हो चुकी थी.

फिर मैने एक-दूं से अपनी त-शर्ट को भी उतार दिया. अब मैं और छ्होटा भाई बिल्कुल नंगे (न्यूड) हो चुके थे. मैं बिल्कुल नंगी हो कर अब पागल सी होने लगी थी. मेरी फुददी अब बिल्कुल नंगी हो चुकी थी. मुझसे अब बर्दाश्त नही हो रहा था.

छ्होटा भाई मेरे बूब्स को दबाने और मूह में भर कर चूसने में लगा था. मेरी तड़प अब बहुत ज़्यादा बढ़ चुकी थी.

मैने छ्होटे भाई को हल्के हाथो से उसके बालो से पकड़ा, और उसको अपने उपर से हटा कर अपनी टाँगो के बीच में नीचे ले गयी. और मैने अपनी दोनो टाँगो को खोल दिया.

अब भाई मेरी लेग्स के बीच में नीचे अपने घुटनो के बाल बैठा था, और मेरी फुददी का मूह अब छ्होटे भाई के मूह के सामने था. मुझसे अब बिल्कुल रुका नही जेया रहा था.

मैं (सिसकियाँ लेते हुए): भाई मेरे नीचे किस कर प्लीज़.

और छ्होटे भाई को बोलते ही बिना देरी किए एक-दूं से मैने छ्होटे भाई को बालो से पकड़ कर उसका मूह अपनी फुददी पर लगा दिया.

जैसे ही छ्होटे भाई के होंठ मेरी फुददी के होंठो से टच हुए. मैं पागल सी हो गयी, और एक-दूं से तड़प सी उठी. मानो जैसे मैने जन्नत की सैर कर ली हो.

छ्होटा भाई भी एक-दूं से मेरी फुददी के होंठो को खोल कर अपने होंठो से चूमने लगा. मेरी आँखें एक-दूं से बंद हो गयी. मैने अपने जिस्म को एक-दूं ढीला छोढ़ दिया. अब छ्होटे भाई ने मेरी फुददी को अपने होंठो से चूसना शुरू कर दिया, और आचे से मेरी फुददी को चूमने लगा.

मैं (सिसकियाँ लेते हुए): अपनी जीभ निकाल कर अंदर डाल भाई.

छ्होटे भाई ने अपनी जीभ बाहर निकली, और एक-दूं से मेरी फुददी के बिल्कुल अंदर तक घुसा दी. मेरी एक-दूं से सिसकी निकली, और मेरी आँखें बंद हो गयी. मज़े में मेरी कमर एक-दूं से उठ के बेड उपर हो गयी. और मेरे हाथ अपने आप मेरे बूब्स पर आ गये.

मैं अपने बड़े बूब्स को कस्स कर अपने दोनो हाथो में भर कर दबाने लगी, और अपने बूब्स की निपल्स को अपनी उंगलियों से पकड़ कर गोल-गोल घूमने सहलाने लगी.

छ्होटा भाई अब अपनी जीभ को मेरी फुददी में आयेज-पीछे कर रहा था.

मैं तड़प के मारे मर्री जेया रही थी. मेरी सिसकियाँ तेज़-तेज़ पुर कमरे में गूंजने लगी.

इसके आयेज क्या हुआ, वो आपको अगले पार्ट में पता चलेगा.

यह कहानी भी पड़े  कज़िन बहन की चुदाई करते हुए पकड़े गया

error: Content is protected !!