शूटिंग के बहाने मॅरीड औरत का थ्रीसम

हेलो दोस्तों, तो कैसा लगा आपको मेरी कहानी 3र्ड पार्ट? और जिसने भी अब तक उसको पढ़ कर मज़ा नही लिया है, तो वो जल्दी से पहले के पार्ट्स पढ़ कर ये वाला पढ़ने आए, और दोबारा मूठ मारने को तैयार हो जाए.

तो जैसे आपने लास्ट पार्ट में पढ़ा की असीम और नेहा के बीच सेक्स हो जाता है, और असीम मेरी बीवी को मुझसे कितनी ज़्यादा देर तक छोड़ता है, तो अब वाहा से आयेज बढ़ते है बिना किसी की गांद मारे.

फिर नेहा वीडियो देख कर शर्मा जाती है, और सॉरी कहती है, आंड वो कपड़े पहनती है. फिर विजय और 25 हज़ार का स्चेक नेहा को देता है, आंड कहता है-

विजय: योउ अरे एक्सलेंट.

उसके बाद पॅक उप होता है, और नेहा घर के लिए निकल जाती है बिना असीम से कुछ बोले. असीम वही रह जाता है. तो मैं भी रुकता हू, की क्या बात होने वाली थी.

विजय: बहनचोड़ असीम के मज़े हो गये आजम

असीम: हा सिर, सब आप दोनो की वजह से हुआ है. और सच काहु तो आज तक ऐसी छूट नही ली मैने. ये रांड़ भी साली ऐसे चिपक कर चूड़ी है, की मज़ा तो आ ही गया.

दानिश: ऐसा है, अब उस नेहा को मेरी रंडी बनाओ. क्यूंकी मुझे उसकी छूट ही नही गांद भी पसंद आ गयी है. तो करो कुछ.

विजय: अर्रे दानिश साब, आपको फिकर करने की ज़रूरत नही है. अब वो भी याद रखेगी इस बार होने वाली चुदाई को. बस तोड़ा सबर रख कर फिर जाल फेंकता हू आपके लिए.

और फिर वो सब अपने-अपने घर के लिए निकल जाते है. फिर मैं भी घर जाता हू. जब तक मैं पहुचता हू, नेहा नहा कर बेड पर लेट गयी थी.

मे: कैसी रही शूटिंग जानू?

नेहा: ठीक थी.

मे: और कितने दिन चलेगी अब?

नेहा: पहला शेड्यूल तो हो गया है. देखो अब आयेज इन्फर्मेशन मिलेगी तब पता चलेगा.

मे: असीम नही आया आज?

नेहा: पता नही, शायद उसे काम होगा. मैं तक गयी हू, तो तुम खाना लेकर खा लेना प्लीज़. मैं सो जाती हू.

मे: ओके जानू, सो जाओ.

फिर वो सो जाती है, और असीम भी नही आता, आंड अब ऐसे ही एक हफ़्ता बीट जाता है. हफ्ते में ना असीम आता है, और ना उसका कोई मेसेज. फिर लगभग 15 दीनो के बाद नेहा को कॉल आती है, और वो अटेंड करती है आंड खुश होती है बहुत.

मे: क्या हुआ?

नेहा: अर्रे वो डाइरेक्टर सिर की कॉल थी, और जो शॉर्ट फिल्म मैने की थी, वो बहुत ज़्यादा चली है, और अछा बिज़्नेस किया है. तो आयेज काम के लिए उन्होने कल बुलाया है.

मे: अर्रे मुझे भी दिखना वो कहा मिलेगी. मैं भी तो देखु अपनी जान को मोविए में.

नेहा: नही मैं तुम्हे नही देखने दूँगी, क्यूंकी उसमे मेरे हीरो के साथ रोमॅंटिक सीन्स है, और मुझे अजीब लगेगा मेरे हज़्बेंड ये सब देखे.

मे: अर्रे जान, मैं और भी तो देखता हू.

नेहा: बुत इसमे मैं हू, आंड तुम नही देखोगे.

मे: ओके बाबा, नही देखूँगा.

फिर जब शाम को मैं नेहा का व्हातसपप देखता हू, तो उसमे असीम और नेहा की छत होती है. उसमे असीम पहले मेसेज करता है-

असीम: सॉरी, आंड तुमने भी देखा की मेरी ग़लती नही थी.

फिर नेहा कहती है: हा, बुत मेरी हिम्मत नही हो रही थी तुमसे बात करने की.

असीम कहता है: अर्रे को-आक्टर्स में जो होता है नॉर्मल रखते है. और हम तो दोस्त भी है. तो बे नॉर्मल. आंड कल आओगी?

तो नेहा कहती: हा.

असीम कहता: ठीक है फिर, वही बात करते है आयेज.

ये उनकी छत थी, जो मैं शॉर्ट में आप सब को बताया हू. नेक्स्ट दिन सुबा नेहा निकल जाती है, और आस यूषुयल मैं भी उसके पीछे निकल जाता हू सब कुछ देखने के लिए. वाहा नेहा पहुँच जाती है और मैं अपनी जगह पर. वाहा दानिश, विजय और असीम होते है बस.

विजय: वेलकम सूपर फेमस नेहा जी.

नेहा: अर्रे सिर, ऐसे नही बोलिए.

विजय: अर्रे ऐसे ही बोलना होगा, क्यूंकी तुम्हारी वजह से इतना बिज़्नेस हुआ है, आंड शॉर्ट फिल्म ट्रेनडिंग पर है.

नेहा: तो सिर अब नेक्स्ट क्या है?

विजय: अगर तुमने भी देखा हो तो उसके नेक्स्ट पार्ट की डिमॅंड बहुत ज़्यादा होती जेया रही है. आंड हम सोचते है उससे तुम और हम सब फेमस भी हो जाएँगे, और पैसे वाले भी.

नेहा: हा सिर, 2न्ड पार्ट के लिए सब एग्ज़ाइटेड है.

विजय: तो मैने सोचा है हम 2न्ड पार्ट इससे भी ज़्यादा सेक्सी और हॉट बनाएँगे, जिससे हम टॉप पर हो.

नेहा: इसमे कितना हो गया था वो आपको पता ही है, और क्या होगा सब?

विजय: वो सब तुम मुझ पर छ्चोढ़ दो. आंड बस इतना बताओ की तुम रेडी हो?

नेहा: हा सिर, अब इससे ज़्यादा क्या रेडी होना है.

विजय: अर्रे अब जैसे तुम्हे पता ही है की तुम्हारे किस सीन की सबसे ज़्यादा डिमॅंड है, तो हमे उसी को ध्यान में रखते हुए इस बार उससे भी अछा सीन देना है.

नेहा: बुत उसमे तो सब हो ही गया था.

विजय: हा हो गया था, बुत तुमने भी देखा है और बताओ कुछ दिखा है क्या.

नेहा: नही सिर.

विजय: हा तो बस ऐसे ही इस बार भी देना है. तुम्हारी प्राइवसी के लिए मैने न्यू आक्टर नही लिया है, और ये रोल दानिश सिर कर लेंगे.

नेहा: अछा दानिश सिर भी आक्टिंग करते है?

विजय: हा ऐसे ही थोड़ी ना वो प्रोड्यूसर है.

नेहा: ठीक है सिर, तो कब से करनी है शूटिंग?

विजय: तुम्हारे पास टाइम हो तो आज से ही स्टार्ट कर देते है.

नेहा: ठीक है सिर.

विजय: तो आयेज स्टोरी ऐसे होती है की तुम अपने देवर से सेक्स कर चुकी हो, और फिर अगले दिन तुम्हारे देवर का एक दोस्त दानिश आता है घर पर. फिर तुम्हे निखिल बता देता है की दानिश को पता है की तुम दोनो का चक्कर चालू है. तो शरमाना मत, और सब स्क्रिप्ट पढ़ लो. तुम्हे सब वैसे ही करना है.

फिर एक घंटे बाद स्क्रिप्ट पढ़ने के बाद सीन स्टार्ट होता है. दानिश और असीम एंट्री करते है एक पॉली-बाग के साथ और फिर नेहा से हेलो होती है.

निखिल उर्फ असीम: भाभी इसमे दारू है. तो तुम चकना बना लाओ. ग्लास हम ले आए है, तो तब तक हम पेग बनाते है.

फिर नेहा चकना लेने चली जाती है, और वो दोनो 3 ग्लासस में पेग बनाते है, आंड मैं देखता हू पेग. वो लार्ज पह बनाते है. फिर नेहा चकना ले आती है.

नेहा: मैं नही पीने वाली, तुम दोनो ही पियो.

निखिल: मेरा दोस्त पहली बार मिलने आया है, एक-दो पेग पी लो भाभी जान.

फिर नेहा भी पेग उठा लेती है, और वो तीनो पेग पीते है. लार्ज पेग की वजह से नेहा को हल्का सुरूर हो जाता है. बुत होश में रहती है. ऐसा नही की टल्ली हो गयी, बस सुरूर हो जाता है, और ये वो सब देख लेते है.

निखिल: अर्रे भाभी वाहा तुम डोर क्यूँ बैठी हो? यहा आओ, हम दोनो के बीच में बैठो.

फिर नेहा बिना कुछ बोले उन दोनो के बीच में जेया कर बैठ जाती है. वो दूसरा पेग बनाना शुरू कर देते है, तो नेहा माना करती है. क्यूंकी वो सुरूर में थी, पर नशे में नही, इसलिए वो माना करती है एक-दूं.

विजय: नेहा अब इतनी फेमस हो गयी हो, तो नेक्स्ट पार्ट के लिए तोड़ा पुश कर लो. बस एक ड्रिंक में क्या जाएगा?

नेहा: ओके सिर.

फिर 3 पेग बन जाते है, और अब दानिश सिगरेट जला लेता है, और नेहा से पूछता है, तो वो माना कर देती है. इसलिए 2 ही जलता है. फिर वो सब पेग उठा लेते है, और वो दोनो सिगरेट के काश भी लेते है. नेहा अपना दूसरा पेग भी पी जाती है, और अब सुरूर डबल हो जाता है.

नेहा का तो ये देख कर दानिश अपनी सिगरेट नेहा को देता है, जो भारी हुई होती है, और नेहा सुरूर में पकड़ लेती है, और सुत्ता मार्टी है. वो भारी हुई थी, तो उसके सुत्ते से नेहा हिल जाती है. क्यूंकी पहले से 2 पेग का सुरूर, उसके उपर से भारी हुई सिगरेट का सुत्ता, और फिर नेहा अब हवाओं में थी.

ये वो सब देख लेते है, और फिर असीम अब एक-दूं से नेहा के ब्लाउस पर ही बूब्स पकड़ लेता है.

नेहा: ये क्या कर रहे हो देवर जी? अभी अपने दोस्त को तो जाने दो.

निखिल: अर्रे मेरा दोस्त दानिश तो मुझसे भी बहुत उपर लेवेल का बॅट्स्मन है.

नेहा: अछा जी, पर फिर भी किसी और के सामने ऐसे नही करो तुम देवर जी.

निखिल: दानिश और मुझे एक ही समझो, हम दोनो जिगरी है. आपके पातिदेव से ज़्यादा जिगरी दानिश है.

नेहा: अछा ऐसा है?

निखिल: हा, और मैने इसे कहा था की मैने अपनी भाभी को छोड़ा है. तो ये मान ही नही रहा था, इसलिए मैने कहा की चल तेरे सामने जलवे दिखा दूँगा. तो अब तुम ही बताओ भाभी दानिश को की मैने ग़लत कहा था क्या?

नेहा: नही दानिश, तुम्हारे दोस्त ने सही ही कहा था, क्यूंकी इनके भाई तो ज़ीरो पर आउट हो गये थे.

दानिश: पर भाभी जैसे तुमने सुना की तुम्हारे हज़्बेंड से ज़्यादा सागा वाला मैं हू, तो इस भाई के बारे में क्या ख़याल है?

नेहा: कैसा ख़याल दानिश?

दानिश: यही की मैं ज़ीरो पर आउट हो जौंगा, या ट्रिपल सेंचुरी लगौँगा?

नेहा (हेस्ट हुए): सेंचुरी भी नही, कहा डाइरेक्ट ट्रिपल सेंचुरी!

दानिश: हा मुझे यकीन है खुद पर.

नेहा: नही हम अपने देवर जी से बहुत खुश है.

फिर दानिश अपनी कोहनी मारता है निखिल को, तो निखिल कहता है-

निखिल: भाभी जी, डॅन्स दिखा दो यार, मज़ा आ जाएगा.

नेहा: ठीक है जी.

फिर नेहा खड़ी हो जाती है, और निखिल सॉंग बजा देता है लैला मैं लैला वाला. नेहा सारी में ग़ज़ब ही नाच रही थी. फिर निखिल उठ कर नेहा की सारी का पल्लू पकड़ लेता है, और खींच कर निकाल देता है. अब नेहा बस पेटिकोट और ब्लाउस में रह जाती है, और नाचती रहती है.

अब दानिश भी उठ जाता है, और वो दोनो नेहा के एक-दूं करीब चिपक कर नाच रहे होते है. दानिश एक-दूं नेहा की गांद से चिपक जाता है, और आयेज से निखिल और मैं देखता हू, की दानिश ने अपना लोड्‍ा सेट कर रखा था नेहा की गांद पर. निखिल अब ब्लाउस के हुक्स खोल देता है, और ब्रा उपरा करके नेहा के बूब्स नंगे कर देता है, और उन्हे चूसने लगता है.

फिर पीछे से दानिश पेटिकोट के धागे को खोल देता है, जिससे वो नीचे गिर जाता है, और अब बस नेहा पनटी में खड़ी होती है, और दानिश का हाथ पनटी में जेया रहा होता है. तभी नेहा टोक देती है-

नेहा: बस बहुत हुई मस्ती, अब सोते है.

और वो चली जाती ही.

दानिश: यार असीम, ऐसे-कैसे होगा? सारे मूड की मा छोड़ दी इसने.

असीम: होगा ज़रूर होगा. अपने डाइरेक्टर है तो.

विजय: हा मैं करता हू.

कुछ देर बाद नेहा कपड़े पहन कर आती है तो विजय डाइरेक्टर कहता है-

विजय: इस पार्ट में तुम्हारा सेक्स सीन दानिश सिर के साथ है, तो आज ही शूट कर लेते है, अगर तुम्हे प्राब्लम नही हो तो.

इसके अगले पार्ट में आप सब पढ़ेंगे की कैसे नेहा की ज़ोरदार चुदाई होती है दानिश के अनकॉंडा जैसे लंड से.

यह कहानी भी पड़े  बेस्ट दोस्त बनी गर्लफ्रेंड


error: Content is protected !!