शादी पर मिली हॉट भाभी को चोदने की कहानी

हेलो दोस्तों, आपने मेरी पहली कहानी “पड़ोसी भाभी की चुदाई” को ढेर सारा प्यार दिया. आपके इसी प्यार की वजह से मैं अपनी अगली कहानी लिख रहा हू.

आपने मेरे बारे में तो मेरी पहली कहानी में पढ़ा ही होगा. अब मैं आपको उस भाभी के बारे में बताता हू. उसका नाम ज़ीनत है, और आगे 24 है. बहुत ही खूबसूरत हुस्न की मालकिन है वो.

उसका फिगर 34-30-36 है, जो किसी का भी लंड खड़ा कर दे. उसकी एक 4 महीने की बेटी है, और वो देल्ही में रहती है. और वो मेरे मामा की बिल्डिंग में ही 3र्ड फ्लोर पर रहती है.

ये कहानी मेरे छ्होटे मामा की शादी की है. मैं और छ्होटे मामा दोनो दोस्तों की तरह ही रहते है. मेरी आगे फिलहाल 23 है.

तो अब चलिए अपनी कहानी शुरू करते है.

ये कहानी अभी कुछ दीनो पहले की ही. मैं मेरे मामा की शादी में उनकी सगाई वाले दिन से 1 दिन पहले गया हुआ था.

वाहा पर पहले दिन तो बहुत काम किया, जिससे हम तक गये. फिर हम जल्दी सो गये, क्यूंकी अगले दिन और भी काम करना था. अगले दिन हम सुबह ही जल्दी जाग के काम में जुट गये.

तभी मैने नोटीस किया की एक बहुत ही खूबसूरत लड़की मेरी तरफ देख रही थी. मैं भी उसकी तरफ एक हल्की सी मुस्कान के साथ देखने लगा, तो वो हल्का सा मुस्कुरा दी. और ये सब छ्होटे मामा ने नोटीस कर लिया और पूछा,

मामा: ओहो! ये क्या चल रहा है?

मे: कुछ नही मामा, बस वो देख रही थी.

फिर मामा ने मुझे बताया की वो अकेली रहती थी, और उसका पति बाहर रहता था, तो मेरी बात बन सकती थी.

मामा ने बताया: वो 3र्ड फ्लोर पर रहती है, तू रात को जेया कर ट्राइ कर लिओ.

मैने मामा की बात मान ली और शाम तक वेट करने के बाद करीब 8 बजे उसके घर गया. मैने डोर नॉक किया, और उसने डोर खोला तो मैं उसको देखता ही रह गया. वो स्लीव्ले ब्लाउस के उपर ब्लू कलर की एक ट्रॅन्स्परेंट सारी पहने हुई थी. उसको देख कर ही मेरा लंड पंत को चियर कर बाहर आने को हो गया. फिर उसने कहा-

ज़ीनत: जी बोलिए, क्या हुआ?

मे: कुछ नही, बस आपसे बात करनी थी. क्या मैं अंदर आ सकता हू?

ज़ीनत: आ जाइए.

फिर मैने अंदर जाके तोड़ा इधर-उधर की बातें की, और फिर अपने एक हाथ से उसके कंधे को सहलाने लगा. उसने कुछ नही कहा, तो मेरी हिम्मत बढ़ गयी. और फिर मैं अपने एक हाथ से उसके सेक्सी बूब्स सहलाने लगा.

उसने कुछ नही कहा तो मैने अचानक से उसके लिप्स पर एक किस कर दिया. इससे वो एक-दूं से चौक गयी, और खड़ी हो गयी, और उसने कहा-

ज़ीनत: अभी बच्ची जाग रही है. आप 1 अवर बाद आना, तब करेंगे.

मैं ओक बोल कर उसके रूम से निकल आया, और मामा के साथ बैठ कर बियर पीने लगा. बियर पीते-पीते 1 घंटा कब निकल गया, पता ही नही चला. तो मैं उसके रूम पर पहुँचा, और मैने नॉक किया तो नज़ारा देख कर मैं पागल हो गया.

उसने घुटनो तक की एक सेक्सी पर्पल कलर की निघट्य पहन रखी थी, जिसमे से उसकी क्लीवेज सॉफ दिख रही थी. उसको देखते ही मैं उस पर टूट पड़ा, और एक झटके में ही उसकी निघट्य खोल दी. निघट्य खोल कर पता चला, की उसने ब्रा और पनटी कुछ नही पहना था. वो एक-दूं से मेरे सामने पूरी नंगी खड़ी थी.

देख कर लग रहा था की स्वर्ग से उतरी कोई अप्सरा मेरे सामने खड़ी हो. फिर अगले ही पल मैं उसके सेक्सी निपल्स को चूसने लगा, और अपना एक हाथ उसकी छूट पर रख दिया. उसकी छूट एक-दूं क्लीन थी. ऐसा लगा जैसे बटर पर हाथ फिरा रहा हू. वो सेक्सी आहें भरने लगी, और मुझे जोश चढ़ने लगा.

फिर मैं उसको और ज़ोर से चूमने चाटने लगा. मेरे लंड का बुरा हाल होने लगा तो मैने एक झटके में अपने सारे कपड़े निकाल दिए, और अपना 7 इंच का मोटा लंड उसके हाथ में दे दिया, और चूसने को कहा.

मैं ओक बोल कर उसके रूम से निकल आया, और मामा के साथ बैठ कर बियर पीने लगा. बियर पीते-पीते 1 घंटा कब निकल गया, पता ही नही चला. तो मैं उसके रूम पर पहुँचा, और मैने नॉक किया तो नज़ारा देख कर मैं पागल हो गया.

उसने घुटनो तक की एक सेक्सी पर्पल कलर की निघट्य पहन रखी थी, जिसमे से उसकी क्लीवेज सॉफ दिख रही थी. उसको देखते ही मैं उस पर टूट पड़ा, और एक झटके में ही उसकी निघट्य खोल दी. निघट्य खोल कर पता चला, की उसने ब्रा और पनटी कुछ नही पहना था. वो एक-दूं से मेरे सामने पूरी नंगी खड़ी थी.

देख कर लग रहा था की स्वर्ग से उतरी कोई अप्सरा मेरे सामने खड़ी हो. फिर अगले ही पल मैं उसके सेक्सी निपल्स को चूसने लगा, और अपना एक हाथ उसकी छूट पर रख दिया. उसकी छूट एक-दूं क्लीन थी. ऐसा लगा जैसे बटर पर हाथ फिरा रहा हू. वो सेक्सी आहें भरने लगी, और मुझे जोश चढ़ने लगा.

फिर मैं उसको और ज़ोर से चूमने चाटने लगा. मेरे लंड का बुरा हाल होने लगा तो मैने एक झटके में अपने सारे कपड़े निकाल दिए, और अपना 7 इंच का मोटा लंड उसके हाथ में दे दिया, और चूसने को कहा.वो एक पोर्नस्तर की तरह मेरा लंड चूस रही थी, और उसकी आँखों में मस्ती सॉफ नज़र आ रही थी. लग रहा था जैसे खुद दानी डॅनियल्ज़ मेरा लंड चूस रही हो. करीब 5 मिनिट की लंड चूसा के बाद मैने उसको उठाया, और बेड पर लिटा दिया, और खुद नीचे बैठ कर उसकी छूट को चूसने लगा.

फिर उसने बताया, की आज बहुत दीनो बाद उसकी छूट को कोई इतना प्यार कर रहा था. इसीलिए आज उसने छूट को शेव किया था. मैं उसकी छूट चूज़ जेया रहा था, और वो सेक्सी मधुर उत्तेजित करने वाली आवाज़ में आहें भर रही थी.

ज़ीनत: उफ़फ्फ़ अया ऑश हा मेरे राजा, बहुत दीनो से प्यासी थी मेरी छूट आअहह उफ़फ्फ़.

मैं पहले से ही बियर के नशे में था, और उपर से उसकी छूट की खुसबु मुझे पागल बना रही थी. करीब 7-8 मिनिट की छूट चूसा के बाद मैं खड़ा हुआ, और उसके बूब्स पर टूट पड़ा. और वो मेरा लंड अपनी छूट पर सेट करने लगी.

फिर एक झटके में मैने अपना पूरा लंड उसकी छूट में उतार दिया, तो उसकी चीख निकल गयी, और उसने अपनी नंगी टाँगो से मुझे जाकड़ लिया. फिर मैं उसके बूब्स को पीने में खो गया. जब इससे उसको राहत मिली, तो मैने उसकी चुदाई शुरू की.

ज़ीनत: उफ़फ्फ़ हा राहुल, छोड़ो मुझे आहह उफ़फ्फ़. बहुत दीनो से प्यासी हू उउफ़फ्फ़ आअहह श. आज सारी प्यास बुझा दो मेरी उफ़फ्फ़ श आ.

थोड़ी देर बाद उसकी छूट का पानी निकल गया, और मैं उसको छोड़ता ही रहा. मैं नशे में इतना था, की मुझे मालूम ही नही चला की कब मेरा स्पर्म निकल गया. लेकिन मेरे लंड को और मुझे पता ही नही चला, और मैं उसको लगातार छोड़ता ही रहा.

उसकी छूट और मेरे लंड के मिलन से पूरा कमरा पच-पच की आवाज़ो से गूँज रहा था.

ज़ीनत: आहह अफ आ राहुल, मेरी छूट दर्द कर रही है. अब तो छ्चोढ़ दो मुझे आ आह आह तोड़ा रुक के करते है ना.

पर मुझे पता नही क्या था, की मैं उसको लगातार छोड़े जेया रहा था. फाइनली कुछ देर और छोड़ने के बाद मैं उसकी छूट में ही झाड़ गया, और उसके उपर ही निढाल हो कर लेट गया. जब होश आया, तो हम अलग हुए और एक-दूसरे को देखने लगे. और फिर वो बोली-

ज़ीनत: आ यार, आज तो मज़ा ही आ गया. कब से प्यासी थी ऐसी चुदाई के लिए, आज तुमने मेरी सारी प्यास बुझा दी.

मे: अफ डार्लिंग, तू है ही इतनी मस्त यार, की तुझे देखते ही मेरा लंड तुझे सलामी देने लगता है.

ऐसे ही थोड़ी देर बात करने के बाद हमे फिरसे जोश चढ़ गया, और फिर एक बार हम चुदाई के रंग में रंगने को तैयार हो गये. उस रात हमने चुदाई का खूब मज़ा लिया, और सुबा 4 बजे मैं वाहा से निकल आया, और मामा के साथ सो गया.

वाहा पर में 3 दिन और रुका, फिर हमे दिन में जब भी मौका मिलता तो हम चुदाई कर लेते, और रात में जैसे नंगे ही रहते थे.

तो बस दोस्तों यही थी मेरी और ज़ीनत की चुदाई की कहानी. आपको कैसी लगी मेरी मैल ईद “” पर रिप्लाइ करके ज़रूर बताए, जिससे मुझे मेरी आयेज की कहानी लिखने में हेल्प मिल सके. तो थॅंक्स फॉर रीडिंग मी स्टोरी फ्रेंड्स.

यह कहानी भी पड़े  खूबसूरत भाभी ने सेक्स के लिये घर बुलाया


error: Content is protected !!