सपना का बदला

Sapna ka Badla Chudai kahani दोस्तो मैं यानी आपका दोस्त राज शर्मा एक और कहानी लेकर हाजिर हूँ दोस्तो इंसान कभी कभी कितना नीचे गिर जाता है ये कहानी ऐसे ही एक इंसान के इसी दोगलेपन को दर्शाती है दोस्तो ये कहानी है 43 साल की 1 जवान और खूबसूरत मॅरीड विमन की जिसके 2 जवान लड़के भी है 18 और 21 साल के उसके पति जॉब करते है और वो लोग हसी ख़ुसी जीवन बिता रहे थे 1 दिन सपना को पता चलता है कि उसके पति का कहीं और भी अफेर है और सिर्फ़ अफेर ही नही उनके 15 साल की लड़की भी है तब से सपना के मन मे अपने पति के लिए कड़ुआहट भर गयी पर उसका मायका भी

इतना धनी नही था कि वो अपने पति को छोड़ कर घर बैठ जाए और ना ही अब इतनी एज रही कि दूसरी शादी कर सके अपने बेटों की खातिर वो मन मसोस कर रह गयी पर अनिल की दूसरी बीवी उसको खटकने लगी और दिल ही दिल सपना ने उससे बदला लेने की ठान ली पता लगा कर वो रुची के घर गयी और उसका सलोना रूप देख कर दंग रह गयी वो भी उसकी ही तराह भरे हुए गुदाज जिस्म की मालिक थी उसकी चूचियाँ भी काफ़ी उठान लिए हुए थी उसने बताया कि वो अनिल की वाइफ है तो रुची कुछ डर सी गयी उसको लगा सपना यहाँ बवाल करने आई है पर ऐसा कुछ नही हुआ

बल्कि उसका मिज़ाज देख कर रुची भी उससे घुल…मिल गयी और बहुत सारी बाते हुई इतनी देर मे ही उसकी बेटी स्वीटी स्कूल से आई तब रुची ने उसका परिचय सपना आंटी से कराया स्वीटी भी नाज़ुक सी 18 साल की क्यूट प्यारी सी बच्ची थी और बहुत ही मासूमियत वाली बाते कर रही थी मगर सपना ने दिल ही दिल मे 1 बहुत ही ख़तरनाक प्लान बनाया था वो बदले की आग मे जल रही थी उपर से भले ही वो रुची और स्वीटी से हस…हस कर बाते कर रही थी मगर दिल मे कुछ और ही चल रहा था उसने स्वीटी की नाज़ुक चूत अपने लड़कों से फाड़वाने का प्लान बनाया था उसने कई बार अपने दोनो बेटों को मूठ मारते हुए देखा था और समझ चुकी थी कि अब उसके बेटे जवान हो चुके है इस तरह उनके जिस्म की गर्मी भी शांत हो जाएगी

और रुची की लड़की को चुदवा कर उसका बदला भी पूरा हो जाएगा पर सबसे बड़ी बात थी इस प्लान पर अमल कैसे किया जाए…? पर उसने अपने प्लान पर अमल कर दिया अब वो अक्सर ही रुची के घर आने..जाने लगी और सपना ने रुची से ये भी कहा कि वो अनिल को ये सब ना बताए कि हम लोग मिल चुके है और अनिल तो काफ़ी…2 दिन बाहर ही रहता था सो उसको पता भी नही चल पाया 1 दिन सपना ने रुची से कहा वो स्वीटी को अपने साथ ले जाना चाहती है कल वापस घर छोड़ जाएगी तो उसने मना नही किया और स्वीटी को अच्छे से तैयार करके सपना के साथ भेज दिया घर

जाने पे उसने स्वीटी को अपने बेटों से मिलवाया कि ये उसकी सहेली रुची की बेटी है और आज रात यहीं रहेगी स्वीटी को देख कर मोनू…सोनू खुश हो गये थे कि घर मे टॉप का समान आया है पर उदास भी कि ये मम्मी की सहेली की बेटी है खैर रात को सब लोग अपने अपने रूम मे चले गये और सपना भी 1 सेक्सी झीनी सी मेक्सी पहन कर बेड रूम मे आई तो स्वीटी से बोली बेटी तू नाइट सूट तो लाई ही नही और मेरी नाइटी तुझे आएगी नही तू अपने कपड़े निकाल दे और ऐसे ही सो जा
स्वीट== पर आंटी जी ऐसे कैसे….

सपना== अर्रे शरमाती क्यों है भला अब यहाँ कौन है चल निकाल अपनी जीन्स और टी.शर्ट
स्वीटी ने अपने कपड़े निकाल दिए और टी.शर्ट के नीचे वो झीनी सी समीज़(नोट ब्रा) पहने थी क्योंकि उसकी चूचियाँ अभी इतनी बड़ी नही थी कि उनको ब्रा मे रखा जाता और टाइट भी बहुत थी और नीचे रेड कलर की खूबसूरत सी पॅंटी पहने थी वो उन्ही कपड़ों मे बेड पर आ गयी कुछ देर लेती रहने पर सपना ने सी.डी चला दी जिस पर बहुत ही सेक्सी पिक्चर थी जिसे देख कर स्वीटी कुछ झिझकने लगी तो सपना बोली क्या हुआ बेटी…?

स्वीटी== आंटी जी अजीब सा लग रहा है
सपना– अच्छा अब तू इतनी छोटी भी नही है कि ये सब अजीब सा लगे क्या तू अपने कंप्यूटर पे न्यूड साइट नही देखती या अभी तेरी एम.सी नही सुरू हुई…?
सपना के मूह से ऐसी बाते सुनकर स्वीटी शर्मा गयी और मूह दूसरी तरफ घुमा लिया
सपना– अर्रे मेरी प्यारी बच्ची मैं कुछ पूछ रही हूँ बता ना तेरा कोई बॉय/फ्रेंड है…? कभी तूने किस किया है किसी का,…?
स्वीटी== जी 1 लड़का आजकल मुझे बहुत घूरता है पर वो मेरा बॉय/फ्रेंड तो नही है
सपना== अच्छा बता क्या घूरता है तेरा..?

स्वीटी== मुझे नही पता पर मैं जब भी उसकी तरफ देखती हूँ वो मेरी ही तरफ देखा करता है
सपना== क्या देखता है कहीं इनको तो नही
सपना ने उसकी छोटी…छोटी चूची पर उंगली रख कर कहा
स्वीटी== हां शायद इनको ही पर आंटी इनमे ऐसा क्या है…?
सपना== मैं बताती हूँ मेरी बच्ची इनमे ही तो सारा मज़ा है ये कह कर उन्होने अपनी मेक्सी उतार दी जिससे उनकी बड़ी…बड़ी ब्लॅडार जैसी चूचियाँ किसी आज़ाद कबूतर की तराह बाहर निकल पड़ी और स्वीटी की तरफ लटक गयी
स्वीटी== आंटी आपकी ये इतनी बड़ी..बड़ी क्यों है और मेरे इतने छोटे क्यों…?

यह कहानी भी पड़े  मैने अपनी साली चोदो उसने अपनी साली

सपना == हाय मेरी प्यारी बच्ची तू कितनी भोली बन रही है क्या तेरी मा ने कुछ नही बताया तुझे..?
स्वीटी==आंटी मुझे आपके साथ बहुत मज़ा आ रहा है और आप तो जानती ही है आजकल के बच्चे ख़ास कर जो कॉनवेंट मे पढ़ते हो कितने स्मार्ट होते है मुझे सब कुछ पता है पर आप यकीन मानिए मेरा कोई बॉय/फ्रेंड नही है हां 1 लड़का आजकल मुझे घूरा करता है और जब वो मेरी इनको (चूची पर हाथ रख कर) घूरता है तब मेरे मन मे अजीब सी गुदगुदी होती है

सपना== बेटा मैं बताती हूँ क्यों होती है तुझे अजीब सी गुदगुदी पर मैं तुझे हर बात खुल कर बताती हूँ जैसी की मेरी चूचियाँ इसलिए इतने बड़ी है की तेरे अंकल इनको बहुत ज़ोर..ज़ोर से मसल्ते है और जब तेरा कोई बॉय/फ्रेंड हो जाएगा और वो तेरी चूचियाँ दबाएगा और मसलेगा तो तेरी भी बड़ी हो जाएँगी
स्वीटी– पर कैसे आंटी…?
सपना — ले तू मेरी चूची मसल कर दबा और मज़े ले फिर देख तुझे पता चल जाएगा कि तुझे गुदगुदी क्यों होती है स्वीटी सपना की चूचियों से खेलने लगी और कुछ देर बाद सपना ने भी उसकी समीज़ उतार दी और उसकी नन्ही सी चूचियों पर अपना हाथ फिसलाना सुरू कर दिया था स्वीटी की चूची पर छोटा सा दाना बहुत मस्त लग रहा था जिसे सपना अपनी उंगलियों से रगड़ रही थी जिससे स्वीटी गरम होती जा रही थी और सपना तो चाहती ही यही थी उसने अपनी पॅंटी भी उतार दी और अपनी बड़ी सी भोसड़ी सपना को दिखाती हुई बोली
सपना– बताओ इसको क्या खते है..?
स्वीटी== चूत कहते हैं इसे
सपना == मेरी जान चूत तो तुम जैसी कुँवारियों के पास होती है अब तो ये भोसड़ी बन चुकी है तू अपनी पॅंटी उतार कर दिखा कैसी है तेरी चूत
स्वीटी== नही आंटी मुझे शरम आ रही है
सपना ने उसकी पॅंटी खींच कर निकाल दी तो स्वीटी ने अपने हाथ से अपनी नन्ही सी गुलाबी चूत को छिपा लिया पर सपना जानती थी कि क्या करना है उसने उसकी चूची को अपने मूह मे भर लिया और चूसना सुरू कर दिया
स्वीटी== हाए आंटी आप ये क्या कर रही प्लज़्ज़्ज़ छोड़िए मुझे कुछ हो रहा है आआहह ऊओफफफ्फ़

पर सपना तो चाहती ही यही थी और जब बहुत देर तक वो स्वीटी की चूचियाँ चूस्ति रही तो धीरे धीरे स्वीटी ने अपने हाथ चूत से हटा लिए और सपना ने अपना हाथ उसकी चूत पर लगाते हुए उसकी फांकों को कुरेदना सुरू कर दिया
स्वीटी== आहह ऊओपपसस आंटी प्लज़्ज़्ज़्ज़ ऐसे मत करो आहह मुझे लग रहा है पेसाब निकल जाएगा आअहह और सपना ने अपनी उंगली को मूह मे डाल कर गीला किया और फिर उसकी चूत मे धीरे धीरे डाल दिया इससे पहले स्वीटी ने सिर्फ़ अपनी चूत को सहलाया ही था कभी उसकी चूत मे कुछ गया नही था पर आज उसको बहुत मज़ा मिल रहा था और अब वो भी मस्ता गयी थी और अपने हाथ से

सपना की चूचियाँ दबाने लगी थी और उसने मूह मे भी भर ली उसकी चूचियाँ इससे पहले सपना ने भी कभी लेज़्बीयन सेक्स नही किया था पर आज वो जी खोल कर इस लड़की के साथ सेक्स करना चाहती थी क्योंकि ये उसकी सौत की लड़की थी और फिर उसके नाज़ुक बदन के साथ खेलते हुए सपना को भी मज़ा आने लगा था उसने अपनी 3 उंगलियाँ उसकी चूत मे घुसेड दी थी और तेज़ी के साथ अंदर..बाहर करने लगी

स्वीटी== आहह आंटी प्लज़्ज़्ज़्ज़ ऐसे ही कीजिए आह मुझे लगता है अंदर से पेसाब निकलने वाला है आहह आहह और फिर कुछ ही देर मे उसकी चूत से सफेद…सफेद गाढ़ा सा झरना निकलने लगा जिसे वो बहुत गौर से देख रही थी सपना की उंगलियाँ उसमे पूरी तराह से सन गयी थी सपना ने अपनी उंगलिया उसकी नाक के पास ले जा कर कहा लो इसे सूंघ कर देखो कैसी बढ़िया खुसबू आती है इसमे से
और जब स्वीटी सूंघ रही थी तो उसने अपनी उंगली उसके होठ पर रख दी तब झटके से स्वीटी ने अपना मूह हटा लिया और बोली आंटी आप ये क्या कर रही है इस गंदी चीज़ को मेरे मुँह से काहे लगा रही है

सपना== नही बेटी इसका टेस्ट बहुत टेस्टी होता है तू चाट कर तो देख और ये कह कर उसने स्वीटी की चूत से झारा हुआ रस अपनी उंगली मे और लापेसा और उसके मूह मे डाल दी उंगली जिसे वो चाटने लगी कुछ देर बाद ही स्वीटी लेट गयी और सपना भी वहीं लेट गयी
सपना== बेटी मज़ा आया..?
स्वीटी ==हां आंटी मज़ा तो बहुत आया क्या इसी को चुदाई कहते है.?
सपना== नही रे मेरी बन्नो चुदाई तो मर्द करता है औरत की उसमे तो और भी मज़ा आता है तू करवाएगी चुदाई..?
स्वीटी== नही बस इतना मज़ा ही काफ़ी है आज के लिए

पर सपना को भला चैन कहाँ वो तो आज की रात काय्दे से उसकी गत बनाने वाली थी उसने स्वीटी की चूत का रस तो उसे चखा ही दिया था अब वो अपनी चूत का रस उसको चखाने की सोच रही थी हालाकी वो कभी भी इतनी गंदी नही थी इतने साल मे आज तक कभी भी अनिल ने उसकी चूत नही चॅटी थी या अपना लंड उसको नही चटवाया था पर आज सपना अपनी सौत की बेटी के साथ बुरे से बुरा काम करने की सोच रही थी कुछ देर लेटा रहने के बाद वो बोली बेटी तुम मेरी भोसड़ी चूमो तो तुमको और मज़ा आएगा
स्वीटी== छी आंटी भला ये भी कोई मूह लगाने की चीज़ है
सपना== हां मेरी जान
स्वीटी== पर ये सब तो फॉरेन मे होता है भला यहाँ इंडिया मे इतना गंदा सेक्स कहाँ होता है ?
सपना== अभी तुमको मैं इंडियन बी/फ दिखाती हूँ तब पता चलेगा यहाँ क्या..क्या होता है

यह कहानी भी पड़े  चाची को पटाकर पटना में चोदा

सपना ने अपनी सौतन की 18 साल की नाज़ुक सी बेटी को अपनी चूत चाटने को बोला तो वो झिझक रही थी पर जब सपना ने स्वीटी की पॅंटी उतार कर खुद उसकी गुलाबी चूत चॅटी तो स्वीटी को बहुत मज़ा आया और उसके बाद उसने भी सपना की पुरानी पड़ चुकी बुर को खूब मज़े से चॅटा और चूमा भी पर सपना का इरादा उसको अपना मूत पिलाने का था क्योंकि वो तो बदले की आग मे जल रही थी सो जब स्वीटी का पूरा ध्यान उसकी बुर चाटने पर था तब 1 झटके के साथ सपना ने अपनी चूत से पेसाब की धार मार दी जो सीधे नीचे लेटी स्वीटी के मूह मे गिरी स्वीटी ने अपना मूह हटाने की बहुत कोसिस की पर सपना की ताक़त

के आगे भला उस नन्ही सी बच्ची का क्या ज़ोर चल पाता फिर भी वो अपने मूह को इधर…उधर घुमा कर पेसाब को मूह मे जाने से रोक रही थी मगर ना चाहने क बावजूद भी अच्छा ख़ासा पेसाब उसके मूह मे चला गया पेसाब करने के बाद जब सपना उसपर से हटी तो स्वीटी बोली स्वीटी== ऊओह आंटी छी आप कितनी गंदी है अब मैं आपसे कभी बात नही करूँगी आपने मेरे मूह मे पेसाब कर दिया मैं कितना हटा रही थी आपको पर आप तो जानवर हो गयी थी छी…छी पूरा बदन गंदा हो गया मेरा और बदबू भी आ रही है सपना ने जब स्वीटी का मूड कराब होते देखा तो फिर से चाल चली सपना

== प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़ बेटी मुझे माफ़ कर दो मैं ऐसा नही करना चाहती थी पर तुम इतने मज़े से बुर चट रही थी कि पता नही कब पेसाब निकल गया मुझे पता ही नही चला प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मेरी रानी बेटी प्लज़्ज़्ज़्ज़ मुझे माफ़ कर दो
स्वीटी== अच्छा अच्छा ठीक है पर अब मुझे नहाना है
सपना== चलो वॉशरूम मे नहला देती हूँ अपनी बेटी को
उसके बाद दोनो नंगी ही वॉशरूम मे चली गयी उसके बाद सपना उसके बदन पर साबुन मल कर नहलाने लगी तब स्वीटी को और मज़ा आने लगा सपना ने अपनी उंगली उसकी चूत मे डाल दी तब तो स्वीटी कराहने लगी और बोली

स्वीटी== आहह आंटी बहुत मज़ा आ रहा है प्लज़्ज़्ज़ और अंदर डालिए ना उंगली
सपना== बेटी इसमे तो जब लंड जाता है तब और मज़ा आता है पर तुम कहती हो तुम्हारा कोई बॉय/फ्रेंड भी नही है
स्वीटी== हां मेरा बॉय/फ्रेंड नही है पर आंटी मैं लंड का मज़ा ज़रूर लेना चाहूँगी और अब तो इसके अंदर खुजली ज़ोर से होने लगी है
सपना== बेटी तेरे लिए लंड का इंतज़ाम तो घर मे है पर वो तुझे खुद ही करना पड़ेगा
स्वीटी== वो कैसे…?
सपना== अर्रे मेरे 2 जवान लड़के किस लिए है
स्वीटी== तो क्या मैं उनसे चुदवाउ…?
सपना== हां तो खराबी क्या है..?
स्वीटी== पर कैसे…? सपना == देख इस वक़्त छोटा सोनू तो सो रहा होगा पर जहाँ तक मेरा अंदाज़ा है मोनू अभी जाग रहा होगा और टी.वी पर कोई गंदी मूवी देख रहा होगा बस तू उसको पटा ले किसी तराह
स्वीटी== पर कैसे…?
सपना== अर्रे मेरी जान इतनी प्यारी कमसिन चूत लिए है और मर्दों को रेझाने की कला पूछ रही है बस तू ऐसे ही उसके रूम मे चली जा फिर देख कैसे भूखे शेर की तराह टूट पड़ेगा तुझ पर मुझे लगता है आज तक उसने भी किसी चूत वाली को रियल मे नही देखा है टी.वी की बात अलग है
स्वीटी== पर आंटी मुझे शरम आ रही है भला ऐसे कैसे मैं नंगी उसके रूम मे चली जाउ

सपना== अच्छा तू अपने बेड पर जा कर लेट जा मैं भेज देती हूँ उसको रूम मे ओके इसके बाद सपना मोनू की तरफ गयी तो वो वाक़ई मे 1 बी/एफ की सी.डी लगा कर देख रहा था और पूरी तराह से नंगा था सपना ने झाँक कर देखा तो पहले टी.वी की स्क्रीन और उसके बाद अपने लड़के का लंड देख कर उसकी चूत भी कपकपा गयी उसने अंदर जाना ठीक नही समझा और वहीं खड़े होकर अंदर का नज़ारा लेने लगी मोनू अपने हाथ को तेज़ी से लंड पर घुमा रहा था और लंड पकड़…

2 कर आगे पीछे कर रहा था पर लंड था कि झड़ने का नाम ही नही ले रहा था उधर रूम मे स्वीटी की हालत खराब होती जा रही थी वो अपनी चूत क अंदर 2 उंगलियाँ डाल कर अंदर बाहर कर रही थी तो दोस्तो उधर स्वीटी इधर मम्मी जी और टी.वी के सामने उनका लड़का मोनू सब अपने काम मे खुद ही लगे थे सबको ही चूत और लंड की प्यास थी इस सिचुयेशन पर 1 जोक सुनाता हूँ आप सबको बताईएगा कैसा लगा सरदार अपने लड़के को मूठ मारते देख कर गुस्सा होकर बोला
सांता साले हरामी ये क्या कर रहा है तू…?

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!