दिल्ली की संजना की चुदाई

हेलो रीडर्स मेरा नाम मनीष है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मेरी उम्र 21 साल है. एक दिन मैं घर पर फ्री था तभी मेरे फोन की रिंग बज़ी फोन एक ओरत का था. उसने बताया की वो दिल्ली से बोल रही है तो मैने कहा मैं भी दिल्ली से ही बोल रहा हूँ ओर बोर हो रहा हूँ. बात आगे बड़ी और
सेक्स पर आ गई. मैने उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम संजना अग्रवाल बताया. उसने मुझसे बात करने के लिये कहा तो मैने पूछा तुम कहा पर रहती हो तो वो बोली की में बसंत विहार में रहती हूँ. और कहने लगी की तुम अभी आ सकते हो तो फिर मेंने उसका पूरा पता लिया और उसको अपना चार्ज बता दिया और वो राज़ी हो गई मेंने बाहर आकर एक टेक्सी पकड़ ली. और बसंत विहार पहुचं गया. जेसे ही मेने दरवाजे की घन्टी बजाई तो वो दोड़ कर आई और बोली की मनीष, मेंने कहा हाँ. वो वहाँ पर एक दम अकेली रहती थी.

उसका पति एक कंपनी में लंदन में काम करता था. वो 2 महीने में सिर्फ़ 3-4 दिन के लिये ही दिल्ली आता था. उसका घर बहुत ही खूबसूरत था. उसने मुझे सोफे पर बैठने को कहा और कपड़े बदलने और चाय बनाने चली गयी. लगभग 10 मिनिट बीत चुके थे तो मैं बेचैन होने लगा. मैने टी.वी चालू कर दी और देखने लगा. और फिर 15 मिनिट के बाद वो चाय लेकर आई. उसने केवल ब्रा और पेन्टी पहन रखी थी. उसका बदन एक दम गोरा था. वो बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी लग रही थी. उसने चाय टेबल पर रखी और मेरी गोद में बैठ कर चाय बनाने लगी. उसने मुझे चाय दी और खुद मेरी गोद में ही बैठ कर चाय पीने लगी. उसके गोद में बैठने से मैं जोश में आ गया और मेरा लंड खड़ा हो गया. उसने भी मेरे खड़े लंड को महसूस किया और चाय पीते हुये अपनी गांड को मेरे लंड पर रगड़ने लगी.
मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था. 2 मिनिट में ही हम ने चाय ख़त्म की और वो मेरे उपर से हट गयी. उसने मुझसे कहा, “मैने तो सारे कपड़े निकाल दिये लेकिन तुमने अभी तक अपने कपड़े पहन रखे हैं. तुम भी उतार दो इन कपड़ों को. मैने भी अपनी चड्डी छोड़ कर सारे कपड़े उतार दिये. वो फिर से मेरी गोद में आकर बैठ गयी और मुझे चूमने लगी. मैने भी उसके होठों को चूमना शुरू कर दिया. उसके होठ बहुत गर्म थे. मैं उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा और वो भी मेरे होठों को चूमते हुये मेरी पीठ को सहलाने लगी. मेरा लंड एक दम उसकी चूत से सटा हुआ था लेकिन बीच में उसकी पेन्टी थी. मैने उसकी पेन्टी नीचे करनी चाही तो वो बोली, पहले तुम अपनी चड्डी उतारो उसके बाद मेरी पेन्टी उतारना. मैने अपनी चड्डी उतारने के बाद उसकी पेन्टी को भी उतार दिया. फिर मैने उसकी ब्रा को भी खोल कर फेंक दिया. अब हम दोनो एक दम नंगे थे. मैने उसे बेड पर ले जा कर बिठा दिया.
मैने उसके होठों को चूमना और उसकी पीठ पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. थोड़ी देर बाद मैने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी और घूमाने लगा. मेरी जीभ निकालने के बाद उसने भी वैसा ही किया. वो खूब मजे से मेरे होठों को चूस रही थी और मेरी पीठ पर हाथ फेर रही थी. थोड़ी देर बाद मैने अपना हाथ उसकी चूत पर रख दिया तो वो मुझसे एक दम लिपट गयी. उसकी चूत एक दम साफ और चिकनी थी. मैने उसकी चूत पर हाथ फेरते फेरते अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी. उसकी चूत एक दम गीली थी. थोड़ी देर बाद मैने अपनी पूरी उंगली उसकी चूत में डाल दी और अंदर बाहर करने लगा. उसने भी मेरा 7 इंच का लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी. 5 मिनिट में ही हम दोनो एक दम जोश में आ गये. मैने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके पैरों के बीच में आ गया. मैने अपने लंड का सूपाड़ा उसकी चूत के बीच रखा तो उसने अपना चूत उपर की तरफ उठा दिया.
मैने एक धक्का लगाया तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. वो बोली, “जल्दी डालो अपना पूरा लंड मेरी चूत में. खूब चोदो मुझे, मेरी इस तरह चुदाई करो की जैसे मेरे पति ने कभी ना की हो, खूब ज़ोर ज़ोर से चोदना मुझको. आज फाड़ देना मेरी चूत को रुकना मत. मैने एक धक्का और लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया. उसने अपने पैरों को मेरे कमर पर कस कर लपेट लिया. मैने भी उसकी चुदाई तेज़ी के साथ शुरू कर दी. वो पूरे जोश में आकर बोलने लगी, हा…. बहुत…. मज़ा….. आ…. रहा…. है…. चोदो…… मेरे…… राज़ा….. फाड़…..डालो….. आज….. इस कुत्तिया की चूत को….. तेज़….. मैं उसके चिल्लाने से और जोश में आ गया और उसे एक दम तूफान की तरह चोदने लगा. पूरा बेड ज़ोर ज़ोर से हिल रहा था. इस समय मैं एक दम सातवें आसमान पर था. इसी बीच मैने अपना लंड पूरा बाहर निकाला और वापस एक झटके में ही उसकी चूत में डाल दिया. वो चिल्ला उठी और उसने मुझे और ज़ोर से पकड़ा और लिपट गयी. वो पूरे जोश में आ गयी थी और वो झड़ने ही वाली थी. 8-10 धक्कों के बाद वो झड़ गयी. मुझे कोई जल्दी नहीं थी. मैने अपनी पोज़िशन बदल दी और उसे डॉगी स्टाइल में कर दिया और उसके पीछे आ गया.

यह कहानी भी पड़े  मुझे रंडी किसने बनाया - 1

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!