रियान अंकल 1 पार्ट 9

रियान अंकल 1 पार्ट 9
लेखक- सीमा
अब आगे की कहानी
रियान ने कोशी को बेड पर लेटा दिया, वो कोशी के ऊपर चढ़कर उसके होंठों को चूमने लगा और गर्दन को चूमने लगा, कोशी अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी।
लेकिन अभी रियान का लंड खड़ा नही हुआ था तो वो कोशी को गर्म करके तड़पाना चाहता था।
रियान उसके बदन को चूमते हुए उसके बूब्स को सहलाने और निपल्स को चूसने लगा था , इस से कुछ देर मे ही लंड खड़ा हो गया, फिर उसने कोशी की पेन्टी निकाल दी।
रियान ने कोशी को घुमाकर घोड़ी बना दिया और उसके चूतड़ों पर चपत लगाकर धक्का दे मारा, पहली बार में ही लंड आधे से ज्यादा अन्दर घुस गया, जिससे कोशी कराह उठी।
उसके बाद रियान ने उसकी कमर पकड़ कर जोर से धक्का लगाने लगा, कोशी जोरों से कामुक आवाज़ कर रही थी ओहह उहह ओह या आहह उम्मह फक फक याह यस।
जब रियान कोशी की चुत को तेजी से पेल रहा था, तभी जूही बाथरूम से बाहर आ गई, रियान ने उसकी ओर देखकर आंख मार दी।
तो जूही बेड पर बैठकर उन दोनों को देखने लगी, कोशी जूही को देखकर मुस्करा उठी, रियान ने अगले पल कोशी को पलट दिया और उसके दोनों पैर ऊंचे करके चुत में लंड पेल दिया।
जूही बोली रियान जी, फक हार्ड माय हॉट भाभी, शी इज़ व्हिच, ये आपकी रखैल है, कोशी बोली उहह ओह या आहह सो गुड।
रियान पूरी तेजी से कोशी की चुदाई कर रहा था, वो कामुक आवाज़ कर रही थी, उन दोनों के हाल देखकर जूही अपने बूब्स को सहलाने लगी।
करीब आधे घंटे तक घमासान चुदाई के बाद रियान हांफते हुए कोशी की चुत में ही झड़ गया, रियान के मुंह से ओहह, कोशी के मुंह से ओहह सो गुड।
रियान झड़ने के बाद कोशी के पास लेट गया और जूही कोशी को किस करने लगी, तभी कोशी खड़ी होकर चली गई, जूही बोली आप चुदाई जबरदस्त करते हो।
अब वो दोनों पास होकर किस करने लगे, उसके बाद वो दोनों आराम करने लगे और तभी कोशी भी उनके पास आकर बेड पर लेट गई।
इस समय रियान दो हॉट माल के बीच लेटा था, उसके दोनों तरफ अभी दो हॉट सेक्सी औरतें लेटी थी, जिसमें एक विकास की बीवी थी, तो एक बहन थी।
जूही बोली कि काश रियान जी कुछ और दिन हमारे साथ रुक जाते तो मुझे अच्छा लगता, कोशी रियान के सीने पर हाथ फेरते हुए बोली जूही तुम सही कह रही हो।
कुछ देर बाद कोशी ने रियान को इसारे से अपने पीछे आने को कहा, जैसे ही कोसी कमरे से बाहर गई तो रियान भी उस के पीछे कमरे से बाहर चला गया।
कोशी ने कमरे के बाहर जाकर रियान के कान में कुछ कहा तो रियान ने कोशी को बोला की जूही बुरा तो नहीं मन जाएंगी।
तो कोशी बोली उस की चिंता आप मत करो वो सब में देख लूंगी, में जो कहा रही हुं आप तो एसा ही करना में जूही को जानती हुं।
जब उसकी गांड़ में दर्द होगा तो वो आपको गांड़ नही मरने देगी, वो दिन में कहा रही थी कि उसे चूत से ज्यादा दर्द हुआ तो वो गांड़ नही मरवाएगी।
फिर वो दोनों कमरे में आ गए, कोशी कुर्सी पर बेड गई और रियान जूही के पास गया, और उसे चूमने लगा, कुछ ही देर में जूही बहुत गर्म हो गई।
फिर जूही पागलों की तरह रियान को चूमने लगी, वो भी इस तरह कि दोनों के चेहरे थूक से गीले हो गए थे।
अचानक किस करते करते रियान ने जूही के चूतड़ों पर थप्पड़ मारने शुरू कर दिए, वो मदहोशी में उनके बाल कसकर पकड़े और भी तेजी से किस करने लगी।
अचानक ही रियान ने दूर हट कर जूही को पेट के सहारे लेटाकर उसके दोनों हाथ को पीठ पर कसकर बांधने की कोशिश करने लगा तो वो हट गई।
पर कोशी के समझाने पर उसने कुछ नहीं कहा जो रियान करना चाहता था उसे करने दिया, यह सब जूही के लिए नया था पर जो वो चाहती थी ये उसके बिलकुल उल्टा था ये उसने कभी सोचा भी नहीं था।
जूही को कुतिया बनाकर रियान उसकी चूत चाटने लगे उसके मुंह से सिर्फ सिसकारियाँ निकल रही थी ऊऊऊ ऊफ़्फ़फ़् फ़फ़्फ़ फ़्फ़फ़ ऊउफ़्फ़फ़् फ़फ़्फ़फ़ ।
रियान जूही की चूत चाटने के साथ साथ उसकी गांड को भी एक उंगली पर तेल लगाकर उसकी चूदाई कर रहा था जिससे गांड़ के अंदर तेल पहुंच जाए।
लेकिन अब जूही के सब्र की सीमा टूट चुकी थी, उसने रियान को अपनी चूत में लंड डालने के लिए कहा, पर वो इतनी जल्दी कहाँ मानने वाला था।
रियान ने एक और दुपट्टे से जूही का मुंह बांध दिया, जूही सोच रही थी कि शायद झटके से मेरी चीख ज्यादा तेज नहीं निकले इसलिए, लेकिन उसका सोचना गलत था।
रियान ने जूही को फिर कुतिया बनाकर उसकी चूत चोदने लगे और सिर्फ 2 झटकों में ही उनका पूरा लण्ड जूही की चूत में समा गया था।
उससे जूही की चीख निकल गई थी पर मुंह पर कपड़ा बंधा होने से वो वहीं पर दब कर रह गई, वो इतनी गर्म हो चुकी थी कि 40-50 धक्कों के बाद उसकी चूत ने अपना रस बहा दिया।
अब वो होने वाला था जो उसने सपने में भी नहीं सोचा था, ये सब तो कोशी का प्लान था, जूही की चूदाई करवाने का।
रियान ने लण्ड निकाल कर लंड को एक कपड़े से साफ किया फिर लंड पर बहुत सारा तेल लगाया और गांड़ पर और फिर उसकी कमर कुछ ज्यादा ही कसकर पकड़ी।
और रियान ने लण्ड को जूही की गांड के छेद पर टिका दिया और पूरी ताकत और बेरहमी से गांड में घुसा दिया, लगभग 2 इंच उसकी गांड में घुसाने के बाद लण्ड बाहर निकाला और फिर अंदर डाल दिया।
इसी तरह 5 बार में रियान ने पूरा लण्ड जूही की गाण्ड में अंदर तक डाल दिया और लण्ड बाहर निकालकर अलग बैठ गया , मुश्किल से 3 मिनिट लगे होंगे ये सब करने में।
ये सब जूही बिल्कुल सहन नहीं कर पाई और इतना दर्द हो रहा था कि बिन पानी की मछली की तरह बिस्तर पर ही तड़पने लगी, दर्द से उसके आंसू निकलने लगे बिस्तर पर पैर पटकने लगी।
यहाँ तक की बिस्तर पर चारों ओर घूम गई थी पूरी ताकत से रोने भी लग गई थी लेकिन दुपट्टे से मुंह बंधा होने के कारण आवाज ज्यादा बाहर नहीं निकल पाई और कमरे में ही दब कर रह गई।
जूही को इन 5 झटकों से ही इतना दर्द हो रहा था, वो बरदास्त नही कर पा रही थी, तभी कोशी जूही के पास आकर उसकी चूत को चाटने लगी।
चूत चाटने के 5 मिनट ऐसे ही तड़पने के बाद उसका दर्द और रोना थोड़ा कम हुआ तो वो रियान की तरफ देखने लगी जो कोने पर ही कुर्सी पर बैठे हुए अपना लण्ड सहला रहा था।
और जूही को तड़पता और रोता हुआ देखकर बहुत हँस भी रहा था, फिर रियान जूही के करीब आकर उसके दोनों निप्पलों को मसलने लगा, जिससे जूही को आनन्द आने लगा था पर गांड में दर्द ज्यादा हो रहा था।
रियान ने एक बार और जूही को कुतिया बनाया और फिर पूरी ताक़त से 5 झटके में ही लण्ड उसकी गांड में उतार दिया।
जूही एक बार और छटपटाने लगी और इस बार भी उसने उसे पहले की तरह 4 मिनिट बाद छोड़ दिया और अलग हो गया , उसे इस बार पहले से भी ज्यादा रोना आ गया था, फिर कोशी ने उसकी चुत चाटी।
रियान ने जूही को फिर से कुतिया बनाकर पहले की तरह 5 बार में रियान ने पूरा लण्ड जूही की गाण्ड में अंदर तक डाल दिया, इसबार 5 मिनिट तक गांड़ मारी।
और हट गया, फिर से कोशी ने उसकी चूत चाटी, ये सब उन दोनों ने जूही के साथ कई बार किया।
रियान ने कहा आज कुंवारी गांड चोदने का आनन्द ही मिल गया ,अब तुझे निचोड़ के रखना ही पड़ेगा, अब वो जूही के करीब आने लगा ।
जूही रियान को सर हिला कर मना करने लगी और पीछे सरकने लगी, पर रियान ने उसे पकड़ लिया और वो छुटने की कोशिश करने लगी पर बचती भी कब तक।
जितना कोशिश कर सकती थी की, पर जूही समझ चुकी थी कि रियान उसे ऐसे ही नहीं छोड़ने वाला नहीं था, तो उसने भी हार मान ली।
रियान ने जूही को घोड़ी बना दिया और इस बार उसने थोड़ी नरमी से गांड में लण्ड डाल दिया था और धीरे धीरे धक्के लगा रहा था और गति भी तेज कर दी।
लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी, जूही रोती हुई गांड मरवा रही थी, पर रियान और कोशी पर उसके रोने का और उसके दर्द का कोई भी फर्क नहीं पड़ रहा था।
पता नहीं रियान को रोने से कौन सी ऊर्जा मिल रही थी, वो धक्के पे धक्के मारते जा रहा था, 20 मिनट तक घोड़ी बने रहने के कारण वो थक गई थी।
और अचानक ही उसका संतुलन बिगड़ गया और वो वही गिर गई, तभी कोशी हुटी और रियान को किस और फिर जूही को और फिर कोशी ने 5 – 6 जोरदार थप्पड़ जूही के चूतड़ पर मारे।
और बोली ननद रानी ये क्या कर रही हो रियान जी को सही से गांड़ को मारने दो, उसने दर्द से कराहते हुए गांड ऊँची कर दी और रोने लगी।
जूही की गांड इस कदर सूज चुकी थी कि हल्का लंड भी लगाये तो वो छटपटाने लग जाए, तभी रियान ने उसके पैरों को खोला और उससे खड़े होने के लिए कहा।
पर जूही तो हिलने की स्थिति में भी नहीं थी, वो बिस्तर पर ही पड़ी रही, रियान ने उसे खड़ा किया और उसकी जांघ पर हाथ फेरने लगा उसकी गांड़ में बहुत दर्द हो रहा था।
जूही सर हिलाकर मना कर रही थी पर रियान ने जूही का एक पैर अपने कन्धे पर रख दिया जूही की तो मानो जैसे प्राण ही नहीं निकले बाकी और सब कुछ हो गया, इतना दर्द हो रहा था।
एक पैर कन्धे पर रखने के बाद रियान ने लण्ड फिर गांड में डालकर इस तरह का संतुलन बनाया कि वो गिर नहीं जाए और उसे चोदने लगा ।
इस आसन में भी रियान ने जूही को 10 मिनट चोदा, तब रियान ने जूही के हाथ और मुँह को खोल दिया, तब उसे थोड़ी राहत मिली।
जूही रियान को गाली दे रही थी, और उसकी छाती पर हाथों से घुसे मर रही थी तो कोशी ने उसे सब कुछ समझा दिया, कोशी ने जूही को किस करके रियान को चोदने को कहा।
जूही की हालत पतली थी, जैसे तैसे फिर बिस्तर पर ले जाकर घुटनों के सहारे खड़ा किया और उसके पीछे आकर लण्ड गांड में डाला और उसके बूब्स को कसकर दबाने लगा ।
जूही ने रियान की कलाइयाँ पकड़ रखी थी, वो उसके बूब्स को दबाकर ही उसकी गांड को चोदने लगा।
इस आसन के बाद उन्होंने जूही को घुमाया और अब सामने से वो घुटनों के बल बैठ गए और उसे अपनी गोद में बैठाया पर चोदा उसके बूब्स को पकड़कर ही।
और थकान की वजह से जूही के पूरे शरीर में सिर्फ उसके दोनों हाथ ही अब काम करने लायक थे तो उसने रियान को पकड़ रखा था।
उसका रोना अभी तक जारी था, रियान के एक बाद एक कई पोजिशन में जूही की गांड़ को मारा, रियान झड़ने का नाम ही नही ले रहा था।
जब रियान झड़ने को हुआ तो लंड को गांड़ से बाहर निकालकर सारा वीर्य उसके चेहरे पर गिरा दिया और अपने हाथ से ही उसके चेहरे का फेशियल कर दिया।
1 घण्टे 15 मिनिट से भी अधिक समय लगा रियान को झड़ने में, पता नहीं कोशी ने कौन सी गोली दी थी जिसे खाकर वो जूही को चोद रहा था।
लगभग 15 मिनट तक जूही ऐसे ही बिस्तर पर पड़ी दर्द से रोती रही और रियान उसके बालों को सहला रहे थे और रियान उसे सॉरी बोल रहे थे।
पर उसे रियान पर बहुत गुस्सा आ रहा था, जूही को प्यास लग रही थी पर वो चलना तो दूर हिल भी नहीं पा रही थी।
थोड़ी देर बाद कोशी उन दोनों के लिए 2 ग्लास में दूध लेकर आई जो पता नहीं कब वो किचन में लेने चली गई थी ।
एक ग्लास जूही को पीने के लिए बोला, उसने दर्द और गुस्से से बिना कुछ बोले रियान की तरफ देखती रही, पर कर कुछ नहीं सकती थी, उसका पूरा बदन टूट चूका था।
गुस्से में रियान की तरफ देखते हुए जूही ने कोशी को बाथरूम तक ले जाने के लिए कहा, वो उसे बाथरूम तक ले गई और वापस ले आये।
रियान और कोशी ने जूही को मना लिया, गोली के वजह से रियान का लंड फिर से खड़ा हो गया तो उसने कोशी की चूत और गांड़ मारी।
जब रियान कोशी की चूदाई कर रहा था तो जूही भी रियान से कहा रही थी कि जोर से मारो इस रण्डी की गांड़ इस ने आज मेरी गांड़ फटवा दी है।
कोशी की चूदाई के बाद रियान ने जूही को किस करके पूछा अब तो तुम खुश हो अपनी भाभी की चूदाई से उसने सर हां में हिलाया और वो तीनों सो गए।
सुबह नौ बजे उठकर रियान तैयार होकर बाहर आया और बोला इन कुछ दिन में बहुत मजा आया ।
जूही बोली मजा तो आएगा ही न, ननद और भाभी की दो चुत और दो गांड़ चोदने को मिल गई, तुमने हम दोनों की चुत और गांड़ का कबाड़ा कर दिया।
कोशी बोली तुम्हारा तो किसी को पता नहीं चलेगा, पर मेरी तो गांड बहुत ही ज्यादा चुद गई है, अगर विकास ने देख लिया, तो उसको जरूर शक हो जाएगा कि मैं किसी और के साथ सेक्स के मजे ले रही हूँ।
फिर मजाक करते हुए वो तीनों नाश्ता करने लगे, नाश्ता करने के बाद रियान उन दोनों को किस करके चला गया।
3 महीने तक रियान बारी बारी से चारों की चूदाई कर रहा था परी और राजश्री को तो अलग अलग चोदता था पर कोशी और जूही को एक साथ चोदता था।
जिसकी वजह से उसका काम का बोझ बड़ रहा था और वह अपना अकाउंट का लेनदेन, आदि कामों को सही से नहीं कर पा रहा था उसे बहुत ज्यादा परेशानी और शरीर में थकान होने लगी।
एक दिन रात को खाना खाने के बाद रियान ने अब्दुल से कहा कि मुझे तुम्हारी तरह एक भरोसेमंद आदमी की जरूरत है जो मेरी जगह अकाउंट के काम और बैंक आदि काम कर सके।
तो अब्दुल बोला मेरे मामा का लड़का जो मेरी ही उमर का है, वो इस काम के लिए सही रहेगा, क्योंकि उसका भी कोई खास लगाव अपने घर वालो से नही है।
उसके मां बाप तो बचपन में ही मर गाए और बाकी के मामा मामी ने उसकी शादी नही होने दी, क्योंकि उसके हिस्से की जमीन उने मिल जाए।
रियान जी में आपको यकीन दिलाता हु कि वो मेरी तरह आपके लिए काम करेगा, तो रियान बोला ठीक हां, अब्दुल तुम उसे बुला लो ।
पर उस के आने से तुम्हें और कांता को काफी परेशानी होगी, तो कांता बोली कि मुझे कोई परेशानी नहीं है, ये सुनकर रियान अब्दुल की ओर देखने लगा।
और अब्दुल से पूछा क्या बात है जो मुझे पता नही है, तो अब्दुल ने बताया कि 1 महीने पहले जब आप विकास के घर पर रुके थे।
तो मैंने हमीद को यहां पर बुला लिया था, और हम दोनों एक साथ मिलकर कांता की चूत और गांड़ को चोदा था, पूरे दो दिन तक, ये सुनकर कांता शर्मा कर किचन में चली गई।
कुछ ही दिन बाद हमीद भी रियान के घर में उनके साथ रहने लगा रियान उसको काम समझा रहा था, 1 महीने और बीत चुके थे।
एक दिन रियान एक रिस्टोडेन में बैठ कर नाश्ता कर रहा था, कि उसकी नजर सामने बैठी लड़की पर पड़ी वो उसके एक दोस्त की बेटी थी।
उसका नाम सीमा था, वो 18 साल की थी, वो कमसिन उम्र की लौंडिया थी, उसका गोरा रंग, करीब 26 इंच की चूचियां थी, एक जवान होती लौंडिया की छोटी छोटी उभरती चूचियां हर किसी को अपनी तरफ आकर्षित करती है।
रियान अक्सर उसके घर जाता रहता था, वो अक्सर उससे बात किया करता था, पर रियान को कभी ऐसा लगा नहीं कि उसमें भी जवानी भर गई है उसको भी लंड की जरूरत है।
सीमा एक लड़के के साथ बैठी थी, जो बिल्कुल घोंचू सा था, वो एक काले रंग का मरियल सा लौंडा था, पर उन दोनों के बैठने के ढंग से लग रहा था कि वो दोनों लव में हैं।
उसने भी अचानक रियान को देखा, तो उसके चेहरे का रंग मानो उड़ गया था, वो घबराई हुई सी लगने लगी थी, पर रियान ने उसको एक बार देख कर नजर अंदाज कर दिया और वहां से खाना खा कर चला गया।
अगले दिन वो रियान के घर मिलने को आई, सीमा को देख कर रियान समझ गया कि वो कल के बारे में बात करना चाहती है, तो रियान ने ही शुरूआत कर दी।
रियान बोला क्या तुमको कल की बात को लेकर कुछ कहना है ? सीमा बोली सॉरी वो बहुत ज़िद कर रहा था तो क्लास बंक करके मैं उसके साथ चली गई थी।
रियान बोला कोई बात नहीं, पर लड़का तो अच्छा सा ढूंढ लेती, सीमा बोली मतलब ? रियान बोला मेरा मतलब तुम इतनी सुन्दर हो और तुम्हारा दोस्त तुम्हारे सामने कुछ भी नहीं है।
सीमा बोली आपको मैं सुन्दर लगती हूँ ? रियान बोला हां, सीमा बोली अच्छा किस तरफ से ? रियान बोला हर तरफ से ऊपर से नीचे तक तुम बहुत ही सुन्दर हो।
सीमा थैंक्स, रियान अंकल आप किसी को बोलोगे तो नहीं ना, रियान बोला नहीं, इस उम्र में ऐसा होता है, और तुम सिर्फ रिस्टोरेन में बैठी थी, कुछ और तो नहीं करने गई थी ना।
सीमा बोली नहीं, मैं उससे सिर्फ बात करने गई थी थैंक्स, इस बातचीत के बाद रियान और सीमा की बातें कुछ ज्यादा बढ़ गई थी।
वो अब रियान से कई तरह की बात करने लगी थी और अपनी और उस लड़के की मुलाकात के बारे में और उस लड़के के बारे में भी बताने लगी थी।
एक दिन दोपहर में वो रियान से मिलने उसके घर आई क्योंकि उसके पापा ने घर के बने लड्डू उसके हाथ से रियान के लिए भिजवाए।
रियान ने सीमा को अपने रूम में बैठाया, उसके रूम में AC लगा था, तो रूम में काफी ठंडक थी, सीमा बोली आपका कमरा तो बिल्कुल ठंडा है।
रियान बोला मेरा कमरा ही ठंडा है ,मैं नही, रियान ने भी थोड़ा फ्लर्ट करने की सोच कर बोला, सीमा बोली मतलब, रियान बोला कुछ नहीं, तुम बताओ, पढ़ाई कैसी चल रही है ?
सीमा बोली ठीक बिल्कुल अच्छी, रियान बोला और तुम्हारा वो फ्रेंड कहां तक बात पहुंची, सीमा बोली कुछ खास नहीं, रियान बोला क्यों क्या हुआ, वो कुछ करता नहीं कर दिया, या रोमांटिक नहीं है वो।
सीमा बोली नहीं वैसी बात नहीं है, रियान बोला मतलब उसने तुमको किस किया ना, इस पर सीमा बहुत धीरे से बोली हां, रियान बोला क्यों तुमको अच्छा नहीं लगा क्या ?
रियान ने मन में सोचा कि लड़की जवान हो गई है और इसको एक लंड की जरूरत है, पर शहर में बिना सेटिंग के होटल में जाना रिस्क का काम था, कोई भी देख सकता था, जैसे मैंने देख लिया था।
सीमा बोली नहीं, वो बात नहीं है अंकल, बस डर लगता है कि कोई देख ना ले, रियान बोला क्या उसके पास रूम वगैरह नहीं है ?
सीमा बोली नहीं नहीं, मैं उसके रूम में नहीं जाऊंगी, रियान बोला क्यों ? सीमा बोली मुझे डर लगता है, कहीं कुछ उल्टा सीधा हो गया तो, और मुझे अभी तक उस पर विश्वास भी नहीं हो पाया है।
रियान ने मन में सोचा कि लड़की चुदना चाहती है, पर इसे लड़के पर विश्वास नहीं है और इसे डर भी लग रहा है, फिर वो बोला मैं तुम्हारी मदद करूं क्या ?
सीमा बोली आप और मदद कैसी मदद ? और आप क्यों करोगे मदद ? रियान बोला देखो, तुम मेरे दोस्त की बेटी हो और मैं तुम्हारे राज को राज भी रखता हूँ, फिर तुमको मुझसे कोई डर भी नहीं है।
सीमा बोली ठीक है, पर आप क्या मदद करोगे ? रियान बोला यदि तुम चाहो, तो मैं तुम दोनों के लिए एकांत की व्यवस्था कर सकता हूं, सीमा बोली पर आप ?
रियान बीच में ही बोल पड़ा देखो इस उम्र में नए नए अनुभवों को लेने का मन करता है, रियान ने उसे झूठ बोल दिया, कि मैंने भी तुम्हारी उम्र में मौज मस्ती की है।
सो इसमें कोई बुराई नहीं है पर मुझे नहीं लगता कि वो दोस्त तुमको कुछ खास ज्यादा तुमको एक्सपीरियंस दे पाएगा, सीमा बोली अंकल आप ऐसा क्यों कह रहे हो ?
रियान बोला तुम वो सब छोड़ो, तुम ये बताओ कि तुमको मदद चाहिए या नहीं, मेरा मक़ान खाली है, बस एक नौकरानी है, उसके बारे में तुम चिंता मत करो।
और तुम चाहो तो वीक में किसी भी दिन तुम मेरे घर आ सकती हो, सीमा बोली पर आप तो रहोगे ना यहां कभी कभा, और भी कोई आ सकता है।
रियान बोला हां, पर मैं दूसरे कमरे में रहूंगा, तुम रूम लॉक कर लेना, कभी कभा मेरे रहने से तुम दोनों पर कोई शक भी नहीं करेगा।
और तुम सेफ भी रहोगी, और घर आने से पहले मुझे कॉल कर देना, तो में सब इंतजाम कर दूंगा, सीमा बोली हां पर।
रियान बोला देखो मुझे पता है कि तुम मेरे घर क्यों आ रही हो और वहां क्या करोगी, पर ये बात मेरे और तुम्हारे बीच रहेगी, सो तुम इस बात को लेकर हमेशा बेफिक्र रहना कि तुम्हारा राज हम दोनों का राज रहेगा।
सीमा बोली आपको बुरा नहीं लगेगा, रियान बोला मुझे बुरा क्यों लगेगा, अब तुम मेरे जैसे अपने से 22 साल बड़े इंसान के साथ तो वो सब करोगी नहीं।
तुमको अपनी ही उम्र के साथ वाले के साथ करना है, सो मुझे कुछ बुरा नहीं लगेगा, अब तक वो दोनों ही समझ चुके थे कि रियान उसको सेक्स की मौज मस्ती के लिए अपना घर उसको दे रहा है।
सीमा बोली ओ बहुत देर हो गई, अब मैं चलती हूँ, रियान बोला ये मेरा मोबाइल नंबर है, कोई बात हो, तो बात कर लेना।
सीमा के जाने के बाद रियान ने सोचा कि दाना तो डाल दिया है, अब इसको खिलाया कैसे जाए. क्योंकि ये तो वो समझ ही गया था कि सीमा की चूत बहुत गर्म हो रही है।
और ऐसी गर्म चूत को वो मरियल सा लड़का सम्भाल नहीं सकता,जल्दी ही ढेर हो जाएगा, दो दिन बाद सुबह सीमा का फ़ोन आया आप कहां हो अंकल ?
रियान बोला मैं घर पर ही हूं, सीमा बोली मैं आ जाऊं कुछ बात करनी है, रियान बोला आ जाओ, सीमा बोली ओके मैं बस आ रही हूं।
थोड़ी ही देर में सीमा आ गई, रियान बोला हैलो, सीमा बोली हैलो अंकल, सीमा ने आज ब्लैक जींस और एक पीले रंग की टाइट सी शर्ट पहनी थी।
उसकी ब्रा की लाइन बाहर से ही साफ नजर आ रही थी, टाईट जींस में उसके चूतड़ भी मस्त लग रही थी, रियान बोला अरे अन्दर तो आओ।
आप मेरे साथ बने रहिए और इस रियान अंकल की सेक्स कहानी पर किसी भी प्रकार की राय देने के लिए आप मेल पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं.
[email protected]

यह कहानी भी पड़े  हॉट सीमा 2 Xxx की चूदाई कहानी 1


error: Content is protected !!