रानी ने लिया बीर्बल का लंड

मेरा नामे बृजेश है मे उत्तर प्रदेश का रहने वाला हू. मेरी ये कहानी अकबर बीर्बल के अगले पार्ट यानी की अकबर बीर्बल 2 है.स्टार्टिंग मे मुझे लगा की देसीकाहानी2.नेट मेरी कहानी पब्लिश्ड नही करेगा लेकिन मे गॉल्ट था उन्होने मेरी कहानी पब्लिश्ड की.पिछले पार्ट मे कुछ ग़लती हुई हो तो मुझे माफ़ कर देना.

चलो अब आपनी कहानी शुरू करते है.

रानी शाहिबा- होश मे आओ बीर्बल क्या बक रहे हो

बीर्बल- बक नही रहा हू रानी शाहिबा मेरी आपकी और राजा डरबन की चुदाई देखी है

इतना सुनते है रानी शाहिबा की गंद फट जाती है रानी शाहिबा को लगा की अब तो बीर्बल बदसाः अकबर को जेया कर सब बता देगा.

रानी शिहिबा – ठीक है बीर्बल.

इतना सुनते है बीर्बल अपनी धोती निकाल देता है और आपना 13 इंच का लंबा और 4.5 इंच मोटा लंड रानी शाहिबा के सामने रख देता है

बीर्बल कब बड़ा लंड देख कर रानी शाहिबा बोलती है की ये आदमी का लंड है या किसी घोड़े का.

बीर्बल- हेस्ट हुए क्या हुआ रंडी रानी शाहिबा मेरा लंड देख कर आपकी गांद फट गयी है क्या.

रानी शाहिबा- नही बीर्बल ये बहुत बड़ा है मैने 11 इंच का लंड लिया था आपने मयके मे.

बीर्बल- किसका लंड लिया था..

रानी शाहिबा- वो बाद मे बतौँगी पहले मुझे तुम्हारे इस लंड की मजबूती को देख लेने दो.

बीर्बल- तो रानी शाहिबा मेरे लंड को मूह मे लो ना.

रानी शाहिबा- ठीक है बीर्बल.

तभी रानी शाहिबा नीचे बैठ जाती है और बीर्बल का लंड आपने मूह मे लेने लगती है लेकिन बीर्बल का लंड मूह मे नही जेया रहा क्योकि बीर्बल के लंड का टॉप्स बहुत बड़ा था.

रानी शाहिबा मूह मे नही ले पासा रही तीस तब बीर्बल ने जबारजस्ति रानी शाहिबा के मूह मे डाल दिया.

बीर्बल का आधा लंड रानी शाहिबा के मूह मे घुस गया तो रानी शाहिबा को साँस लेने मे परेशानी होने लगी लेकिन बीर्बल कहा मानने वाला था वो जबारजस्ति मूह मे लंड अंदर बाहर कर रहा था जिसके कारण रानी शाहिबा के आँखो से आंशु निकलने लगे लेकिन बीर्बल को कोई फ़र्क नही पड़ा.

रानी शाहिबा के मूह मे बीर्बल को बहुत मज़ा आ रहा था.

बीर्बल- आह अहह अहह ऑश ऑश मेरी रानी क्या मूह है तेरा आह…

रानी शाहिबा- घुऊऊ घुऊऊ हुउऊुउउ…

बीर्बल-पहली बार किसी राजप्पोट की लड़की को लंड चूसने दे रहा हू अहह अहह

तभी बीर्बल एक ही बार मे लंड बाहर निकाल लेता है तब रानी शाहिबा लंबी लंबी साँस लेने लगती है

तभी अचानक से बीर्बल आपना पूरा लंड एक ही झकते मे रानी शाहिबा के मूह मे डाल देता है

बीर्बल का 13 इंच का लंबा लंड रानी शाहिबा के गले के नीचे उतार गया और रानी शाहिबा की आँखे ऐसी हो गयी मानो फट गयी हो. तभी बीर्बल फिर से लंड निकल लेता है.

जैसे ही बीर्बल फिर से लंड डालने वाला होता है वैसे ही बादशाह अकबर के दरबार का पंखे वाला जिसका मा’आम भानु था वो बीर्बल को आवाज़ देकर उन्हे इधर उधर देखता है.

तभी रानी शाहिबा और बीर्बल अलग हो जाते है.

बीर्बल रानी शाहिबा को पकड़न की कोषिःश् करता है.

रानी शाहिबा- बस करो बीर्बल फिर कभी कर लेना अभी वो पंखे वाला भानु आ गया है.

बीर्बल- रानी शाहिबा मेरे लंड का पानी तो निकाल दो.

रानी शाहिबा- रात मे आना बीर्बल.

बीर्बल-रात को बादशाह अकबर होंगे ना आपकी छूट मरने के लिए.

रानी शाहिबा- उस हिगड़े का नामे मत लो बीर्बल 4 इंच की लुल्ली है उसकी

बीर्बल-फिर भी वो होंगे ना रंडी शाहिबा.

रानी शाहिबा- रंडी शाहिबा.

बीर्बल हेस्ट हुए हा मेरी रंडी शाहिबा सबसे सामने रानी शाहिबा और अकेले मे रंडी शाहिबा.

रानी शाहिबा- ठीक है बीर्बल.

तब वो दोनो कपड़े ठीक कर लेते है और तभी वो भानु आ जाता है.

भानु- राजा बीर्बल की जाई हो रानी शाहिबा की जाई हो.

बीर्बल और रानी शाहिबा एक मे क्या हुआ भानु क्यो इतनी तेज आवाज़ कर रहे हो.

भानु- माफ़ करना बादशाह अकबर ने बीर्बल को दरबार मे बुलाया है.

बीर्बल- ठीक है चलो मे आता हू.

भानु-ठीक है राजा बीर्बल.

तभी भानु वाहा से निकल जाता है तभी बीर्बल-रंडी शाहिबा तो रात मे मिलते है लेकिन अकबर का क्या?

रानी शाहिबा- वो आज रात मे धमना नामे की रियासत का दौरा करने जाएँगे.

बीर्बल- तो मतल्ब आज तो आपकी गांद भी करूँगा.

रानी शाहिबा- हा लेकिन तब जब मेरी छूट को शांत करोगे.

बीर्बल-हा मेरी रंडी शाहिबा.

रानी शाहिबा- अगर मुझे खुश कर दिया बीर्बल तो तुम्हे इतनी छूट दिलौंगी की तुम दिन और रात भी मारोगे तब भी कम पद जाएँगी.

बीर्बल रानी शाहिबा के 34 इंच के बूब्स को दबाते हुए ठीक है रंडी शाहिबा.

इतना बोलकर बीर्बल बादशाह के मुघलिया दरबार के लिए निकल जाता है.

दरबार मे पहुचते है बीर्बल बादशाह अकबर को झुक कर सलाम करता है.

बीर्बल- बादशाह अकबर की जाई हो.

अकबर- आओ आओ बीर्बल.

बीर्बल-क्या परेशानी है बादशाह को जिसकी वजह से आपने इस ना चीज़ को याद किया

अकबर- परेशानी यह है की मे अभी धमना नामे की रियासत जेया रहा हू लेकिन मेरे बाद इस मुघलिया दरबार को आप संभालोगे

बीर्बल- मे

अकबर-हा बीर्बल तुम

बीर्बल- मे अकेला कैसे?

अकबर- इस काम मे रानी शाहिबा आपकी मददात करेंगी आप उनसे कभी भी मिल सकते है इस मुघलिया दरबार की बात के लिए.

बीर्बल-ठीक है बादशाह अकबर.

अकबर- राजा डरबन जाओ रानी शाहिबा को बोलो की बादशाह अकबर ने उन्हे बुलाया है.

इतना सुनते है बीर्बल देखता है की राजा डरबन के मूह पर ख़ुसी फुट रागी है.

10 मीं बाद राजा डरबन रानी शाहिबा को लेकर मुघलिया दरबार मे आ जाता है.

अकबर-रानी शाहिबा आज और अभी से बीर्बल मुघलिया दरबार संभालेंगे जब तक मे वापिश ना आ है.

रानी शाहिबा-ठीक है.

अकबर- बीर्बल आपसे कभी भी मिल सकते है इस मुघलिया दरबार के लिए.

रानी शाहिबा बीर्बल की तरफ मुस्कुहात के साथ मे ठीक है बादशाह.

क्या रात मे बीर्बल रानी शाहिबा को खुश कर पाएगा आपने लंड से इसके बारे मे जानने के लिए अकबर बीर्बल-3 जल्दी लिखूंगा

कुछ ग़लती हो गयी हो तो आपने इस भाई को माफ़ कर देना अगर किसी लड़की को मेरे साथ सेक्स करना है या फिर सेक्स छत करनी है वो मुझे मैल कर दे प्राइवसी की 100000% गुर्रटेनी

यह कहानी भी पड़े  मस्ती से मजबूरी तक-19

error: Content is protected !!