जवान लड़की सोनिया की हॉट चुदाई

हैल्लो दोस्तों, दोस्तों ज़िंदगी मस्त है और जवानी भी, यह कहानी मेरी और सोनिया की है। सोनिया एक 26 साल की पंजाबी लड़की है, जिसकी जवानी एक कयामत है। कसा हुआ बदन, कड़क बूब्स, मदमस्त गांड, पतली कमर, सुडौल जांघे, सुराहीदार गर्दन, लंबे काले घने बाल, नशीली आँखें और रसीले होंठ। दोस्तों वो अक्सर सलवार कमीज़ पहनती और ज्यादातर पंजाबी ड्रेस, उसके दो बच्चे है और पति एक बिज़नसमेन है और वो सीमा भाभी की एक बहुत अच्छी दोस्त है। दोस्तों पंजाबी महिलाओं की एक ख़ासियत होती है कि उनकी आवाज़ थोड़ी भारी होती है और गांड बहुत उभरी हुई होती है, मतलब कि वो बहुत मस्त सेक्सी होती है।

वो अक्सर सीमा के घर पर आया करती थी। सीमा और में अक्सर सेक्स करते थे तो में सीमा को चोदते वक़्त उससे सोनिया को अपने लिए सेट करने को कहता था। फिर सर्दियों के दिनों में एक दिन सीमा ने मुझसे कहा कि क्या तुम सोनिया के बच्चे को ट्यूशन पढ़ा दोगे? तो मैंने कहा कि सीमा यह चक्कर क्या है? बच्चो को ट्यूशन पढ़ना है या उनकी माँ को सेक्स करना सिखाना है, उसकी चूत को चोदकर शांत करना है? तो उसने हंसकर कहा कि हाँ दोनों, लेकिन अगर तुम कर सको तो?

फिर में सोनिया से मिला तो सोनिया मुझे देखकर बहुत खुश नज़र आ रही थी और उससे बात करते करते में सोनिया की जवानी को माप रहा था और उसके सेक्सी बदन को अपनी आखों में उतार रहा था, में उसके बड़े-बड़े बूब्स में खो सा गया था। तभी उसने कहा कि इनके एग्जाम सर पर है और ये नालायक बच्चे फैल हो जाएगें, प्लीज आप कुछ भी करके इन्हे पास करा दो और आपकी जो भी फीस होगी में वो आपको दे दूँगी, लेकिन बस आप मेरे घर पर आकर इन बदमाशो को पढ़ा दो।

यह कहानी भी पड़े  स्वाती की गांड थूक लगाकर चोदी

तो में हंस दिया और में रोज़ दोपहर उन्हे पढ़ाने जाने लगा। फिर धीरे-धीरे सोनिया मुझसे बहुत खुल गयी और उसके पति को भी मुझ पर पूरा भरोसा होने लगा था और जब एग्जाम के दिन करीब आए तो मैंने सोनिया से कहा कि में देर शाम के टाइम इन्हे आकर पढ़ा दूँगा ताकि सुबह उठकर एक बार उसे पढ़ ले और इनका पढ़ा हुआ इन्हें याद रहे, जिससे इनका पेपर अच्छा चला जाए। तो उसने कहा कि मुझे इसमें कोई भी आपत्ति नहीं है आपको जैसे उचित लगे आप वैसा ही कीजिये।

तभी उसी बीच एक दिन उसके पति को फोन आया कि गावं में उसकी माँ की तबीयत बहुत खराब है तो उसके पति ने उनके गाँव जाने के लिये टिकट बुक कराई और अगले दिन उनके गाँव चले गए। उस रात मैंने सोच लिया था कि अब सोनिया को अपने साथ बिस्तर पर लाने का सही वक़्त आ गया है और अगली रात जब में बच्चो को पढ़ा रहा था तो सोनिया ने कहा कि आज आप रात का खाना यहीं पर खा लेना। फिर मैंने कहा कि ठीक है और तब तक उसके दोनों बच्चे अपनी पढ़ाई पूरी करके और खाना खाकर सो चुके थे। तो सोनिया ने मुझसे मुस्कुराते हुए कहा कि आप वॉशरूम में हाथ मुहं धो लीजिए में आपके लिए खाना लगाती हूँ।

दोस्तों सोनिया ने उस दिन बिल्कुल टाईट सलवार कमीज़ पहनी हुई थी, जिसमे उसकी जवानी और भी कड़क लग रही थी, उसकी गांड को देखकर में मन ही मन बहुत खुश हो रहा था। उसके बूब्स बाहर आने को बैचेन थे और में उन्हे छूने, दबाने, महसूस करने के लिए बहुत बैचेन था। फिर हम दोनों खाना खाने लगे, वो आज बहुत खुश नजर आ रही थी।

यह कहानी भी पड़े  जवान दीदी को बॉस ने जमकर पेला

तभी अचानक उसने पूछा कि क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? तो में एकदम से चकित रह गया और फिर मैंने कहा कि अपना नसीब ऐसा कहाँ जो हमें कोई गर्लफ्रेंड मिले? तो उसने कहा कि क्यों तुम इतने अच्छे तो दिखते हो और तुम्हारी बॉडी भी बहुत मस्त है? फिर मैंने कहा कि मुझे अपने से बड़ी उम्र की लड़कियाँ अच्छी लगती है और ख़ासकर शादीशुदा भाभियाँ, तो वो मेरी यह बात सुनकर एकदम से उलझ गई और फिर उसने पूछा कि ऐसा क्यों?

तो मैंने कहा कि वो सब कुछ समझती है और खुलकर मजा भी लेती है और मजा भी देती है। मेरी यह बात सुनकर उसका चेहरा गोरे रंग से हल्का गुलाबी हो गया और फिर मैंने कहा कि मुझे पंजाबन भी बहुत अच्छी लगती है, क्योंकि उनमे बहुत गर्मी होती है वो बिल्कुल गरम सेक्सी होती है और वैसी ही आप हो। तो वो अब बिल्कुल खामोश हो गयी और उसने शर्म से अपना सर नीचे झुका लिया। में उठकर उसके पास गया और उसके चेहरे को अपने दोनों हाथों से उठाकर कहा कि सोनिया मुझे तुम बहुत अच्छी लगती हो क्या हुआ तुम शादीशुदा हो और दो बच्चो की माँ हो, लेकिन फिर भी तुम हो बहुत सेक्सी और सेक्स एक प्राक्रतिक चीज़ है उसका उम्र, जाती, रंग, हाईट, रिश्तों से कोई लेना देना नहीं होता और इतना कहकर मैंने उसके काँपते हुए होंठ चूम लिए।

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!