पुणे की मराठी भाभी के साथ सेक्स

हेलो गर्ल्स भाभी, आंटी और मेरे दोस्तों. मेरा नाम ध्रुव शर्मा है, मैं मुंबई में डोंबिवली का रहने वाला हूं. मैं इस वेबसाइट का बहुत बड़ा फैन हूं. मैं यहां की स्टोरी पिछले १२ साल से पढ़ रहा हूं. मेरी उम्र २९ साल है, आज मैं आपको मेरे साथ हुए एक रियल इंसिडेंट के बारे में बताने जा रहा हूं, यह मेरी पहली कहानी है.

यह कहानी आज से ६ साल पहले की है जब मैं MBA कर रहा था, और मैं २३ साल का था मैं. पुणे में MBA कर रहा था और हॉस्टल पर रहता था. मेरी एक सिस्टर है जो कि लोनावाला में रहती है. एक दिन मैं लोनावला से वापस पुणे आ रहा था लोकल ट्रेन से. दोपहर का वक्त था और मैंने लंच करके निकला था अपने सिस्टर के घर से. लोकल ट्रेन में मेरे बाजू में एक भाभी आकर बैठ गई. जैसे ही लोकल ट्रेन निकल पड़ी मुझे नींद आने लगी, और नींद में मैंने गलती से उस भाभी के कंधे पर सर रख दिया. तो उस भाभी को गुस्सा आ गया और उसने मुझे नींद में से उठाकर बोला ठीक से बैठने के लिए. मेरे आजू-बाजू बैठे हुए लोग भी मुझे घूर कर देखने लगे.

तब तक मैंने उस भाभी को ठीक से देखा भी नहीं था, मगर जब नींद से जागा तो मैंने उसे देखा वह मैरिड लेडी थी, जिसकी उम्र २४ साल थी, वह दिखने में काफी गोरी और सुंदर थी. जैसी ही हम पुणे में शिवाजी नगर स्टेशन पहुंचे, वह भाभी ट्रेन में से उतर गई और मैं भी उसके पीछे उतर गया.

मैंने उसे फॉर्मेलिटी के लिए आई एम सॉरी बोला, क्योंकि मैं उसके कंधे पर सर रख कर सो गया था. फिर उसने भी ओके बोल दिया मैंने उससे पूछा कि आपको कहां जाना है? तो उसने बोला कि उसे कात्रज एरिया में जाना है, तो मैंने भी बोला कि मैं भी उसी तरफ जा रहा हूं, तो फिर हमने कात्रज के लिए बस पकडी, बस में हम दोनों एक ही सीट पर बैठ गए.

यह कहानी भी पड़े  दादी गलती से ओर मम्मी की जबरदस्ती चुदाई

मैं – आपका नाम क्या है और आप कहां रहती हो?

भाभी – मेरा नाम सपना है और मैं कात्रज में रहती हूं.

मैं – आपके हस्बैंड क्या करते हैं?

सपना – मेरा हस्बैंड के साथ डाइवोर्स हो चुका है.

मुझे अब लगने लगा था कि मेरा कोई चांस बन सकता है इसके साथ.

मैं – आप तो काफी यंग लगती है तो आपके पति ने क्यों डाइवोर्स दिया आपको?

सपना – मेरी शादी बहुत यंग एज में हो गई थी १८ साल की थी में और मुझे एक बेटी है जो ५ साल की है अभी. शादी के एक साल बाद ही मुझे बेटी हो गई थी और फिर मेरे हस्बैंड के अफेयर के बारे में मुझे पता चला, जिसकी वजह से हमारे बीच में बहुत झगड़े होने लगे और फाइनली हमारा डाइवोर्स हो गया.

मैं – तो आप अपने पेरेंट्स के साथ रहती हो?

सपना – नहीं, मैं और मेरी बेटी कात्रज में रहते हैं और पेरेंट्स कोथरुड में रहते हैं.

और वह इतना कहकर उदास हो गई और अपना फेस दूसरी तरफ कर लिया, मुझे लगा मैंने बहुत ही पर्सनल क्वेश्चन पूछ लिया. मैंने उसके कंधे पर हाथ रखकर कंसोल किया और सॉरी बोला. उसने इट्स ओके कह के टॉपिक चेंज कर दिया, फिर बातों बातों में हम लोगों ने नंबर एक्सचेंज कर लिया. थोड़ी देर बाद उस का स्टॉप आ गया और वह मुझे बाय कह कर निकल गई.

फिर शाम को मैंने उसे कॉल किया और बोला कि मुझे उसकी याद आ रही है और मैं उससे मिलना चाहता हूं, वह तैयार हो गई और हमने अगले दिन सारसबाग में मिलने का प्रोग्राम बनाया. अगले दिन हम लोग शाम को सारसबाग में मिले. वह अपने बेटी के साथ आई थी. मैंने उससे मिलते ही गले लगा दिया, उस के बड़े बड़े बूब मेरे सीने से चिपक गए. उसने भी कुछ नहीं बोला और मुझे अच्छे से हग किया, आज वह एक टॉप और जींस पहन कर आई थी, और उसका फिगर बहुत ही सेक्सी दिख रहा था.

यह कहानी भी पड़े  पति से बेवफ़ाई की सजा

उसका फिगर ३४-२८-३६ था तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि उसके बूब्स और गांड कितनी बड़ी रही होगी. कल जब हम मिले थे लोकल ट्रेन में बस में तब उसने एक साड़ी पहनी हुई थी जिससे उसके फिगर का अंदाजा लगाना मुश्किल था. मगर आज वह कयामत ढा रही थी. मैं लगातार उसके बूब को घूर रहा था, उसकी बेटी गार्डन में खेलने में बिजी हो गई थी.

सपना भाभी ने मुझे उसके बूब्स को घूरते हुए दो तीन बार देख लिया था, और वह भी हल्की हल्की स्माइल दे रही थी. मैं उसकी खूबसूरती की बहुत तारीफ कर रहा था और वह भी खुश हो रही थी. हम लोग बेंच पर बैठे थे, तो मैंने उसके कमर में हाथ डाल दिया और हल्का हल्का मसाज करने लगा. वह मुझे देखकर स्माइल पास कर रही थी, मैं समझ गया था कि भाभी पट चुकी है अब बस इसे चोदने की देर है.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!