पिंकी की ब्लू फिल्म!!!” पार्ट–2

गतान्क से आगे……….पिंकी की ब्लू फिल्म!!!” पार्ट–1

में काफ़ी देर तक उसे घूरती रही फिर उसने अपना लंड अपनी शॉर्ट्स मे कर जीन्स पहन ली. “कल मम्मी पापा किसी काम से बाहर जा रहे है और रात को लेट घर आने वाले है, तो क्या में कल जे को साथ मे ले आयु?” उसने पूछा. “हां ज़रूर ले आना.” मेने कहा. “में जब उसे बताउन्गा कि मेने तुम्हारी चूत देखी है तो वो जल जाएगा.” उसने कहा. “उससे कहना कि चिंता ना करे, कल तुम दोनो साथ में मेरी चूत देख सकते हो.” मैने कहा. दूसरे दिन में जब काम पर थी तो अरुण का फोन मेरे सेल फोन पर आया, “हाई क्या कर रही हो?” उसने पूछा. “कुछ खास नही तुम कहो कैसे फोन किया?” “अगर जे अपने एक दोस्त को साथ लेकर आए तो तुम्हे बुरा तो नही लगेगा?” उसने पूछा. “अगर सब कोई इस बात को राज रखते है तो मुझे बुरा नही लगेगा.” मैने जवाब दिया. “दोनो किसी से कुछ नही कहेंगे ये में तुम्हे विश्वास दिलाता हूँ, ठीक है शाम को मिलते है.” कहकर अरुण ने फोन रख दिया.


जब में शाम को घर पहुँची तो थोड़ा परेशन थी, पता नही क्या होने वाला था. में टीवी चालू कर शांति से उनका इंतेज़ार करने लगी. थोड़ी देर में अरुण घर में दाखिल हुआ. उसके पीछे जे और एक सुंदर सा लंबा लड़का था. उसने कंधे पे वीडियो कॅमरा लटका रखा था. में शरमाई सी सोफे पे बैठी हुई थी. “पिंकी, ये जे और राजशर्मा है.” अरुण ने मेरा उनसे परिचय करवाया. “हेलो!” मेने धीमी आवाज़ में कहा. “क्या हम सब तुम्हारे कमरे में चले.” अरुण ने पूछा. “हां यही ठीक रहेगा.” कहकर में सोफे से खड़ी हो गयी. जब हम मेरे कमरे की और बढ़ रहे थे तो में अरुण से पूछा, “क्या तुम इन्हे सब बता चुके हो.” “हां, क्यों क्या कोई परेशानी है.” “नही ऐसी कोई बात नही है.” मेने कहा.
जब हम कमरे मे पहुँचे तो राज ने अपना कॅमरा बिस्तर पर रख दिया. “अरुण कह रहा था कि अगर हम यहाँ आएँगे तो तुम अपनी चूत हमे दिखावगी.” जे ने कहा. “अगर अरुण कह रहा था तब तो दिखानी ही पड़ेगी.” मेने हंसते हुए जवाब दिया. “अगर तुम्हे बुरा नही लगे तो क्या में तुम्हारी चूत की फोटो खींच सकता हू?” राजशर्मा ने पूछा. “बुरा तो नही लगेगा, पर तुम इसे किसे दिखना चाहते हो?” मेने पूछा. “अगर तुम नही चाहोगी तो किसी को नही दिखाउन्गा, पर में अपनी एक वेब साइट चालू करना चाहता हूँ और में इस फोटो को अपनी उस साइट पे डाल दूँगा. तुम्हारा चेहरा तो दिखेगा नही इसलिए किसी को पता नही चलेगा कि तुम कौन हो.” राज ने जवाब दिया. “लगता है इससे मुझे कोई प्राब्लम नही आनी चाहिए,” मेने जवाब दिया. राज ने अपना कॅमरा उठा अड्जस्ट करने लगा, फिर उसने मुझे अपनी जीन्स और पॅंटी उतारने को कहा. दोनो लड़के मुझे घूर रहे थे जब मेने अपनी जीन्स उतार दी और अपनी पॅंटी भी नीचे खिसका दी. मेरी गुलाबी और झांतो रहित चूत खुल सबके सामने थी. राज ने कॅमरा एक दम चूत के सामने कर उसका डिजिटल फोटो ले लिया. में अपने कपड़े पहन बिस्तर पर बैठ गयी और दोनो लड़के मेरे सामने कुर्सी पर बैठे थे. हम चारों आपस में बात करने लगे. अरुण उन्हे बताने लगा कि कैसे मेने उसे अपनी पॅंटी सूंघते पकड़ा था और कैसे एक दिन पहले वो जे को हमारे घर लाकर मेरी पॅंटी सूँघाई थी. जे और राज दोनो ही आछे स्वाभाव के लड़के थे. राज 22 साल का था और स्मझदार भी था. वो दौड़ कर बेज़ार गया और सब के लिए बियर ले आया. बातें करते हमारा टॉपिक सेक्स पर आ गया. सब अपनी चुदाई की कहानिया सुनाने लगे. कैसे ये सब कॉलेज की लड़कियों को चोद्ते थे. बातें करते करते सब के शरीर मे गर्मी भरती जा रही थी. अचानक जे ने कहा, “क्यों ना हम राज के कमेरे से एक ब्लू फिल्म बनाते है और उसे उसकी वेब साइट पर डाल देते है. हम इसका पैसा भी सब व्यूवर्स से चार्ज कर सकते है. फिर हर महीने एक नई फिल्म आड कर देंगे.” “सुनने में तो अछा लग रहा है” मेने कहा. “देखो तुम्हारे पेरेंट्स को आने में अभी 3 घंटे बाकी है, अगर तुम चाहो तो हम एक फिल्म आज ही सूट कर सकते है.” राज ने कहा. “शुरुआत कैसे करेंगे कुछ आइडिया है.” जे ने पूछा. “पिंकी क्यों ना मे कॅमरा तुम पर फोकस कर दू और शुरुआत तुम्हारे इंटरव्यू से करते है.” राज ने कहा. “सुनने में इंट्रेस्टिंग लग रहा है.” मेने कहा. में एक कुर्सी पर बैठ गयी और राज ने कॅमरा मेरे चेहरे पर फोकस कर दिया. “अच्छा दोस्तों ये सुंदर सी लड़की पिंकी है, और पिंकी तुम्हारी उम्र क्या है?” राज इंटरव्यू की शुरुआत करते हुए पूछा. “और ये तुम्हारे साथ ये लड़का कौन है?” उसने कॅमरा को अरुण की ओर घूमाते हुए पूछा “ये मेरा भाई अरुण है.” मेने जवाब दिया. “अच्छा तो ये तुम्हारा भाई है, तब तुम इसे से बचपन से जानती हो. क्या कभी इसका लंड देखा है?” राज ने पूछा. मेरा शर्म से लाल हो गया, “हां बचपन में जब हम साथ साथ नहाते थे तो कई बार देखा है, और तो अभी मेने कल ही देखा है. मेने इसे रंगे हाथों मेरी पॅंटी को अपने लंड पे लपेटे मूठ मार रहा था और दूसरे हाथ में दूसरी पॅंटी को पकड़े सूंघ रहा था.” मेने कहा. “ओह और जो आपने देखा क्या वो आपको अछा लगा.?” राज ने पूछा. शर्म के मारे मेरा चेहरा लाल होता जा रहा था, “हां काफ़ी अछा लगा.” मेने जवाब दिया. “क्या तुम अरुण के लंड को फिर से देखना चाहोगी?” उसने पूछा. “हां अगर ये अपना लंड दिखाएगा तो मुझे अच्छा लगेगा.” मेने शरमाते हुए कहा. “ओके पिंकी में तुम्हारा ड्राइवर्स लाइसेन्स देखना चाहूँगा और अरुण तुम्हारा भी?” मेने अपना लाइसेन्स निकाला और अरुण ने भी, राज ने दोनो लाइसेन्स पर कॅमरा फोकस कर दिया, “दोस्तों ये इनका परिचय पत्र है, दोनो सही में बेहन भाई है और शक्ल भी आपस मे काफ़ी मिलती है.” राज ने कहा. “अरुण अब तुम अपना लंड बाहर निकाल अपनी बड़ी बेहन क्यों नही दिखाते जिससे ये पहले से अच्छी तरह देख सके.” राज ने कहा.

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस की जूनियर को होटल में चोदा

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3 4