पहले सेक्स एक्सपीरियेन्स ने जगाई हवस

हेलो दोस्तों, सभी देसी कहानी लवर्स को नमस्ते. आशा करता हो आप सब लोग अपनी सेक्स लाइफ में बहुत खुश होंगे. मैं पूरी कोशिश करूँगा की इस स्टोरी के हर एक पहलू को आचे से लिख पौ. स्टोरी मैं डीटेल्स मैं लिखना चाहता हू, इसलिए आप लोगों के से निवेदन है की आप अपने फ्री टाइम में इस स्टोरी को पढ़िए.

ये स्टोरी मेरी सेक्स लाइफ पे आधारित है. मैं आपको मेक शुवर कर डू, की जो भी मैं यहा लिखूंगा, वो सब हक़ीकत में हुआ है. जैसे की मैने कहा, स्टोरी डीटेल में लिखना चाहता हो, क्यूंकी ये 10 साल का एक्सपीरियेन्स होगा, जो मैं देसी कहानी वेबसाइट के थ्रू आपको बताने की कोशिश करूँगा.

पिछले 10 सालों में मैने काई संबंध बनाए है, और स्टोरी 100% परिवारिक कहानी पे डिपेंड है, मतलब ये मेरी सेक्स स्टोरी घर से ही शुरू हुई, और ये बढ़ते-बढ़ते कब मा, मामी, मौसी और बेहन तक पहुँच गयी, पता नही चला.

सभी रिश्तों को हासिल करने में टाइम लगा, क्यूंकी मैं प्यार से संबंध बनता हू, और कभी ज़ोर ज़बरदस्ती नही करता. इसका कारण ये है, की जिस रिलेशन्षिप में प्यार हो, वाहा सेक्स लाइफ चरमसुख पे जाती है.

जब आपके पार्ट्नर का दिल और उसकी धड़कन आपके लिए धड़कट्ी है, तब आपका पार्ट्नर आपको चरमसुख देने की पूरी कोशिश करता है, और आपको जो चाहिए, जैसा चाहिए, वो सब देने के लिए हमेशा रेडी होता है.

ये स्टोरी गर्लफ्रेंड से स्टार्ट होके मामी पे एंड होगी. तो मैने सभी ज़रूरी बातें बता दी है. अब स्टोरी की शुरुआत करते है. कहानी 10 साल पहले शुरू हुई, और अभी भी चल रही है. तो चले 10 साल पहले से स्टार्ट करते है.

मेरा नाम अजय है. मेरे घर में मा, पापा, छ्होटी बेहन है. पापा का बिज़्नेस है, और वो सुबा 8 बजे चले जाते है और रात को 9-10 बजे तक घर आते है. पापा की आगे 45 रन्निंग है. मा हाउसवाइफ है, उनकी उमर 42 है, और छ्होटी बेहन की 19 साल की है. आंड मेरी आगे 20 रन्निंग है. पापा हमेशा से बिज़्नेस बॅकग्राउंड से थे, इसलिए हमारी फाइनान्षियल कंडीशन काफ़ी स्ट्रॉंग थी.

मेरी 12त ख़तम हुई, और मुझे यूनिवर्सिटी के लिए दूसरी सिटी भेज दिया गया. और अब घर पर बस पापा, मा और छ्होटी बेहन थे. अभी तक मेरी लाइफ में सेक्स का कुछ भी नही था. अब मुझे 2 साल होने को आ रहे थे. कॉलेज करते-करते तो पापा ने बोला-

पापा: ऐसी कोई पार्ट टाइम जॉब देखो, जहा तुम्हे कम्यूनिकेशन स्किल सीखने का मौका मिले, और लोगों से बात करके तुम्हे कुछ न्यू चीज़े सीखने को मिले. फिर जब तुम ग्रॅजुयेशन के बाद बिज़्नेस में आओगे, तो तुम्हे तब तक बोलने का तरीका आ जाएगा.

मैं फिटनेस में काफ़ी रूचि रखता हू. मुझे 16 साल से ही फिटनेस में इंटेरेस्ट आ चुका था, तो मैने अपनी नालेज के लिए फिटनेस रिगार्डिंग बुक्स पढ़ी थी. मुझे 5 साल हो चुके थे जिम करते-करते, और मैं डीसेंट बॉडी बना चुका था. इसलिए मैईएन जिम में काम करने के सोचा, जहा मुझे पापा ने जो सीखने को कहा था, वाहा से मैं सीख साकु.

ये जानना ज़रूरी है, की पहले ऐसा क्या हुआ जिसकी वजह से मैं परिवारिक चुदाई में आया. ऐसा क्या हुआ, की जिसे सेक्स का “स” भी पता नही था, उसने हर रीलेशन की सभी औरतों को अपना गुलाम बनाया. सो चलिए देखते है क्या हुआ था, और आक्च्युयली मैं किस वजह से परिवारिक चुदाई में आया.

जिम में मेरे साथ 2 इन्सिडेंट हुए. मुझे एक दोस्त मिला. उसका नाम निखिल था, और मेरी एक गर्लफ्रेंड बन गयी जिम में. मेरी लाइफ में सेक्स की चीज़े ये दोनो ही लाए थे. मेरा दोस्त सेक्स में काफ़ी आक्टिव था. उसने बहुत बार सेक्स किया था. उसने ही मुझे पॉर्न दिखाया. ऐसा नही की मैने पॉर्न सुना या देखा नही था, बुत मुझे उसपे ध्यान नही देना था. बुत मेरा दोस्त मुझे बताता की सेक्स करने में कितना मज़ा आता है.

सेक्स के अलावा ऐसा कोई नशा नही जिसमे उसके जैसा मज़ा आता हो. वो हमेशा सेक्स की बातें कर करके मेरे दिमाग़ में सेक्स के लिए वासना जगा दिया. और जो जस्ट मेरी गर्लफ्रेंड बनी थी, और मॉडर्न थी, वो सेक्स के बारे में सब कुछ जानती थी. गर्लफ्रेंड मॉडर्न होने की वजह से सेक्स के बारे में जानती थी. तो मुझे सेक्स के लिए अप्रोच करना काफ़ी आसान हुआ था.

हमारे 4त सें के एग्ज़ॅम हो चुके थे, और मैं जिम कम कर रहा था. तो मैं घर गया नही. मेरी गफ़ उसी सिटी में रहती थी. तो अब एक दिन वीकेंड पर मोविए देखने चले गये. मोविए काफ़ी रोमॅंटिक थी. मोविए में बोल्ड सीन्स की वजह से बार-बार मुझे ऑक्वर्ड फील हो रहा था, तो गफ़ मुझे देख के हासणे लगी, और मैं पानी-पानी हो गया.

थियेटर में ज़्यादा लोग नही थे, और मोविए में एक नाइट वाला सीन आया जिसकी वजह से बची-कूची रोशनी कम हो गयी, और मेरी गफ़ ने मुझे किस कर दिया. उस पल मुझे कुछ समझ ही नही आया. वो किस करती रही, कभी उपर लीप को चूस्टी, कभी लोवर लीप को चूस्टी रही. ऐसे ही 30 सेकेंड्स से 1 मिनिट वो किस करती रही.

बाकी पूरी मोविए में मैने हग दिया. ना मैने उसको देखा, ना कुछ किया, बस मोविए ख़तम हुई, और मैं अपने फ्लॅट पे चला गया. अब उसका घर जाने के बाद मेसेज आया, लेकिन मैने बिल्कुल उसे रिप्लाइ नही किया. मुझे कुछ समझ ही नही आ रहा था. मुझे लग रहा था उसे बुरा लगा होगा, और अब वो कैसे रिक्ट करेगी समझ नही आ रहा था.

नैन बिल्कुल रेडी नही था. अगले दिन मैं जॉब पे चला गया. ऐसे ही मैं चुप-चुप था. फिर गफ़ आई, निखिल आया, लेकिन मैं चुप था. जब निखिल ने मुझसे बात की, तो मैने उसे तोड़ा तोड़ा बताया की मेरे साथ क्या हुआ. तो वो भी हासणे लगा, और मेरे मज़े ले रहा था. फिर मैने गुस्सा किया, तो फिर वो शांत हुआ. फिर उसने मुझे समझाया-

निखिल: तेरा फर्स्ट टाइम है, इसलिए तुझे ऐसा लगा. तुझे अछा लग रहा होगा, लेकिन अवकवर्ड्स भी फील हो रहा है. स्टार्टिंग में ऐसा होता है. नॉर्मल बात है. तू टेन्षन मत ले, कम से कम अपनी बंदी से तो बात कर. और हा, तुझे बता डू. बंदी आयेज से किस कर रही है, मतलब वो तुझे शायद हिंट दे रही है, की अब तुम दोनो फिज़िकल हो जाओ.

निखिल से बात करके दिल तोड़ा हल्का हुआ, आंड मैने गफ़ से बात कर ली, आंड वो भी नॉर्मल थी, आंड उसे मैने सॉरी बोला. अब बात ऐसी हो गयी थी, की उसने मुझे किस करके मुझमे आग लगा दी. मुझे फिरसे किस करना था.

बुत शिवानी आयेज से मुझे किस नही कर रही थी, क्यूंकी मैने जैसे मोविए के वक़्त रिक्ट किया, वैसे फिरसे ना रिक्ट ना कर डू. अब जो कुछ करना था, वो मुझे करना था. आंड मेरे लिए ये मुश्किल था.

मुझ जैसे अनादि को किस कैसे करते है, ये भी नही पता. तब इंटरनेट का ज़माना उतना नही था. मुझे ऐसे ही बेचैनी हो रही थी. ऐसा लग रहा था कब किस लू और कब नही. पर कैसे अप्रोच करू, ये नही समझ आ रहा था. तो मैने इंटरनेट पे सर्च करना स्टार्ट किया, की कैसे किस करते है, और कैसे लड़की को अप्रोच करते है. जब मैने किस के बारे में पढ़ा, तो मुझे बहुत सारे किस्सस के टाइप पता चले.

और अब किस कैसे करते है, ये मुझे समझ आ गया था. बस अब बात थी की शिवानी को किसी ऐसी जगह पे इन्वाइट करू, जहा सेक्यूरिटी वाला माहौल हो. मुझे दूसरा कुछ सूझा नही, आंड मैने फिरसे नाइट की 2 मोविए की टिकेट निकाल ली. फिर मैं शिवानी को मोविए देखने ले गया. ऐसा लग रहा था, की उसे पता था आज मैं क्या करने की कोशिश करूँगा.

शायद इसलिए पिंक कलर की लिपस्टिक लगा के आई थी. अब मोविए मैने फ्लॉप वाली चूज़ की थी, मतलब कम से कम लोग देखने जाएँगे ऐसी मोविए थी. और मुझे तो किस के लिए जाना था. बस मैं ऐसे मोमेंट की वेट कर रहा था, की मैं किस ले साकु, और वो मोमेंट आ गया.

मैने हल्के से उसका हाथ पकड़ा. हाथ पकड़ने से किसी की हार्टबीट नही बढ़ती, बुत मेरी बढ़ चुकी थी, क्यूंकी मेरे दिमाग़ में किस की प्लॅनिंग चालू थी. हाथ पकड़े कुछ टाइम हुआ, बुत मैने कुछ किया नही. हिम्मत ही नही हो रही थी.

तो उसने कहा: बेबी इतना मत डरो. मुझे पता है आपको कुछ करना है. मैं बुरा नही मानूँगी. आप कर सकते हो.

इस बात से मैं तोड़ा रिलॅक्स हुआ, और एक लंबी ब्रेत लेके मैने उसके ब्यूटिफुल गुलाब जैसी पांकुदियों पे मेरे लिप्स रखे. उसका कोही रिक्षन नही था. उसने आँखें बंद कर ली थी. कुछ सेकेंड्स के लिए लिप्स बस उसके लिप्स पे थे. फिर धीरे-धीरे मैने उसे किस करना स्टार्ट किया.

मैने जैसे पढ़ा था, बस उसी की तरह मैने स्टार्टिंग में दोनो लिप्स को चूसा. मुझे उसके लिप्स चूसने में बहुत मज़ा आ रहा था, और मैने अपनी जीभ उसके मूह में डाल दी. मैने पढ़ लिया था, और बाद में उसके लिप्स और मूह को चूज़ जेया रहा था.

उसके मूह का स्वाद चॉक्लेट टाइप आ रहा था, क्यूंकी उसने चॉक्लेट खाई थी. हम किस करते ही रहे आंड कब 3-4 मिनिट निकल गये, पता नही चला. ऐसे ही मैने 3-4 बार शिवानी सेक्सी के किस्सस लिए. वो भी मोविए के बाद काफ़ी खुश थी. हमने डिन्नर किया, और उसे घर छ्चोढ़ के अपने फ्लॅट पे चला गया.

इसके आयेज की कहानी अगले पार्ट में. आप सब इस स्टोरी को रेड करे और मुझे मेरी मैल ई’द पे फीडबॅक दे.

यह कहानी भी पड़े  कहानी जिसमे भाई ने अपनी कुँवारी बहन की सील तोड़ी


error: Content is protected !!