पार्टी में मिली एक लड़की ओर फिर सेक्स

हेलो दोस्तो कैसे हो आप सब होप सो सारे ठीक होंगे. मेरी पहली स्टोरीस को बोहट सारा प्यार दिया उमीद है आपको ये स्टोरी भी पसंद आएगी. मेरी पहली स्टोरी की तरह ये स्टोरी भी बिल्कुल रियल है. तो चलो शुरू करने से पहले मई अपने नये रीडर्स को अपने बारे में बता डू.

मेरा नाम अर्जुन है और मई पुंजब का रहने वाला हू. मेरी उमर 24 साल है मेरी हाइट 5’10” है और पंजाबी लड़के आपको मालूम ही है दिखने में कितने हॅंडसम होते है.

ये स्टोरी कुछ साल पुरानी है, हुआ यू की मेरे एक फ्रेंड की सिस्टर का बर्तडे था और वो मेरा काफ़ी अछा दोस्त था. तो बर्तडे पार्टी की त्यारी करवाने मई पहले ही च्ला गया.

सारे गेस्ट्स शाम को आने वाले थे तो मई सारा कम ख़तम करने के बाद घर आ गया कपड़े चनागे करने के लिए. मुझे तोड़ा टाइम लग गया पार्टी में फुँचने में. क्यूंकी रास्ते में गिफ्ट वगेरा भी लेना था.

तो जब मई पार्टी में फुँचा तो सारे गेस्ट्स आ चुके थे और मेरा फ्रेंड मेरी ही वेट कर रहा था. जब मई फुँचा तो वो सबके सामने छिला कर बोला अरे यार कहा था इतने टाइम से?! काब्से तेरा वेट कर रा हू केक काटना है.

उसके एसा बोलने पर सब मेरी तरफ ही देखने लग गये. मुझे लगा जेसे मई ही विप गेस्ट हू. मैने भी बात काटते बोला यार फिर मैं गेस्ट टाइम पे ही आते है ना और हासणे लगा.

इतने जानो की भीड़ में एक और शाकस थी जो मुझे तब से देखे ही जा रही थी. और वो थी मेरे फ्रेंड की सिस्टर की फ्रेंड ईशा. मैने कोई खास ध्यान नही दिया फिर पार्टी वगेरा शुरू हुई. हम खाने पीने लग गये फिर शुरू हुआ ड्ज और हम सब नाचने लग गये.

वो भी आ कर नाचने लग गयी और बार बार मेरे पास आ रही थी. पहले तो मैने नॉर्मली लिया की हो जाता है. लेकिन फिर उसके बार बार मेरे करीब आने पर मई भी मोके का फ़ायदा लेने लगा और उसे देखने लगा. और उसके साथ डॅन्स करने लगा.

फिर मैने उसपर गौर किया, ईशा थी तो बहोट सेक्सी 5’6″ हाइट गोरा रंग 34-28-32 की बॉडी. और उपर से ब्लॅक कलर का सूट बहोट कयामत थी वो.

मैने मोका देख कर नाचते नाचते ही एक बार उसे साइड से हग कर लिया. मेरी इस हरकत से वो शरमाने लगी और मेरी और देख कर धीरे धीरे स्माइल करने लगी.

मेरी थोड़ी हिम्मत बड़ी तो मैने ऐसे ही नाचते हुए उसके एक बूब्स को हल्का सा प्रेस कर दिया. पहले तो वो तोड़ा सहम गयी. मुझे लगा की कम कराब हो गया. लेकिन फिर वो खुद ही मेरे और पास आने लगी.

लेकिन वाहा सब थे तो ज़्यादा और कुछ हो नही सकता था. फिर सब जाने की त्यारी करने लगे. मैने भी फिर इस बात को और ज़डा सोचा नही, मैने सोचा की मोका था एंजाय कर लिया. अब इससे ज़डा की उमीद मई रखता नही फिर मई अपने घर आ गया.

कुछ दिन यू ही गुज़र गये मई भी अपनी लाइफ में मस्त था. फिर अचानक एक दिन मेरे व्हातसपप पे किसी अननोन नंबर से म्स्ग आया.

अननोन :- हेलो

मे:- हेलो, हू’स तीस?

अननोन:- वा इतनी जल्दी भूल भी गये?

मे:- सॉरी मैने पहचाना नही आपको और ना ही मेरे फोन में ये नंबर सेव्ड है इसीलिए पूछा की आप कों हो?

अननोन:- उस दिन तो साथ में डॅन्स कर रहे थे और अब इतनी जल्दी भूल भी गये??

मे :- ओह ओक ओक तो आप हो, बताइए अचानक हमे कैसे याद कर लिया और नंबर कहा से मिला??

ईशा :- बस ले लिया कही से अगर बुरा लगा तो नही करते बात.

मे:- नही नही एसी तो कोई बात नही है, मुझे तो बहोट अछा लगा.

ईशा:- अछा तो मुझे भी बहोट लगा था.

मे:- कब?

ईशा:- जब डॅन्स कर रहे थे और साथ में वो सब भी.

मे:- वो सब क्या, मुझे तो कुछ याद नही.

ईशा:- अछा जी चलो बढ़िया है अगर नही याद तो, चलो ठीक है बाइ.

मे:- अरे रूको कहा चली मई तो मज़ाक कर रहा था यार. अछा बताओ सच में अछा लगा था?

ईशा:- ह्म अछा लगा था.

मे:- लेकिन उस दिन तो काम अधूरा ही रह गया, मोका मिला तो पूरा करना है.

ईशा:- अछा जी क्या करोगे अगर मोका मिला तो?

मे:- बहोट कुछ अगर तुम करने डोगी तो.

शी:- देखेंगे..

फिर ऐसे ही हमारी बाते चलती रही और बातो ही बातो में उसने मुझे बताया की वो मुझे उसी दिन लीके करने लगी थी. मई उसे अछा लगा इसीलिए उसने अपनी फ्रेंड जिसकी बर्तडे पार्टी थी उसके फोन से मेरा नंबर लिया और मुझे म्स्ग किया.

फिर धीरे धीरे हमारी बात होने लगी. उसका घर भी मेरे घर से कुछ दूरी पे था. तो आते जाते एक दूसरे को देख भी लिया करते थे. मई उसे रोमॅंटिक मूड में ले आता था जिससे वो मुझे मिलने को मचल जाती थी.

एक रात हम बात कर रहे थे तो मैने धीरे धीरे उसका मूड बना दिया. और फिर वो कहने लगी यार मेरा मॅन कर रहा है मिलने का.

मैने कहा बताओ कब मिलना है मिल लेते है?

तो वो बोली की अभी मिलना है.

मैने कहा अभी कैसे मिलेंगे पागल हो.

तो उसने कहा तुम आओ तो सही मिल भी लेंगे.

मैने ओक बोला और बोल दिया की 10 मिंट में पहुँच जौंगा.

मैने होड़दिए और पाजामा पहना और वॉक करते करते उसके घर की और चल पड़ा. मई उसके घर के पास फुँछ कर उसे म्स्ग किया की मई फुँछ गया हू. उसने कहा ओक मई आती हू बाहर लेने.

मई अंदर से दर भी रहा था की अगर किसी ने देख लिया तो बवाल खड़ा हो जाएगा. लेकिन फिर मिलने का मॅन भी था. वो धीरे से मैं गाते के पास आई और गाते खोला, मुझे अंदर लिया और गाते बंद कर दिया. मई दर्र रहा था.

फिर उसने पीछे वाले लॉबी डोर से मुझे अंदर ले गयी ताकि किसी को पता ना चले. उसके बाकी घर वाले अपने अपने रूम में लेते हुए थे. कोई फोन च्ला रहा था और कोई टीवी देख रहा था.

उसने लॉबी के कर्टन बंद कर दिए ताकि किसी को लॉबी दिखे ना और खुद एक रौंद लगा कर चेक करके आई की सभी अपने कमरे में है या नही और क्या कर रहे है.

तो बे कंटिन्यूड…

दोस्तो स्टोरी का अगला भाग मई जल्द ही लेके ओँगा और प्लीज़ जिन्होने मेरी पिछली स्टोरीस नही पड़ी वो भी ज़रूर पड़े और कोई भी विडो, मॅरीड, या डाइवोर्स या कोई लड़की मज़ा लेना चाहती हो या मुझसे सेक्षुयली कोई हेल्प चाहिए तो मुझे ज़रूर मैल करे. मई अपनी मैल ईद नीचे मेन्षन कर रहा हू.

सेक्स सर्विस इस अवेलबल फॉर ऑल लॅडीस – [email protected]

यह कहानी भी पड़े  कामुकता सेक्स प्यास बुझा दो

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published.


error: Content is protected !!