ऑनलाइन मिली सेक्सी लड़की से दोस्ती और चुदाई

हैलो मेरे प्यारे दोस्तो, अन्तर्वासना में मैं मनीष आप सभी का फिर से स्वागत करता हूँ। आज फिर मैं एक और रोमांचक कहानी लेकर आया हूँ जो मेरी जीवन का किस्सा है। आशा करता हूँ कि आपको मेरी ये कहानी पसंद आएगी।
मेरी पहली कहानी
सहकर्मी से प्यार और चूत चुदाई
में थोड़ी त्रुटियां रह गयी थी पर इस बार कोशिश की है कि आपको शिकायत का मौका ना दूँ।

मेरा नाम मनीष है। इंजीनियरिंग खत्म करके अभी गुडगांव में जॉब कर रहा हूँ। एक अच्छे शरीर का मालिक और 7 इंच लंबे लंड का बादशाह जो किसी भी चूत की प्यास को तृप्त कर सके। यह घटना उस समय की है जब मैं अपने बी. टेक के दूसरे वर्ष में था। उस समय मैं अपना ज्यादा समय फेसबुक जैसी साइट्स पर बिताता था।

बात आज से कुछ तीन साल पहले की है। ऐसे ही एक दिन मेरी दोस्ती लड़की से हुई जो आगरा से थी। हमारी दोस्ती को कुछ दिन हुए थे तो सब कुछ सही चल रहा था पर जानते है ना ये लंड कितना हरामी होता है लड़की देखी नहीं कि बस खड़ा हो जाता है।

उसका नाम मोहिनी (बदला हुआ नाम) है। हम दोनों में अब काफी अच्छी दोस्ती हो गयी थी और यह दोस्ती धीरे धीरे प्यार में बदल गयी, हम धीरे धीरे प्यार के रिश्ते से आगे बढ़ने लगे और हम कई बार फोन सेक्स भी करने लगे।
एक दिन मैंने उससे कहा- हमें मिलना चाहिए, मैं तुमसे मिलना चाहता हूं।
उसने भी मुझसे मिलने की इच्छा जताई।

तो मैं उससे मिलने उसके शहर ताज की नगरी आगरा निकल पड़ा। आगरा पहुँच कर मैंने उसे फोन किया पर वो मुझे लेने स्टेशन नहीं आ पाई पर उसने मुझे होटल का पता बताया तो मैं उसके बताये होटल पर पहुँच गया और रूम में जाकर आराम करने लगा।

यह कहानी भी पड़े  देसी लड़की की मस्त चूत

रात होने को थी, उसने मुझसे सुबह मिलने का वायदा किया। रात में हमारी बातें हुई और फिर मैं सुबह का इंतज़ार करने लगा।

सुबह का इंतज़ार खत्म हुआ और वो मुझसे मिलने के लिए आई। जान कसम जितनी खूबसूरत वो फ़ोटो में दिखती थी असल में वो और भी खूबसूरत थी। संगमरमर सा उसका बदन और उसकी शीशे जैसी कांची आंखें मानो जैसे फलक से कोई परी उतर आयी हो।
मैं उसके बारे में आप लोगों को बता दूं कि वो देखने में एकदम जैसे सनी लियॉन और उसका फिगर 34-28-36 का जैसे कि बस उसका जिस्म देखकर हर कोई उसका दीवाना हो जाये जैसे।

मैंने उसका बहुत ही गर्मजोशी से स्वागत किया और उसको तोहफा दिया। वो जीन्स ओर टॉप में कयामत ढा रही थी ऐसे लग रहा था जैसे वासना की देवी मुझे आमंत्रण दे रही हो और उसकी चूचियों के उभार अपनी ओर बार बार आकर्षित कर रहे थे।

सुबह का वक़्त था, मैंने हम दोनों के लिए कॉफी मंगाई और हम दोनों कॉफी पीते पीते एक दूसरे से प्यार भरी बातें करने लगे।

कॉफी पीने के बाद मैं उसके पास गया और उसके हाथों को अपने हाथ में लेकर किस किया वो सिहर उठी और टेबल पर कप रखने के लिए टेबल के पास गई और वहां खड़ी हो गयी। मैं भी उसके पीछे गया और मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और उसकी गर्दन पर किस करने लगा।

वो मेरी तरफ पलटी और उसकी आँखों में जो नशा देखा, उसको देखकर मैं समझ गया कि हम दोनों ही प्यार और वासना के प्यासे हैं। उसकी आंखों से मैं समझ गया कि उसने मुझे अपने हवाले कर दिया।
मैंने उसे अपनी तरफ खींचा ओर उसको ‘आई लव यू!’ बोला उसने भी मुझे ‘आई लव यू टू!’ बोला।

यह कहानी भी पड़े  Dost Ki Pyari Bahan Ki Choot Chudai Ki Kahani

मैंने अपने होंठों को उसके रसीले होठों से मिलाया और उनका रसपान करने लगा। मैंने एक हाथ उसकी कमर में लपेटा ओर दूसरे हाथ से उसकी चूचियों को टॉप के ऊपर से ही मसलने लगा। उसको मैंने दीवार के सहारे खड़ा किया और उसके टॉप को उतार दिया। ब्रा में उसके बूब्स देखने लायक थे इतनी कसी हुई चूचियाँ।

मैं उसके गले, कंधे ओर चूचियों को किस करने लगा। उसने ना जाने कब अपनी चूचियों को ब्रा से आजाद कर दिया। वो गर्म होने लगी और उसके मुँह से मादक आवाजें निकलने लगी। अब मैं उसको बेड पर ले गया और अपनी शर्ट उतार कर उसके ऊपर आ गया। मैं एक हाथ से उसके बूब्स दबा दबा कर चूस रहा था और दूसरे हाथ से उसकी पैंट का बटन खोल कर उसकी चूत जो कि एकदम शेव की हुई थी उसमें कभी उंगली डाल कर, कभी उसकी चूत के दाने को मसल मसल कर सहला रहा था।

मेरा लंड जो कि 7 इंच लम्बा ओर करीब 2.5″ इंच मोटा है, वो तन कर सलामी दे रहा था, वो सीधा खड़ा हो गया.

मोहिनी को जब मेरा खड़ा लंड महसूस होने लगा तो वो मेरे लंड को ऊपर से ही दबाने लगी। हम बहुत ही जंगली होकर एक दूसरे को किस करने लगे, एक दूसरे को काटने लगे और जीभ से होठों को किस करते और कभी कभी जीभ से जीभ भी।
हम दोनों बहुत गर्म हो चुके थे।

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!