एक नेट फ़्रेन्ड की मस्त चुदाई- सच्ची कहानी

हाय फ्रेंड्स स्टोरी पढने वाली चूत और लोडों को मेरे लंड का सलाम . आपने आज तक बहुत सी स्टोरीस पढ़ी होंगी मैं भी आज अपनी एक सची स्टोरी इस साईट पे डालना चाहता हु ..मै राहुल हरियाणा से .

ये बात अभी कुछ ही समय पहले की है मुझे नेट पे एक लड़की मिली जिसका नाम था शमा और उसकी मुझसे डेली बात होने लगी …धीरे धीरे हम बहुत घुलमिल गए .और हम एक दुसरे को पसंद करने लगे बस मेरा भगवन ने मुझे एक आर्ट अछी दी है किसी को भी बहुत जल्दी इम्प्रेस कर लेता हु .

तोह धीरे धीरे हमने एक दुसरे के मोबाइल नम्बर . एक्सचेंज करे और अब हम फ़ोन पे बात करने लगे
और एक दिन हमने मिलने का प्रोग्राम बनाया और एक प्लेस डिसाइड किया और हम मिले ..उस दिन हमने कुछ बातें करे ..वो बहुत सुंदर थी उसका फिगर था ३४-३०-३६… और वो लड़की थी क्या माल थी यार ..मेरी तो बस एक ही तमन्ना थी की किसी तरह उसकी चुदाई का मौका मिले ..उसके बूब्स और उसकी गांड क्या माल थे यार जब वो चलती तो कयामत ढाती थी ..अब हमने एक दूसरे को देख भी लिया था तो अब हमारी बातें कुछ बढ़ने लगी ..अब हम एक दूसरे से सेक्स की बातें करने लगे.

एक दिन हमने प्रोग्राम बनाया कि हम मिलेंगे और वो सब करेंगे जो हम चाहते है ..अब मुझे मेरा सपना सच होता हुआ दिखाई दे रहा था कॉज वो करने के लिए मान गई थी . सो नेक्स्ट डे हम एक निश्चित स्थान पर मिले. तब हम मेरे दोस्त के घर पे गए जो खाली पड़ा था मैंने पहले ही उसकी चाबी उस से ले ली थी .. हमने मार्केट से कुछ खाने को ले लिया था . हम वह पे पहुचे .. पहले हमने कुछ खाया और बस फ़िर क्या था मैंने उसके नरम नरम लिप्स को किस करना शुरू किया और वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी

यह कहानी भी पड़े  डिवोर्सड आंटी ने लंड चूसा मेरा

किस करते हुए मैंने अपना एक हाथ उसके मोटे मोटे सॉफ्ट सॉफ्ट बूब्स पर रख दिया और उसे दबाना शुरू किया उसकी आँखों में मस्ती चने लगी .. फ़िर मैंने उसकी टॉप में हाथ डाला और उसकी ब्रा के अन्दर से उसके बूब्स को दबाने लगा वो ऊऊओह्ह्ह ह्ह्ह्ह आया आआया अह्ह्ह्छ जैसी सेक्सी वौइस् करने लगी जिस से मेरा लंड तन कर खड़ा हो गया

मैंने उसका टॉप उतर दिया और वो अब पिंक कोलोर की ब्रा में थी मैंने उसे भी उतार दिया अब उसका एक बूब मेरे मुँह में था और एक मेरे हाथ में और वो पागल हुए जा रही थी..

उसकी आवाज पुरे कमरे में गूंज रही थी फिर मैंने धीरे से अपना लंड निकला और उसके हाथ में पकडवा दिया अब वो मेरे लंड के साथ खेल रही थी और बड़े मजे ले रही थी

.. मैंने उसकी जीन्स को भी उतार दिया और उसकी पैंटी में हाथ डाल दिया उसकी चूत तो पूरी गीली हो चुकी थी जैसे ही मैंने उसकी चूत पे हाथ रखा वो सेक्सी आवाजे निकलने लगी ओह्ह्ह ह्ह्ह्ह्ह्छ आआअह्ह्ह्ह मैं और जयादा गरम होने लगा

मैंने उसकी पैंटी को उतार दिया और उसकी चूत को किस करने लगा फ़िर मैं उसकी चूत को चाटने लगा क्या चूत थी उसकी एक दम क्लीन शेव्ड और प्यारी सी चोटी सी एक दान गरम गरम सच कहते है मुस्लिम लड़की की चूत होती ही गरम है ..बहुत टाइट थी उसकी चूत . फिर हम ६९ की पोसिशन में आ गए अब वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत लगभग १५ मिनट तक ये चलता रहा

यह कहानी भी पड़े  बस से चुदाई तक का सफ़र

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!