नये जोड़े की सुहागरात की रियल सेक्स स्टोरी

पहले मैं आपको अपने बारे मैं बताता हू. मेरा नाम रमेश(चेंज्ड नामे). मेरी हाइट 5 फीट 10 इंच है. मेरे लंड का साइज़ 6 इंच है. ये मेरी सुहग्रात की कहानी है.

मैं अपनी शादी से पहले भी 2 लड़कियों को छोड़ चुका था, और हिजड़े को तो ना-जाने कितनी बार. आक्च्युयली मैं अपनी गफ़ से शादी करना चाहता था. लेकिन घर वालो ने माना कर दिया. मैने भी बात समझी, और घर वालो की मर्ज़ी से शादी करने का डिसाइड किया.

जब मेरा कॉलेज ख़तम हुआ, तो फिर मेरे घर वाले मेरी शादी के लिए लड़कियाँ देखने लगे. मैने अपने घर वालो की मर्ज़ी से शादी की थी. लगभग मैने 6 या 7 लड़कियाँ देखी, पर कोई पसंद नही आई.

आक्च्युयली मेरी हाइट ज़्यादा होने के कारण लड़की नही मिल पा रही थी. फिर मेरे चाचा ने एक लड़की दिखाई जो मेरे घर वालो को एक नज़र में पसंद आ गयी. फिर शादी की डटे डिसाइड हुई, और 5 मंत बाद की डटे फिक्स हुई. अब आपको बोर ना करते हुए कहानी पर आता हू.

ये कहानी पिछले साल 2022 की है. जब मेरी शादी हुई, तो घर मैं खूब चहल-पहल थी. काफ़ी रिस्त्ेदार आए हुए थे. मुझे भी बहुत अछा लग रहा था. अपनी शादी में किसे अछा नही लगता.

आख़िर वो रात आ गयी, जिसका मुझे इंतेज़ार था. यानी मेरी सुहग्रात की रात. सॉरी मैं अपनी वाइफ के बारे में बताना भूल गया. मेरी वाइफ 5 फीट 9 इंच की है. उसकी हाइट भी मेरे ही टक्कर की है.

उसका नाम रीना है. दिखने में वो स्मार्ट है. उसके बूब्स 32″ के है, और उसकी गांद 36″ की है. अब स्टोरी पर आता हू. फर्स्ट नाइट मैं जब रूम में गया, तो वाहा पर मेरी वाइफ बेड पर बैठी थी. मैने रूम में जाते ही डोर लॉक किया.

मेरे अंदर आते ही मेरी वाइफ ने मेरे पैर छुए, और दूध का ग्लास मुझे दिया. उसके बाद वो बेड पर बैठ गयी. उसके बाद मैं बेड पर गया, और मेरी वाइफ की मूह दिखाई का उसको गिफ्ट दिया. गिफ्ट में एक मंगलसूत्रा दिया था, जो गोल्ड का था.

मेरी वाइफ ने कहा: आप ही पहना दीजिए.

उसके बाद उसने मुझे दूध दिया. मैने वाइफ से कहा-

मैं: मुझे ये नही वो दूध पीना है.

वो शर्मा गयी. उसके बाद मैने उसके बाल खोल दिए, और उसको किस करने लगा. उसने बहुत अची लिपस्टिक लगाई हुई थी. 10 मिनिट किस करने के बाद मैने उसके ब्लाउस के उपर से बूब्स दबाने शुरू किए. जोश-जोश में मैने ज़्यादा तेज़ दबा दिए. वो सस्स सस्स की आवाज़ निकाल रही थी.

फिर मैने धीरे-धीरे ब्लाउस खोल दिया. उसके बाद ब्रा भी खोल दी. अब वो सिर्फ़ ब्रा में थी. मैने ब्रा के उपर से ही उसके बूब्स पीने शुरू कर दिए. वो मज़े में सिर्फ़ सस्स ससस्स की आवाज़ निकाल रही थी. फिर 10 मिनिट तक बूब्स पीने के बाद, मैने उसको बेड पर लिटा दिया, और उसकी नाभि को छाता. वो बस ससज़्ज़ ससज़्ज़ की आवाज़ निकाल रही थी.

फिर मैने 5 मिनिट बाद उसका लहंगा उपर किया. अब वो सिर्फ़ पनटी में मेरे सामने थी. उसकी जांघें बिल्कुल गोरी थी. और मैं उनको देख कर उन पर टूट पड़ा और चाटने लगा. और बीच-बीच में पनटी के उपर से छूट को भी चाट रहा था.

उसकी छूट से खुसबु आ रही थी. मेरी वाइफ आ आ की आवाज़ निकाल रही थी, जो मुझे और पागल कर रही थी. 20 मिनिट के बाद मैने अपनी वाइफ की पनटी उतरी, तो मुझे छूट के दर्शन हुए.

हाए उसकी छूट पर एक भी बाल नही था. उसने बाल सॉफ कर रखे थे. मैने फिर उसकी छूट के होंठ हटा कर देखा तो वो एक दूं गुलाबी थी. उसके बाद मैने अपनी वाइफ की छूट पर होंठ रख दिए, और चाटने लगा. मैं उसकी छूट चाट था था, और वो जोश में ससज़्ज़ ससज़्ज़ आ आ की आवाज़ निकाल रही थी.

उसने बेड शीट को कस्स कर अपने हाथो से पकड़ रखा था, और मादक आवाज़े निकाल रही थी. लेकिन मैं उसकी छूट भूखे भेड़िए की तरह चूस रहा था. उसके बाद उसने मेरा सर पकड़ लिया, और अपनी छूट में दबाने लगी.

करीब 15 मिनिट तक ये चलता रहा. उसके बाद उसने मेरा सर अपनी छूट से हटा दिया, और मेरा लंड जो की मेरे पाजामे में था, उसको उपर से ही सहलाने लगी. उसके बाद उसने मेरा पाजामा खोला, और मेरा अंडरवेर भी उपर कर दिया.

वो भूखी शेरनी की तरह उसको चूसने लगी. मैं तो स्वर्ग का आनंद ले रहा था. मैं जोश में उसका सर पकड़ कर स्ट्रोक्स मार रहा था. करीब 15 मिनिट के बाद मैं उसके मूह में झाड़ गया. उसके बाद मैं दोबारा छूट चाटने लगा.

करीब 5 मिनिट बाद वो बोली: अब तो डाल दो राजा जी.

उसके बाद मैने देर ना करते हुए उसकी छूट के मूह पर अपने लंड का सुपरा रखा, तो वो सिहर उठी, और सिसकारियाँ लेने लगी. मैं लंड को उसकी छूट पर रेगद्ता रहा.

फिर वो अपने हाथ से मेरे लंड को छूट में घुसने लगी. लेकिन लंड मोटा होने के कारण नही जेया रहा था. उसके बाद मैने लंड को उसकी छूट के च्छेद पर रखा, और अपने हाथो से उसका मूह बंद कर दिया.

फिर मैने एक ज़ोर का झटका मारा, और मेरे लंड का सुपरा उसकी छूट में था. वो झटपटाने लगी. उसको भौत दर्द हुआ. मैं उसके बाद 5 मिनिट रुका रहा.

जब वो शांत हुई तो मैने एक ज़ोर का झटका मारा, तो पूरा लंड अंदर चला गया, और वो रोने लगी. मेरा लंड 6 इंच का है. उसकी आँखों से आँसू आ गये थे. मैने उसको इग्नोर किया और चुदाई करता रहा. करीब 5 मिनिट बाद वो भी चुदाई का मज़ा लेने लगी, और गांद उठा कर मेरा साथ दे रही थी.

फिर 15 मिनिट बाद मैं झाड़ गया, और वो पहले ही झाड़ गयी थी. उस रात उसको मैने टीन बार छोड़ा. फिर हम सो गये. मॉर्निंग में करीब 8 बजे आँख खुली, तो मैने उसको उठाया. हमने अपने कपड़े पहने. फिर जब वो उठी, तो दर्द के मारे सही से चल नही पा रही थी.

तो दोस्तों ये थी मेरी पहली सुहग्रात की कहानी. आपको कैसी लगी कॉमेंट करे. यदि कोई भाभी या आंटी अपनी चुदाई करवाना चाहती हो, तो मुझे कॉमेंट या मेरी ई’द पर मैल करे. पुर आनंद की गॅरेंटी है.

यह कहानी भी पड़े  भानजे के मामी को हवस दिखाने की कहानी


error: Content is protected !!