मुस्लिम ड्राइवर की हॉट बीवी की चुदाई

चुदाई की दुनिया के दोस्तों, आप सब को बहुत बहुत प्यार और सलाम! मेरा नाम शर्मा हे और मैं 38 साल का हूँ और आंध्रा के हैदराबाद में रहता हूँ. मैं एक एमएनसी कम्पनी में काम करता हु और दिखने में मैं अबाऊ एवरेज हूँ. मैं व्हिस्की, बियर और औरतों के बदन का प्यासा हूँ.

अभी कुछ दिन पहले मैंने एक अलग ही बिजनेश मोडल बनाया था अपना. मैं कार खरीद के ड्राइवर के साथ उन्हें बड़ी कंपनी वालो को किराये पर देता हूँ. शरुआत में ये आइडिया सही लगा मुझे, खुद की जॉब करो और ड्राईवर आप के लिए पैसे कमाता फिरेगा! मैंने अपनी दो कार ली एक इंडिका और दुसरी मारुती की रिट्ज. पहले कुछ दिन ड्राईवर मिले. लेकिन फिर मुझे किल्लत हुई. एक था वो गाँव गया और वापस आया ही नहीं. दूसरा कभी आता था तो कभी गाडी दिन दिन भर मेरे घर के सामने पड़ी रहती थी.

इएमआई के चक्कर बड़े चुतियापे थे. मुझे टेंशन होने लगी थी क्यूंकि मैं बहुत पैसा इस बिजनेश के लिए लगा चूका था. फिर मैंने सोचा की अब की जो भी ड्राईवर रखूँगा उनकी सही चेकिंग करूँगा. उन्के घर देखूंगा, रहन सहन देखूंगा उनकी आदतें देखूंगा और फिर ही गाडी की चाबी दूंगा सालों को.

फिर कुछ दिनों के बाद एक बीमार और मरियल सा आदमी आया मेरे घर पर. उसे देख के भीख देने को मन हो जाए ऐसा था. उसने कहा की वो ड्राईवर की जॉब के लिए आया हे. मैंने कहा, तुम बीमार तो नहीं न? वो बोला नहीं नहीं साहब सिर्फ मरियल सा ही हूँ और गाडी सही चला लेता हूँ. फिर उसने मुझे वो जहाँ से आया था उसका कार्ड दिया और बोला, आप इनसे पूछ ले मैंने इनके यहाँ बहुत काम किया हे. मेरा नाम रहीम कहां हे. मैंने चेक किया तो उसकी बात सही थी. मैंने उस बन्दे से पूछा फीर आप ने उसे क्यूँ निकाल दिया. वो बोला मैं फेमली के साथ दुबई को शिफ्ट हो रहा हूँ.

यह कहानी भी पड़े  अवन्तिका की बेइन्तिहा मुहब्बत-1

मैंने रहमान से कहा एक काम करो अपना पता लिखवा दो मुझे. मैंने एड्रेस वगेरह देखूंगा और फिर काम की बात करेंगे हम लोग. उसने मुझे अपना पता लिखवा दिया. शाम को ही मैं उसके घर चला गया. और वही पर मुझे इस कहानी की हिरोइन मिल गई! वो एक छोटा सा कमरा था अबरख की छत वाला, जिसमे एक छोटा पोर्टेबल टीवी था और एक बिस्तर था. और उस बिस्तर के ऊपर ये खुबसुरत औरत बैठी हुई थी. वो 30 साल के करीब की लग रही थी. उसका ब्लाउज टाईट था और उसने साडी को साइड में टक किया हुआ था. उसका नाभि का बटन बड़ा ही मादक लग रहा था. मैंने सोचा की मरियल रहमान को बीवी तो बड़ी सेक्सी मिली हे! रहमान ने मुझे देखा और अन्दर बिठाया. मैं बार बार उसकी बीवी को देख लेता था.

रहमान के साथ बात कर के मैं निकल गया और दुसरे दिन से ही उसे काम पर लगा दिया.

कुछ दिन के बाद रहमान काम पर नहीं आया तो मैंने कॉल कीया.

सामने जैसे ही कॉल पिक हुआ मैं बोला, अरे यार तुम काम पर नहीं आये आज, बीवी के साथ बैठो हो क्या?

सामने से स्वीट आवाज आया और उसकी बीवी ही थी लाइन पर. वो बोली, जी उनकी तबियत कल रात से ख़राब हे!

मैंने कहा: फिर उसे मुझे कम से कम कॉल कर के बताना तो चाहिए ना!

उसकी बीवी जिसका नाम शहनाज़ हे वो बोली: सर तबियत ऐसी हो गई की बोल नहीं पाए आप को.

यह कहानी भी पड़े  मेरी वाइफ की बर्बादी--1

मैंने कहा: देखो सुबह से गाडी पड़ा हुआ हे. अगर सुबह पता होता तो मैं कही भी चढ़ा देता था इसे.

तभी उसका कॉल कट गया. मुझे लगा की उसने जानबूझ के कॉल कट किया और मुझे बड़ा गुस्सा आया. तभी मुझे एक और नम्बर से कॉल आई. वो शहनाज़ ही थी. वो बोली: सर वहां पर आवाज नहीं आ रही थी सही, ये मेरा नम्बर हे उसके ऊपर से कॉल कर दी इसलिए मैंने.

मैं बोला: अच्छा.

शहनाज़ बोली: हां सर आप इसे सेव कर लीजिये आप को कोई भी काम हो तो मुझे डायरेक्ट भी कॉल कर सकते हो आप.

मैंने कहा. मैं घर आऊं रहमान को देखने के लिए.

शहनाज़ बोली: आ जाओ साहब वो सोये हुए हे आप मेरे से मिल लेना!

मैंने मन ही मन में सोचा की साली ये तो आइटम लग रही हे. सामने से नम्बर भी दिया अपना और बातें भी बड़ी सही कर रही हे.

मैं बाइक ले के उसके घर चला गया. हलके से नोक की तो शहनाज़ ने ही दरवाज खोला. उसने पिंक बोर्डर वालिस सफेद साडी पहनी हुई थी जिसके अन्दर पिला लो कट वाला ब्लाउज था. साली बड़ी ही मादक लग रही थी. वो भी मुझे ऊपर से निचे तक देख के बोली, आइये न सर!

वो आगे बढ़ी. मैंने पीछे से उसके हॉट फिगर को देखा. वाऊ क्या मस्त माल थी ये तो. साली रहमान के हत्थे कैसे चडी ये!

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!