मम्मी की दोस्त के बाद मम्मी की चूत मारी

पिछले पार्ट (मों ने अपनी फ्रेंड के साथ मिलकर मुझे छोड़ा) मे पढ़ा की मों जब बाहर गयी तब आंटी ने मेरी चड्डी उतार कर मुझे नंगा कर दिया. फिर जैसे ही मम्मी वापस आती कमरे मे, उसके बाद-

मों – क्या बात है तुम दोनो बड़े फास्ट हो? इतने में नंगे भी हो गये? वेरी गुड.

शिल्पा – जब करना ही है तो टाइम क्यू वेस्ट करना?

मों और आंटी स्माइल करते हुए-

मों – राहुल बेटा? अंडरवेर नही उतरोगे?

राहुल – मम्मी वो आंटी के सामने?

शिल्पा – बेटा देख, मैं भी तेरे सामने नंगी हो रही हू ना?

ये कहते ही आंटी ने अपनी ब्रा भी उतार दी और मेरे सामने अपने बूब्स को प्रेस करने लगी.

शिल्पा – लगता है बेटा मुझे ही उतरने पड़ेगी तुम्हारी चड्डी..

ये कहते ही आंटी ने मेरी छड़ी में हाथ डाला और नीचे खिच दी. मैने उनके और मम्मी के सामने नंगा लेता हुआ था.

शिल्पा – तू तो कह रही थी खड़ा है इसका..

मों – टाइम हो गया ना उसको, अभी तू टच कर देख कैसे इसके पापा की तरह लंबा होने लगेगा.

शिल्पा – योउ शुवर इसके पापा के जितना साइज़ होगा?

(मेरे नूनन्ू पे हाथ घूमते हुए)

मों – हन इसके पापा का लंबा था लेकिन मोटा नही था. राहुल का लंबा भी है और मोटा भी. प्लस देख कितना प्यारा है ना?

शिल्पा – मैं तो पहली बार इतना जवान लंड देखूँगी. थॅंक्स मेरी बरसो की इचा पूरी करने के लिए.

मों – इसमे थॅंक्स क्या? तू बेस्ट फ्रेंड है ना मेरी.

फिर दोनो बात करते करते साथ में मेरे नुणु को सहलाने लगते. कभी मों मेरे नुणु पे ठुकती और सहलाती, तो कभी शिल्पा आंटी. मुझे अभी फिर से पहले की तरह अछा लगने लगा था और मज़ा आने लगा था. फिर कुछ मिनिट बाद जब मेरा पूरी तरह हार्ड हो चुका था तो आंटी बोली-

शिल्पा – सच में जवान बचो का कितना सख़्त होता है. कितना प्यारा है राहुल का लंड.

कहते कहते शिल्पा आंटी झुक कर मेरे लंड मूह में लेकर चूसने लगी जो मुझे बोहोट गरम महसूस हो रहा था. मैने मम्मी की तरफ देखा-

राहुल – मम्मा?

मों – इट’स ओके राहुल, उनको सब पता है क्या सही है क्या नही, डरो मत.

मैं फील लेने लगा था की इतने में आंटी उठी और मेरे सामने अपनी सेक्सी पनटी उतार कर नंगी हो गयी. बाइ गोद इतनी गोरी इस उमर में कैसे होती है मुझे समाज नही आता. उपर से नीचे एक भी बाल नही, लेकिन नुणु ना देखते हुए मैं परेशन हुआ-

राहुल – मम्मी आंटी का नुणु कहा है?

शिल्पा – (हेस्ट हुए) यार तेरा बेटे को सच में कुछ नही पता?

मों- नही ना, इसलिए तो तुझे बुलाया. मुझे शरम आ रही थी सीखने में.

शिल्पा – बेटा हम लड़कियों को नुणु नही होता. छूट होती है देखो ये होल है ना? ये तुम्हारे नुणु की तरह ही काम करता है सस्यू करने में.

राहुल – मतलब मम्मी आपका भी?

मों और शिल्पा आंटी एक दूसरे की तरफ देखते हुए.

मों – हा बेटा, तुम्हारी मम्मा के पास भी छूट है आंटी की तरह. देखो अब तुम अपना नुणु आंटी के छूट के होल में डालोगे. ठीक है?

राहुल – छोटे से होल में जाएगा मम्मी?

शिल्पा – (मेरे मूह के उपर आते हुए) बेटा, ये छोटा नही है अंदर बोहोट गहरा होता है. देख अब तेरे उपर बैठूँगी ना तो अंदर घुस जाएगा पूरा.

फिर आंटी ने तोड़ा थूक लगा के अपनी छूट पे स्प्रेड किया और मों ने मेरा लंड पकड़ के सीधा किया जिसके उपर शिल्पा आंटी तोड़ा सेट होकर बैठ गयी और मेरा पूरा लंड अंदर घुस चुका था. फिर आंटी लेग्स फोल्ड कर के मेरे उपर बैठ कर उछालने लगी. शिल्पा आंटी खुश लग रही और मों उन्हे देख कर खुश थी.

शिल्पा – सच में तेरे बेटे में दूं है. शादी के बाद ये बीवी की आचे से लेगा.

मों – कोई नई एंजाय कर ले तू, तेरे नसीब में है मेरे बेटे का लंड.

शिल्पा – तू भी नंगी हो जा ना, देख के क्या करेगी? उंगली कर साथ में.

राहुल – हा मम्मी आप भी नंगे हो जाओ ना प्लीज़…

मों और आंटी हेस्ट हुए, मों ने मुझे प्यार से स्लॅप किया और कहा-

मों – अपनी मा को नंगा देखेगा बदमाश. कुछ नही दिखौँगी मैं..

राहुल – (मों का हाथ पकड़ते हुए एमोशनली) मों प्लीज़…

मों – यार पहली बार मेरे बेटे ने कुछ माँगा है. मैं माना तो नही कर सकती.

शिल्पा – अछा है तेरी गांद नही माँगी, वरना तू वो भी माना नही कर सकती हाहाहा..

मों – श पागल..

उसके बाद मों उठ कर अपनी शर्ट और पॅंट्स उतरने लगी. मों ने अंदर सेक्सी सी रेड ब्रा और पॅंटीस पहनी थी जो मेरे सामने ही उतार के नंगी हो गयी.

शिल्पा – यार तोड़ा थूक लगा देगी प्लीज़? मुझसे उठा नही जा रहा इसके लंड से.

मों – हा क्यू नही.

फिर मों मेरे पेट की तरफ आते हुए थूक लगाया आंटी की छूट और मेरे लंड पे.

राहुल – मों आप और आंटी बोहोट अची लग रही हो. ई लोवे योउ मों!

मों – बिल्कुल अपने बाप पे गया है. पता उनके सामने भी जब नंगी होने लगती थी उसी वक़्त ई लोवे योउ बोलते थे. ई लोवे उ टू बेटा.

इतनी देर तक आंटी मुझ पे कूद ही रही थी जिसमें मुझे बोहोट मज़ा आने लगा था की उनके बचे ने रोना शुरू कर दिया.

शिल्पा – यार मैं उसे दूध पिलाकर सुला के आती हू. तब तक तू कंटिन्यू कर वरना बैठ जाएगा.

मों – लेकिन मैं कैसे?

राहुल – हा प्लीज़ मम्मा. मुझे आपके साथ प्यार करना है.

मों – अछा चल लेकिन टुजे मेरे उपर लेटना पड़ेगा. ठीक है ना?

राहुल – जैसे आप कहो मम्मी.

फिर मों बेड पे लेट गयी और ढेर सारा थूक अपनी पिंक छूट पे रगड़ते हुए मुझसे सेट कर के छोड़ने को कहा. मैने उसी तरह अपना लंड पूरा अंदर डाला जिसके बाद मम्मी ने ज़ोर से मुझे हग कर लिया.

मों – अया बेटा, अछा कर रहा है. कंटिन्यू कर बेटा…

राहुल – मम्मी आपकी छूट बोहोट गरम है अंदर से..

मों – बेटा औरतों की छूट गरम ही होती है. उफ़फ्फ़ बेटा, ऐसे ही करते रह रुकना मत मेरी जान.

फिर मैं मों के उपर पूरी तरह लेट गया जहा उनके बूब्स मेरे चेस्ट से डब रहे थे और मैं उनके शोल्डर्स पे किस कर के अपना लंड अंदर बाहर करने लगा था. फिर मों ने मुझे हग कर के मेरे बम्स को पकड़ लिया और सहलाने लगी. इतने में शिल्पा आंटी आ गयी-

शिल्पा – वेरी गुड, मा बेटे लगे हुए है. नोट बाद नोट बाद. लेकिन मैं भी आधे में हू यार.

मों – तू बोल तो मैं चाट डू तेरी छूट?

शिल्पा – यार तू मेरे बार में ऐसा सोचती थी? कभी तूने बताया नही.

मों – मतलब मैने कभी किया नही और किसी के साथ करूँगी भी नही. लेकिन तेरे साथ सोच सकती हू.

शिल्पा – (सोचते हुए) वैसे ट्राइ तो कर ही सकते है. राहुल बेटा बैठ के छोड़ो अपनी मम्मा को. अभी देखो छूट कैसे चाटते है.

मैं उठ कर मम्मी को वैसे ही छोड़ रहा था की शिल्पा आंटी उठ कर मम्मी के फेस पे बैठ गयी. और उनकी मस्त गोरी गोरी गंद मेरी तरफ थी. हम इसी पोज़िशन में करीब 10 मिनिट तक रहे और उसके बाद-

शिल्पा – एस मैं छूटने वाली हू आआअहह तू बोहोट अछा चाट रही है उफफफफ्फ़ तोड़ा ज़ोर से…

मों – तोड़ा झुक जेया.,राहुल पीछे से आंटी के बम्स पे क़िस्सी दो.

मैं छोड़ते छोड़ते लेता और बम्स पे किस करने की गया था की.

राहुल – आंटी ये आपका होल अलग क्यू लग रहा है अब?

इतने में आंटी तो मम्मी के मूह में झाड़ चुकी थी.

शिल्पा – (हफ्ते हुए) बेटा वो होल अलग है जो तुमने देखा था. जहा तुमने लंड डाला था वो छूट और अब जो पीछे से दिख रहा है वो गांद का छेड़ है.

राहुल – आंटी इससे क्या करते है?

शिल्पा – तेरा बेटा ना सच में यार… बोहोट क्यूट है.

इतने में आंटी उठी और मेरे पीछे आ गयी. फिर मेरे बम्स पे सॉफ्ट्ली हाथ घूमते हुए मेरे गांद पे बीच उंगलियाँ घूमने लगी. फिर मेरे छेड़ पे उंगली रख के बोली-

शिल्पा – बेटा राहुल, तुम्हे भी तो होल है यहा पीछे.

राहुल – आंटी वह से तो पॉटी करते है.

मों – तो बेटा, हम लड़कियों को भी ऐसे होता है, मुझे भी है.

राहुल – ओके मम्मा, कुछ निकालने वाला है आआअहह मम्मा…

मों – दर मत बस अंदर ही निकल दे बेटा.

और फिर कुछ स्ट्रोक्स के बाद मैने मम्मी के छूट में ही सारा माल निकल दिया. फिर मम्मी उठी और आंटी दोनो मेरे सामने खड़ी हो गयी घूम के-

मों – देख बेटा, तेरी मों और आंटी की गांद, दिख रहा है छेड़?

राहुल – हा मों बोहोट मस्त लग रहा है.

शिल्पा – तो बेटा हम दोनो के बम्स पे किस करो फिर सो जाते है.

मैने दोनो के बम्स को किस किया और फिर मों ने आंटी को आज रत यहीं रुकने कहा-

शिल्पा – वैसे हा सो सकते है, मैं तो बोलती हू नंगे ही सोते है हम. बस अपनी बची को ले अओ.

फिर आंटी ने दूसरे कमरे से उनकी बची को हमारे बीच सुलाया और हम तीनो नंगे ही सो गये.

तो दोस्तो आपको ये कहानी कैसी लगी मुझे नीचे दिए मैल पर ज़रूर बताए:

यह कहानी भी पड़े  रूपाली की टाइट चूत का बाजा बजाया

error: Content is protected !!