मेरी बर्बादी की कहानी

हेलो मेरा नाम पुष्पा हैं मैं 29 साल की मेरीड लेडी हू मेरा फिगर 36-30-36 है मेरे हज़्बेंड जो की बिज़्नेस करते है मंत मे 2 वीक बाहर ही रहते है मैं वैसे तो नैनीताल की रहने वाली हू पर शादी के बाद से देल्ही मे रहते है मेरे हज़्बेंड रवि की फॅमिली मे 1 बहन के सिवा कोई नही है हमारी लव मॅरिज हुई थी शादी के बाद मेरा भाई भी मेरे पास आ गया पढ़ने के लिए और उसके बाद जॉब करने लगा ग्राउंड फ्लोर पे मैं और मेरे हज़्बेंड रहते है मेरा भाई राहुल को हमने फर्स्ट फ्लोर पे 1 रूम दे रखा है और वही पे 1 रूम रवि की बहन पूजा का भी है उसके उपर के 2 फ्लोर हमने किराए पे दे रखे थे.

तो अब ज़्यादा बोर ना करते हुए स्टोरी शुरू करती हू ये मेरे रियल स्टोरी है 100% कुछ भी काल्पनिक नही है मेरी बर्बादी की शुरूवात हुई 4 साल पहले जब मैं मार्केट गयी रवि उस दिन घर पे ही थे तो मैं मार्केट गयी और मार्केट जाके देखा की पैसे मैं घर भूल आई मैं वापिस घर गई तो मैने बेल बजाई 2 मिनट बाद काम वाली ने गेट खोला तो वो हड़बड़ाई सी थी मैने इग्नोर किया और अंदर गयी तो देखा रवि सो रहे थे मैने पर्स लिया और वापिस मूडी तो मैने देखा की बेड के पास ब्रा पड़ी हुई थी वो मेरी ब्रा नही थी तो मेरी समझ मे सब कुछ आ गया और ये भी समझ गयी की काम वाली क्यू घबराई हुई थी मैं चुपचाप चली गयी मार्केट जाने का मन नही किया और 2 अवर पार्क मे बिता के वापिस आ गयी तब तक काम वाली जा चुकी थी

अब मेरे मन मे ये बात बैठ गयी थी की रवि के पता नही किस किस से रीलेशन होंगे लेकिन मैं किसी को कुछ कह नही पाई, नेक्स्ट डे रवि चले गये बिज़्नेस के काम से मेरे दिमाग़ मे वही बात घूम रही थी रवि को बोलना मतलब अपने घर को आग लगाना था मेरे मन मे आया की पूजा को किसी से चुदवा दू या मैं खुद किसी और से चुद जाउ तो शायद बेवफ़ाई का बदला लिया जा सके मेरे दिमाग़ ने काम करना बंद कर दिया तभी 1 डीलर आ गया हमारा टॉप फ्लोर खाली पड़ा था उसे रेंट पे देना था मैं डिलार को चाबी दी और वापिस आ गयी थोड़ी देर मे डिलार आया चाबी देने और उसने किरायेदार से मिलवाया किराया तय हुआ और वो अड्वान्स दे के चला गया वो 24-25 साल का 6 फुट का शादीशुदा लड़का था उसका नाम अरुण था नेक्स्ट डे वो शिफ्ट भी कर गया उसकी वाइफ अभी गाओं मे थी वो हिमाचल का रहने वाला था उसने मेरा नं. लिया की कोई काम पड़ सकता है वो जॉब करता था 2-3 दिन तक सब नॉर्मल चलता रहा

यह कहानी भी पड़े  एक्स गर्लफ्रेंड की माँ को ब्लेकमेल किया

फिर 1 दिन उसका व्टसॅप पे मेसेज आया की आज मैं दोस्त के पास जाउन्गा आप गेट बंद कर लेना मैने ओके लिखा और बात ख़तम हो गयी 2 दिन बाद उसने रात मे यही कोई 9 बजे व्टसॅप पे कोई जोक भेजा मैं हस दी फिर उस से ऐसे ही थोड़ी बात की फिर सो गयी अब धीरे धीरे हमारी रात मे व्टसॅप पे बात होने लगी रवि होते थे तो वो मेसेज नही करता था मेरा भी टाइम पास हो जाता था फिर 1 दिन रवि 1 दिन के लिए नागपुर गये तो हमारी बाते बढ़ने लगी मैं उसके बीवी के बारे मे पूछती तो वो कहता की आपके जितनी सुंदर नही है और फिर 1 दिन अचानक उसने मुझे प्रापोज़ कर दिया मुझे भी वो कुछ अछा लगता था और मैं रवि से बेवफ़ाई भी करना चाहती थी तो मैने हा बोल दिया पर सेक्स या सेक्स की बाते उस टाइम तक मेरे दिमाग़ मे कही तक भी नही थी

धीरे धीरे बाते बढ़ते बढ़ते वो किस तक आ गया मैने उसे मना भी किया लेकिन वो कहता की प्यार मे इतना हक़ तो बनता है रवि को गये 10 दिन हो चुके थे मैने उसे कहा की किस करने का जब मौका आएगा तब सोचेंगे उसने कहा की अभी आ जाता हू नीचे मैने मना किया तो उसने बोला कोई बात नही आप चाय पीला देना और थोड़ी गप्पे मार लेंगे मैने ओके कहा और वो नीचे आ गया मैने उसे चाय पिलाई और हम बेड पर बैठ कर बाते करने लगे उसने फिर से किस की बात शुरू कर दी वो बहुत कहता रहा तो मैने हा कह दिया और साथ ही कहा की कही और टच नही करोगे तो वो बोला की ठीक है पर किस कितनी भी देर तक हो तुम मना नही करोगी मैने ओके कहा और वो मेरे बगल मे आ गया उसने कहा की लेट के करेंगे मैं सीधे लेट गयी और वो मेरे साइड मे आ गया उसने अपने लिप्स मेरे लिप्स पर रखे और किस करने लगा मुझे भी अछा लग रहा था मैं उसे मना नही किया किस करते करते मैं हॉट हो गयी वो मेरे बूब्स पे हाथ रख के बूब्स प्रेस करने लगा मैने कुछ नही कहा अब मेरा भी मन सेक्स करने का करने लगा था

यह कहानी भी पड़े  बीवी ने अपने लिए लंड का इंतज़ाम किया

Pages: 1 2

Comments 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!