मस्त गांड चुदाई की कहानी

mast gand chudai ki kahani मेरा नाम राज शर्मा है, ३5/ साल का हूँ और मैं दूसरी स्टेट में नौकरी करता हु मैं ६ महिना में एक बार घर आता हूँ और महिना भर रुक कर फिर चला जाता हूँ. जब भी घर आता हूँ हर बार कोई न कोई लड़की की चुदाई करता हूँ. मैं करीबन २५ औरतो को चोद चुक्का हूँ और वो मेरी चुदाई से बहूतखुश भी हुई है अब मैं आपनी कहानी सुरु करता हूँ एकबार ट्रेन से डेल्ही से हावड़ा आ रहा था तो मेरा बर्थ साइड लोवेर था एंड मेरे ऊपर वाली बर्थ में एक औरत की बर्थ थी. दिन में उनके साथ मेरा बर्थ में बैठ के बात करते करते चल रहा था मैंने उनके बारे में पूछा तो वो बोली वो विधवा है और ३ साल पहले उसके पति का स्वर्गवास हुआ, वो मायके आये थी अभी घर जा रही है उनके पति सरकारी जॉब में थे और अब उन्हें उनकी जगह सर्विस मिल गयी है.

उनके दो बच्चे है एक बेटा और एक बेटी, बेटा १० साल का और बेटी ७ साल की, दोनों स्कूल जाते है.उनको देखके लगा उनकी एज ४३/४४, सीधी सादी सभ्य महिला, उनका सरीर बहुत सेक्सी लग रहा था ब्लाउज में से झाकती उनकी मोटी मोटी चुचिया बहुत मस्त लग रही थी बार बार उनकी चुचियो की झलक देखके मुझे बहोत अच्छा लगने लगा. रास्ते दोनों एकही बर्थ में दोनों बैठ के बात करते करते टाइम पास कर रहे थे . उन्होंने आपना फ़ोन नंबर मुझे दिया मैंने भी आपना नंबर उनको दिया. मैं आप को फ़ोन करूंगी तो आप बात कर लेना. हावड़ा में पहुच के वो बोली मेरा घर हावड़ा स्टेशन से लोकल ही दो स्टेशन बाद में ही है आप आजाना एकदिन बोलके वो हावड़ा में दूसरी लोकल ट्रेन में बैठ गयी. दो दिन बाद उनका फ़ोन आया और मुझे उनके घर आने केलिए रिक्वेस्ट कर रही थी, मैं भी घर में फ्री था तो मैं भी जाने केलिए हा कर दिया और नेक्स्ट डे शाम को चल दिया.

यह कहानी भी पड़े  मम्मी ठण्ड तो कब के चली गई

उनके घर करीब ८ बजे पंहुचा और देखा की घर में कोइ नही तो मैंने पूछा आप के बच्चे लोग कहा है तो वो बोली आज सुबह मेरे पति का भतीजा आया था वो बच्चो को ले गया. बात करते करते ९ बज गए.मैं सोफे पर बैठा था वो एकदम से मेरे पास आयी और मेरा हाँथ पकड़ कर मुझसे उठने को कहा, मैं उठ गया तो उन्होंने एक रूम की तरफ इशारा करके बोला की आप वहा रूम में बैठो . में आती हूँ ..मैं उस रूम की तरफ बढ़ने लगा और तभी उन्होंने ने पहले रूम की लाइट ऑफ कर दी ..मैं जिस रूम में पहुंचा बो बेडरूम था , वो भी ५ मिनिट के बाद आ गयी, बेड पर दिवार से पीठ टिका कर आराम से बैठ गयी .मैं भी उसके साथ पैर फेलाकर बैठ गया अब वो मेरी तरफ देखके बोली आप मुझे अच्छे लगे हो मैं बहुत परेसान हूँ मुझे अकेलापन बर्दास्त नहीं हो रहा है इस लिए मेने आप को आने केलिए रिक्वेस्ट करके बच्चो को भेज दिया.

फिर मेने उसका हाँथ आपने हाँथ में लेकर उसे चूमा तो उसकी आँख बंद हो गयी साँसे तेज चलने लगी ..मेने उसे गोर से देखा ..उनका बदन इतना सेक्सी था की में बता नहीं सकता बूब्स बड़े थे और पेट की चमड़ी मुड़ी हुई थी जिसे देख कर मेने उनकी बुर की गहराई का अंदाज लगा लिया ..मांस से भरी हुयी जांघें साडी में से दिख रही थी बो सफ़ेद ब्लाउज पहने हुए थी उसमे से दूध का आकार साफ़ दिख रहा था ..मैं हाँथ चुमते हुए आगे बढ़ा और उसकी गर्दन से होते हुए उसके होंठो पर आपने होंठ रख दिए बो सिहर उठी और आपनी आँख खोल कर मुझे देखा और झट से मुझसे लिपट गयी ..वो लम्बी लम्बी साँसे ले रही थी ?उसने मुझे इतनी जोर से. ताकत के साथ मुझे आपनी बांहों में लिया के एक समय मेरी भी साँसे रुकने लगी.

यह कहानी भी पड़े  मेरे दोस्त अमन की माँ और दीदी साथ सेक्स

करीब १५ मिनिट तक हम दोनों एक दुसरे के होंठ चूस रहे थे ..फिर मेने आपने होंठ उसके होंठो से आलग किये तो बो जोर से हांफ रही थी मेने अपने होंठ उसके गालो से रगड़ ते हुए उसकी गर्दन पर उसके कान पर चूमना सुरु कर दिया.बो मचल उठी फिर मेने एक हाँथ से उनके दूध को सहलाना सुरु किया तो उसने एक हाँथ मेरी गर्दन के पीछे डाल कर मेरा सर आपने सीने की तरफ खीच लिया और बिस्तर पर लेट गयी ..मेने ब्लौसे के ऊपर से ही दोनों दूध पर आपने होंठ फिराना चालू किया और एक हाँथ से उनकी साडी पकड़ कर जांघो तक ऊपर कर दी, अब में दूध से होते हुए पेट पर और उनकी नावेल को चूमने लगा बो आँख बंद किये हुए लेटी थी और आपने होंठ चबा रही थी ..जोर जोर से साँसे ले रही थी फिर मेने आपने होंठ साडी के ऊपर से ही उसकी बुर पर लगा दिए और जोर जोर से रगड़ने लगा..फिर मेने उसकी जांघो को देखा तो देख ता ही रह गया ..वो सबसे जयादा सेक्सी जाँघों के कारन ही लग रही थी ..क्या मसल जांघे थी उनकी.

और मजेदार सेक्सी कहानियाँ:

Pages: 1 2 3