देवर भाभी के बीच चुदाई के रिश्ते की सेक्सी हिंदी कहानी

दोस्तों आज मैं आप सब के सामने देवर भाभी की एक रियल कहानी लेके आया हूं। मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं, और मैं अभी ग्रेजुएशन कर रहा हूं। मेरी उम्र 20 साल है।

दोस्तों ये एक रीयल कहानी है, मेरी और मेरी भाभी के बीच हुई चुदाई की। वैसे तो मैं चूत के लिए बहुत परेशान रहता था। मैं रोज रात को पोर्न फिल्म देख के और मुट्ठ मार के सो जाता था। ऐसा ही बहुत दिनों तक चला।

बात है उस समय की जब करवा चौथ था। उस दिन मैं भाभी को करवा चौथ की कहानी सुनाने चला गया, और जब मैंने अपनी भाभी के फोन में देखा तो उनकी कुछ विडियोज और फोटोज पड़ी थी, वो भी एक-दम न्यूड। अब मैंने मन बना लिया था भाभी को चोदने का।

मेरी भाभी की उम्र 27 साल है।

वो अभी एक-दम मस्त जवान, हॉट, और गोरी है। बूब्स 34″ के है और चूत एक-दम चिकनी है। वो दो बच्चों की मां भी है, और सेक्सी बहुत हैं। उन्हें मेरे लंड से खेलना बहुत पसंद हैं, और उसे चूसना भी। लंबाई उनकी 5 फुट होगी और एक-दम गोरा-गोरा बदन। दोस्तों मतलब मजा आ जाता है मुझे।

दोस्तों जब से मैंने भाभी के फोन में से उनकी हॉट फोटो देखी थी, तभी से मैंने उन्हें चोदने का प्लान बना लिया था, और एक दिन मैंने बहुत हिम्मत करके उनसे पूछ ही लिया-

मैं: भाभी ये पिक आपकी है?

वो एक-दम से शर्मा गई, और हस्ते हुए बोली: हां।

दोस्तों अब मैं समझ गया कि भाभी पट गई थी, और मैंने उनसे कहा: आपका मन करता है क्या?

तो वो बोली: और क्या।

उसी वक्त मैंने भाभी को पकड़ लिया, और उन्हें खूब किस किया। फिर मैंने उनकी सारी उठाई और ओ गॉड दोस्तों, अब मैं क्या ही कहूं? मैं फाइनली वो चीज पा गया था जिसका मैं कई सालों से इंतजार कर रहा था। भाभी की एक-दम मस्त गोरी-गोरी चिकनी चूत थी। मैं तो उसे देखते ही पागल हो गया, और टूट पड़ा भाभी की चूत में।

मैं 2 मिनट तक भाभी की चूत खूब चाटा। मेरी भाभी भी मस्त दोनों टांगे फैला करके अपनी चूत चटवा रही थी। मैंने अपनी जिंदगी में पहली बार चूत चाटी थी। क्या मस्त टेस्ट था। फिर मैंने जल्दी से अपना लंड निकाला और अपना 6 इंच का लंबा लंड अपनी भाभी की चूत में पेल दिया। भाभी की आह निकल पड़ी। वो मस्त सिसकारियां भरने लगी और चुदवा रही थी।

दोस्तों उस दिन मैं जल्दी-जल्दी करके झड़ गया। पर मेरा सपना और बढ़ता गया, और मेरी हिम्मत भी। समय था दीवाली के दिन का। उस रात सब लोग पूजा पाठ करके अपने-अपने रूम में चले गए। मैंने पहले ही बोला था भाभी मैं आपके रूम में आऊंगा दरवाजा ओपन रखना। वो बोली ठीक है।

उस रात मैं लगभग 12 बजे रात को उनके रूम में घुस गया, और फिर क्या था दोस्तों। मेरी भाभी भी कम सेक्सी नहीं है दोस्तों, वो भी सेक्स की भूखी रहती है। पर सिर्फ मुझसे और भैया से ही। वो कभी भी किसी गैर इंसान के बारे में नही सोचती। तभी तो मैं उन्हें अपनी जान कहके बुलाता हूं। हाय मेरी प्यारी भाभी।

मैं उनके बेड पे गया‌ तो वो बोली: आ गए तुम?

मैं बोला: हां।

फिर मैं उनके ऊपर लेट गया, और खूब सारी किस किया। फिर मैंने अपनी भाभी की साड़ी उतारी और उनकी चूत चाटने लगा। वो तो जैसे एक-दम पागल हो गई।

वो बोली: उफ्फ उफ्फ यार और तेज-तेज, और तेज-तेज।

मैं भी पूरी जीभ डाल कर उनकी चूत चाट रहा था। फिर मैंने अपना लंड निकाला, और भाभी के मुंह में डाल दिया। भाभी भी मस्त चूसने लगी।

आह दोस्तों, वो पल आह। हाए मैं सच में जन्नत की सैर कर रहा था।‌अब मेरा लंड एक-दम टाइट था, और भाभी की चूत भी एक-दम गरम। मैंने भाभी की दोनों टांगो को फैलाया, और अपना एक-दम टाइट-टाइट गरम लंड भाभी की चूत में पेल दिया।

मेरी भाभी की आह निकल आई। फिर मैं काफी देर तक ऐसे ही भाभी की ताबड़-तोड़ चूदाई की, और बाद मे मेरी जान भाभी झड़ गई। मैंने उनकी चूत का सारा पानी पी लिया। क्या मस्त पानी था। हम दोनों एक-दम नंगे थे। मैं अपनी भाभी के नंगे बदन से एक-दम चिपका था, और वो भी एक-दम चिपकी थी।

मैं उन्हें पीछे से ही चोद रहा था। वो बस आह आह किए जा रही थी और कह रही थी और चोदो।

मैं भी पूरी ताकत से उनकी एक टांग उठा के चोद रहा था। वो मस्त नंगी होके चुदवा रही थी।

उस समय क्या मजा था। मैं कभी उनकी चूत सहलाता, कभी उसे चाटता, कभी चूसता। मैं उनकी चूत के साथ खूब प्यार कर रहा था, और चाटे ही जा रहा था मीठी चूत को।

फिर मैंने उनको घोड़ी बना के चोदा, और मैं उनकी चूत के ऊपर ही अपना सारा माल झाड़ दिया। भाभी भी मेरी एक-दम पस्त हो गई थी। हम दोनों एक-दम पसीने से लथपथ थे। फिर भाभी गई और अपने ऊपर से सारा माल पोंछ के आई और मुझसे लिपट कर खूब बातें की।

उस रात मैं भाभी के साथ तीन राउंड किया और मेरी भाभी भी हंसते हुए बोली, “पागल कमर तोड़ दी तूने”। मैं तो मस्त भाभी की चूत पर अपना सिर रखे हुए सो गया था।

दोस्तों मैं अभी भी अपनी भाभी को चोदता हूं, क्यूंकी मेरी भाभी भी चाहती है। जब-जब मौका मिलता है जरूर वो मेरे पास आती है और मैं उनकी चूदाई कर देता हूं।

दोस्तों यह मेरी एक-दम रियल कहानी है। उम्र मैटर नहीं करती फीलिंग्स मिलनी चाहिए। मेरी और मेरी भाभी की फीलिंग मिलती है, इसलिए भाभी मेरे पास आती है। मेरी भाभी हमेशा अपनी चूत साफ रखती है, क्योंकि उन्हें सफाई ही पसंद है। और मुझे भाभी की चूत चाटना भी बहुत पसंद है, वो प्यारी सी चूत।

कितनी प्यारी चूत है मेरी भाभी की एक-दम मुलायम-मुलायम और उनकी वो दो फांके कितनी प्यारी है मन करता है खा ही जाऊं। मेरी भाभी लॉयल है, जो सिर्फ मुझसे और भैया से ही करवाती है, और किसी से नहीं।

मैं तो उनकी चूत का दीवाना हूं और बहुत प्यार करता हूं उनकी प्यारी सी चूत से।

अब मुझे कही बाहर जाने को जरूरत नहीं है क्यूंकी मेरी भाभी ही मेरी जान है, और मैं उनसे बहुत प्यार करता हूं। उम्मीद करते है आपको मेरी यह कहानी पसंद आई होगी।

दोस्तों भाभी से मैं वादा किया हूं कि उनकी प्राइवेसी भी रखूंगा। इसलिए मैं अपनी मेल आईडी नहीं दे सकता। पर अपनी फीमेल दोस्त की मेल आईडी दे रहा हूं। बताना कैसी लगी कहानी।

यह कहानी भी पड़े  जॉब के कारण मा की चुदाई


error: Content is protected !!