मामी की जबर्जस्ती चुदाई

maami ki antarvasna shant kiहेलो दोस्तो मेरा नाम मनीष है और में 26 साल का हूँ. ,मेरा लंड 6 इंच लंबा और 3 इंच चौड़ा है. और बॉडी बहुत सुंदर है और मेरी हाइट ६ फीट है. मुझे चूत देखना और फिर उसमे लंड डालना बड़ा पसंद ही हैं.

में आगरा का रहने वाला हूँ और मेरे घर में मेरे मम्मी पापा और में हूँ. यह बात 3 साल पहले की है. मेरे पापा का ट्रान्सफर बाहर हो गया था. इसलिए घर पर अब में और मम्मी ही रह गए थे. मेरे एक मामाजी है और वो आर्मी में थे. पर वो कुछ टाइम पहले गुजर हो चुके थे. मामी के दोनों बेटे भी फ़ौज में थे.

लेकिन उनकी वाइफ यानी मामी की बहु घर पर ही रहती थी और वो मामी को बहुत परेशान करती थी. में आप को मामी के बारे में बता देता हूँ. ,

मेरी मामी की उम्र 45 साल है उनका फिगर बहुत शानदार है. उनकी हाइट ५ फीट ६ इंच है. उनके बूब्स ३८ , विस्ट ३० अस ३८ है. मेरी मामी का फिगर बहुत टाइट है.

उसके २ कारन है एक तो मेरे मामा फ़ौज में थे जिससे मामी का मामा के साथ लाइफ में बहुत कम सेक्स हुआ. और दूसरा मामी घर का सारा काम खुद करती थी तो फिट रहती थी. मामी की दोनों बहु मामी को बहुत परेशान करती थी और एक दिन तो हद ही हो गयी.

उन्होंने मामी के साथ मार पीट कर दी. उन्होंने रोते हुए सब मेरी मम्मी को बताया. मेरी मम्मी बहुत सॉफ्ट दिल की है . उन्होंने उन्हें हमारे पास बुला लिया. अब मामी हमारे पास ही रहती थी.

मामी घर के काम में मम्मी का हाथ बटाती थी. मामी सुबह झाड़ू लगाती तो उनके बूब्स साफ़ दिखते थे. जिसे देख कर मेरे मुह में पानी आ जाता था. मेरे मन में वासना की भूख बढती जा रही थी. और मामी के यहाँ रहने से वो और ज्यादा निखर गयी. मामी के मन में सेक्स की कोई इच्छा नही थी.

यह कहानी भी पड़े  ट्रेन में पटा कर सेक्सी माल की चूत की चुदाई की

एक दिन मैंने सोच ही लिया कि मुझे मामी के साथ सेक्स करना है. उनकी जवानी जो अधूरी रह गयी है उसका रस पीना है. उसकी जवानी को लूटना है. मामी आज भी ३५ की लगती थी. इसी तरह दिन निकलते गए. लेकिन मुझे एक दिन मौका मिल ही गया. मेरे पापा के सर्वेंट ने छुट्टी कर ली तो मम्मी को पापा के पास जाना पड़ा.. मम्मी को मेरी कोई चिंता नहीं थी क्यूंकि मेरे साथ मामी थी. मेरे तो ख़ुशी का ठीकाना ही नहीं रहा . मम्मी सुबह में ही पापा के पास जाने के लिए निकल गयी.

दिन में हमने साथ खाना खाया और शाम को में शॉप से सेक्स की गोलिया ले आया क्यूंकि आज रात को मुझे अपने काम को अंजाम देना था. कुछ नींद की गोलिया भी ले आया. रात में मामी नहाने चली गयी और जब वो बाहर निकली तो बहुत सेक्सी लग रही थी.

उन्होंने नीचे घाघरा और ऊपर कुर्ती पहनी थी. मैंने और मामी ने खाना खाया और ११ बजे तक हम टीवी देखते रहे. मामी मुझसे बहुत कम बोलती थी क्यूंकि वो शर्मीले स्वाभाव की थी.मैंने सेक्स की गोलिया खा ली थी.

अब मुझ से बर्दाश्त नहीं हो रहा था और हाँ मैंने मामी के खाने में नींद की गोली भी मिला दी थी. और उनका असर अब दिख रहा था क्यूंकि मामी को नींद आने लगी थी. और मामी सोने चली गयी. लेकिन मुझे कहाँ नींद आ रही थी. आधे घंटे बाद में मामी के रूम में गया तो मामी गहरी नींद में थी.

मामी का घागरा घुटनों तक था और टाँगे एक दम चिकनी थी. रूम में हलकी हलकी रौशनी थी. मैंने घागरे को ऊपर किया उफ्फ्फ…. मामी की जांघे एक दम मस्त थी. मुझ से बिलकुल भी कण्ट्रोल नहीं हो रहा था. मामी ने ऊपर ब्लाउज पहना हुआ था. कुर्ती मामी ने खोल दी थी.

यह कहानी भी पड़े  दो लंड से चुदवाया काजल ने जॉब के लिए

मामी की पतली कमर और चिकनी जांघे देख कर मुझ से कण्ट्रोल नहीं हो रहा था. मैंने धीरे धीरे मामी का घागरा थोडा और ऊपर उठाया तो देखा मामी ने नीचे कुछ नहीं पहना था. उफ्फ्फ… काले काले बाल चूत पे. इतनी चिकनी और प्यारी चूत में तो बेहाल हो गया.

इतने में मामी ने करवट ली. मैं चोंक गया कि नींद की गोलियों का असर नहीं हुआ. लेकिन मुझे आज मामी को चोदना ही था. किसी भी हालत में. में किचिन से चाकू ले आया. और अब लग गया अपने काम पर. मैंने अपने सारे कपडे खोल दिए.

मामी के ब्लाउज के बटन धीरे धीरे खोलने लगा. कि इतने में मामी जाग गयी और मुझे इस हालत में देख कर चौंक गयी और जोर से चिल्लाई ! अरे मनीष ! तू यहाँ क्या कर रहा है? उन्हें अचानक समझ ही नहीं आया. फिर मामी ने देखा कि उनका घागरा उनकी कमर तक उठा हुआ है.

तो वो सब समझ गयी और कमरे से बाहर जाने लगी. मैंने उनको पकड़ लिया. वो चिल्लाने लगी और गालिया देने लगी. मैंने मामी को धमकाया कि अगर वो चिल्लाई तो जान से मार दूंगा. मेरे हाथ में चाकू देख कर मामी डर गयी. मैंने चाकू उनकी गर्दन पर लगा दिया.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!